विकलांग प्रमाण पत्र कैसे बनवाये- Disability Certificate, ऑनलाइन आवेदन, प्रमाण पत्र डाउनलोड

0
223

Disability Certificate Kya Hai | विकलांग प्रमाण पत्र कैसे बनवाये | विकलांग प्रमाण पत्र बनाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करे | विकलांग प्रमाण पत्र डाउनलोड कैसे करे

जैसे कि हम सभी लोग जानते हैं कि हमारे देश में विकलांगों की संख्या बढ़ती ही जा रही है, कोई बच्चा जन्म से विकलांग पैदा होता है तो कई बार कुछ ऐसी घटनाएं घटित हो जाती हैं जिनके कारण एक ठीक-ठाक व्यक्ति भी विकलांगता का शिकार हो जाता है। किसी ने सरकार द्वारा विकलांगों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए विकलांग प्रमाण पत्र बनवाए जा रहे हैं। इस प्रमाण पत्र से ही विकलांग व्यक्ति को केंद्र तथा राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ प्रदान किया जाएगा। जिससे कि उन्हें अपना जीवन यापन करने में सहायता प्राप्त हो सके। चलिए फिर आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से Disability Certificate से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां जैसे उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, आवश्यक दस्तावेज, एवं ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया बताएंगे।

Disability Certificate Kya Hai

भारतीय संसद में वर्ष 1995 में विकलांग व्यक्तियों के लिए उनकी विकलांगता को मान्यता प्रदान करने के साथ साथ कुछ विशेष अधिकार भी निर्धारित किए गए। यह ऐसा प्रमाण पत्र है जिससे मनुष्य को सरकार द्वारा आर्थिक सहायता के रूप में पेंशन के साथ-साथ सरकार द्वारा संचालित बहुत सारी योजनाओं का लाभ प्रदान किया जाता है। इस कानून के अंतर्गत मानसिक बीमारियों को भी शामिल किया गया है। 40% से अधिक विकलांग व्यक्ति को उसकी विकलांगता के आधार पर प्रमाण पत्र मिलता है। जैसे कि हमने बहुत सारी जगहों पर देखा हैं कि यदि कोई व्यक्ति विकलांग होता है तो वह खुद को बहुत असहाय समझता है क्योंकि ऐसे लोगों को परिवार का सहयोग पूरे तरीके से नहीं मिलता है। इसीलिए सरकार द्वारा विकलांग व्यक्तियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए Disability Certificate की सुविधा प्रदान की जा रही है ताकि अपना जीवन अच्छे से गुजार सके |

विकलांग प्रमाण पत्र

विकलांग प्रमाण पत्र के उद्देश्य

विकलांग प्रमाण पत्र को दिव्यांग व्यक्तियों को सहुलत प्रदान करने के उद्देश्य से ही ऑनलाइन किया गया है क्योंकि पहले इस सर्टिफिकेट को बनवाने के लिए लोगों को सरकारी कार्यालयों के चक्कर काटने पड़ते थे जिसकी वजह से उनका काफी समय बर्बाद होने के साथ-साथ दिव्यांग लोगों को बहुत सारे कष्टों का सामना करना पड़ता था लेकिन अब आप घर बैठे विकलांग प्रमाण पत्र बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं जिसमें लोगों के समय की बचत के साथ साथ और भी समस्याओं से छुटकारा मिल पाएगा।

Benefits Of Disability Certificate

  • विकलांग प्रमाण पत्र की सहायता से विकलांगता के शिकार बच्चों के लिए निशुल्क शिक्षा की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • विकलांग व्यक्ति को सरकारी नौकरी में आरक्षण देने का प्रावधान भी किया गया है।
  • दिव्यांग व्यक्तियों को शास्त्रीय ज्ञान जैसी संस्थाओं में आरक्षण की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • राज्य एवं केंद्र सरकार द्वारा बहुत सारी योजनाओं का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • विकलांग व्यक्तियों को आत्म निर्भर बनने के साथ-साथ अपना जीवन भी अच्छे से गुजारने का हौसला मिलेगा।
  • जमीन के बंटवारे में भी विकलांग व्यक्तियों को प्राथमिकता दी जाएगी।
  • सरकारी वाहन जैसे रोडवेज बस रेल आदि के किराए में भी डिस्काउंट की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।
  • किसी प्रदत्त अधिकार से वंचित हो जाने पर उसके निवारण के लिए डायरेक्ट कमिश्नर ऑफ़ डिसएबिलीटीज़ के पास जाने और शिकायत करने व आवेदन करने का अधिकार प्राप्त होता है।
Disability Certificate

विकलांग प्रमाण पत्र को किया जाएगा आधार से लिंक

जैसे कि बताया कि विकलांग प्रमाण पत्र बनवाने की पूरी प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए ऑनलाइन कर दिया गया है जिसके बाद नए प्रमाण पत्रों का आधार कार्ड से लिंक किया जाएगा। क्यूंकि नई व्यवस्था के अंतर्गत जो प्रमाण पत्र आधार से लिंक नहीं होंगे वह मान्य नहीं होंगे। केवल आधार से लिंक विकलांग प्रमाण पत्र पूरे देश में मान्य होंगे। जिन लोगों के प्रमाण पत्र पुराने हैं उन लोगों को भी अपना प्रमाण पत्र को आधार से लिंक कराना जरूरी होगा। जिसके लिए आपको पासपोर्ट साइज की तीन फोटो, स्पेलिंग में नाम जो आधार कार्ड में दर्ज है। जन्मतिथि के साथ विकलांगता का प्रतिशत, प्रमाण पत्र जारी करने की तिथि, आधार कार्ड का नंबर और उसकी फोटो कॉपी सीएओ ऑफिस में जमा करनी होगी। मेन्यूअल विकलांग प्रमाण पत्र आधार के साथ लिंक होने के बाद ऑनलाइन हो जाएंगे। इसके बाद यह पूरे देश में मान्य होंगे।

विकलांग प्रमाण पत्र

Eligibility Of Disability Certificate

  • मानसिक रूप से विकलांग  35%
  • ऑर्थोपेडिक रूप से 40%
  • बहरा और गूंगा  90 डीबी और 100 डीबी
  • दृष्टिहीनता 90% या उससे अधिक

विकलांग प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • विकलांग अंग की फोटो
  • भरा हुआ विकलांगता का फॉर्म

ऑनलाइन विकलांग प्रमाण पत्र बनवाने की प्रक्रिया

विकलांग प्रमाण पत्र
  • उसके बाद एक होम पेज खुलकर आएगा।
  • अब इसमें आपको (Apply for Disability Certificate & UDID Card) पर क्लिक करना है।
  • जिसके बाद आपके सामने एक फॉर्म खुलकर आएगा।
  • अब इसमें आपको आपसे सम्बंधित सही सही जानकारी भरनी है, और सबमिट करना है।
  • यहाँ पर आपको ऑफलाइन फॉर्म डाउनलोड करने का भी आप्शन दिखाई देगा जिसे डाउनलोड कर आप ऑफलाइन आवेदन भी कर सकते है।
  • यह ऑनलाइन फॉर्म काफी लम्बा होता है, जिसमे आपको  अपनी विकलांगता से सम्बंधित सभी जानकारियों को ठीक – ठीक भरना होता है।
  • फॉर्म भरने के बाद आपको अंत में एक ऑप्शन मिलता है, आपको इस (CONFIRM APPLICATION) बटन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपका फॉर्म सफलता पूर्वक जमा हो जायेगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा
  • इसमें Enroiment Number जिसे आप लिख ले
  • आप एप्लीकेशन डाउनलोड की पीडीऍफ़ फाइल डाउनलोड कर ले।
  • इसके बाद आपको इस फॉर्म को लेकर समाज कल्याण विभाग के दफ्तर में जाना है, और सम्बंधित अधिकारी के पास जमा करना है।
  • आपके द्वारा जमा किये गए फॉर्म की जांच की जाएगी और आपकी मेडिकल जांच की जाएगी।
  • यदि अधिकारी के पास समय होगा तो वह उसी दिन आपकी जांच करवा दी जाएगी या फिर आपको उसके अनुसार दिए गए समय में जाना है।
  • सभी दस्तावेजों के सही होने पर और मेडिकल रिपोर्ट में आपकी विकलांगता सिद्ध होने पर आपको उसी समय विकलांग सर्टिफ़िकेट दे दिया जायेगा, या फिर 5 से 7 दिनों के अंदर आपको विकलांग सर्टिफ़िकेट प्राप्त हो जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here