NGO क्या है कैसे कार्य करता है और अपना एनजीओ कैसे बनाएं ?

0
242

NGO Kya Hai | एनजीओ कैसे कार्य करता है | अपना एनजीओ कैसे बनाएं |NGO कितने प्रकार की होती है |एनजीओ की रजिस्ट्रेशन प्रोसेस क्या है

दोस्तों आज हम आपको एनजीओ के बारे में बता रहे हैं NGO क्या होती है और यह कैसे कार्य करती है और आप अगर एनजीओ बनाना चाहते हैं तो इसका रजिस्ट्रेशन कैसे कराएं एनजीओ एक सामाजिक कार्य है और इसका गवर्नमेंट से कोई लेना देना नहीं होता यह अपने आप कार्य करती है और जो यह गरीबों की मदद करती है इसका कोई पैसा नहीं लेती है।इसका सीधा मतलब होता है कि गरीबों की मदद करना बिना किसी लालच के। अगर आप भी गरीबों की मदद करने के लिए एनजीओ बनाना चाहते हैं तो आपको इसके बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए।

एनजीओ क्या है

तो दोस्तों एनजीओ के बारे में जानने से पहले मैं आपको यह बताना चाहता हूं कि इसकी फुल फॉर्म क्या है ? सामाजिक कार्यकर्ता तो लोगों की समझ में आता है लेकिन एनजीओ इंग्लिश मैं शॉर्टकट है इसका मतलब जानना जरूरी है एन जीओ की फुल फॉर्म होती है नॉन गवर्नमेंटल ऑर्गेनाइजेशन। यह एक प्राइवेट संस्था होती है जो डायरेक्ट गरीबों की मदद करती है क्योंकि दोस्तों आज के जमाने में सरकारी सहायता आने की प्रक्रिया बहुत लंबी होती है लेकिन NGO डारेक्ट गरीबों की मदद करती है जिनमें अनाथ बच्चे बुजुर्ग विधवा महिलाएं और सारे गरीब लोग शामिल होते हैं बहुत से एनजीओ अपने शेल्टर होम बनाती हैं और उन लोगो को रखते हैं जिनके पास अपने घर नहीं है।

NGO

OLA Cabs क्या है 

NGO के उद्देश्य

  • बुजुर्गों की मदद करना और उन्हें वृद्धा आश्रम में रखा भी जाता है उनके खाने-पीने और स्वास्थ्य को लेकर भी पूरी जिम्मेदारी उठाई जाती है।
  • विधवाओं की हर तरह से मदद करना।
  • एनजीओ गरीब और अनाथ बच्चों के लिए स्कूल भी बनवा जाती है और उसमें मुफ्त शिक्षा का प्रावधान रखा जाता है बच्चों के शिक्षा और खाने-पीने और कपड़ों का पूरा ध्यान रखा जाता है
  • आदिवासी लोगों की हर तरह से मदद करना।
  • गरीब समाज में होने वाली बीमारियों और इसका चिकित्सीय सहायता करना दवाइयां मुहैया कराना और डॉक्टरों का इंतजाम करना।
  • गरीब बेसहारा लोगों की आर्थिक सहायता करना।

भारत देश में कौन से राज्य में कितने एनजीओ है?

सबसे ज्यादा हमारे देश में ही समाजसेवी संस्थाएं चलाई जा रही है। महाराष्ट्र राज्य में लगभग 418 एनजीओ हैं। उसके बाद 416 लाख एनजीओ आंध्र प्रदेश में स्थित है। उत्तर प्रदेश में 413 लाख, केरल में 313 लाख, कर्नाटक में 119 लाख, गुजरात में 117 लाख, पश्चिम बंगाल में 117 लाख, तमिलनाडु में 114 लाख और उड़ीसा में 113 लाख एनजीओ स्थित है जो गरीब लोगों के लिए दिन-रात कार्य करते हैं।

अपना एनजीओ कैसे बनाएं

India Best NGO Name

  • Smile Foundation
  • Nanhi Kali
  • Give India Foundation
  • Goonj
  • Helpage India

एनजीओ कैसे कार्य करता है ?

  • जैसा कि आप जान ही गए होंगे एनजीओ का मतलब नॉन गवर्नमेंट ऑर्गेनाइजेशन होता है इसको एक व्यक्ति नहीं चला सकता इसके लिए कम से कम 7 लोग और ज्यादा ज्यादा कितने भी लोग हो सकते हैं।
  • एनजीओ का मुख्य कार्य हर प्रकार के छोटे बड़े सामाजिक कार्य करने का होता है। जैसे विधवा महिलाओं को घर की सुविधा, गरीब और अनाथ बच्चों को शिक्षित करवाना, महिलाओं की सुरक्षा, जलसंवर्धन।
  • समाज में किसी बीमारी जैसे कैंसर, कुपोषण, एड्स आदिवासी समाज की सेवा करना।
  • बहुत सारे ऐसे कार्य होते हैं जो एनजीओ द्वारा आर्थिक स्थिति से कमजोर एवं अनाथ बच्चों के लिए किए जाते हैं।
  • गरीब और अनाथ बच्चो को शिक्षा उपलब्ध करवाना।
  • विधालय में पढ़ने वाले बच्चो के लिए भोजन व पोस्टिक आहार उपलब्ध करवाना।
  • उन बच्चो के लिए विधालय की किताबे उपलब्ध  करवाना जो किताबे खरीदने में असमर्थ हो।
  • महिलाओ के लिए आवास की सुविधा उपलब्ध करवाना।
  • महिलाओ की सुरक्षा के लिए सदैव सहयोग करना।
  • आदिवासी समाज व पिछड़ी जातियों की समस्याओ को हल करने में मदद करना.
  • बुजुर्गो की मदद करना।
  • जरूरतमंद लोगो को उनकी आवश्यकतानुसार सामन उपलब्ध करवाना।
NGO क्या है

NGO कितने प्रकार की होती है ?

अगर आप एनजीओ द्वारा लोगों की मदद करना चाहते हैं और एक एनजीओ बनाना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि एनजीओ कितने प्रकार की होती है

Bingo 

बिंगो का मतलब होता है बिजनेस फ्रेंडली इंटरनेशनल एनजीओ। यह गरीब लोगों को बिजनेस करने के लिए सहायता प्रदान करती है

Engo

इसको एनवायरमेंटल एनजीओ कहते हैं इसका कार्य पर्यावरण की रखरखाव का होता है पेड़ पौधों का रखरखाव और नये पेड़ पौधे लगाना ही इसका मकसद है।

 Gongo

इस एनजीओ का मतलब होता है यह गवर्नमेंट द्वारा ऑर्गेनाइज की जाती है और यह एनजीओ को निर्देश देती हैं।

Ingo 

इसका मतलब इंटरनेशनल एनजीओ होता है  जिनका मकसद  अंतरराष्ट्रीय परेशानियों का सामना कर रहे लोगों की मदद करना होता है।

Quango 

क्वासी ऑटोनॉमस एनजीओ इनका मकसद उत्पाद की गुणवत्ता कोई जांचने का कार्य करती है जैसे आईएसओ।

NGO क्या है

एनजीओ के रजिस्ट्रेशन के लिए जरूरी कागजात

दोस्तों अगर आप भी एक एनजीओ बनाकर लोगों की मदद करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको निम्नलिखित डॉक्यूमेंट की जरूरत पड़ती है

  • कम से कम 7 व्यक्तियों का होना जरूरी
  • ट्रस्ट डीड
  • रूल्स एंड रेगुलेशन मेमोरेंडम
  • 7 में से एक व्यक्ति को इसका प्रेसिडेंट बनना पड़ता है।
  • मेमोरेंडम प्रेसिडेंट द्वारा लिखित और सेल्फ अटेस्टेड।
  • स्थाई निवास प्रमाण पत्र वोटर आईडी कार्ड या आधार कार्ड।
  • एनजीओ के ऑफिस का एड्रेस प्रूफ।
  • पासपोर्ट होना आवश्यक।
  • पैन कार्ड और एनजीओ के नाम से बैंक में अकाउंट होना आवश्यक है।

 NGO रजिस्ट्रेशन प्रोसेस

अगर आप नेशनल लेवल पर रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं तो इसका रजिस्ट्रेशन सेंट्रल गवर्नमेंट द्वारा होता है और अगर आप राज्य स्तर पर इसका रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं तो इसमें हर राज्य के अलग एक्ट होते हैं इसके बारे में हम आपको बता रहे हैं।

ट्रस्ट एक्ट

हर राज्य के अलग-अलग ट्रस्ट एक्ट होते हैं लेकिन 1882 ट्रस्ट एक्ट के अनुसार इसके लिए कम से कम दो ट्रस्टी होना आवश्यक होते हैं। रजिस्ट्रार के ऑफिस में इसकी एप्लीकेशन देनी पड़ती है।

सोसायटी एक्ट

सोसायटी एक्ट के अंतर्गत आपको अपने एनजीओ का रजिस्ट्रेशन सोसाइटी के अंतर्गत कराना पड़ता है।

 कंपनी एक्ट

इसमें आपको अपनी एनजीओ का रजिस्ट्रेशन कंपनी के रूप में करना पड़ता है इस मेमोरेंडम और रूल्स एंड रेगुलेशन की कॉपी लगती है।

NGO Kaise Banaye

एनजीओ का पैसा कहां से मिलता है ?

  • इसके लिए आप एनजीओ की वेबसाइट बनाकर लोगों को डोनेशन देने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।
  • एक कार्यक्रम के तहत देश के कुछ मशहूर हस्तियों को बुलाकर आप लोगों को डोनेशन देने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।
  • अगर आपके एनजीओ रजिस्टर्ड है तो गवर्नमेंट से भी आप फंड ले सकते हैं।
  • बड़े-बड़े प्राइवेट कंपनी से कांटेक्ट करके भी आप उनको डोनेशन देने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here