SIDBI क्या होता है और SIDBI की फुल फॉर्म क्या है?

0
317

SIDBI Kya Hota Hai | सिडबी की फुल फॉर्म क्या है | सिडबी से ऋण के लिए कैसे आवेदन करें | SIDBI Online Application | उद्योग स्थापित करने में बैंक की क्या भूमिका है

SIDBI की फुल फॉर्म है स्मॉल इंडस्ट्री डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया इसका आविष्कार 2 अप्रैल 1990 में हुआ था। भारत सांसद के एक अधिनियम के तहत सुख लघु और मध्यम उद्यम एम एस एम ई के वित्त  संस्धन और विकास के लिए प्रमुख वित्तीय संस्थान के रूप में कार्य करता है और साथ-साथ कई इंस्टिट्यूशन के कामों में मदद करता है।

सिडबी का इतिहास

  • सिडबी आईडीबीआई की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है। जिसने सांसद के विषय अधिनियम 1988 के तहत स्थापित किया गया जो 2 अप्रैल 1990 से  कोपरेटिव बन गया।
  • 2 अप्रैल 1990 को स्थापित हुई सिडबी के हेड क्वार्टर लखनऊ में स्थित है सिडबी  सरकार और वित्तीय सेवा विभाग से ऑपरेटिव है।
  • SIDBI के सीईओ है मोहम्मद मुस्तफा जो 1995 के आईएएस ऑफिसर थे और चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर  स्मॉल इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया  सिडबी के।
SIDBI

DBT Transfer क्या है

SIDBI का लक्ष्य

  • सिडबी का लक्ष्य है कि इस बैंक की सहायता से एमएसएमई को किसी भी तरह से कोई परेशानी ना हो और इसका विकास पूर्ण रूप से हो सिडबी खुले दरवाजे के तरह है जो एमएसएमई को वित्तीय में और विकास में कोई रोक नहीं लगाने देता।
  • सिडबी  एम एस एम ई को मजबूत बनाता है और उसको तैयार करता है। पसंदीदा और ग्राहक के रूप में स्थान देने के लिए अनुकूल संस्थान और  शेयर की विधि के लिए
  • SIDBI का लक्ष्य है कि वह विश्व से गरीबी भुखमरी बेरोजगारी हटाकर रोजगार लाए बिजनेस को आगे बढ़ा कर अपनी सहायता से और ज्यादा से ज्यादा बिजनेस में मुकाबला करवाएं ताकि सब और आगे बढ़े।

 सिडबी  के पॉजिटिव पॉइंट

  •  सिडबी ने एम एस एम ई को बढ़ाने के लिए कम से कम 5.40 लाख करोड़ लगाए।
  • SIDBI से 360 लाख लोग के बिजनेस इस ब्रांच से जुड़े और विकास पाया।
  •  सिडबी। ने अपनी माइक्रोफाइनेंस ऑपरेशन से लगभग 350 से 100000 लोगों को और औरतों को 13,689 करोड का फायदा दिया।
  •  सिडबी ने 1.16  लाख बिजनेसमैन को आगे बढ़ाया उनकी क्षमता के माध्यम से।
  •  सिडबी ने  हजार से ज्यादा औरतो और एससी एसटी और ओबीसी कास्ट वालों  को मदद  दी।
SIDBI

 SIDBI के कार्य

  •  सिडबी   पुनर वेद। प्राथमिक ऋन संस्थान द्वारा लागू उद्योग इकाइयों को दिए गए हैं।
  •  SIDBI सावधान सहायता प्राप्त करता है।
  •   सिडबी   छूट और छोटे पैमाने पर निर्मित मशीनरी की बिक्री का पूर्ण विकास करता है।

  SIDBI की शाखाएं।

 सिडबी जब स्थापित हुआ था तब इसकी कुल 5 क्षेत्रीय ऑफिस और 21 शाखाएं थी पर अब  सिडबी की भारत में 73 शाखाएं है और 5 क्षेत्रीय ऑफिस हैं।

 सिडबी के फायदे

आवश्यकता अनुसार:  सिडबी व्यवसायों को उनकी आवश्यकताओं के अनुसार रन देता है। यदि आपको आवश्यकता सम्मानीय नहीं है तो आप को सही तरीके से धन की सहायता नहीं मिलेगी।

•  ब्याज दर:  सिडबी की ब्याज दरें काफी आकर्षित हैं और इसके ब्याज दरें दुनिया की कॉपी बैंकों से मुकाबला करती हैं।

•  सुरक्षा मुक्त:   सिडबी व्यवसायों को। 100 लाख तक बिना सुरक्षा धन प्रदान करती है।

•  सहायता:  यह न केवल ऋन प्रदान करता है यह सहायता और बहुत जरूरी सलाह भी प्रदान करता है।

समर्पित आकार:  क्रेडिट और ऋन व्यापार के आकार के अनुसार संशोधन किए जाते हैं एमएसएमई इसका लाभ  उठा सकते हैं।

•  ट्रांसपेरेंसी:  इसकी प्रक्रिया और संरचना पर पारदेसी है और कोई छुपा हुआ चार्ज भी नहीं है।

सिडबी

 SIDBI से ऋण के लिए कैसे आवेदन करें?

 सिडबी से ऋण के लिए नीचे दिए गए चीजों को ध्यान से पढ़ें।

  • Step 1:-  एमएसएमई के द्वारा बताए गए डाक्यूमेंट्स को तैयार करें इस डॉक्यूमेंट में रेटिंग एजेंसी और बैंकों से संबंध जानकारी शामिल होगी।
  • Step 2:-  बुनियादी जानकारी ज्ञापन एमएसएमई के व्यवसाय से मंजूर करवाए फिर यह डॉक्यूमेंट  सिडबी में जमा करवाएं।
  • Step 3:-  कुछ चीजों में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया रेटिंग एजेंसी से मंजूर करवाने पड़ेंगे।
  • Step 4:-  सिडबी कुछ चीजों के माध्यम पर ध्यान देगा और वह होंगी। सेठ भी काम चलाओ को धन देगी।  सिडबी। धन  सिर्फ सर्विस सेक्टर को देगी। सिडबी क्रेडिट ऑफर एमएसएमई को देगी जो क्लीनर उत्पादन प्रक्रियाओं और ऊर्जा कुशल होंगे।
  • सिडबी हर  व्यवसाय को मदद करता है यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण तरीका है। एक व्यक्ति के लिए अपना काम दूसरे सीमा तक ले जाने का उम्मीद रखता हूं कि आपको इस आर्टिकल के माध्यम से सिडबी क्या होता है समझ आ गया होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here