Voter ID Aadhar Card Link Kaise Kare- आधार और वोटर कार्ड को लिंक करे

वोटर कार्ड किसे कहते है और Voter ID Aadhar Card Link Kaise Kare एवं वोटर आईडी कार्ड लिंक व आधार को लिंक करने का तरीका क्या है

जैसा कि हम जानते हैं कि देश में वोट देने के लिए एक मतदाता पहचान पत्र अथवा वोटर आईडी कार्ड होता है जिसके माध्यम से हम अपनी नागरिकता के साथ-साथ अपने क्षेत्र में वोट देने का भी कार्य करते हैं ऐसे में बहुत बढ़िया देखने को मिला है कि एक ही व्यक्ति के द्वारा दूध को जगहों पर अपना मतदाता पहचान पत्र बनवा लिया जाता है ऐसे में Voter ID का दुरुपयोग भी तेजी से देखने को मिलता है इसलिए भारत सरकार ने एक नए अधिनियम कानून के तहत आप सभी वोटर कार्ड(Voter ID Card)को आधार कार्ड (Aadhaar Card) से लिंक करने का कार्य किया है

ऐसे में एक आधार कार्ड से लिंक होने पर सिर्फ एक ही वोटर आईडी कार्ड बन सकता है तो आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको वोटर आईडी कार्ड आधार कार्ड से कैसे लिंक करते हैं उसका तरीका बताने जा रहे हैं जो कि आपके लिए काफी ज्यादा उपयोगी साबित होगा।

वोटर कार्ड किसे कहते है

Voter ID Card एक प्रकार का पहचान पत्र होता है जो कि आपके भारत देश में रहने की नागरिकता का सबूत होता है इस पहचान पत्र के द्वारा ही आप किसी भी चुनाव में अपने क्षेत्र में वोट डाल सकते हैं और इसका उपयोग आप किसी भी कार्यालय दफ्तरों आदि में भी कर सकते हैं एक प्रकार का विशिष्ट पहचान पत्रों में सेव होता है परंतु आज के समय में वोटर आईडी कार्ड को लेकर बहुत सिद्धालय देखने को मिलती है ऐसे में इसे मसौदा कानून अधिनियम के अंतर्गत आधार कार्ड से लिंक करने का कार्य किया जा रहा है जिससे अब किसी भी प्रकार की Voter ID कार्ड से छेड़छाड़ नहीं की जा सकेगी।

Voter ID Aadhar Card Link

Voter ID Card को Aadhaar Card से लिंक करने का उद्देश

भारत के मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ रणवीर सिंह जी के द्वारा वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करने का अभियान की शुरुआत सोमवार से की गई है जिसका उद्देश्य उन्होंने बताते हुए कहा कि देश के जितने भी मतदाता हैं उनकी पहचान को स्थापित करने के लिए तथा उनको मतदाता सूची में प्रविष्ट नागरिक का प्रमाणित करने के लिए Voter ID Card को आधार से लिंक किया जा रहा है जिसे ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही माध्यम से किया जा सकता है इससे एक ही व्यक्ति के पास 2 मतदाता पहचान पत्र अब नहीं रह पाएगा जो कि पहले लोग दो दो जगह अपना पहचान पत्र बनवा कर रहते थे आधार लिंक होने के कारण सिर्फ एक ही वोटर आईडी कार्ड को मान्यता दी जाएगी जिससे मतदाता पहचान पत्रों की सही सूची जारी किया जा सके।

Voter ID Card से Aadhaar Card लिंक से लाभ

चुनाव आयोग की इस पहल के बाद अब Voter ID Card  Aadhar Card Link हो जाने से काफी ज्यादा सहूलियत देखने को मिलेगी ऐसे में एक ही व्यक्ति के दो पहचान पत्र नहीं बन पाएंगे उदाहरण के तौर पर यदि कोई व्यक्ति ग्रामीण क्षेत्र में निवास करता है और वहां पर उसका वोटर आईडी कार्ड है परंतु वह पिछले कुछ सालों से शहर में बस चुका है और वहां पर भी उसने अपना वोटर आईडी कार्ड बनवा लिया है ऐसे में उसके पास दो-दो Voter ID Card हो जाएगा जो कि उसके द्वारा दोनों जगह यदि वह डाला गया तो यह गैरकानूनी माना जाएगा ऐसे में आधार कार्ड लिंक होने से यह लाभ होगा कि उसका एक जगह का वोटर आईडी कार्ड समाप्त कर दिया जाएगा और दूसरी जगह का मान्य रहेगा।

डिजिटल वोटर आईडी

Voter ID Card को आधार कार्ड से कब लिंक किया गया

सन 2015 में तत्कालीन मुख्य चुनाव आयोग एसएस ब्राह्म थे जिन्होंने Voter ID Card को आधार कार्ड से लिंक करने का कार्य शुरू कर दिया था परंतु सुप्रीम कोर्ट ने कुछ कारणों से जैसे एलपीजी और केरोसिन के वितरण में आधार कार्ड को लगाए जाने पर रोक लगा दी थी जिसकी वजह से उस समय आधार को वोटर आईडी कार्ड से लिंक करने का कार्य भी रोक दिया गया था जबकि देश के 38 करोड़ निवासियों का Voter ID Card Aadhar Card Link हो चुका था लेकिन सुप्रीम कोर्ट के द्वारा रोक लगाए जाने पर यह कार उन दिनों रोक दिया गया था जो कि अब जाकर मुख्य चुनाव आयोग के द्वारा भारत सरकार को भेजे गए प्रस्ताव में यह पारित हुआ है।

Voter ID Aadhar Card Link

वोटर कार्ड को आधार कार्ड से लिंक के लिए चुनाव आयोग के द्वारा केंद्र से मांग

वर्ष 2019 में कानून मंत्रालय के सचिव को चुनाव आयोग के द्वारा एक चिट्ठी लिखी गई थी जिसमें आधार अधिनियम और जनप्रतिनिधि कानून 1950 से संबंध में संशोधन के प्रस्ताव के लिए बातें कही गई थी जिसमें चुनाव आयोग के द्वारा वोटर कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करने के लिए जोड़ दिया गया था इसमें यह भी स्पष्ट तौर पर कहा गया था कि ऐसा करने से देश में Voter ID Card को लेकर हो रही गड़बड़ियों को भी रोका जा सकता है जिससे वोटर आईडी कार्ड को लेकर हो रहे फर्जीवाड़े से बचा जा सकता है और वोटिंग की गड़बड़ी की शिकायत से भी निजात पाया जा सकता है।

Voter ID Card को Aadhar Card से कैसे लिंक करें

यदि आप का वोटर आईडी कार्ड भी आधार कार्ड से लिंक नहीं हुआ है तो निम्नलिखित तरीके से आप आसानी से इसे लिंक कर सकते हैं तो आइए हम आपको वो तरीका बताते हैं।

वोटर आईडी कार्ड
  • अब आपके सामने एक होम पेज खुल कर आ जाएगा जिसमें आपको Electoral Roll  पर Click करना होगा।
मतदाता पहचान पत्र
  • जहां पर आपको अपनी Voter ID की Details को दर्ज कर के Search के बटन पर Click कर देना होगा
  • जहां पर आपका मतदाता पहचान पत्र खुल जाएगा जिसमें आपको दाएं तरफ Feed Aadhaar Number  के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जहां पर आप से Aadhaar Card Number और EPIC Number की मांग की जाएगी
  • जिसे आप को डालकर Send OTP के बटन पर क्लिक कर देना होगा।
  • जिसके बाद आपके Registered Mobile Number पर या फिर Email ID पर एक OTP आ जाएगा।
  • जिसको आपको दर्ज करके Submit के बटन पर क्लिक कर देना होगा और फिर आपके पास एक Notification आ जाएगा जिस पर आपका Voter कार्ड Aadhaar कार्ड से लिंक हो चुका होगा।

SMS के माध्यम से Voter ID Card को Aadhaar Card से लिंक

यदि आप ऑनलाइन माध्यम से वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड से लिंक नहीं करना चाहते हैं तो उसके लिए आप आसानी से घर बैठे SMS के माध्यम से भी इन दोनों ही कार्ड को आपस में जोड़ सकते हैं तो आइए उसका तरीका हम आपको निम्नलिखित बताते हैं।

  • आपका सबसे पहले अपने Mobile Phone  के Message Box में जाना होगा।
  • वहां पर आपको Typing के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा।
  • जहां पर आपको <EPIC Number or Voter Id card number> <SPACE> <Aadhar No> को Type करना होगा।
  • और फिर उससे बाद आपको अपने Registered Mobile Number से 166 या 51959 नंबर पर सेंड कर देना होगा।
  • जिसके बाद आपका Voter ID Card आधार कार्ड से लिंक हो जाएगा और आपको Notification के द्वारा या जानकारी भी प्रदान कर दी जाएगी।

Leave a comment