Computer Engineer कैसे बने- कंप्यूटर इंजीनियर की तैयारी कैसे करें, योग्यता

0
249

कंप्यूटर इंजीनियरिंग क्या होता है |Computer Engineer Kaise Bane |कंप्यूटर इंजीनियर की तैयारी कैसे करें | कंप्यूटर इंजीनियर बनने की योग्यता |एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करें

दोस्तों अगर बात की जाए लाइफ में हर कोई कुछ ना कुछ बनना चाहता है और सबसे ज्यादा इंसान को इंजीनियर बनने में रूचि होती है। और जैसे कि हम सब जानते ही हैं कि इंजीनियर बनना काफी मुश्किल होता है इसके लिए पढ़ाई भी काफी अलग अलग टाइप की करनी पड़ती है।इंजीनियर बनने की बात की जाए तो कोई सिविल इंजीनियर बनना चाहता है तो कोई सॉफ्टवेयर इंजीनियर और कुछ लोगों का इंटरेस्ट कंप्यूटर में होता है तो कुछ लोग Computer Engineer बनना चाहते हैं। तो दोस्तों आज हम आपको अपना आर्टिकल के माध्यम से बताने जा रहे हैं कि अगर आपको भी कंप्यूटर में इंटरेस्ट है तो इंजीनियर बनने के लिए आप को क्या करना पड़ता है जानने के लिए आपको हमारा आर्टिकल ध्यानपूर्वक पढ़ना होगा।

कंप्यूटर इंजीनियरिंग क्या होता है

कंप्यूटर इंजीनियर एक इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग और कंप्यूटर साइंस के कॉन्बिनेशन से होता है जिसका मकसद कंप्यूटर के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर पार्ट को डिजाइन करना होता है अगर आप भी एक Computer Engineer बनना चाहते हैं तो आपको इलेक्ट्रिकल और कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग का ज्ञान होना जरूरी है इसके अलावा भी कई सारी चीजें होती हैं कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए तो चलिए जानते हैं वह चीजें क्या है।

Computer Engineer

कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए क्या करें

जैसे कि हम सब जानते ही हैं के कंप्यूटर दो चीजों को मिलाकर बनता है एक सॉफ्टवेयर और एक हार्डवेयर और अगर आपको कंप्यूटर इंजीनियर बनना है तो आपको इन दोनों में से एक का स्पेशलाइजेशन होना अनिवार्य है। तो चलिए दोस्तों जानते हैं कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर और हार्डवेयर इंजीनियर में क्या फर्क होता है

सॉफ्टवेयर इंजीनियर

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको सॉफ्टवेयर डेवलप करना होता है एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर का सॉफ्टवेयर को बनाना डिजाइन करना और टेस्ट करने का काम होता है इसमें आपको कोड लिखना होता है एक एप्लीकेशन या फिर सॉफ्टवेयर बनाने के लिए।

हार्डवेयर इंजीनियर

हार्डवेयर इंजीनियर में आपको कंप्यूटर के सभी पार्ट्स जैसे के माउस कीबोर्ड मदरबोर्ड सीपीयू आदि के बारे में रिसर्च करना होता है डिजाइन करना होता है डेवलप करना होता है और टेस्ट करना होता है।

Computer Engineer

एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करें

हम आपको नीचे कुछ इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम के बारे में बताते हैं इन एक्साम्स को क्लियर करके आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग की पढाई कर सकते है।

  • All India Engineering Entrance Exams (AIEEE)
  • BITSAT
  • COMEDK Undergraduate Entrance Test
  • Delhi University Combined Entrance Examination
  • EAMCET (Engineering, Agriculture and Medicine Common Entrance Test)
  • Goa Common Entrance Test (CET)
  • Indian Institute of Technology Joint Entrance Exam (IIT JEE)
  • Kerala Law Entrance Examination (KLEE)
  • Orissa Joint Entrance Exam (JEE)
  • SRM University Engineering Entrance Exam

Career Scope In Computer Engineering

जैसे हम सभी लोग जानते हैं कि हमारा देश डिजिटलाइजेशन की ओर बढ़ता ही जा रहा है ऐसे में भारत के युवाओं के लिए कंप्यूटर इंजीनियर के मौके भी बढ़ रहा है विभिन्न देशों की सरकार भी डिजिटल सशक्तिकरण को बढ़ावा दे रही है जिससे कि कंप्यूटर इंजीनियरिंग की डिमांड लोगों में बढ़ती जा रही है। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि कंप्यूटर इंजीनियरिंग करने के बाद 3 से 4 लाख तक प्रति महीना आसानी से कमा सकते हैं। यह सपना पूरा करने के लिए आपको ग्रेजुएशन कंप्लीट करने की जरूरत नहीं है बल्कि आप दसवीं कक्षा के बाद डायरेक्ट कंप्यूटर इंजीनियरिंग डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं जिसकी अवधि 3 साल की होती है। इस फील्ड में रोजगार के अवसर भी लोगों को ज्यादा से ज्यादा प्राप्त हो सकते हैं।

कंप्यूटर इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करने के बाद सॉफ्टवेयर इम्प्लीमेंटेशन, डेटाबेस मैनजमेंट, आईटी, टेलीकॉम्युनिकेशन, कंप्यूटर हार्डवेयर, एम्बेडेड सिस्टम्स, मल्टीमीडिया, गेमिंग, सॉफ्टवेयर डेवलोपिंग एंड मेंटीनेंस, एम्बेडेड सिस्टम्स के क्षेत्र में आसानी से जॉब हासिल कर सकते हैं।

कंप्यूटर इंजीनियर की तैयारी कैसे करें

कंप्यूटर कोर्स करने के बाद आप किस फील्ड में जॉब कर सकते है ?

  • गवर्नमेंट एंड प्राइवेट सेक्टर
  • कॉलेज एंड यूनिवर्सिटी
  • टेलीकॉम्युनिकेशन इंडस्ट्री
  • हेल्थकेयर सेक्टर
  • एग्रीकल्चर सेक्टर
  • डिफेन्स एंड एरोस्पेस सेक्टर
  • मैनुफैक्चरिंग सेक्टर
  • रिटेल सेक्टर
  • आईटी सेक्टर
  • आटोमोबाइल सेक्टर
  • नेशनल एंड इंटरनेशनल ट्रेड
  • एंटरटेनमेंट सेक्टर
  • टीचिंग, आदि

Computer Engineer बनने के लिए शैक्षिक योग्यता

12वीं पास करें

  • कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए आपको 11th में साइंस सब्जेक्ट चुनना पड़ता है।
  • साइंस सब्जेक्ट से ही आपको 12वीं पास करना होता है।
  • 12वीं कम से कम 60 परसेंट मार्क्स के साथ पास करना होता है

एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करें

  • कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम भरने होंगे और कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग जिसे हम सीएस भी कहते हैं सब्जेक्ट को चुनना होगा और इस एग्जाम को क्लियर करना होगा।
  • एग्जाम को क्लियर करने के बाद आपको किसी कॉलेज में एडमिशन मिलेगा जहां आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी कर सकते हैं जैसे के b.tech, IIT, AIEEE

काउंसलिंग करें और कॉलेज का चुनाव करें

  • एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के बाद अब आपको कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए काउंसलिंग करनी होगी जिसमें आपको अपने मार्क्स और रैंक के हिसाब से कॉलेज प्रदान किया जाता है।
  • आप के जितने अच्छे मार्क्स होते हैं उतना ही बढ़िया कॉलेज आपको मिलता है।

कंप्यूटर इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करें

  • कॉलेज चुनने के बाद अब आपको कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन लेना है।
  • यह कोर्स पूरे 4 साल का होना है इसका मतलब है कि आप को 4 साल तक पढ़ाई करनी होगी कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए।

और 4 साल की पढ़ाई पूरी करने के बाद आप एक कंप्यूटर इंजीनियर कहलाएंगे इसके बाद अगर आप कंप्यूटर में मास्टर डिग्री यानी स्पेशलिस्ट बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको एमटेक करना होगा। और एंटर करने के लिए वैसे ही आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होगा और इसे क्लियर करना होगा।

Conclusion

प्यारे दोस्तों हम उम्मीद करते है की आपको हमारे आर्टिकल के माध्यम से समझ आ गया होगा कि कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए क्या करना पड़ता है और इसके लिए कौन कौन से एग्जाम देने पड़ते हैं।अगर आपको कोई भी कठिनाई आए तो आप हम से नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं आप का कमेंट हमारे लिए महत्वपूर्ण है आगे भी इसी तरह आपको अपना आर्टिकल के माध्यम से और चीजों के बारे में जानकारी प्रदान करते रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here