कस्टम अधिकारी क्या होता है और Custom Officer कैसे बने – पूरी जानकारी हिंदी में

0
1054

Custom Officer Kya Hota Hai | कस्टम अधिकारी कैसे बने |Custom Officer Salary | कस्टम अधिकारी की क्वालिफिकेशन क्या है | कस्टम अधिकारी की पात्रता

दोस्तों आज हम आपको कस्टम अधिकारी के बारे में बता रहे हैं कि कस्टम अधिकारी क्या होता है और कस्टमर अधिकारी कैसे बना जाता है इस बारे में हम आपको पूरी जानकारी देंगे और अगर आप भी कस्टम अधिकारी बनकर देश की सेवा करना चाहते हैं आपके अंदर यह जज्बा है तो आप भी इसे कर सकते हैं यह सब कुछ हम आपको बताएंगे। कस्टम विभाग ऐसा विभाग है जिसकी अनुमति के बिना ना तो देश के से कोई माल बाहर जा सकता है और ना ही देश के अंदर आ सकता है हमारे भारत देश से जितना भी एक्सपोर्ट होता है वह सब कस्टम विभाग द्वारा ही चेक किया जाता है और जो माल भी इंपोर्ट होता है वह भी चेक किया जाता है इसमें सारी जिम्मेदारी कस्टम विभाग की होती है।

कस्टम अधिकारी क्या होता है

कस्टम अधिकारी का काम बहुत जिम्मेदारी भरा होता है अगर यह देखा जाए तो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से मिलता-जुलता ही काम है क्योंकि बिना कस्टम के ना कोई माल आयात हो सकता है और न ही निर्यात हो सकता है उसे चेक करने की जिम्मेदारी कस्टम विभाग के ऑफिसर्स की होती है और यह देखना होता है कि कोई ऐसी वस्तु जिस पर पाबंदी है वह ना देश के बाहर जा सकती है और जो देश के अंदर आ सकती है कोई ऐसा सामान जो प्रतिबंधित है और उसकी तस्करी की जा रही है तो आपको फोरन उसे रोकना होगा यह बहुत सख्त ड्यूटी होती है कस्टम्स ऑफीसर की ड्यूटी ज्यादातर एयरपोर्ट और समुद्र के रास्ते होने वाले एक्सपोर्ट इंपोर्ट की चीजों पर नजर रखने के लिए की जाती है |

कस्टम अधिकारी

कस्टम ऑफिसर कैसे बने

कस्टम ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले आपको यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जाम को पास करना होता है सलेक्शन के बाद आप आईआरएस ज्वाइन करने के लिए कोशिश कर सकते हैं भारत सरकार इन परीक्षाओं का आयोजन कराती है।अखिल भारतीय प्रतिस्पर्धा परीक्षा इसी के अंतर्गत आती है इस में सिलेक्शन होने के बाद आप आईएएस आई एफ एस और आईपीएस में शामिल हो सकते हैं। यह सबसे मुश्किल परीक्षा होती है और कस्टम अधिकारी भी इसी परीक्षा को उत्तीर्ण करने के बाद बनाया जाता है।

कस्टम ऑफिसर कैसे बने

Custom Officer बनने के लिए पात्रता

कस्टम अधिकारी बनने के लिए जो जरूरी पात्रता होती है वह हम आपको नीचे बता रहे हैं।

  • ग्रेजुएट होना जरूरी।
  • आयु सीमा 20 साल से 30 साल के बीच होनी चाहिए।
  • ग्रेजुएशन में कम से कम 55 परसेंट मार्क्स आने चाहिए।
  • भारतीय नागरिक होना आवश्यक।
  • ड्राइविंग लाइसेंस का होना आवश्यक
  • साफ-सुथरी छवि का होना आवश्यक, कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड ना हो।
  • कम्युनिकेशन स्किल का होना आवश्यक।
  • इंटरनेट कंप्यूटर और कम्युनिकेशन से मुतालिक सभी जानकारी का होना आवश्यक।

इन सामान्य योग्यताओं के आधार पर आप इस परीक्षा में आवेदन कर सकते हैं।

कस्टम अधिकारी बनने के लिए पाठ्यक्रम

भारतीय कस्टम अधिकारी पाठ्यक्रम में जो पेपर होते हैं जो 200 नंबर के होते हैं सारे क्वेश्चन ऑब्जेक्टिव टाइप होते हैं इसमें जनरल नॉलेज करंट अफेयर्स अंग्रेजी भाषा की अच्छी जानकारी हिस्ट्री ज्योग्राफी सोशल साइंस और एनवायरमेंट के सब्जेक्ट शामिल होते हैं। सिविल सर्विस ऍप्टीट्यूड टेस्ट में पास होने के बाद आप मुख्य परीक्षा देने के लिए योग्य  हो जातें है।

इंटरव्यू

इंटरव्यू में पास होने के लिए आपके पास एक अच्छी पर्सनालिटी का होना बहुत जरूरी है। और आपके पास अच्छी कम्युनिकेशन स्किल का होना भी बहुत जरूरी है हर विषयों पर जबरदस्त नोलिज होनी चाहिए हर सवाल का जवाब तुरंत आना चाहिए इससे आपकी दिमागी क्षमताओं का पता चलता है।

फिजिकल फिटनेस टेस्ट

फिजिकल फिटनेस टेस्ट में भी आपका पास होना बहुत जरूरी है इसमें आपकी हाइट कम से कम 158 सेंटीमीटर होनी चाहिए और आपकी चेस्ट 81 सेंटीमीटर होनी चाहिए आयु 21 वर्ष से लेकर 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

Custom Officer कैसे बने

Custom Officer का वेतन कितना होता है ?

कस्टम अधिकारियों का वेतनमान उनकी रैंक के हिसाब से होता है इसके हिसाब से हर अधिकारी का वेतन अलग अलग हो सकता है वेतन की शुरुआत में ₹42000 महीना हो सकती है जैसे जैसे आपकी रैंक बढ़ती है वैसे ही आप का वेतन मान भी बढ़ता जाता है कस्टम विभाग में एक इंस्पेक्टर की पोस्ट रखने वाले अधिकारी की सैलरी 55000 हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here