DIGI Locker क्या है, डिजीलॉकर कैसे कार्य करता है जानिए उपयोग करने का तरीका हिंदी में

0
392

DIGI Locker Kya Hai | डिजीलॉकर कैसे कार्य करता है | डिजी लॉकर उपयोग करने का तरीका क्या है | Digital locker अकाउंट क्या होता है |Digi locker App Download For PC

दोस्तों जब सुरक्षा की बात आती है तो हमें हर जगह सुरक्षा के नियम का इंतजाम करने पड़ते हैं चाहे वह घर हो या ऑफिस को गाड़ी में यह वाली अलमारी या तिजोरी हर जगह सुरक्षा का प्रबंध होता है हमें सुरक्षा पहले हम हार्ड कॉपी में अपने पास रखते थे तिजोरी में ताला लगाकर क्योंकि पहले ऑनलाइन की सुविधा उपलब्ध नहीं थी और हर जगह हार्ड कॉपी ले जाना पढ़ती थी अब जनरेशन बदल रही है हर जगह हर चीज हम ऑनलाइन करते हैं और आपके मन को सुरक्षित रखने के लिए ऑनलाइन से वो बनाई गई है जिससे DIGI Locker बोलते हैं

आइए जानते हैं डिजी लॉकर क्या होता है

डिजी लॉकर एक ऑनलाइन सेवा है जो इलेक्ट्रॉनिक को भारत सरकार द्वारा प्रदान की गई है जो भारत सरकार के डिजिटल इंडिया की पहली पहल के तरफ एक नया कदम है DIGI Locker मदद करता है व्यक्ति को अपने डॉक्यूमेंट जैसे ड्राइविंग लाइसेंस वाहन पंजीकरण मार्कशीट अथवा कोई डॉक्यूमेंट खाते में सुरक्षित रखने के लिए यह आपके डॉक्यूमेंट की स्कैन इमेजेस को रखने के लिए 1GB जगह मुफ्त में प्रदान करता है

DIGI Locker

DIGI Locker की पूर्ण स्थापना

डिजी लॉकर को बीटा वर्शन फरवरी 2015 में जारी किया गया था और 1 जुलाई 2015 में प्रधानमंत्री द्वारा स्थापित किया गया था सुबह में इसमें खाली जगह दूसरा हम भी थी और बाद में इसे बढ़ाकर 1GB कर दी गई है और अगर इसमें कोई डॉक्यूमेंट भेज करवाना है तो उसका आकार 100 एमबी से अधिक नहीं हो सकता है |

डिजिलॉग के ग्राहक

2016 में गठित 19 2013 लॉक ग्राहक भेजो के 2017 के अप्रैल 3 को 245 1300000 हो चुके थे 2017 से आईसीएससी बोर्ड वालों ने स्टूडेंट को डॉक्यूमेंट को डिजिलॉकर के द्वारा लेन देन शुरू कर दी

DIGI Locker का मकसद

 डिजी लॉकर का मकसद था कि ग्राहक ऑनलाइन सारे डॉक्यूमेंट साइन इन करें ताकि उनका हार्ड कॉपी ले जाना आना बंद हो जाए उससे काफी आसानी होती है चोरी को खोलने के खतरे से भी कम हो जाते हैं और ग्राहकों को आसानी हो जाती है

सुरक्षा के उपाय डीजे लॉकर द्वारा

सुरक्षा के उपाय डिजी लॉकर द्वारा नीचे दिए गए हैं ध्यान से पढ़िए

  • 256 BIT SSL ENCRYPTION
  • MOBILE AUTHENTICATION BASED SIGN UP
  • ISO 2700 CERTIFIED DATA CENTRE
  • DATA REDUNDANCY
  • TIMED LOG OUT
  • SECURACY AUDIT

डिजी लॉकर का उपयोग क्या है

 डिजी लॉकर एक तरह का मंच है जहां आप अपने डॉक्यूमेंट और सर्टिफिकेट को सुरक्षित रखने के लिए एक डिजिटल सेवा भारतीय ग्राहक को साइन करते हैं डिजिलॉकर अकाउंट में उन्हें क्लाउड स्टोरेज स्पेस स्पेस आपके आधार से लिंक हो सकता है

डिजीलॉकर कैसे कार्य करता है

क्या डिजी लॉकर सुरक्षित हैं

हम में से बहुत से लोग ऐसे होंगे जिनके मन में डिजी लॉकर की सुरक्षा को लेकर अक्सर सवाल उठता होगा कि क्या यह सुरक्षित है या नहीं। तो हम आपको बताना चाहेंगे कि डिजी लॉकर उतना ही सुरक्षित है जितना हमारा बैंक अकाउंट या फिर नेट बैंकिंग। क्योंकि डिजी लॉकर पर अकाउंट बनाते समय हमें अपनी यूजर आईडी और पासवर्ड बनाना होता है जिसे हमें अपने आधार कार्ड से लिंक करना होता है। जिन लोगों के मन में डिजी लॉकर की सुरक्षा को लेकर डाउट है हम उम्मीद करते हैं कि हमारे इस पोस्ट को पढ़ने के बाद अवश्य दूर हो जाएंगे।

डिजी लॉकर के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • वोटर आईडी
  • पासपोर्ट
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

डिजी लॉकर पर अकाउंट बनाने की प्रक्रिया

डिजी लॉकर
  • आपके सामने एक होम पेज खुल कर आएगा। इस पेज पर आपको साइड के दाई और साइन अप पर क्लिक करना है।
  • जिसके बाद एक नया पर ओपन हो जाएगा जहां आपको अपना आधार कार्ड नंबर दर्ज करके कंटिन्यू के बटन पर क्लिक करना है।
  • उसके बाद आपके उस मोबाइल नंबर पर एक वन टाइम पासवर्ड आएगा। जो आपके आधार कार्ड से जुड़ा होगा। यह पासवर्ड आपके स्क्रीन पर जो हो रहे बॉक्स में डालकर कंटिन्यू बटन पर क्लिक करना है।
  • उसके बाद अगले पेज पर आपको कुछ जानकारियां दर्ज करनी है जैसे आपका नाम, जन्मतिथि,जेंडर, ईमेल आईडी आदि भरकर सबमिट के बटन पर क्लिक करें।
  • उसके बाद आपको अपने डिजिलॉकर अकाउंट में लॉग इन करने के लिए एक सिक्योरिटी पिन को सेट करना है और पिन सेट करने के बाद सबमिट के बटन पर क्लिक कर दें।
  •  इस तरह अकाउंट बनाने के बाद आप आसानी से डिजी लॉकर का यूज कर सकते हैं।

डिजी लॉकर में डॉक्युमेंट्स किस तरह सेव करे

  • सबसे पहले आपको अपने डॉक्यूमेंट को सेव करने के लिए सभी डॉक्यूमेंट को स्कैन करना है।
  • अगर आप चाहे तो डॉक्यूमेंट की एक क्लियर फोटो भी क्लिक कर सकते हैं।
  • अब अपने डॉक्युमेंट्स को सेव करने के लिए सबसे पहले आपको डिजी लॉकर पर लॉगइन करना है।
  • उसके बाद साइट के बाई और  Uploaded Documents पर क्लिक करे ।
  • उसके बाद अपने डाक्यूमेंट्स के बारे में इंफॉर्मेशन लिखें और अपलोड के बटन पर क्लिक कर दें।
  • इस तरह आपके डाक्यूमेंट्स डीजी लॉकर पर सुरक्षित हो जाएंगे।
  • ध्यान रहे आप अधिकतम 50MB की डाक्यूमेंट्स ही अपलोड कर सकते हैं और आप फोल्डर बना कर भी डाक्यूमेंट्स अपलोड कर सकते हैं।
डिजीलॉकर

डिजीलॉकर में डाक्यूमेंट्स अपलोड करें?

  • सबसे पहले आपको डिजीलॉकर पर लॉगइन करना है।
  • बाईं ओर Uploaded Documents पर जाएं और अपलोड पर क्लिक करें।
  • डॉक्यूमेंट के बारे में संक्षिप्त विवरण लिखें।
  • इसके बाद अपलोड बटन पर क्लिक करें।
  • डिजीलॉकर पर आप मार्कशीट के साथ साथ ड्राइविंग लाइसेंस आदि डाक्यूमेंट्स अपलोड कर सकते हैं और आप फोल्डर बना कर भी डाक्यूमेंट्स अपलोड कर सकते हैं।

Digital locker अकाउंट क्या होता है

डिजिटल लॉकर एक अकाउंट देता है हर भारतीय को जिसमें मैं अपने डॉक्यूमेंट व सर्टिफिकेट सुरक्षित रख सकते हैं अपने मूल जागरूकता के साथ

Digi  locker के फायदे

  • पैसों की बचत: पैसों की बचत होती है जैसे कि हमने डॉक्यूमेंट बनवाने गए हैं और उसमें टाइम लगता है तो हम ज्यादा पैसे देकर बनवाते हैं इसमें यह कार्य आसानी से वह जाते हैं और आपके पैसों की बचत होती है
  • E-SIGN: ईशान का मतलब होता है डिजिटल सिगनेचर ग्राहकों को पेपर साइन करने की जरूरत नहीं आपके साइन डिजिटल हो जाएंगे इससे आपको साइन चोरी होने का खतरा भी नहीं होगा
  • धोखाधड़ी: डिजिलॉक मैं आपको धोखाधड़ी का खतरा कम हो जाता है बस आपको इतना ध्यान रखना है क्या आपको अपनी आधार की जानकारी अपने तक सीमित रखनी है
  • कहीं भी और कभी भी डॉक्यूमेंट वेरीफाई हो सकते हैं: सबसे अच्छी बात है कि आप कहीं भी कभी भी अपने डॉक्यूमेंट को खोल सकते हैं और वेरीफाई कर सकते हैं इसमें किसी  मदद की जरूरत नहीं होगी
  • भ्रष्टाचार मुक्त इंडिय: भ्रष्टाचार ज्यादातर मानव के मिलाप से ज्यादा होता है आज से 10 साल पहले यह बिल्कुल मुमकिन नहीं था कि बिना रिश्वत पासपोर्ट बनवा सके और इसे इसे भ्रष्टाचार ही बोलते हैं आज के वक्त में हमें पासपोर्ट बनवाने के लिए पैसों की जरूरत नहीं पड़ती ऑनलाइन सारा काम होता है और हमारा पासपोर्ट बंद करा जाता है |

महत्वपूर्ण जानकारियां

  • डिजीलॉकर ऐप आप एंड्रॉइड के गूगल प्ले स्टोर और एप्पल के ऐप स्टोर से डाउनलोड कर सकते है।
  • डिजीलॉकर वेबसाइट के मुताबिक, डिजीलॉकर के अभी तक 1 करोड़ 40 लाख रजिस्टर्ड यूजर हैं।
  • डिजीलॉकर पर अभी तक करीब 1 करोड़ 90 लाख डाक्यूमेंट्स अपलोड किए गए हैं और करीब 6.6 लाख डाक्यूमेंट्स eSigned भी हैं।
  • हाल ही में केंद्रीय परिवहन विभाग ने

वेरिफिकेशन के लिए डिजीलॉकर के डाक्यूमेंट्स भी मान्य कर दिए हैं।

  • आप ट्रैफिक पुलिस, रेल यात्रा के दौरान वेरिफिकेशन के वक्त डिजीलॉकर के डाक्यूमेंट्स दिखा सकते हैं।

CONCLUSION

DIGI Locker हमारी भारत सरकार के द्वारा लिया गया एक अच्छा स्टाफ है जिससे हमारा काम आसान व असुरक्षित हो जाता है इससे हमें अपने डॉक्यूमेंट के चिंता करने की जरूरत नहीं है वह जहां भी है सेफ है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here