असली और नकली सोने की पहचान कैसे करे – Top 10 Method To Test Fake Gold

0
92

असली और नकली सोना क्या होता है | Top 10 Method To Test Fake Gold | असली और नकली सोने की पहचान कैसे करे

जैसे की हम सभी लोग जानते हैं कि भारतीय लोगों के जीवन में सोने का कितना महत्व है। कोई उत्सव हो या कोई शादी समारोह लोग सबसे पहले सोने की खरीदारी करते हैं जिसे खरीदते समय कई बार असली और नकली सोने में अंतर देखे बिना ही खरीद लेते हैं। जिसकी वजह से उनकी मेहनत की कमाई जाया हो जाती है। आज भी हमारे देश में बहुत से लोग ऐसे हैं जिन्हें असली और नकली सोने की पहचान नहीं होती। आज भी बाजारों में सोने के आभूषण में तांबा, जस्ता ओर चांदी की मिलावट की जाती है जिसे देखने पर लोगों को इसकी और शुद्धता का ज्ञान भी नहीं होता। तो चलिए फिर बिना देरी किए आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से असली और नकली सोने की पहचान केसे करते हैं से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी आपको प्रदान करें

गोल्ड की जांच करते समय आपको किन चीजो की आवश्यकता पड़ती है ?

असली और नकली सोने की पहचान

देखकर जाँचना

  • सोना
  • मैग्निफ़ाइंग ग्लास

चुम्बकत्व और दूसरे गुणों को जाँचना

  • सोना
  • जग
  • पानी
  • नियोडिमियम मेग्नेट
  • बिना धारी वाला सिरेमिक प्लेट या टाइल

डेंसिटी टेस्ट करना

  • सोना
  • स्केल या तराजू
  • ग्रेजुएटेड सिलिन्डर या मेजरिंग कप
  • कैलकुलेटर

नाइट्रिक एसिड टेस्ट करना

  • सोना
  • गोल्ड-टेस्टिंग किट
  • नाइट्रिक एसिड
  • स्टेनलेस स्टील कंटेनर
  • टचस्टोन
  • लेटेक्स ग्लव्स
असली और नकली सोने की पहचान कैसे करे

असली और नकली सोने की पहचान कैसे करे

अब हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताएंगे जिससे आप बहुत ही आसानी से सोने के असली आभूषणों की पहचान कर पाएंगे। जैसे कि हम सभी लोग जानते हैं कि बढ़ते समय के साथ सोने पर भी रेट बढ़ते ही जा रहे हैं जिसकी वजह से यदि आप शुद्ध सोना खरीदते हैं तो आपको उसमें अच्छा खासा मुनाफा हो जाता है लेकिन अगर आपने बिना पहचान किए मिलावट किया हुआ सोना खरीद लिया है तो फिर आपको इसमें भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। महत्वपूर्ण बात यह है कि जब भी सोना खरीदने जाए तो उसे जांच परखने के बाद ही खरीदना चाहिए।

पानी द्वारा टेस्ट करे गोल्ड

सबसे पहला और आसान तरीका है पानी द्वारा सोने की जांच करने का। सबसे पहले आपको एक बाउल में दो गिलास पानी डालना है और उस पानी में अपने सोने के आभूषण को डाल दीजिए। कुछ समय बाद यदि आप का सोने का आभूषण ऊपर तैरता हुआ दिखता है तो इसका मतलब आप के गोल्ड में मिलावट की हुई है क्योंकि सोना कभी भी पानी में तैरता नहीं है और ना ही उस पर कभी जंग लगती है।

मैग्नेट टेस्ट

सबसे सरल और आसान तरीका मैग्नेट टेस्ट है जी हां अगर आपको नहीं पता तो हम आपको बता दें कि सोना एक चुंबकीय धातु नहीं है तो सबसे पहले आपको अपने सोने के आभूषण को चुंबक के जरिए टेस्ट करना है। यदि सोना चुंबक की ओर खींचता है तो इसका मतलब साफ है कि सोने में मिलावट की गई है और यदि आपका गोल्ड मैग्नेट की ओर आकर्षित नहीं होता है तो वह शुद्ध सोना है। इसकी जांच के लिए रेगुलर किचन मेग्नेट काम नहीं आएगा। इस काम के लिए एक स्ट्रॉंग नीयोडिमियम मेग्नेट खरीद लें क्योंकि नकली सोने को स्टेनलेस स्टील जैसी गैर-चुम्बकीय धातु से भी बनाया जा सकता है, इसलिए मेग्नेट टेस्ट फुल प्रूफ नहीं होता है। साथ ही, कुछ असली गोल्ड आइटम्स आयरन जैसे चुम्बकीय मेटल के साथ भी मिलकर बने हो सकते हैं।

सोने के पहचान कैसे करे

नाइट्रिक एसिड टेस्ट

सोने की पहचान करने का तीसरा तरीका है नाइट्रिक एसिड टेस्ट तो सबसे पहले आपको एक पिन से सोने पर हल्का सा स्क्रैच करना है और उसे स्क्रैच वाली जगह पर नाइट्रिक एसिड की दो बूंद पानी है जिसके बाद यदि सोने का रंग हरा हो जाता है तो आपके सोने में मिलावट की गई है। आपका सोना वैसे ही रहता है तो आपका सोना शुद्ध है।

हॉलमार्क आवश्य देखे

सोने की खरीदारी करते समय सबसे पहले आपको उसका हॉलमार्क अवश्य देखना चाहिए क्योंकि इस हॉलमार्क पर सोने से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी दी जाती है।

गोल्ड कलर

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि 22 कैरेट सोने का कलर ब्राइट येलो और 18 कैरेट सोने का कलर स्ट्रांग यलो होता है। ओर अगर गोल्ड 18 कैरेट से कम होता है तो उसका कलर लाइट येलो होता है। सोना खरीदते समय ज्यादा जरूरी है उसके कलर पर ध्यान देना।

दात से काटकर करे गोल्ड की पहचान

सोने की पहचान करने का यह भी एक बहुत आसान तरीका है बस आपको अपने दांतो के बीच गोल्ड को थोड़ी देर दबाकर रखना है जिसके बाद दबाई गई जगह पर दांतों के निशान साफ दिखाई देते हैं क्योंकि सोना एक मुलायम धातु होता है और इसे बनाने के लिए कुछ हद तक इसमें अन्य धातु की मिलावट की जाती है।

Important Point

  • सोने की शुद्धता की पहचान एक या दो टेस्ट करने पर नहीं होती है क्योंकि गेट परफेक्ट नहीं होते इसलिए आपको असली सोने की पहचान करने के लिए बहुत सारे टेस्ट का सहारा लेना पड़ता है जिसके बाद असली गोल्ड की पहचान होती है।
  • जैसे कि हमने आपको अभी ऊपर बताया कि आप अपने दांतो से काट कर भी सोने की शुद्धता की पहचान कर सकते हैं लेकिन सोने में कुछ ठोस धातु की मिलावट होने के कारण यह आपको आपके दांतों को नुकसान भी पहुंचा सकता है।
  • जब ज्वेलरी पर लिखा रहता है कि सोना 24K है, तब उनका मतलब होता है कि सोना दूसरे मेटल्स की बहुत कम मात्रा के साथ 99.9% शुद्ध है। 22K गोल्ड पीस में 22 भाग सोना और 2 भाग दूसरे मेटल होते हैं।
  • 24k क्वालिटी से कम के आइटम में दूसरे आइटम गोल्ड को सख्ती और कलर देते हैं। सोना खुद में ही काफी नरम होता है, इसलिए सोने के आइटम को ज्यादा मजबूत बनाने के लिए उसमें चाँदी और कॉपर के जैसे मेटल्स को मिलाया जाता है।
  • सफेद सोने, पीले सोने, लाल सोने और रोज गोल्ड से बनी हुई ज्वेलरी सोना और दूसरी धातुओं से मिलकर बनाई जाती हैं।
  • अगर आपको कभी भी आपके पास मौजूद सोने की शुद्धता की जांच कराने की जरूरत पड़े, तो उस ज्वेलरी को किसी प्रोफेशनल ज्वेलर या अप्रेजर के पास ले जाएँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here