Facebook Libra Coin क्या है?

Facebook Libra Coin Kya Hai और फेसबुक लिब्रा कॉइन कैसे काम करेगा एवं इसके प्राइस क्या है व इसे कैसे ख़रीदे जाने हिंदी में

दोस्तों आज हम आपको Facebook Libra Coin के बारे में बता रहे हैं कि फेसबुक लिब्रा कॉइन क्या है और इसका उपयोग कैसे होगा इससे जुड़ी सारी  बातों पर चर्चा करेंगे सन 2016 के बाद क्रिप्टो करेंसी का उपयोग बहुत से लोग करने लगे हैं तब बिटकॉइन की भी एक अहम भूमिका थी बिट कॉइन की वैल्यू बढ़ रही थी इसी बात को ध्यान में रखकर बहुत से लोगों ने इसमें पैसे इन्वेस्ट करने शुरू कर दिए थे और बहुत से लोगों ने इसका लाभ भी उठाया कोई देशों ने इसे कानूनी मान्यता भी दे दी उसके बाद कुछ इस तरह का ही प्रयास फेसबुक ने भी किया फेसबुक का बारे में तो आप जानते ही हैं यह कितना बड़ा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है फेसबुक के ओनर मार्क जुकरबर्ग ने  अपनी एक  क्रिप्टो करेंसी बनाने का निर्णय लिया है जिसका नाम उन्होंने लिब्रा रखा है।

लिब्रा (Libra) क्वॉइन क्या है ?

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं कि फेसबुक ने अपनी एक रिपोर्ट क्रिप्टो करेंसी बनाने का फैसला लिया है जिसका नाम उन्होंने Facebook Libra Coin रखा है जैसे कि आप बिटकॉइन के बारे में जानते हैं बिटकॉइन भी क्रिप्टो करेंसी का ही एक क्वाइन है जैसे कि प्रत्येक देश की करेंसी होती है जैसे भारत का रुपया यूरोप का यूरो और यूएसए डॉलर सारे देशों के पास अपनी करेंसी का हिसाब किताब होता है लेकिन क्रिप्टो करेंसी एक प्राइवेट डिजिटल करेंसी है यह किसी देश की नहीं वल्की कुछ देश इसका समर्थन भी नहीं करते हैं दुनिया के सारे देशों को एक प्लेटफार्म पर लाने के लिए मार्क जुकरबर्ग ने इसकी शुरुआत की है जिनका कहना है कि यह करेंसी सबसे ज्यादा सेफ और सिक्योर डिजिटल करेंसी है  अमेरिकी सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक की बात माने तो यह एक ब्लॉकचेन डिजिटल करेंसी है|

Facebook Libra Coin

Facebook Libra Coin कैसे काम करेगा 

जिस तरह से क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन को कंट्रोल करती है। ठीक इसके विपरीत Facebook Libra Coin का तरीका थोड़ा अलग है इसमें जब आप लिब्रा क्वाइन का ट्रांजैक्शन करोगे तो वो अमाउंट ब्लैक चैन को लिब्रा एसोसिएशन के ऑथराइज मेंबर की सहायता से ट्रांजैक्शन को आगे बढ़ाने की प्रक्रिया की जाएगी। अगर लिब्रा संगठन की बात माने तो अगले 5 सालों में इस सुविधा को ऑटोमेटिक बना दिया जाएगा इसके बाद जब आपको यह फंड ट्रांसफर करेंगे तब मैनुअली एक्शन नहीं होगा पूरा सिस्टम ऑटोमेटिकली वर्क करेगा। जून सन 2019 में लिब्रा के सोर्स कोड को as a open source, Apache License शुरू किया गया था यदि आप कंप्यूटर लैंग्वेज के बारे में जानते हैं तो लिब्रा के सिस्टम डिवेलप के लिए जिस कंप्यूटर भाषा का इस्तेमाल किया गया है उसे रस्ट लैंग्वेज कहते हैं। जिसका इस्तेमाल अभी तक किसी क्रिप्टो करेंसी के डेवलपिंग प्रोग्राम में नहीं किया गया है।

Facebook Libra Coin कैसे काम करेगा

लिब्रा डिजिटल वॉलेट 

लिब्रा कॉइन के बारे में थोड़ी बेसिक नॉलेज आपको पता चल गई है जब आप किसी को पेमेंट करते हैं या रिसीव करते हैं तो उसका एक पेमेंट मेथड होता है जिसको पेमेंट मोड भी कहते हैं इसका जानना अत्यंत आवश्यक है इसी लिबरा वाॅलेट के बारे में हम आगे चर्चा करेंगे फेसबुक के कहने के मुताबिक सन 2020 में लिबरा ई-वाॅलेट शुरू किया जाएगा जिसका नाम कैलिब्रा होगा जो आपको फेसबुक व्हाट्सएप मैसेंजर वगैरा एप्लीकेशन से प्राप्त होगा। इसके बाद आप अपनी जेब में कैलिब्रा ई-वाॅलेट रख सकते हो।

लिब्रा डिजिटल वॉलेट

BitCoin क्या है 

क्या Libra का उपयोग सुरक्षित है

जब आप ऑनलाइन फंड ट्रांसफर करते हो किसी को पैसे भेजते या मांगते हो तो आपके मन में यही विचार होता है कि पैसे हमारे सुरक्षित होने चाहिए और हम अपने अकाउंट मैथड के बारे में सोचते हैं क्या यह सेफ और सिक्योर है बैंक अकाउंट में तो हम बैंक पर ही डिपेंड होते हैं लेकिन क्रिप्टो करेंसी का जिम्मेदार कौन होता है यह हमारे बैंक की डिटेल और महत्वपूर्ण जानकारियों को पब्लिकली तो नहीं कर देगा या हैकिंग का खतरा तो नहीं है जब लिब्रा एसोसिएशन से इन सवालों के जवाब मांगा है उन्होंने कहा अकाउंट डिटेल और ट्रांजैक्शन डीटेल्स और आपके अकाउंट से संबंधित सभी बातें सेफ और सिक्योर रहेंगी आपकी बिना परमिशन के आपका डाटा फेसबुक में भी शामिल नहीं किया जाएगा।

Facebook Libra Coin क्या सिर्फ फेसबुक का है ?

यह सोचना गलत होगा कि यह लिब्रा करेंसी सिर्फ फेसबुक ही की है इस Facebook Libra Coin ब्लैक चैन क्रिप्टो करेंसी कॉन्सेप्ट अंतरराष्ट्रीय लेवल की बहुत सी बड़ी-बड़ी कंपनियों ने इसमें इन्वेस्ट किया है आप उसे इस तरह भी समझ सकते हैं जैसे कि शेयर बाजार में बहुत से लोग शेयर खरीदते हैं किसी कंपनी का और क्रिप्टो करेंसी का भी शेयर होता है जिसमें बड़ी-बड़ी कंपनियां इन्वेस्ट करती हैं।

Leave a comment