कारण बताओ नोटिस क्या है, जवाब कैसे लिखा जाता है और भेजा जाता है

Karan Batao Notice Kya Hai और इसका जवाब कैसे लिखा जाता है एवं कैसे लिखा जाता है व भेजा कैसे जाता है जाने सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

जब भी किसी सरकारी दफ्तर ऐसी निजी संस्था में किसी भी व्यक्ति या फिर समूहों के द्वारा उनकी उपस्थिति में कोई गलती हो जाती है जिससे संस्था या फिर दफ्तर में किसी प्रकार के नुकसान दे ही समझ में आती है ऐसे में उच्च अधिकारी या फिर न्यायालय के द्वारा एक प्रकार का आदेश किया जाता है जिसमें उक्त व्यक्ति जिनके द्वारा गलती हुई है उन्हें उस गलती के विषय में कारण बताओ नोटिस प्रदान की जाती है जिसमें उन्हें किसी प्रकार की अनुशासनात्मक कार्रवाई ना करके उससे पहले हुई गलती के बारे में विस्तार से जानकारी ग्रहण की जाती है जिसमें किसी घटना शामिल होना दर्शाया जाता है

उसके बाद ही व्यक्ति के द्वारा Karan Batao Notice का जवाब अपने उच्च अधिकारियों को देना होता है जिसमें कई बार ऐसा भी होता है कि बहुत से लोगों को कारण बताओ नोटिस का जवाब देने नहीं आता तो आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से इसके बारे में विस्तृत तौर पर बताने का प्रयास करेंगे।

Karan Batao Notice Kya Hai?

आपने हमेशा ही या देखा होगा कि जब भी किसी दफ्तर या संस्था में यदि किसी कर्मचारी के द्वारा घोर लापरवाही का मामला सामने आता है तो ऐसे में उच्च अधिकारी उस कर्मचारी को अनुशासन की कार्रवाई ना करके सबसे पहले कारण बताओ नोटिस प्रदान करते हैं जिसमें उसको अपने द्वारा की गई लापरवाही के विषय में जवाब लिखकर देना होता है जिसमें वह अपनी गलती को स्वीकार कर आगे इस प्रकार की कोई गलती ना हो उसके बारे में स्पष्ट रूप से लिखता है इसी प्रक्रिया को हम कारण बताओ नोटिस कहते हैं कारण बताओ नोटिस को अंग्रेजी में Show Cause Notice कहते हैं तो आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको कारण बताओ नोटिस का जवाब कैसे लिखा जाता है उसके बारे में निम्नलिखित बताने जा रहे हैं।

Karan Batao Notice

Legal Notice क्या होता है

कारण बताओ नोटिस का जवाब कैसे लिखते है?

उच्च अधिकारियों के द्वारा प्रदान किया गया कारण बताओ नोटिस का जवाब देना अनिवार्य होता है जोकि किसी भी कर्मचारी को किसी भी परिस्थिति में देना होता है आज हम Show Cause Notice का जवाब कैसे लिखते हैं वह बताने जा रहे हैं।

कारण बताओ नोटिस का जवाब–1

सेवा में,                                                                        दिनांक:23/07/2022

शाखा प्रबंधक

नेशनल प्राइवेट लिमिटेड

ओखला,दिल्ली

विषय:स्पष्टीकरण देने के विषय में                                

प्रसंग:आपके द्वारा भेजा गया पत्रांक-19, दिनांक-:22/07/2022 को मुझे प्राप्त हुआ।

महोदय,

जैसा कि आपको बताते चलो कि मैं आपकी कंपनी में असिस्टेंट सुपरवाइजर के पद पर तैनात हूं तथा मेरे द्वारा गत दिनों कार में विफलता के कारण एक कारण बताओ नोटिस जारी किया गया जोकि हकीकत से परे है इसके साथ ही मैं आपको बताते चलो कि मैंने अपनी तरफ से कंपनी के प्रति निष्ठा एवं कर्ताओं के साथ कार्य किया तथा अपनी कंपनी के द्वारा दिए गए कार्यों को तय समय सीमा पर पूरा भी किया है परंतु उसके बाद भी मुझे कार्य को सही तरीके से ना करने का आरोप लगा जोकि बे बुनियादी है।

इसके साथ ही मैं आपको बताते चलें कि पिछले दिनों कंपनी के द्वारा मुझे गाजियाबाद भी भेजा गया था जहां पर मैंने अपने कार्य को सर्वश्रेष्ठ तरीके से किया था जिसकी काफी सराहना भी की गई थी परंतु इसके बाद भी मेरे ऊपर आरोप लगाया गया है जोकि काफी ज्यादा निंदनीय है।

अतः आप श्रीमान जी से मेरा विनम्र अनुरोध है कि मेरे ऊपर लगाए गए आरोपों का खंडन करें तथा मुझे लापरवाही बरतने के लिए जो करवाई की गई है उसको समाप्त कर दें और यदि ऐसी परिस्थिति में किसी भी प्रकार की कोई बात होती है तो आप सीधे मुझसे संपर्क करें।

धन्यवाद!

आपका विश्वासी

रामलखन शर्मा

पद:असिस्टेंट सुपरवाइजर

नेशनल प्राइवेट लिमिटेड

ओखला, दिल्ली

कारण बताओ नोटिस का जवाब–2

सेवा में,                                                                          दिनांक:21/07/2022

ब्रांच मैनेजर

टाटा मोटर्स एंड स्टील कंपनी

नैनी,प्रयागराज

विषय:बिना बताए अनुपस्थित रहने के विषय में                               

प्रसंग:मुझे आपका पत्रांक:107, दिनांक-20/07/2022 को ई-मेल के माध्यम से प्राप्त हुआ

महाशय,

श्रीमान महोदय गत दिनों 17 जुलाई 2022 को मैं कार्यालय में अनुपस्थित था क्योंकि मेरे साथ कुछ ऐसी परिस्थितियां घट चुकी थी जिसके कारण वश मैं कार्यालय आने में और समर्थ हो गया था और परिस्थिति ऐसी थी कि मुझे बिना बताए जाना पड़ गया क्योंकि मेरी पत्नी जोकि सीढ़ी पर से गिर चुकी थी ऐसे में तत्काल में मुझे वहां पर पहुंचना था और उन्हें हॉस्पिटल ले जाकर उपचार कराना था यदि मैं समय पर वहां नहीं पहुंच पाता तो मामला गंभीर हो सकता था और जैसा कि आप जानते हैं कि मैं यहां पर सिर्फ अपनी पत्नी के साथ ही रहता हूं और मेरे अलावा उसकी देखरेख करने के लिए कोई भी नहीं है जिसकी वजह से मैं 2 दिन तक कार्यालय में उपस्थित नहीं हो सका।

ऐसी परिस्थिति में मैंने आपको बिना बताए अपनी अनुपस्थिति दर्ज कराई जोकि मैं अपनी गलती स्वीकार करता हूं और इसके साथ ही मैं आपको विश्वास भी दिलाता हूं की आने वाले समय में ऐसा कोई भी कार्य मेरे द्वारा नहीं होगा जिससे आपको किसी प्रकार की शिकायत मिले।

अतः आप श्रीमान जी से मैं विनम्र अनुरोध करता हूं कि मेरे ऊपर अनुशासनहीनता की करवाई ना करें और मुझे इस कृत्य के लिए क्षमा करें।

धन्यवाद!

आपका आकांक्षी

राजेश कुमार सोनकर

पद:सुपरवाइजर

टाटा मोटर्स एंड स्टील कंपनी

नैनी,प्रयागराज

कारण बताओ नोटिस से संबंधित कुछ विशेष जानकारी

जब भी यदि आपके पास कारण बताओ नोटिस आती है तो उसके जवाब में आपको निम्नलिखित बातों को ध्यान में रखकर लिखना होगा।

  • यदि आप कारण बताओ नोटिस का जवाब लिख रहे हैं तो हमेशा ही विनम्र भाषा का प्रयोग करें।
  • जब भी आप Karan Batao Notice का जवाब लिख रहे हो तो कोशिश हमेशा यही करें कि कम शब्दों में ही अपने उच्च अधिकारी को अपनी बातों को समझा सके।
  • कारण बताओ नोटिस का जवाब लिखते समय हमेशा अपने उच्च अधिकारियों को श्रीमान महाशय महोदय आदि शब्दों के साथ संबोधित करें।
  • कारण बताओ नोटिस का जवाब जब भी लिखें तो उसके साथ ही साथ अपनी छुट्टियां या फिर अपने द्वारा किए गए कार्यों को जरूर उल्लेखित करें।

Leave a comment