Laptop (लैपटॉप) क्या है और लैपटॉप कितने प्रकार के होते हैं?

0
533

Laptop Kya Hai | लैपटॉप कितने प्रकार के होते हैं | Laptop Price List Kya Hai | लैपटॉप चलाना कैसे सीखे | लैपटॉप की कीमत क्या है

दोस्तों जैसे कि आप जानते हैं कंप्यूटर का हर क्षेत्र में उपयोग हो रहा है तकनीकी विकास की बात करें तो कंप्यूटर की जगह लैपटॉप ने ले ली है। इसलिए Laptop के बारे में जानना बहुत जरूरी हो गया है। इसलिए आज हम आपको लैपटॉप के बारे में पूरी जानकारी दे रहे हैं की लैपटॉप क्या क्या कार्य कर सकता है और उसका इस्तेमाल कैसे करते हैं और  लैपटॉप कितने प्रकार के होते हैं यह सब हम आपको बता रहे हैं जो निम्नलिखित है।

लैपटॉप क्या है ?

कंप्यूटर के मुकाबले में लैपटॉप छोटी पोर्टेबल डिवाइस होती है इस लिए इसे पोर्टेबल कंप्यूटर भी कह सकते हैं लैपटॉप के बारे में समझाने के लिए हम इसे दो भागों में बांट सकते हैं ऊपर वाला भाग जिसमें स्क्रीन होती है और नीचे वाले भाग जिसमें कीबोर्ड होता है दोनों एक कबजे से जुड़े होते हैं। कीबोर्ड के नीचे वाले भाग में कंप्यूटिंग डिवाइसेज होती है जिसमें सीपीयू मदरबोर्ड हार्ड डिस्क रैम सभी कुछ मौजूद होते हैं। Laptop की स्क्रीन एलसीडी या एलईडी डिस्प्ले कहलाती है। इसके अलावा इसमें वेबकैम इनबिल्ट माइक्रोफोन टच स्क्रीन के फीचर्स भी मौजूदा समय में आने लग गये हैं।

Laptop

Laptop का इतिहास 

Alan Kay ने सन 1968 में Xerox PARC में एक निजी Portable Information Manipulator के बारे में  सोचना शुरू किया इसके बाद 1972 में इन्होंने इसे डायना बुक के नाम से प्रदर्शित किया इसके साथ ही लैपटॉप के निर्माण क के कार्य का विचार होने लगा सन 1980 में पहला लैपटॉप लांच किया गया और इसके बाद 1983 में इसमें कई फीचर्स डाले गये जैसे पॉइंटर पेन टचपैड हैंडराइटिंग रिकॉग्निशन। इस पोर्टेबल कंप्यूटर के बैटरी को अधिक ताकतवर बनाने के लिए कुछ खास सीपीयू जैसे Intel i386SL मैं बदलाव होने लगा इसमें पावर मैनेजमेंट फिचर का उपयोग किया जाता था सन 1991 में कलर डिस्प्ले आ गई थी जो आज के मौजूदा दौर में आप लैपटॉप देखते हैं।

लैपटॉप के प्रकार

यहां हम आपको लैपटॉप के प्रकार बता रहे हैं जो निम्नलिखित हैं

  • Traditional Laptop
  • Rugged Laptop
  • Business Laptop
  • Notebook
  • Convertible or Hybrid
  • Desktop Replacement
लैपटॉप कितने प्रकार के होते हैं

Laptop के विभिन्न भाग 

यहां हम आपको लैपटॉप के विभिन्न भागों के बारे में बता रहे हैं जो निम्नलिखित है

  • सीपीयू 
  • मेमोरी 
  • इंटरनल स्टोरेज 
  • रिमूवेबल मीडिया ड्राइव ए
  • क्सपेंशंस कार्ड 
  • बैटरी और पावर सप्लाई 
  • कूलिंग फैन 
  • कैमरा 
  • डिस्प्ले 
  • चार्जिंग पोर्ट 
  • इथरनेट पोर्ट 
  • डीएचएमआई पोर्ट 
  • यूएसबी पोर्ट 
  • ऑडियो जैक 
  • माउस पैड 
  • कीपैड 
  • डीवीडी/सीडी राइटर 
  • एसडी कार्ड पोर्ट

तो दोस्तों यह थे लैपटॉप के इंटरनल और एक्सटर्नल पार्ट्स

जब भी आप लैपटॉप खरीदने जाएं इन पार्ट्स का जरूर ध्यान रखें।

Laptop Kya Hai

लैपटॉप के फायदें 

लैपटॉप छोटा होने की वजह से इसके बहुत से फायदे हैं जिन्हें हम आपको बता रहे हैं यह निम्नलिखित है।

छोटा आकार 

कंप्यूटर के मुकाबले लैपटॉप का साइज छोटा होता है इसलिए इसे पोर्टेबल कंप्यूटर भी कहते हैं इसे आप अपने साथ कहीं भी ले जा सकते हैं और आप अपना काम बिना टेबल के भी घुटनों पर रख कर कर सकते हैं। सोते वक्त बैड पर रखकर भी अपना काम कर सकते हैं।

चार्जेबल बैटरी

लैपटॉप की पावर की सप्लाई के लिए चार्जेबल बैटरी का इस्तेमाल किया जाता है एक बार बैटरी चार्ज करने के बाद आप इसे कहीं भी ले जा कर काम कर सकते हैं आपको  बिजली की आवश्यकता नहीं होती। इसके मुकाबले कंप्यूटर में बहुत अधिक बिजली खर्च होती है।

बिजली की कम खपत

एक बार बैटरी चार्ज होने के बाद लैपटॉप यूज करने के लिए आपको बिजली की आवश्यकता नहीं होती और कंप्यूटर की तुलना में इसमें बहुत कम बिजली खर्च होती है ज्यादातर लैपटॉप 10 वाट से 20 वाट पर चलते हैं इसके मुकाबले पर कंप्यूटर में 100 से लेकर 800 वाट तक की बिजली की खपत होती है। इसीलिए मार्केट में कंप्यूटर से अधिक  लैपटॉप की डिमांड है।

ऑल इन वन डिवाइस

लैपटॉप को all-in-one डिवाइस इसलिए कहते हैं कि इसमें  सभी कंपोनेंट एक ही डिवाइस में लगे होते हैं और हमें कहीं जाते वक्त कोई एक्सटर्नल डिवाइस नहीं लेकर जानी पड़ती है।तो दोस्तों आपने देखा कंप्यूटर के मुकाबले Laptop में कितने फायदे हैं लैपटॉप कम जगह घेरता है। पोर्टेबल है कहीं भी ले जा सकते हैं लैपटॉप का काम करने के लिए टेबल की जरूरत नहीं होती है आप इसे घुटनों पर रख कर भी अपना कार्य कर सकते हैं कंप्यूटर के मुकाबले लैपटॉप में बिजली की बचत होती है।

लैपटॉप से होने वाले नुकसान

जहां लैपटॉप से बहुत से फायदे हैं वहीं उसके कुछ नुकसान भी हैं इस बारे में हम आपको विस्तार से बता रहे हैं जो निम्नलिखित हैं।

महंगी कीमत

लैपटॉप की कीमत की बात करें तो डेस्कटॉप की तुलना में लैपटॉप काफी महंगा होता है इसलिए एक आम आदमी के लिए लैपटॉप खरीदना बड़ा मुश्किल काम है।

महंगी मरम्मत

कंप्यूटर या लैपटॉप की तुलना में लैपटॉप की मरम्मत भी काफी महंगी होती है क्योंकि इसमें सभी कंपोनेंट इंस्टॉल होते हैं जबकि कंप्यूटर में सीपीयू के अंदर सारे पार्ट अलग-अलग होते हैं और जो पार्ट्स खराब होता है उसे चेंज कर सकते हैं। लेकिन लैपटॉप में ऐसा नहीं होता अगर लैपटॉप में कोई परेशानी हो जाती है तो उसे किसी प्रोफेशनल मरम्मत करने वाले को ही दिखाना पड़ता है और लैपटॉप के कंपोनेंट भी महंगे मिलते हैं जिसमें पैसे खर्च ज्यादा होते है।

लैपटॉप जल्दी खराब हो सकता है

डेस्कटॉप की तुलना में लैपटॉप जल्दी खराब हो सकता है लैपटॉप हाथ से  गिरने की संभावना अधिक रहती है अगर लैपटॉप पर कोई तरल पदार्थ जैसे पानी या चाय गिर जाए तो उसके खराब होने की संभावना अधिक है जबकि कंप्यूटर में केवल कीपैड ही खराब होता है। लैपटॉप पोर्टेबल होने की वजह से इसके गिरने और खराब होने की अधिक संभावना होती है।

शारीरिक नुकसान की संभावना

कंप्यूटर डेस्कटॉप पर जब हम काम करते हैं तो वह हमें कुर्सी और डेस्क पर बैठकर इस पर काम करना पड़ता है और सीपीयू हमारे शरीर से काफी दूर होता है मॉनिटर भी थोड़ा दूर होता है लेकिन जब हम लैपटॉप पर काम करते हैं तो उसे गोद में रखकर या लेटे-लेटे भी बेड पर रखकर काम करते हैं इससे हमारी आंखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है वैज्ञानिकों के अनुसार लैपटॉप से निकालने वाली रेज शरीर पर बुरा प्रभाव डालती हैं। इसलिए लैपटॉप पर टेबल पर रख कर काम करना चाहिए ना की गोद में रखकर या बेड पर लेट कर इसके बुरे दुष्परिणाम हो सकते हैं।

कस्टमाइज करना मुश्किल

कंप्यूटर की तुलना में लैपटॉप को कस्टमाइज करना थोड़ा मुश्किल होता है इसलिए आपको प्रोफेशनल कंप्यूटर इंजीनियर की जरूरत पड़ती है आप इसे खुद नहीं कर सकते जबकि डेस्कटॉप आप आसानी से कस्टमाइज कर सकते हैं और वह इतना महंगा भी नहीं पड़ता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here