|What Is POC| पीओसी POC क्या है- Proof Of Concept Full Form, जाने हिंदी में

पीओसी POC क्या है | POC Ki Full Form Kya Hoti Hai | How to write a proof of concept proposal | प्रूफ ऑफ कांसेप्ट के लाभ क्या है

0
136

पीओसी POC क्या है | POC Ki Full Form Kya Hoti Hai | प्रूफ ऑफ कांसेप्ट के लाभ क्या क्या होते है | What is POC for business

दोस्तो आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से पीओसी के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं क्योंकि आप में से बहुत सारे लोग ऐसे होंगे जिन्हें पीओसी की फुल फॉर्म भी नहीं पता होगी। आज के समय में ज्यादातर लोग शॉर्ट फॉर्म का ही उपयोग करते हैं लेकिन बहुत सारे लोगों को उनके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती है। इसीलिए आज हम आपको पीओसी की फुल फॉर्म तथा अन्य जानकारी प्रदान करने वाले हैं। वैसे तो आज के समय में ज्यादातर आपको इन शब्दों का अर्थ मालूम होना बहुत आवश्यक होता है क्योंकि आपको किस वक्त इन शब्दों का उपयोग अपने भविष्य में करने की जरूरत पड़ जाए। यदि आप भी पीओसी से संबंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

पीओसी की फुलफॉर्म

POC की फुलफॉर्म Proof Of Concept होती है जिसे हिंदी भाषा में अवधारणाओं का सबूत या प्रमाण भी कहा जाता है। अब हम आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में प्रूफ ऑफ कांसेप्ट का मतलब बताते हैं किसी भी चीज में या किसी के विचारों में यकीन करने के लिए उसका प्रेजेंट होना या फिर उसके होने का प्रमाण देना बहुत जरूरी होता है क्योंकि अगर हमें उस विचार या कार्य के होने का सबूत ही नहीं दिया जाएगा तो सामने वाला कैसे यकीन करेगा। इसका मुख्य उद्देश्य यह है कि मान्यताओं के सिद्धांतों में असली दुनिया का उपयोग किया जा सकता है या नहीं। इसीलिए इसे मूल रूप में देखा जाता है जिसे व्यवस्था निर्धारित करने के लिए डिजाइन किया है।

प्रूफ ऑफ कॉन्सेप्ट  किसी उत्पाद या विचार की अवधारणा और उसकी व्यवहार्यता की वैधता है। यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें किसी के विचार में वास्तविक होने की पावर है या नहीं इसका निर्णय लिया जाता है। POC का पूर्ण अर्थ प्रिंसिपलों के प्रमाण के रूप में भी जाना जाता है।

पीओसी POC क्या है

प्रूफ ऑफ कांसेप्ट ( POC) क्या है ?

दोस्तों जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि आज के समय में किसी भी चीज या किसी भी के भी विचारों पर बिना प्रमाण या सबूत के यकीन नहीं किया जा सकता उदाहरण के तौर पर मान लीजिए यदि आपने घर खरीदा है और आप सामने वाले व्यक्ति को बताते हैं तो जरूरी नहीं है कि वह आपकी बात पर यकीन करें क्योंकि कुछ बाते या कार्य ऐसे होते हैं जिसके बारे में सिर्फ कहने से उसको सच नहीं माना जा सकता। तो इस अवस्था में आपको उस बात या कार्य को प्रमाणित करने की आवश्यकता होती है कि वह सच में आपने किया है और उसके लिए आपके पास सबूत होना चाहिए जिससे कि कोई उस बात को सच माने। इसी को पीएसी कहते हैं।

पीओसी POC क्या है

प्रूफ ऑफ कांसेप्ट के लाभ

  • प्रूफ ऑफ कांसेप्ट आपका समय उत्पादन बचाने के साथ-साथ आपके पैसों को भी बचाता है।
  • आपको इसका पूरा मूल्यांकन मिलता है।
  • पीओसी आपको कई स्टॉकहोल्डर्स से बहुमूल्य प्रतिक्रिया प्राप्त करने की अनुमति देता है।
  • भविष्य में आप अपने विचारों की परेशानियों को आसानी से पहचान सकते हैं जिसमें यह आपकी बहुत सहायता करता है और उसको हल कर के अपने लक्ष्य तक पहुंच सकते हैं ताकि भविष्य में आने वाली समस्याओं को कम किया जा सके।
  • यह एक ऐसा मूल रूप है जो किसी भी बात या किसी भी चीज को सत्यापित करने का सबूत या प्रमाण होता है।
  • यह C विभिन्न अलग अलग उद्देश्यों और भागीदार भूमिकाओं के साथ में अलग-अलग प्रक्रियाओं का वर्णन भी करता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here