राष्ट्रपति को पत्र कैसे लिखें- पत्र भेजने का पता, शिकायत पत्र फॉर्मेट की जानकारी हिंदी में

0
230

पत्र क्या है | राष्ट्रपति को पत्र कैसे लिखें  | राष्ट्रपति से शिकायत करने के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया क्या है | शिकायत पत्र फॉर्मेट क्या है

आज हम आपको अपनी इस पोस्ट के माध्यम से राष्ट्रपति को पत्र कैसे लिखते हैं उससे संबंधित जानकारी प्रदान करने वाले हैं क्योंकि पहले के जमाने में तो राष्ट्रपति को पत्र लिखना तो बहुत दूर की बात है उनसे संपर्क होना भी बहुत मुश्किल होता था लेकिन आज के इस दौर में इंटरनेट के माध्यम से कभी भी किसी भी समय अपनी बात राष्ट्रपति व मुख्यमंत्री तक पहुंचा सकते हैं। यह तो सभी लोग बहुत अच्छे से जानते हैं कि हमारा देश डिजिटल इंडिया की ओर काफी तेजी से बढ़ रहा है। इसलिए अब मुख्यमंत्री हो या प्रधानमंत्री या कोई अधिकारी हम किसी को भी अपनी बात पत्र के जरिए 2 तरीकों से पहुंचा सकते हैं। एक ऑनलाइन मोड से तथा दूसरा ऑफलाइन तरीके से।

तो चलिए अब हम आपको आपने इस पोस्ट के माध्यम से दोनों तरीकों से पत्र कैसे लिखा जाता है प्रधानमंत्री को उसके बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं। अगर आप में से कोई ऐसा व्यक्ति है जो अपनी शिकायत या कोई बात प्रधानमंत्री तक पहुंचाना चाहता है तो हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

पत्र क्या है?

सबसे पहले तो हम आपको बताना चाहेंगे कि पत्र वह होता है जहां पर हम अपने मन में चल रहे सोच विचारों को दूसरे व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए कॉपी पर लिखते हैं। पत्र दो प्रकार के होते हैं एक पत्र वह होता है जिसे हम कॉपी पर लिख कर डाक के जरिए उस व्यक्ति तक पहुंचाते हैं जिसे हम अपनी बात कहना चाहते हैं। और दूसरा पत्र हम ऑनलाइन माध्यम से ईमेल या एसएमएस के जरिए लिखते हैं जिसके लिए हमें इंटरनेट की आवश्यकता होती है। शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा आज के समय में जिसने कभी किसी को पत्र ना लिखा हूं चाहे वह ऑनलाइन लिखा ही या ऑफलाइन।

राष्ट्रपति को पत्र

ऑनलाइन कॉन्टेक्ट हेल्पलाइन नंबर

इंडिया की प्रेसिडेंट श्रीमती प्रतिभा पाटिल जी ने वर्ष 2007 में लोगों के लिए राष्ट्रपति सचिवालय से संपर्क करने के लिए एक ऑनलाइन सेवा की शुरुआत की थी जिसके माध्यम से लोग अपने मन की बात उस ऑनलाइन सेवा के माध्यम से राष्ट्रपति तक पहुंचा सके। इस ऑनलाइन सेवा के शुरू होने के बाद लोगों के लिए अपनी बात राष्ट्रपति तक पहुंचाना और भी आसान हो गया। आगे हम आपको आवेदन पत्र भरकर राष्ट्रपति श्री रामनाथ सिंह गोविंद जी तक अपनी बात या फिर शिकायत ऑनलाइन दर्ज करा सकते हैं।

राष्ट्रपति को पत्र कैसे लिखें

राष्ट्रपति से शिकायत करने के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

राष्ट्रपति को पत्र
  • इस वेबसाइट पर आप दोनों भाषा में आवेदन कर सकते हैं।
  • वेबसाइट को ओपन करने के बाद आपको Lodge a Request या अनुरोध दर्ज करें पर क्लिक करना है।
  • अब आपको अपनी स्क्रीन पर एक नया पेज दिखाई देगा जिसमे एक फॉर्म भरने के लिए आपके सामने होगा।
  • अब आप पूरा नाम, पासवर्ड, सही सही पूरा पता, पिनकोड, देश का नाम, राज्य का नाम, टेलीफोन, मोबाइल नंबर और ईमेल एड्रेस भरना है।
  • ध्यान रहे शिकायत से सम्बंधित किसी भी तरह की अपडेट के लिए राष्ट्रपति सचिवालय ऑफिस आपको ईमेल तथा मोबाइल नंबर के माध्यम से ही संपर्क करेगा इसलिए अपना मोबाइल नंबर और ईमेल एड्रेस सही सही भरे।
  • अब आप निचे दिए गए बॉक्स में अपनी शिकायत को विस्तारपूर्वक लिख दीजिये जिसकी अधिकतम अक्षरों की संख्या 4000 होगी।
  • यदि आपके पास कोई पीडीऍफ़ है तो आप अपलोड कर सकते है अन्यथा ज़रूरी नहीं है। इसके बाद आप निचे दिए गए कैप्चा कोड को भरकर सबमिट बटन पर क्लिक करके पत्र जमा दीजिये।

देश के प्रेसिडेंट को ऑफलाइन पत्र लिखने का तरीका

  • सबसे पहले आपको देश के राष्ट्रपति को महामहिम के नाम से उन्हें सम्बोधित करना है।
  • उसके बाद आपको अपनी बात बहुत ही कम एवं स्पष्ट शब्दों में मूल विवरण देना है जिससे कि पत्र पढ़ने से पहले ही उस बारे में पता चल जाए।
  • उसके बाद आपको महोदय लिखकर अपनी बात को बताना है। पत्र लिखते समय इस बात का खास ख्याल रखना है कि पत्र की शुरुआत से लेकर अंत तक किसी भी बात को दोहराया ना जाए क्योंकि इससे आपका पत्र और बड़ा हो जाएगा।
  • अपनी बात खत्म करने के बाद धन्यवाद अवश्य लिखें। इसके बाद आपको भवदीय लिख कर अपने विषय में जानकारी दे और हस्ताक्षर करे।
  • अंत में आपको दिनांक और स्थान के विषय में जानकारी देनी चाहिए।

Example Of Letter To President

सेवा में

माननीय राष्ट्पति महोदय

राष्ट्पति भवन 110004 नई दिल्ली

महोदय

सबसे पहले आपको खुद को परिचय कराना है, जैसे मै अक्षय हूँ, और मेरा प्रमुख कार्य ये हैं। अपने बारे में बताने के लिए आप अपना नाम और पिता का नाम साथ में एड्रेस भी बताएं। इसके बाद आपको जो भी बात करनी है उसे बहुत ही कम ओर स्पष्ट शब्दों में लिखे। आपको अपनी समस्या के साथ ये भी बताना है की आखिर आपने राष्ट्पति को ये पत्र क्यों लिखा। सभी बातें बताने के बाद आपको राष्ट्पति को ये भी बताना है की जो आपकी समस्या है उसका समाधान कैसे हो सकता है। क्या आपने समाधान के लिए किसी और विभाग को भी पत्र लिखा है। आपको कम्पलीट इनफार्मेशन के साथ सभी बात इस पत्र में लिखनी होगी। आप इस लेटर को इंग्लिश या हिंदी में या फिर जो भी आपकी भाषा में उसमे लिख सकते हैं।

मेरे हिसाब से आपको लेटर इंग्लिश में या हिंदी में ही लिखनी चाहिए। लेटर में आपको अधूरी बात नहीं लिखनी है। अगर आप लेटर के साथ कोई डॉक्यूमेंट में अटैचकरना चाहते हैं तो पत्र में वो भी बताएं। अंत में आपको लेटर समाप्त करना है। लेटर समाप्त करते समय लिखें की मुझे उम्मीद है की माननीय आपको यह पत्र जब मिलेगा तो आप मेरे इस बात पर गंभीर रूप से सोचेंगे,  ये लेटर आपको अंतिम उम्मीद के साथ लिखी है, जैसे भावनात्मक शब्द भी आप उपयोग कर सकते हैं। बाकी लेटर कैसे लिखते हैं इससे ज्यादा मै आपको नहीं बता सकता। ध्यान रहे की आप लेटर राष्ट्पति को लिख रहे हैं इसीलिए शब्दों का कैसे प्रयोग करना है, कितना प्रयोग करना है इसकी जानकारी आपके पास होनी चाहिए।

भवदीय आपका नाम और पता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here