Sanitizer क्या होता है, इसके क्या फायदे हैं और सैनिटाइजर कैसे उपयोग करते हैं ?

0
222

यह सभी कुछ आज हम आपको बताएंगे जबसे कोरोनावायरस चीन से फैल कर पूरी दुनिया में फैला है तभी से सैनिटाइजर चर्चा का विषय बना हुआ है कि दिन में चार पांच बार सेनीटाइजर से हाथों पर लगाना चाहिए या इससे हाथ साफ करना चाहिए लेकिन इसकी जगह हम साबुन भी इस्तेमाल कर सकते हैं। विदेशों में इसका बहुत यूज़ किया जाता है। विदेशों में बड़े-बड़े होटलों में खाना खाने से पहले लोग हाथ बहुत कम धोते हैं और सैनिटाइजर का उपयोग ज्यादा करते हैं। लेकिन भारत में आज भी बहुत से लोग सैनिटाइजर के बारे में नहीं जानते यहां पर 70% आबादी गांवों में ही रहती है। इसलिए उन लोगों को Sanitizer के बारे में जानकारी नही होती और शहरों में रहने वाली गरीब लोग भी इसके बारे में नहीं जानते। इसलिए हम आज यहां पर आपको सैनिटाइजर के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

सैनिटाइजर क्या है ?

आज के जमाने में भी भारत वर्ष में सैनिटाइजर के बारे में एक बहुत बड़ी आबादी नहीं जानती है। क्योंकि वह एक इंग्लिश का शब्द है इसलिए ज्यादातर लोग समझते हैं यह कोई दवा का नाम है सेनीटाइजर में सैनिटाइज शब्द का उपयोग किया गया है जिसका अर्थ होता है स्वच्छ करना और सैनिटाइजर का मतलब हुआ स्वच्छ करने वाला लेकिन वह सब लोग यह नहीं जानते कि इसमें अल्कोहल का यूज किया जाता है |

Sanitizer

LockDown क्या है

Sanitizer की विशेषता

अच्छा सैनिटाइजर वो माना जाता है जिसमें 60% से लेकर 70% तक अल्कोहल होता है बाकी बचे हुए परसेंटेज में इसमें परफ्यूम और लिक्विड मोशचराइजर मिलाते हैं। दोस्तों सैनिटाइजर सिर्फ कीटाणुओं को मारने में तो सही है हमारी परंपरा के हिसाब से इससे वायरस तो मर जाता है लेकिन हमारे हाथ स्वच्छ नहीं हो पाते क्योंकि जब कोई टॉयलेट से आता है तो वह हाथ साबुन से धोगा या सैनिटाइजर से साफ करेगा यह बात गौर करने लायक है।

क्या Sanitizer इंफेक्शन से बचाता है ?

  • अगर बात विदेशों की करें तो वहां पर सैनिटाइजर बहुत अधिक उपयोग में लाया जाता है और यह बैक्टीरिया और वायरस को मारने में भी कारगर साबित हुआ है लेकिन हमारे देश में बहुत अमीर लोग ही इसका इस्तेमाल करते हैं
  • क्योंकि हमारे देश में गरीबी ज्यादा है इसलिए ज्यादातर लोग इसका इस्तेमाल नहीं कर पाते क्योंकि यह काफी महंगा होता है और गरीब आदमी इसे यूज नहीं कर सकता। यह इंफेक्शन से तो बचाता ही है
  • और वैज्ञानिक शोधो से पता भी चला है कि हाथ पर लगे बैक्टीरिया वायरस को मार देता है लेकिन फिर भी हाथ धोना जरूरी है
  • अगर कोई सैनिटाइजर की जगह साबुन से भी हाथ धो ले सही करके कम से कम 20 सेकंड तक तो उसके हाथ भी स्वच्छ हो सकते हैं और कोई बैक्टीरिया और वायरस भी उसके हाथ पर नहीं रहेगा मैन मसला तो सफाई का है सैनिटाइजर वह लोग इस्तेमाल करते हैं जो इसे अच्छा समझते हैं वरना साबुन से भी हाथ धोऐ जा सकते हैं।

सैनिटाइजर का इस्तेमाल कैसे करें ?

सैनिटाइजर का इस्तेमाल बहुत आसान 8-10 बूंदे हाथ पर ले और दोनों हाथों को बहुत संभाल कर मले सब उंगलियों को संभाल कर मले और उंगलियों के बीच में भी संभाल कर मलें हथेलियों पर सब जगह बात अच्छी तरह से मलें 10 सेकंड में अपने आप उड़ जाता है। इससे सारे बैक्टीरिया वायरस मर जाते हैं।

बाजार से कौन सा Sanitizer खरीदें ?

बाजार में बहुत तरह के सैनिटाइजर आ रहे हैं अब सवाल यह पैदा होता है कि हमें कौन सा सैनिटाइजर खरीदना चाहिए अगर डॉक्टर और वैज्ञानिकों की माने तो हमें 60 परसेंट से लेकर 70 पर्सेंट तक वाला सैनिटाइजर खरीदना चाहिए। कोरोना वायरस के इंफेक्शन के चलते बाजार में सैनिटाइजर की कमी हो गई है इसलिए जरूरी नहीं है कि आप सैनिटाइजर से ही हाथ धोऐं आप साबुन से भी अच्छी तरह 20 सेकेंड तक हाथ धो सकते हैं। विदेशों में तो बहुत सी शराब बनाने वाली कंपनियों ने सैनिटाइजर बनाना शुरू कर दिया है और वह इसे सस्ते दामों पर बेच रहे हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों की मदद की जा सके।

Sanitizer के फायदे

  • सैनिटाइजर का सबसे बड़ा फायदा तो यह है कि हमें संक्रमण होने से बचाता है।
  • जब भी हम बाहर से आए तो सबसे पहले अपने हाथ साबुन से धो ले या सैनिटाइज करें।
  • इससे सारे बैक्टीरिया वायरस मर जाते हैं और इसका सबसे बड़ा यह फायदा है कि यह 10 सेकंड में उड़ जाता है और सारे बैक्टीरिया या वायरस मर जाते हैं
  • हमें इंफेक्शन होने के चांस बहुत कम होते हैं इसलिए हम सैनिटाइजर का उपयोग करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here