VDO क्या होता है- ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने, VDO का पूरा नाम हिंदी में

VDO Kya Hota Hai | ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने | VDO Ki Full Form Kya Hoti Hai | ग्राम विकास अधिकारी का वेतन ,कार्य की जानकारी हिंदी में

0
86

VDO Kya Hota Hai | ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने | VDO Ki Full Form Kya Hoti Hai | ग्रामीण विकास अधिकारी का वेतन कितना होता है | ग्रामीण विकास अधिकारी के कार्य क्या है

ग्रामीण क्षेत्रों में विकास करवाने की जिम्मेदारी पूरी तरह से भारत सरकार के कंधों पर होती है जिसके लिए ग्राम विकास अधिकारी नियुक्त किए जाते हैं। एक सरकारी अधिकारी होते हैं जिनका कार्य ग्रामीण क्षेत्रों में विकास के लिए परियोजनाएं लागू करवाने की जिम्मेदारी होती है। जैसे गांव की स्वच्छता की जिम्मेदारी, गांव में खाने के सामानों का भंडार की व्यवस्था करना, गांव की शिक्षा व्यवस्था को देखना आदि। इसके अलावा VDO अधिकारी के कंधों पर और भी जिम्मेदारी होती हैं। आज के आर्टिकल में हम आपको ग्राम विकास अधिकारी से सभी महत्वपूर्ण जानकारियां जैसे VDO क्या है? उनकी सेलरी, परीक्षा सिलेबस एवं योग्यता आदि के बारे में बताने वाले हैं। अगर आप भी ग्राम विकास अधिकारी बनकर ग्रामीण क्षेत्र में विकास करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

What Is Village Development Officer

VDO की फुलफॉर्म Village Development Officer होती है जिसे हिंदी में ग्राम विकास अधिकारी कहा जाता है। VDO को ग्रामीण क्षेत्रों में आम भाषा में प्रधान सचिव या फिर पंचायत का सेवक भी कहा जाता है। इनके कंधों पर गांव के विकास की बहुत बड़ी जिम्मेदारी होती है जैसे कि गांव में बच्चों के लिए शिक्षा की व्यवस्था कराना, बिजली की समस्या को हल करना इसके अलावा सरकार द्वारा लांच की गई योजनाओं को ग्रामीण क्षेत्रों तक उसका लाभ पहुंचाना,नरेगा, पेंशन, खेती योजना, अपने क्षेत्रों के गाँवों में स्वास्थ्य और चिकत्सा सुविधाओं आदि की महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

अगर आप भी ग्राम विकास अधिकारी बनना चाहते हैं तो आपको 12वीं परीक्षा कम से कम 60% अंकों के साथ पास करनी होगी जिसके बाद आप विलेज डेवलपमेंट ऑफिसर बनने के लिए आयोजित परीक्षा में आवेदन कर सकते हैं। प्रतिवर्ष राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा इस पद के लिए परीक्षाएं आयोजित कराई जाती हैं।

ग्रामीण विकास अधिकारी का परीक्षा पैटर्न

ग्रामीण विकास अधिकारी बनने के लिए जो परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं उन्हें तीन वर्गों में विभाजित किया गया है। आप भी ग्रामीण विकास अधिकारी बनना चाहते हैं तो आपको भी इन तीनों परीक्षाओं को सफलतापूर्वक पास करना होगा। परीक्षाओं के तीनों स्टेज कुछ इस प्रकार हैं-

लिखित परीक्षा (Written Exam)

इस पद के लिए सबसे पहले आपको लिखित परीक्षा से गुजरना होगा। इस लिखित परीक्षा में हिंदी ओर लेखन से संबंधित 30 अंकों के प्रश्न, सामान्य जागरूक से संबंधित 30 अंक के प्रश्न और 20 अंक जनरल एप्टीट्यूड से संबंधित पूछे जाते हैं। इस परीक्षा को करने के लिए 1:30 मिनट का समय दिया जाता है। यह परीक्षा कुल 80 नंबर की होती है।

साक्षात्कार ( interview)

परीक्षा का पहला स्टेप सफलतापूर्वक पास करने के बाद बारी आती है इंटरव्यू की। इंटरव्यू के लिए आपको 20 अंक दिए जाते हैं अगर आप इसमें पास हो जाते हैं तो आप की पहली परीक्षा में 20 अंक इंटरव्यू के भी जोड़ दिए जाते हैं। इस परीक्षा को पास करने के बाद तीसरा और आखिरी स्टेप होता है शारीरिक जांच का।

शारीरिक जाँच (Physical Ability)

जब आप written एग्जाम्स और इंटरव्यू सफलतापूर्वक पास कर लेते हैं तो आपको शारीरिक जांच के लिए बुलाया जाता है। जिसमें शारीरिक व्यायाम, 01 मील दौड़, लंबी कूद, 04 मील सायकिल रेस तथा 02 मील टहलना आदि शामिल होता है। आप फिजिकल परीक्षा में भी पास हो जाते है तो आपको सरकार द्वारा ग्राम विकास अधिकारी के रूप में सिलेक्ट कर लिया जाता है।

Syllabus Of Village Development Officer

Hindi

  • समास
  • संधियां कारक
  • विलोम
  • रस
  • अलंकार
  • वर्तनी
  • वचन
  • पर्यायवाची
  • वाक्यांशों के लिए शब्द निर्माण
  • तत्सम एवं तदभव
  • वाक्य संशोधन-लिंग
  • लोकोक्तियों एवं मुहावरे
  • अनेकार्थी शब्द

जर्नल नॉलेज

  • भारत का भूगोल
  • इतिहास
  • पुस्तक और लेखक
  • महत्वपूर्ण तिथियाँ
  • स्पोर्ट्स
  • भारतीय संस्कृति
  • सामान्य विज्ञान
  • देश और राजधानियों
  • अविष्कार
  • संगीत और साहित्य
  • ग्रामीण समाज/पंचायतें
  • स्थिर जी.के.
  • करंट अफेयर्स

जनरल इंटेलिजेंस

  • Syllogism
  • Number Series
  • Venn Diagrams
  • Blood Relations
  • Data Interpretation
  • Seating Arrangements
  • Coding and Decoding
  • Statements and Assumptions
  • Statements and Conclusion
  • Statements and Arguments
  • Non-Verbal series
  • Analogies
  • Arithmetical reasoning and figural classification

ग्रामीण विकास अधिकारी का वेतन

VDO बनने के बाद आप को प्रति महीने 5000 रुपए से 20000 रुपए तक की सैलरी प्रदान की जाती है इसके अलावा आपको ग्रेड पे भी मिलता है।

ग्रामीण विकास अधिकारी के कार्य

  • गांव की साफ सफाई का प्रबंध करना।
  • गांव में खाने के सामानों का भंडार की व्यवस्था करना।
  • गांव में बच्चों के लिए शिक्षा व्यवस्था को देखना।
  • मृत्यु प्रमाण पत्र, जन्म प्रमाण पत्र एवं विवाह प्रमाण पत्र आदि दस्तावेजों का रजिस्ट्रेशन करवाने का कार्य भी ग्रामीण विकास अधिकारी का होता है।
  • गांव की कृषि और वाणिज्य उद्योग को विकास के लिए सहायता करना की ज़िम्मेदारी भी इन्हीं के कंधों पर होती हैं।
  • गांव की समस्याओं को जिला परिषद में पहुंचाना ताकि उनकी समस्याओं को हल करवाना आदि।
  • राज्य सरकार और केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई परियोजनाओं को गांव में सुचारू रूप से संचालित करना और नागरिकों को उन योजनाओं का लाभ दिलवाने का कार्य भी VDO का ही होता है।
  • गांव में सड़क बनवाना और बिजली के व्यवस्था को अच्छे से सुनिश्चित करना
  • गांव में होने वाले वार्षिक योजनाओं और कार्यक्रमों का सही तरीके से संचालित करना।

Eligibility Of Village Development Officer

  • इस पद के लिए आप को कम से कम 12वीं कक्षा में 60% अंकों के साथ पास करने अनिवार्य हैं।
  • इसके अलावा आपके पास कंप्यूटर कोर्स डिप्लोमा की डिग्री होनी चाहिए।
  • ग्रामीण विकास अधिकारी बनने के लिए कम से कम आपकी आयु 18 वर्ष से ऊपर और 40 वर्ष से कम होनी अनिवार्य है।
  • OBC वर्ग के विद्यार्थियों को आयु 3 साल और SC/ST श्रेणी के छात्रों को 5 साल की छुट दी जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here