Anti Lock Braking System क्या है- ABS के क्या फायदे है और कैसे काम करता है

Anti Lock Braking System Kya Hai और ABS Technology की शुरुवात कब हुई व एंटी लॉक ब्रैकिंग सिस्टम कैसे काम करता है एवं ब्रैकिंग सिस्टम के क्या फायदे है

हमेशा अपने एक चीज जरूर गौर की होगी कि जब भी आप हाईवे पर या किसी समतल सड़क पर जाते हैं तो कार बाइक या अन्य वाहन बहुत फर्राटा भरते हुए तेजी से आप के बगल से निकलते हैं कभी-कभी तो ऐसा होता है की रफ्तार इतनी तेज होती है की पहचान पाना भी मुश्किल होता है कि बगल से कौन गया परंतु तेज रफ्तार ही Accident का कारण बनते हैं क्योंकि तेज रफ्तार के सामने कोई ऐसी चीज आ जाती है या फिर एक्सीडेंट होने की संभावना बनने लगती है तो चालक हड़बड़ी में Brake मार देता है
ऐसे में कार हो या बाइक दोनों ही फिसल कर पलट जाते हैं जिससे दुर्घटना हो जाती है तो कभी-कभी जान माल का भी नुकसान देखने को मिलता है इसलिए वर्तमान समय में Anti Lock Braking System का बहुत तेजी से इस्तेमाल किया जा रहा है तो आइए आज हम आपको ABS के बारे में जानकारी देते हैं।

Anti Lock Braking System Kya Hai?

ABS Technology एक प्रकार का यही Vehicle Technology System है जो कि वर्तमान समय में Car और Bike में अत्यधिक रूप से सवाल किया जाता है यह System Safety के लिए प्रयोग किया जाता है जब भी आप देखते होंगे कि अचानक से या हड़बड़ी में जब रफ्तार में ब्रेक मारा जाता है तो ऐसे में Block हो जाता है और गाड़ियां जाती है जिससे दुर्घटना के साथ-साथ जान माल का भी नुकसान हो जाता है इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए एबीएस सिस्टम को लांच किया गया  इसके द्वारा तेज रफ्तार गाड़ी को पहिए को Lock ना करके उसे धीरे-धीरे sensor के माध्यम से रफ्तार कम करके रोका जाता है जिससे खतरा भी टल जाता है। इसमें लगे सेंसर आपकी गाड़ी को एक्सीडेंट से बचाने का कार्य करते हैं तथा बिना एबीएस की गाड़ी की तुलना में या अत्यधिक Safe मानी जाती है।

Anti Lock Braking System क्या है

Traffic Rules

ABS Technology की शुरुवात कब हुई?

एबीएस प्रणाली की शुरुआत सबसे पहले 1929 में एक Aircraft में की गई थी जिस का सफल परीक्षण करके यह जानने की कोशिश की गई कि क्या यह आम लोगों के लिए सही है उसके बाद इसे 1966 में कार में किया जाने लगा जिस का उचित परिणाम देखने को मिलता गया उसके बाद ABS Technology को Ferguson Research Limited के द्वारा निर्मित गाड़ी में इस्तेमाल किया गया जो कि काफी ज्यादा Successful ही रहा उसके बाद से यह लगातार चलता आ रहा है परंतु हाल ही में कुछ साल पहले भारत में यह काफी तेजी से लोगों को आकर्षित किया है और वर्तमान समय में अब जितनी भी कार और बाइक आ रहे हैं उनमें ABS अनिवार्य तौर पर लगा हुआ रह रहा है।

एंटी लॉक ब्रैकिंग सिस्टम कैसे कार्य करता है?

टीवीएस की सबसे खास बात यह है कि यह कई सारे Parts से मिलकर बना हुआ है जो कि आपकी सुरक्षा के लिए ही होते हैं इसमें Sensor होता है जो कि आपके Speed की निगरानी निरंतर करता रहता है उसके बाद आता है कंट्रोल डिवाइस जब आपके गाड़ी की रफ्तार तेज रहती है तो Speed Sensor ही Control Unit के पास Data Transfer करके आपकी गाड़ी के Balance को बनाए रखता है जिसमें Valocity और Declaration इन Speed भी शामिल होता है उसके बाद काम आता है Controler का जो कि आपकी गाड़ी को कंट्रोल करने का काम करता है इसमें वह देखने की कोशिश करता है कि कौन सा Tyer ज्यादा Active है तथा कौन सा पहियाअपनी रफ्तार को कम ज्यादा बढ़ा रहा है ऐसे में एबीएस उन पैसों को बराबरी में इस कंट्रोलर के माध्यम से ही रखने का कार्य करता है।

एंटी लॉक ब्रैकिंग सिस्टम

Bike में ABS Technology का उपयोग

जैसा कि आपको बताते चलें कि साल 2019 के बाद से जितनी भी Bike का निर्माण हुआ है उनमें एबीएस टेक्नोलॉजी को अनिवार्य तौर पर इस्तेमाल किया जाता है जैसा कि आप देखते होंगे की बहुत सी ऐसी बाइक होती है जिनमें दिस ब्रेक का इस्तेमाल किया जाता है परंतु यह 2017 वाली चीज होती है क्योंकि बारिश के मौसम में जब रोड भीगी हुई होती है तो तेज रफ्तार बाइक में जवाब Display का इस्तेमाल करेंगे तो वह फिसल कर गिर जाएगी ऐसे में एक बड़ा खतरा बना रहता है

दुर्घटना का इस्तेमाल करने पर आपके भाई को कंट्रोल में रखेगी तथा आपकी बाइक की गति को निरंतर Sensor के माध्यम से दुर्घटना होने से बचाएगी ABS की सबसे बड़ी खासियत यह होती है कि आप जितनी भी रफ्तार में Bike में Brake मारेंगे या तुरंत ही वहां पर खड़ी हो जाएगी जिससे दुर्घटना होने से बचाया जा सकता है।

ABS (Anti Lock Braking System) के Parts

जिस किसी भी गाड़ी या Bike में ABS का इस्तेमाल किया जाता है उसमें प्रायः यह देखने को मिलता है की चार प्रकार के ABS के Components इस्तेमाल किए जाते हैं जिसका विवरण हम आपको निम्नलिखित देने जा रहे हैं।

स्पीड सेंसर(Speed Sensor)

किसी भी गाड़ी में उसकी रफ्तार को Monitor करने का कार्य एक Spend  का ही होता है जोकि Control Unit तक Data को Transfer करके पहिए की गति को Maintion करता है इसके साथ ही साथ Acceleration और Declaration को व्यवस्थित करने का भी कार्य करता है।

वाल्व(Valve)

जब भी किसी भी गाड़ी में अचानक से ABS का इस्तेमाल करके Brake मारा जाता है तो Air Pressure को Regulate करने का जो कार्य होता है वह एक वाल्व का ही होता है जिसके माध्यम से सही समय पर Brake लगाकर गाड़ी को नियंत्रित किया जा सकता है Air Pressure के माध्यम से Master Cylinder का दबाव व्यवस्थित करके गाड़ी को रोकने का कार्य करता है।

इलेक्ट्रॉनिक नियंत्रण इकाई(Electronic Control Unit)

एबीएस के मुख्य जो Control Unit होती है Electronic Control Unit को ही माना जाता है क्योंकि ये Unit Signal को Receive करके Data Analysis करती है उसके बाद ही गाड़ी को नियंत्रण करने का कार्य करती है इस Unit के माध्यम से ही तेज रफ्तार गाड़ी में जब देख लगता है तो उसे नियंत्रण किया जाता है।

हाइड्रोलिक नियंत्रण इकाई(Hydraulic Control Unit)

जब भी गाड़ी में Brake लगाते वक्त Pressure बनाने का कार्य किया जाता है तो उस समय Hydraulic Control Unit का इस्तेमाल किया जाता है Anti Lock कि जब व्यवस्था आती है तो Electronic Control Unit के द्वारा ही हाइड्रोलिक कंट्रोल यूनिट को Signal भेजा जाता है जिसके बाद ही Brake को कब Release करना है तथा Pressure बनाना है यह कार्य इसके माध्यम से होता है।

Anti Lock Braking System क्या है

गाड़ी में एंटी लॉक ब्रैकिंग सिस्टम लगने के फायदे

आज के समय में लगभग सभी गाड़ियों में एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम(ABS)का इस्तेमाल बखूबी से किया जा रहा है क्योंकि Technology के Use से यह देखने को मिला है कि लगभग 60% दुर्घटनाएं कम हुई है हाल ही में Bike में भी ABS सिस्टम को अनिवार्य कर दिया गया है जिससे अब जितनी भी नई बाइक है आ रही हैं उनमें पहले से ही एबीएस लगा हुआ रह रहा है तो आइए आज आपको हम निम्नलिखित Anti Lock Braking System के फायदे भी बताते हैं।

  • एबीएस के Sensor के इस्तेमाल से अपनी Steering को दुर्घटना के समय काबू में किया जा सकता है।
  • ABS के इस्तेमाल से अचानक लगे Brake के समय जो गाड़ियां फिसलने लगती हैं ऐसा बिल्कुल नहीं होता है।
  • ABS की सबसे बड़ी खासियत यह होती है कि आपके ब्रेक हमेशा ABS के Control में रहेंगे जिससे दुर्घटना से बचा जा सकता है।
  • Non-ABS की तुलना में यह गाड़ी Brake लगाने के तुरंत ही बात रुक जाती है तथा ज्यादा दूरी तक नहीं जाती है।
  • अचानक Break लगाने से आपके गाड़ी के पहिए ABS की सहायता से कभी Lock नहीं होंगे जो कि प्राय Non-ABS की गाड़ियों में देखने को मिलता है।

Conclusion:निष्कर्ष

जैसा कि उपरोक्त हमने आपको आज Anti Lock Braking System के बारे में पूर्ण रूप से जानकारी मुहैया कराई है इसके पीछे हमारा उद्देश्य ही था कि यदि आप भी ABS की गाड़ी का इस्तेमाल करेंगे तो ऐसे में आप खुद को सुरक्षित महसूस करेंगे क्योंकि जिस तरह से गाड़ियों की संख्या बढ़ती जा रही है उसी से ज्यादा दुर्घटनाएं भी देखने को मिल रही है खास करके तेज रफ्तार में अचानक से लगाएंगे ब्रेक भी मुख्य कारण में गिने जाते हैं इसलिए एबीएस का इस्तेमाल करके आप स्वयं और अपने परिवार की सुरक्षा कर सकते हैं।

Leave a comment