बैंक मैनेजर (Bank Manager) कैसे बने- योग्यता, सैलरी व चयन प्रक्रिया हिंदी में जाने

0
177

Bank Manager Kya Hota Hai | बैंक मैनेजर (Bank Manager) कैसे बने | Which Exam Is For Bank Manager | बैंक मैनेजर की सैलरी क्या है। बैंक मैनेजर की चयन करने की प्रक्रिया क्या है

देखा जाए तो आज के वक्त में प्रत्येक व्यक्ति एक अच्छी नौकरी प्राप्त कर अपना फ्यूचर सिक्योर करना चाहता है इसीलिए कठिन परिश्रम करता है। आज हम आपको ऐसी ही एक पोस्ट के बारे में जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं जो है बैंक मैनेजर का पद। बैंक मैनेजर की नौकरी पाना इतना आसान नहीं है। आप चाहे प्राइवेट बैंक में मैनेजर की जॉब पाना चाहते हो या फिर सरकारी बैंक में दोनों के लिए ही आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ती है जिसके बाद ही आपको इस क्षेत्र में सफलता मिलती है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से Bank Manager से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां प्रदान करने जा रहे हैं। यदि आप भी बैंक मैनेजर बनने के की इच्छा रखते हैं तो आप हमारे इस लेख को अंत तक पड़े क्योंकि इसमें बताई गई जानकारी आपके लिए काफी हेल्पफुल हो सकती है।

Bank Manager Kya Hota Hai

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि किसी भी क्षेत्र में अपना फ्यूचर बनाना मुश्किल तो है लेकिन ना मुमकिन नहीं है। Bank Manager की पोस्ट प्राप्त करना किसी भी व्यक्ति के लिए आसान नहीं है लेकिन आप अपनी क्वालिफिकेशन और अच्छा ज्ञान होने के कारण इस पोस्ट को हासिल कर सकते हैं। बैंक मैनेजर अपना कार्य पूरी निष्ठा और कर्तव्य के साथ पूरा करते हैं। बैंक मैनेजर बैंक के सभी कर्मचारियों का सीनियर होता है जिसकी देखरेख में सभी कार्यों को पूरा किया जाता है। देखा जाए तो एक तरह से पूरी बैंक का कार्यभार बैंक मैनेजर के कंधों पर ही होता है।

  • प्राइवेट बैंक मैनेजर की जॉब के लिए आपको केवल इंटरव्यू से ही गुजारना पड़ता है और इसमें आपकी ग्रेजुएशन देखी जाती है लेकिन सरकारी बैंक में मैनेजर पोस्ट प्राप्त करने के लिए इंटरव्यू के साथ-साथ लिखित परीक्षा से भी गुजरना पड़ता है।
  • बैंक मैनेजर की पोस्ट हासिल करने के लिए आपको कम से कम 60% से अधिक अंको से परीक्षा पास करनी होती है जिसके बाद ही आप इस पोस्ट के लिए एग्जाम में बैठ सकते हैं।
Bank Manager Kaise Bane

परीक्षा पैटर्न

अब हम आपको बैंक मैनेजर पोस्ट के लिए परीक्षा पैटर्न बताने वाले हैं क्योंकि सरकारी बैंक में इस पोस्ट के लिए आपको लिखित एग्जाम और इंटरव्यू से गुजरना पड़ता है जबकि प्राइवेट बैंक में मैनेजर की पोस्ट के लिए केवल क्वालिफिकेशन ही देखी जाती है।

प्रारंभिक परीक्षा

यह परीक्षा का पहला चरण होता है जिसमें विद्यार्थी से सामन्य ज्ञान और करंट अफेयर्स , जनरल इंग्लिश, मैथ , तार्किक से संबंधित क्वेश्चन आते हैं। यह परीक्षा लिखित होती हैं। यदि आप यह परीक्षा सफलता पूर्वक पूरी कर लेते हैं तो आपको मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है।

मुख्य परीक्षा

अगर आप प्रारंभिक परीक्षा में सफलतापूर्वक पास हो जाते हैं तो आपको मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है जिसमें विद्यार्थियों से तीन अलग-अलग वर्गों से संबंधित क्वेश्चन पूछे जाते हैं जिसमें मात्रात्मक योग्यता से 35 प्रश्न, तर्कसंगतता से 35 प्रश्न, और अंग्रेजी भाषा से सम्बंधित 30 प्रश्न शामिल किये जाते है। यह परीक्षा 100 अंकों की होती है। मुख्य परीक्षा प्रारंभिक परीक्षा से ज्यादा महत्वपूर्ण होती है क्योंकि इसमें माइनस मार्किंग होती है।

इंटरव्यू

बैंक मैनेजर की पोस्ट का तीसरा चरण इंटरव्यू और यह संभव होता है जब आप प्रारंभिक और मुख्य दोनों परीक्षाओं में पास हो जाते हैं उसके बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है जिसमें आपसे कई प्रकार के अलग-अलग सवालात किए जाते हैं जैसे देश की दैनिक घटनाओं और गतिविधियों, राजनीतिक, सामाजिक, भारतीय अर्थव्यवस्था, व्यापार, बाजार, कृषि, वित्त, पुरस्कार, भारतीय संविधान, मीडिया, खेल, भारतीय रिजर्व बैंक और बैंकिंग से जुड़े प्रश्न पूछें जाते है।

ग्रुप डिस्कशन

इन तीनों परीक्षाओं से गुजरने के बाद चौथा और अंतिम चरण होता है ग्रुप डिस्कशन का जिसमें आपसे ग्रुप डिस्कशन किया जाता है। जिसके अंदर आपको कोई भी एक टॉपिक दे दिया जाता है जिसमें आपको अपने थॉट्स व्यक्त करने होते हैं और उन थॉट्स के माध्यम से ही आपकी योग्यता का अनुमान लगाया जाता है जिसके बाद आपको बैंक मैनेजर की पोस्ट के लिए सिलेक्ट कर लिया जाता है।

बैंक मैनेजर

बैंक मैनेजर की सेलरी

वैसे तो आपको बैंक मैनेजर की पोस्ट सिलेक्शन के बाद लगभग 20 हज़ार से 60 हज़ार तक की सैलरी प्रतिमाह प्रदान की जाती है। जिसके साथ साथ आपकी सैलरी समय अनुसार बढ़ती भी रहती है लेकिन अगर आप इस पोस्ट को हासिल करना चाहते हैं तो आपको उसके लिए कठिन से कठिन परीक्षण करना पड़ता है तभी आप इस पोस्ट के लिए सिलेक्ट हो सकते हैं।

Eligibility Of Bank Manager

  • सबसे पहले आवेदक को किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से स्नातक में सरकारी बैंक मैनेजर के लिए 60% अंक लाने अनिवार्य हैं जबकि प्राइवेट बैंक में जॉब के लिए 55% अंक चाहिए होते हैं।
  • इस पद को प्राप्त करने के लिए अभ्यार्थी को मार्केटिंग डिपार्टमेंट के लिए एमबीए या फिर पीजीडीबीएम की डिग्री होना अनिवार्य है।
  • एचआर और पर्सनल डिपार्टमेंट के लिए अभ्यर्थी को पर्सनल मैनेजमेंट/इंडस्ट्रियल रिलेशंस/ एचआर/ एचआरडी/ सोशल वर्क/ लेबर लॉ में परास्नातक की डिग्री होनी आवश्यक है।
  • साथ ही आईटी डिपार्टमेंट के लिए 4 वर्षीय इंजीनियरिंग डिग्री अथवा इलेक्ट्रॉनिक्स आदि में परास्नातक डिग्री अथवा डोएक ‘बी’ लेवल सर्टिफिकेट अभ्यर्थी को जमा करना होता है।
  • बारहवीं कक्षा वाणिज्य वर्ग से करने वाले उम्मीदवारों को अधिक मान्यता दी जाती है. क्योंकि वाणिज्य वर्ग के उम्मीदवार बैंकिंग से संबंधित पढ़ाई का अनुभव रखते हैं।
  • इस पोस्ट को प्राप्त करने के लिए अभ्यार्थी पर कोई केस ना हो ओर ना ही वह जेल गया हुए हों।
  • अंग्रेज़ी भाषा का ज्ञान होना बहुत ज़रूरी है क्यूंकि बैंकिंग फील्ड में ज़्यादातर इंग्लिश का ही यूज होता है।
बैंक मैनेजर

बैंक मैनेजर पोस्ट के लिए निर्धारित आयु सीमा

  • Bank Manager की पोस्ट के लिए आवेदक की आयु लगभग 20 वर्ष से 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • प्राइवेट बैंक में मैनेजर की जॉब के लिए आपकी आयु 21 वर्ष से 30 वर्ष के बीच होनी अनिवार्य है।
  • ओबीसी अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों के लिए लगभग 5 और 3 वर्ष तक की छूट प्रदान की जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here