DIOS Kaise Bane- डीआईओएस बनने के लिए योग्यता और उम्र-सीमा क्या है

DIOS क्या होता है और डीआईओएस कैसे बने एवं बनने का तरीका, Full Form क्या है व इसकी योग्यता, उम्र –सीमा क्या है

वर्तमान समय में शिक्षा का जो महत्व है वह अनिवार्य तौर पर देखा जाता है की सभी वर्गों के लिए यह समान होना चाहिए क्योंकि शिक्षा ही एक ऐसी चीज है जो निम्न वर्ग या फिर उच्च वर्ग दोनों ही वर्गों को एक समान स्तर पर लाकर खड़ा करती है और भविष्य संवारने का कार्य करती है यदि जिलेवार तौर पर बात की जाए तो हर जिले में शिक्षा व्यवस्था को व्यवस्थित करने के लिए सरकार की तरफ से एक ऐसा पद बनाया गया है जिसे हम DIOS कहते हैं यह डीआईओएस का पद सभी सरकारी स्कूलों में निरीक्षण करके वहां के पठन-पाठन कार्य को देखने का कार्य करता है तो आइए आज हम आपको DIOS क्या है तथा डीआईओएस बनने की योग्यता और यह कैसे बनते हैं इसके बारे में संक्षेप में जानकारियां प्रदान करते हैं।

DIOS क्या होता है?

डीआईओएस एक प्रकार का ऐसा पद है जो कि समस्त सरकारी विद्यालयों में निरीक्षण करने के लिए तथा उनके पठन-पाठन कार्य को व्यवस्थित तौर पर चालू करने के लिए नियुक्त होता है यह जिले में एक पद पर तैनात होते हैं और इनके अंतर्गत बहुत से एक कर्मचारी जो शिक्षा क्षेत्र को आगे बढ़ाने का कार्य करते हैं नियुक्त किए जाते हैं यदि DIOS की कार्यशैली की बात करें तो या अचानक से ही किसी भी कॉलेज अच्छा विद्यालय में जाकर निरीक्षण कर लेते हैं और वहां पर मौजूद शिक्षक अभ्यार्थियों से समाज करके वहां की व्यवस्था के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं जिससे क्षेत्र में किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न हो रही है तो समस्या को दूर किया जा सके।

DIOS Kaise Bane

DIOS का Full Form क्या है?

यदि DIOS के फुल फॉर्म की बात किया जाए अंग्रेजी में District Inspector Of School कहते हैं और भाई हिंदी में जिला विद्यालय निरीक्षक के तौर पर जाना जाता है जो कि जिला स्तर का एक शिक्षा अधिकारी होता है और जिले में शिक्षा क्षेत्र में आने वाली किसी भी प्रकार की समस्या को समाप्त करना तथा उसका उत्तरदाई भी यही होता है।

DIOS का कार्य क्या होता है?

जैसा कि आपको बताया गया कि DIOS जो होता है वह जिला स्तर का एक शिक्षा अधिकारी होता है और इसके अंतर्गत शिक्षा क्षेत्र में बढ़ावा देखने को मिलता है तो आइए हम DIOS के कार्य के बारे में आपको निम्नलिखित बताते हैं।

  • किसी भी सरकारी स्कूल में पठन-पाठन कार्य को व्यवस्थित तौर पर चालू रखने का कार्य एक DIOS का ही होता है।
  • यदि किसी विद्यालय में किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न होती है तो उसके समाधान के लिए डीआईओएस का होना जरूरी माना जाता है क्योंकि वही जिले का उच्च अधिकारी होता है।
  • प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों को मिड डे मील प्रदान करना तथा उन्हें सरकार की तरफ से मिलने वाले अन्य सुविधाओं को उनके तक पहुंचाने का कार्य DIOS का होता है।
  • किसी भी विद्यालय एवं कॉलेज में औचक निरीक्षण करना तथा उनकी खामियों को पकड़ के उन्हें दूर करने का कार्य इसी शिक्षा अधिकारी का होता है।
  • जिले में तैनात शिक्षकों को सही दिशा निर्देश देना तथा उन्हें व्यवस्थित तौर पर कार्य के लिए प्रेरित करने का कार्य DIOS का ही होता है।
DIOS Kaise Bane

DIOS कैसे बने?

आज भी बहुत से ऐसे अभ्यार्थी हैं जो कि प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करके एक सफल सरकारी नौकरी पाने की इच्छा रखते हैं उसी में से कुछ ऐसे भी हैं जो डीआईओएस बनने के लिए इच्छुक रहते हैं आपको बताते चलें कि डीआईओएस की जो भर्ती होती है वह राज्य लोक सेवा आयोग के माध्यम से की जाती है जिससे हम PCS बोलते हैं उसके बाद ही इस भर्ती में आप को शामिल किया जाता है तो आइए आज हम आपको DIOS कैसे बनते हैं उसके बारे में पूरी जानकारी देते हैं तथा उससे संबंधित योग्यता और शैक्षिक योग्यता के बारे में भी आपको बताते हैं।

DIOS बनने के लिए योग्यता

डीआईओएस बनने का ख्वाब रखने वाले अभ्यार्थियों को आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम विस्तार से DIOS कैसे बनते हैं तथा उनसे संबंधित योगिता के बारे में बताने जा रहा है जोकि निम्नलिखित है।

  • सबसे पहले डी आई एस बनने के लिए किसी भी अभ्यर्थी को शैक्षिक योगिता के तौर पर किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज अतः विश्वविद्यालय से Graduate के डिग्री प्राप्त करनी होगी क्योंकि DIOS की जो भर्ती होती है वह PCS के माध्यम से की जाती है और पीसीएस के लिए न्यूनतम Graduation ही मान्य होता है।
  • DIOS की भर्ती के लिए कुछ आयु सीमा की भी योग्यता रखी गई है जोकि 21 वर्ष से लेकर 40 वर्ष तक निर्धारित की गई है उसके साथ ही साथ विशेष आयु वर्ग के जो छात्र होंगे जिन्हें आरक्षण प्राप्त होगा उन्हें 5 वर्ष की छूट भी प्रदान की जाएगी सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों के लिए किसी प्रकार की कोई छूट निर्धारित नहीं की गई है।
  • DIOS बनने के लिए अभ्यार्थी को मानसिक एवं शारीरिक रूप से फिट होना चाहिए और उसे किसी भी प्रकार का कोई कलर ब्लाइंडनेस नहीं होना चाहिए।

DIOS की भर्ती प्रक्रिया

डीआईओएस में यदि कोई अभ्यर्थी परीक्षा की तैयारी कर रहा है और भर्ती होना चाहता है तो उसके लिए निम्नलिखित हम जानकारी साझा करने जा रहे हैं जिसके माध्यम से संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकता है।

DIOS की नौकरी के लिए Apply

जैसा कि आपको बताते चलें कि डिवाइस की जो नौकरी की Vacancy आती है वह PCS के माध्यम से आती है और पीसीएस के द्वारा ही इस वैकेंसी को पूर्ण भरा जाता है तो सबसे पहले आपको नौकरी के लिए वैकेंसी का इंतजार करना होगा जब वैकेंसी आती है तो आपको उसके लिए अप्लाई कर देना होगा।

DIOS के लिए परीक्षा देना

नौकरी में अप्लाई करने के कुछ महीनों बाद आपको परीक्षा की तैयारी करनी होती है और परीक्षा देनी होती है तो निम्नलिखित हम आपको DIOS के लिए होने वाली तीन चरण की प्रक्रिया को बताने जा रहे हैं।

प्रथम चरण:Prelims

सबसे पहले आपको राज्य लोक सेवा आयोग के द्वारा आयोजित की जाने वाली प्रारंभिक परीक्षा को देना होगा जिसमें लाखों की संख्या में अभ्यर्थी शामिल होते हैं यदि आप इस प्रारंभिक परीक्षा में सफल हो जाते हैं तो आपको मुख्य परीक्षा के लिए Merit में रखा जाता है।

द्वितीय चरण:Mains

प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद अब आपको मुख्य परीक्षा देना होता है मुख्य परीक्षा तक पहुंचते-पहुंचते बहुत से अभ्यार्थियों को छोड़ दिया जाता है और यह संख्या आधे से भी बहुत कम हो जाती है परंतु इसमें कंपटीशन तब भी बहुत ज्यादा कठिन होता है ऐसे में मुख्य परीक्षा को पास करना काशी ज्यादा मुश्किल माना जाता है परंतु जो अभ्यर्थी शुरू से ही अपनी तैयारी किए रहते हैं वह आसानी से इस परीक्षा को पास कर लेते हैं।

तृतीय चरण:Interview

सबसे अंतिम चरण और सबसे ज्यादा मुख्य चरणों में से एक साक्षात्कार का जो चरण होता है वह बहुत ही ज्यादा मायने रखता है क्योंकि अंत में मुख्य परीक्षा पास करने के बाद लाखों की संख्या में अभ्यर्थी जब परीक्षा देते हैं तो इंटरव्यू तक पहुंचते-पहुंचते इनकी संख्या सैकड़ों में ही रह जाती है और ऐसे में इस चरण को पार करने के लिए अभ्यर्थी को अपने स्तर का एक साक्षात्कार देना होता है जिसके बाद ही फाइनल मेरिट लिस्ट बनकर तैयार होती है और उसमें यदि किसी अभिनेत्री का नाम होता है तो वह DIOS के पद के लिए पूर्ण रूप से कार्यरत हो जाता है।

DIOS का वेतनमान कितना होता है?

DIOS वेतनमान जो होता है वो ग्रेड पे 4800 होता है और वही मासिक वेतन मान की बात करें तो इसके लिए शुरुआती दौर में 45000 से लेकर ₹70000 तक सैलरी प्रदान की जाती है तथा उसके साथ ही साथ इन्हें बहुत से सरकारी भत्ते भी दिए जाते हैं जिसमें आवासीय भत्ता खानपान भत्ता स्वास्थ्य भत्ता आदि भी प्रमुख तौर पर जुड़े हुए होते हैं तथा इसके साथ ही साथ कई प्रकार की सुविधाएं भी इन्हें प्रदान की जाती है।

Leave a comment