मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना- UP CM Fellowship, ऑनलाइन आवेदन व पात्रता ऑनलाइन चेक करे

मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे और UP CM Fellowship के लाभ व पात्रता एवं एप्लीकेशन स्टेटस कैसे चेक करे जाने हिंदी में

हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा एक योजना की शुरुआत की गई जिसे मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना(UP CM Fellowship Yojana) के नाम से जानते हैं इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश का को विद्यार्थी Research के क्षेत्र में कार्यरत है तो उसे Fellowship के तौर पर ₹30000 प्रदान किए जाएंगे जिससे वह अपने आगे की तैयारी को पूरी तरीके से स्थिरता के साथ कर सके और उन्हें सरकारी दफ्तरों में कामकाज की भूमिका भी अदा करने का मौका प्रदान किया जाएगा तो आज इस Article उन सभी रिसर्च के अभ्यार्थियों के लिए है जो यूपी में रहकर Research Fellowship कर रहे हैं इस लेख के माध्यम से UP CM Fellowship से संबंधित सभी जानकारियां को मुहैया कराया जाएगा।

Table of Contents

UP CM Fellowship Yojana Kya Hai?

गत दिनों ही उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट में यूपी सीएम फैलोशिप योजना(UP CM Fellowship Yojana) को मंजूरी प्रदान की गई है जिसके तहत  ऐसे युवा नियुक्त किए जाएंगे जोकि अपनी Fellowship में Research भी करें और आकांक्षी विकासखंड ब्लॉक के लिए कार्यरत भी रहे इस योजना के माध्यम से उन 100 विद्यार्थियों को चुना जाएगा जोकि ग्रामीण क्षेत्रों में के कार्यों को तेजी से आगे बढ़ा सके और कई ऐसे सुझाव भी प्रदान कर सकें जिससे Data Collection निगरानी और योजनाओं के संचालन में आने वाली चुनौतियों को व्यवस्थित रूप से निपटाया जा सके। Fellowship कर रहे विद्यार्थियों को इस योजना से जोड़कर उत्तर प्रदेश सरकार ने एक सराहनीय कदम उठाया जोकि आने वाले वर्षों में अच्छा परिणाम देने की संभावना देती है।

UP CM Fellowship

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना 

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना 2022

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना के द्वारा युवा अभ्यर्थियों को प्रतिमाह ₹30000 प्रदान किए जाएंगे जिसके द्वारा वह अपने Fellowship Research को भी पूर्ण कर सकेंगे और इसके साथ ही साथ उन्हें ₹10000 Tour Program और ₹15000 Mobile,Tablet की खरीद के लिए भी दिया जाएगा और यदि कोई युवा इस योजना के अंतर्गत नियुक्त होता है तो उसे 1 साल तक इस योजना में जोड़ा जाएगा और उसके कार्य की यदि सराहना जिला अधिकारी या फिर विकास खंड अधिकारी के द्वारा की जाती है तो उसकी कार्य अवधि को 1 वर्ष के लिए और बड़ा भी दिया जाएगा।

UP CM Fellowship Yojana से संबंधित विस्तृत जानकारी

योजनाUP CM Fellowship Yojana
शुरुवातउत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थी100 Research Students
योग्यतास्नातक न्यूनतम 60% अंको से
आवेदन की अंतिम तिथि24 August 2022
अधिकारिक वेबसाइट Click here

किन विभागों में कार्य करने हेतु अवसर युवाओं को मिलेगा

यदि कोई युवा विद्यार्थी जो Research Program का हिस्सा है और वह इस योजना के लिए नियुक्त हो चुका है तो ऐसे में निम्नलिखित विभागों में उसे कार्य प्रदान किया जाएगा।

  • कृषि क्षेत्र
  • ग्रामीण विकास क्षेत्र
  • पंचायती राज क्षेत्र
  • वन, पर्यावरण और जलवायु का क्षेत्र
  • शिक्षा क्षेत्र
  • स्वास्थ्य एवं स्वच्छता क्षेत्र
  • पोषण कौशल क्षेत्र
  • ऊर्जा और नवीकरणीय ऊर्जा
  • पर्यटन का क्षेत्र
  • सांस्कृतिक विरासत शहर
  • एआई, बायोटेक, एमएल, डेटा गवर्नेंस विमोचित अनुसंधान के क्षेत्र
  • बैंकिंग, वित्त और राजस्व क्षेत्र
  • सार्वजनिक नीति का क्षेत्र

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना का उद्देश्य क्या है

UP CM Fellowship Yojana को शुरू करने का जो उद्देश है वह यह है कि वर्तमान समय में Research कर रहे हैं युवाओं की ऊर्जा, नए विचार और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में जो जानकारियां होती हैं वह राज्यों में पहले से ही चल रही योजनाओं को आसानीपूर्वक राज्य के निवासियों तक पहुंचाने का कार्य करेंगी। और इससे साथ ही साथ कार्यों में भी तेजी देखने को मिलेगी और यह Fellowship के माध्यम से अपनी Research की तैयारी भी आसानी से कर सकेंगे इस योजना को शुरू करने के पीछे यही उद्देश्य मानकर उत्तर प्रदेश सरकार चल रही थी। जिससे 30,000 रुपए Research Fellowship करने के लिए अभ्यर्थियों को दिया जाएगा और उसके बदले उनसे कार्य भी सरकारी विभागों में लिया जा सके।

मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना

यूपी फ्री लैपटॉप योजना

UP CM Fellowship Yojana का लाभ क्या है

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना की जो शुरुआत की गई है वह युवाओं को ध्यान में रखकर की गई है जो कि अपने Research के क्षेत्र में Fellowship का इंतजार करने में ही लगे रहते हैं ऐसे में उन्हें इस Fellowship Yojana के माध्यम से जोड़कर उनको और भी ज्यादा व्यवस्थित बनाया जा रहा है निम्नलिखित हम इस फेलोशिप योजना का लाभ भी आपको बताते हैं।

  • उत्तर प्रदेश सरकार Research Scholars को Fellowship के तौर पर ₹30000 महीना दे गी और उसके साथ ही साथ उन्हें सरकारी विभागों में काम करने का अवसर भी प्रदान करेगी।
  • सरकारी विभागों में 1 वर्ष की अवधि के लिए कार्य करने की अनुमति प्रदान की जाएगी परंतु यदि जिला अधिकारी महोदय के द्वारा आपके काम की समीक्षा की जाती है और वह अच्छी गुणवत्ता की होती है तो उसे अन्य सरकारी विभागों में भी भेज दिया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत जो 100 लोगों को चुना जाएगा उन्हें अन्य आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाएगी जिसमें आने-जाने का खर्च और टेबलेट मोबाइल फोन यदि तेरा बाप
  • यदि कोई हिंदी के क्षेत्र में Research कर रहा है तो इस योजना के द्वारा उस अभ्यार्थी को ₹15000 की आर्थिक सहायता भी प्रदान किया जाएगा।

UP CM Fellowship Yojana के पात्र हेतु योग्यता

यदि कोई अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश सीएम फैलोशिप योजना से जुड़ना चाहता है तो उसके लिए सरकार की तरफ से कुछ योगिता निर्धारित की गई है जो कि हम आपको निमित्त बताने जा रहे हैं।

  • सबसे पहले अभ्यर्थी को किसी भी कॉलेज के अंतर्गत आवेदन करना चाहता है तो उसके पास Computer या फिर IT का विशेष ज्ञान अनिवार्य रूप से होना चाहिए
  • इस योजना के अंतर्गत जोड़ने वाले अभ्यर्थियों की अधिकतम आयु 40 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए
  • आवेदक UP का ही होना चाहिए वरना उसका Form Regisहो जाएगा यदि कोई अभ्यार्थी किसी बाहर राज्य का है और वह यूपी राज्य में आवेदन कर रहा है ऐसी विषम परिस्थिति में Form को Reject किया जा सकता है।

यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना के द्वारा कार्य की रिपोर्टिंग कितने प्रकार की है

UP CM Fellowship Yojana के अंतर्गत यदि कोई शोधार्थी के द्वारा कार्य किया जा रहा है तो उसे 1 साल में कितनी बार रिपोर्ट प्रस्तुत करने का मौका दिया जाएगा हम आपको बताने जा रहे हैं

  • मासिक प्रगति रिपोर्ट-इस मासिक प्रगति रिपोर्ट में जो भी अभ्यार्थी Research कर रहे हैं उनके द्वारा नीति एवं योजना के करने में जो जो चुनौतियां आ रहे हैं उसकी Report प्रस्तुत किया जाता है।
  • त्रैमासिक प्रगति रिपोर्ट-शोधार्थी के माध्यम से त्रैमासिक की प्रगति Report बनाए जाने के बाद सचिव और नियोजन विभाग के द्वारा रिपोर्ट पर समीक्षा की जाती है।
  • वार्षिक रिपोर्ट-यदि कोई अभ्यर्थी संपादित का कार्य कर रहा है तो उसके मूल्यांकन के लिए Annual report तैयार करके प्रस्तुत की जाती है।

यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना(UP CM Fellowship Yojana के अंतर्गत चयन प्रक्रिया क्या है

यदि कोई इच्छुक अभ्यर्थी इस योजना के अंतर्गत जुड़ना चाहता है और आवेदन करने के लिए Website पर जाता है तो ऐसे में उसको सबसे पहले ही चयन प्रक्रिया भी जान लेनी चाहिए जो की हम आपको निम्नलिखित बताने जा रहे हैं।

  • UP CM Fellowship Yojana के अंतर्गत यदि आप आवेदन करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको पांच सौ शब्दों का उद्देश्य को भी Upload करना होगा यह एक अनिवार्य रूप से करने के लिए बोला जाता है क्योंकि उद्देश्य लिखकर Upload न करने पर आवेदन को अस्वीकार कर दिया जाता है।
  • अभ्यर्थियों के द्वारा दिए गए आवेदन पत्रों की सही जांच के लिए वरिष्ठ अधिकारियों की कमेटी का गठन किया जाता है।
  • ईसके साथ ही साथ यदि कोई अभ्यर्थी Research  योजना से जुड़ गया है तो उसे  AKTU,NIUA और UPAAM जैसे प्रसिद्ध संस्थाओं से जोड़ दिया जाएगा।
  • एक ऐसी कमेटी का गठन किया जाएगा जोकि आवेदक पात्रता में सही उतरता है या नहीं और उनके मानदंडों को पूर्ण करने का कार्य करेगी

UP CM Fellowship Yojana के तहत व्यक्तिगत साक्षात्कार में क्या होता है

जो भी अभ्यर्थी यूपी सीएम फैलोशिप योजना 2022 के अंतर्गत चयनित होगा उसे अपने साक्षात्कार के समय आवेदन पत्र और अपने अभिलेखों के मूल एवं स्वप्रमाणित फोटो भी जमा करनी होगी सामान्य प्रकार के साक्षात्कार में अभ्यार्थियों से सामान्य ज्ञान तथा उनके कार्य के प्रति उत्साह के बारे में पूछ कर उनका आकलन किया जाता है इसके साथ ही साथ 100 Research Scholar को नियम एवं शर्तों के अनुसार चयन करने का कार्य किया जाता है और खास तौर से 50 अभ्यर्थियों को प्रतीक्षा सूची में भी रखा जाता है परंतु कभी ऐसी परिस्थिति हो जाती है कि अभ्यर्थी समान अंक ला देते हैं ऐसे में आयु की वजह के हिसाब से बड़े अभ्यर्थी का पहले चयन होता है।

सभी चयनित अभ्यर्थियों को प्रदान करने वाला प्रशिक्षण

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री Fellowship इस योजना के अंतर्गत जो भी अभ्यार्थी इस योजना के लिए नियुक्त होगा उसे 2 हफ्ते का सामान्य प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाएगा जिसमें समान परिचय और दूसरे हफ्ते में विषय के संबंध में बात की जाएगी ऐसे में उत्तर प्रदेश के प्रशासनिक एवं प्रबंधन अकैडमी से सीधे तौर पर प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा जिसमें IIT और IIM नामी-गिरामी संस्था को भी कार्यक्रम में जोड़ा जाएगा। Fellowship के अंतर्गत नियोजन विभाग के द्वारा प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं Course की जो वस्तु दी जाती है वह उत्तर प्रदेश प्रशासनिक एवं प्रबंधन एकेडमी के समन्वय के द्वारा ही होता है।

जरूरी Documents क्या है

यदि आप Uttar Pradesh Fellowship के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो उससे पहले आपको मांगे गए दस्तावेजों की जानकारी ग्रहण कर लेनी चाहिए जो कि हम आपको निम्नलिखित बताने जा रहे हैं।

  • Domicile Certificate
  • Graduation Marksheet
  • Any Computer Skills
  • Aadhaar Card
  • Mobile Number
  • Email ID
  • Income Certificate
  • Cast Certificate
  • Passport Size Photo

UP Mukhyamantri Fellowship Yojana के अंतर्गत आवेदन कैसे करें?

यदि कोई विशेष का अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री Fellowship इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहता है तो उसका तरीका हम आपको निम्नलिखित बताने जा रहे हैं।

UP CM Fellowship
  • जहां पर आपके सामने Website का होम पेज खुल कर आ जाएगा
  • उस होम पेज पर आपके सामने कुछ दिशा निर्देश दिए रहेंगे जिससे आप भली-भांति पढ़ ले
  • अब आपसे कुछ शर्तों को स्वीकार करने के लिए बोला जाएगा जिसे आप स्वीकार करके Proceed  के विकल्प पर Click कर दें।
  • अब आपके सामने एक प्रकार का Registration Form  खुलकर आ जाएगा।
UP CM Fellowship
  • इस फार्म में आपको अपनी Basic Details जैसे Name,Gender,Date of Birth, Mobile Number, Address आदि दर्ज करने होंगे
  • उसके बाद आपको अपना Signature और फोटोग्राफ को Scan करके Upload कर देना होगा
  • अंत में आप को Submit के Option पर Click कर देना है अतः किस तरह आपका सफलतापूर्वक Registration पूर्ण हो जाएगा।

Leave a comment