Hantavirus क्या है, कैसे फैलता है और हंता वायरस के क्या लक्षण है?

0
208

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं पूरी दुनिया में इस वक्त कोरोना वायरस का कहर जारी है और इसमें लाखों लोग संक्रमित हैं और करीब 6000 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं और ज्यादातर मुल्कों में लॉक डाउन चल रहा है हमारे देश भारत में भी लव डाउन चल रहा है इसी के बीच एक खबर और आती है हंता वायरस के बारे मे लोग पहले से ही परेशान थे कोरोना वायरस को लेकर लेकिन अब एक और चर्चा का विषय बना हुआ है कि Hantavirus क्या है कोरोना के बारे में तो आप सब लोग जानते ही होंगे इसके क्या सिम्टम्स, क्या बचाओ हैं क्या इसका कोई इलाज है क्या इसकी वैक्सीन है लेकिन एक और सवाल हमारे सामने खड़ा हो जाता है कि हंता वायरस क्या है यह कहां से शुरू हुआ कैसे फैलता है और इसका क्या इलाज है इसके बचाव के क्या क्या तरीके हैं

हंता वायरस क्या है ?

दोस्तों यह गंभीर विषय है जैसा कि आपको मालूम है कोरोना वायरस चीन से फैला और अब हंता वायरस की खबर भी यही है केस का पहला कैस 23 मार्च सन 2020 को चीन में पाया गया वह शख्स हंता वायरस इनफेक्टेड पाया गया जिससे उसकी मौत हो गई। Hantavirus का खांसने,छीकनें या किसी सरफेस को छूने से नहीं फैलता यह चूहों या गिलहरी के संपर्क में आने से फैलता है चूहा और गिलहरी के मल मूत्र से भी फैल सकता है। अभी तक इसके बारे में जितने भी जानकारी है उससे यही पता चलता है कि चूहों के संपर्क में ना आए यह चूहों से फैलता है आप चूहों से सावधान रहें और अगर चूहे घर में हो तो उन्हें पकड़ने या निकालने की कोशिश करें और सावधानी बरतें हैं।

Hantavirus

Sanitizer क्या होता है

Hantavirus का इन्फेक्शन कैसे फैलता है ?

हम आपको यहां बता रहे हैं चीन के युन्नान प्रांत में एक व्यक्ति की मौत हंता वायरस के इंफेक्शन से हो गई। जब इस व्यक्ति का ब्लड टेस्ट किया गया तो उसमें Hantavirus पॉजिटिव पाया गया हे डॉक्टर और वैज्ञानिकों ने इसका पता लगाया तो पता चला है चूहा और गिलहरी के संपर्क में आने से फैलता है जो इनके मल मूत्र के संपर्क में आने से भी यह फैलता है गिलहरी तो बहुत कम घरों में आती है लेकिन हमें चूहों से सावधान रहना होगा जिन घरों में चूहों का आना जाना हो वो रास्ते बंद कर दें बस यही इसको फैलने से रोकने का तरीका है।

हंता वायरस के क्या लक्षण हैं ?

  • अब हम यहां आपको Hantavirus के लक्षणों के बारे में बता रहे हैं जिसे आप ध्यानपूर्वक पढ़ें हंता वायरस इनफेक्टेड लोगों को सबसे पहले बुखार मांसपेशियों में दर्द थकान हो सकती है
  • इसके बाद इसके सिम्टम्स थोड़े बढ़ते हैं टांगे और कूल्हों में दर्द कंधे,पीठ मैं ज्यादा दर्द हो सकता है।
  • इसके अलावा और भी कई लक्षण सामने आ सकते हैं जैसे कि पेट में दर्द उल्टी और दस्त,चक्कर आना, ठंड लगना भी शामिल है।
  • अगर इसके मरीज को जल्दी ही ट्रीटमेंट नहीं मिला या उसका टेस्ट नहीं हुआ तो यह फेफड़ों को इनफेक्टेड करता है और उसके फेफड़ों में एक तरल पदार्थ भर जाता है जिससे उसे रेस्पिरेट्री सिस्टम में परेशानी हो सकती है यानी कि उसे सांस लेने में कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है।

Hantavirus का इलाज

कोरोना वायरस की तरह हंता वायरस के इंफेक्शन से भी मौत हो सकती है कोराना की तरह इसका कोई साफ तौर पर इलाज नजर नहीं आ रहा सिर्फ मरीज को आइसोलेशन वार्ड में ऑक्सीजन के जरिए वेंटिलेटर पर रखा जाता है हंता वायरस में भी सांस लेने में कठिनाई का सामना करना पड़ता है लेकिन उनको जो इनफेक्टेड है और वह पॉजिटिव पाए जाएं। जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है उन्हें कोई भी वायरस जल्दी इनफेक्टेड करता है इसलिए बुजुर्ग और कमजोर लोग जो पहले से ही किसी बीमारी से जूझ रहे हैं उन्हें ज्यादा सावधान लेने की जरूरत है चूहा और गिलहरी से दूर रहें बस यही इसकी सावधानी है बाकी तो एंटीबायोटिक और एंटीवायरल दवाएं ही इसका इलाज है और मरीज को वेंटीलेटर पर रखा जाता है।

हंता वायरस से बचने के उपाय

हंता वायरस खासने छीकने से नहीं फैलता ना ही यह वायरस सरफेस पर फैलता है इससे ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है केवल चूहा और गिलहरियों से दूरी बनाए रखें चूहों के आने-जाने के रास्ते पर रोक लगा दे और चूहा और गिलहरी के मल मूत्र से दूरी बनाए रखें यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को इनफेक्ट नहीं करता हां अगर एक व्यक्ति का इनफेक्टेड ब्लड दूसरे व्यक्ति में चढ़ाया जाए तो इस कंडीशन में फैल सकता है इंसेक्ट व्यक्ति के साथ शारीरिक संबंध ना बनाएं इससे भी यह फैल सकता है। अगर गिलहरी और चूहों को छुए या उनके मल मूत्र को छूने के बाद किसी व्यक्ति ने अपना हाथ अपने मुंह नाक कान और आंखों पर लगाया या मला तो उसे इंफेक्शन हो सकता है इस बात का ध्यान रखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here