OTP क्या होता है और इसका उपयोग कैसे करते हैं ?

0
414

ओटीपी क्या होता है | OTP Ki Full Form Kya Hoti Hai | ओटीपी का उपयोग कैसे करते हैं | Type Of (OTP) One Time Password | ओटीपी के फायदे क्या है

दोस्तों आज हम आपको बताएंगे OTP क्या होता है और इसका इस्तेमाल क्यों जरूरी है और उसका उपयोग क्यों करते हैं?आज के आधुनिक युग को अगर इंटरनेट का युग कहा जाए तो भी ठीक होगा क्योंकि आजकल हम अपना सारा काम ऑनलाइन करना चाहते हैं इसलिए हमारी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ओटीपी का प्रोसीजर शुरू किया गया है ताकि हमारे अकाउंट सुरक्षित रहें चाहे वह बैंक अकाउंट हो या किसी वेबसाइट पर या कोई सॉफ्टवेयर हो या एप्लीकेशन ओटीपी का इस्तेमाल हर जगह होता है।

One Time Password

आजकल हर कोई इंटरनेट का इस्तेमाल करता है क्योंकि यह पहले के मुकाबले पर बहुत आसान हो गया है इसलिए इसकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अगर हम कोई ऐप डाउनलोड करते हैं और उस पर अपना अकाउंट बनाते हैं तो अकाउंट बनाने से पहले हमें उस सॉफ्टवेयर कंपनी से एक ओटीपी लेना होगा उस ओटीपी को भरकर ही हम अपना अकाउंट बना सकते है  ओटीपी से कंफर्म हो जाता है कि अकाउंट बनाने वाला ही असली व्यक्ति है जिसके रजिस्टर्ड फोन नंबर पर ओटीपी प्राप्त होता है।\

OTP

OTP क्या है ?

ओटीपी का फुल फॉर्म होता है वन टाइम पासवर्ड। यह 6 से 8 अंकों तक का हो सकता है जिसे एक यूनिट कोड भी कह सकते हैं इसकी वैलिडिटी 5 से 10 मिनट तक की हो सकती है अगर इस बीच आपने इसका इस्तेमाल नहीं किया तो यह बेकार चला जाता है और फिर दूसरी बार हमें ओटीपी मंगवाना पड़ता है जो पिछले वाले ओटीपी से बिल्कुल भिन्न होता है ओटीपी का इस्तेमाल फंड ट्रांसफर में भी किया जाता है जिस तरह आप किसी ई-कॉमर्स वेबसाइट से सामान ऑनलाइन मंगवाना चाहते हैं तो आपको अपने मोबाइल नंबर से ओटीपी मंगवाना होगा जिसकी मदद से आप ऑनलाइन सामान खरीद सकते हैं और इसमें आपकी अकाउंट की सुरक्षा भी रहती है और हम जब कभी कोई ऐप डाउनलोड करते हैं जैसे फेसबुक या व्हाट्सएप या ट्विटर इंस्टाग्राम तो उसे शुरू करने से पहले जब हम उस पर आईडी बनाते हैं तो उससे पहले हमें एक ऑप्शन आता है कि अपना मोबाइल नंबर हमें भरना होता है जिस पर एक ओटीपी प्राप्त होता है उसके बाद हम उस ऐप का उपयोग कर सकते हैं।

ओटीपी क्या होता है

OTP क्यों आवश्यक है ?

  • ओटीपी की आवश्यकता उपभोक्ताओं की सुरक्षा प्रदान करने के लिए बहुत जरूरी है इसका उद्देश्य उपभोक्ताओं को टू स्टेप वेरीफिकेशन उपलब्ध कराना है जिसके लिए ओटीपी की शुरुआत की गई ओटीपी में 4 से 8 अंक तक इस्तेमाल किए जा सकते हैं
  • जिससे यूनिक कोड बनता है जो आपके  नॉर्मल पासवर्ड से बिल्कुल अलग दिया जाता है ज्यादातर उपभोक्ता एक आसान सा पासवर्ड रखते हैं जैसे कि उनकी जन्म तारीख बचपन का नाम आदि जो आसानी से हैक किया जा सकता
  • है जिसे ऑनलाइन सुरक्षा को काफी नुकसान होता है इसलिए फंड सुरक्षा को देखते हुए या ई-कॉमर्स कंपनी भी इसका इस्तेमाल करती हैं जैसे कि हमें अपने मोबाइल को रिचार्ज करना होता है यह डिश रिचार्ज कराना होता है तो भी यह ओटीपी काम आता है इसी की वजह से हमारे पर्सनल इंफॉर्मेशन किसी और को शेयर नहीं होती।

OTP के फायदे

  • ओटीपी के बहुत से फायदे हैं यह हमारे ऑनलाइन अकाउंट को सुरक्षा देता है जिसके द्वारा हमारे कई अकाउंट्स जैसे कि पेटीएम, गूगल पे, ऑनलाइन बैंकिंग वगैरा सुरक्षित रहते हैं।
  • अगर आप ऑनलाइन बैंक अकाउंट में ओटीपी सुरक्षा लेते हैं तो आप सुरक्षित रहते हैं और आपके यूजर नेम और पासवर्ड का किसी को पता नहीं चल पाता क्योंकि ओटीपी आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर पर ही आएगा और हैकर बिना ओटीपी के कुछ नहीं कर सकता।
  • अगर आप अपने किसी भी अकाउंट का पासवर्ड भूल गए हैं या फेसबुक या ट्विटर बहुत दिनों बाद यूज कर रहे हैं और आप उसका पासवर्ड भूल गए हैं या अपने मोबाइल या लैपटॉप बदला है और आपको पासवर्ड याद नहीं रहा तो आपको फॉरगॉटेन पासवर्ड पर क्लिक करके नया ओटीपी मंगवा कर उसको दोबारा शुरू कर सकते हैं।
OTP Ki Full Form

ओटीपी का उपयोग आप किन जगहों पर कर सकते हैं?

फंड ट्रांसफर से मुतालिक सभी ऑनलाइन जगह पर ओटीपी का इस्तेमाल किया जा सकता है अगर आपको ऑनलाइन बैंकिंग के जरिए फंड ट्रांसफर करना है तो आप अपने डेबिट कार्ड के जरिए करने में इसका इस्तेमाल किया जाता है यहां तक कि आपको अगर आधार से अपना बैंक अकाउंट लिंक करना है तब भी आपको ओटीपी की मदद लेनी पड़ेगी।जैसा कि आप जानते हैं बहुत सी ऐसी ऐप या वेबसाइट होती हैं जहां पर आपको लॉगइन करते वक्त ओटीपी का इस्तेमाल करना पड़ता है उसके बिना यह प्रोसीजर चालू नहीं होता चाहे वह ऑनलाइन शॉपिंग हो या ऑनलाइन फंड ट्रांसफर जो कोई भी एप्लीकेशन हो उसे सबसे पहले ओटीपी मांगा जाता है। एटीएम कार्ड के लिए भी एटीएम मशीन के जरिए पासवर्ड बदलने के लिए ओटीपी का उपयोग किया जाता है।

OTP के प्रकार

दोस्तों यहां हम आपको बता रहे हैं ओटीपी कितने तरह का होता है यह मुख्यतः तीन तरह का होता है जिसको हम नीचे बता रहे हैं

SMS के द्वारा– जब हम अपने  रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के द्वारा अपने मोबाइल पर  एसएमएस के जरिए  ओटीपी मंगवाते हैं तो इसे  एसएमएस ओटीपी कहते हैं।

Email के द्वारा– जब हम किसी वेबसाइट पर अपना पासवर्ड भूल गए होते हैं या अभी सेट कर रहे होते हैं तो हमें न्यू पासवर्ड जनरेट करने के लिए ईमेल के द्वारा ओटीपी मिलता है जिसे हम ईमेल ओटीपी कहते हैं।

Voice कॉल के द्वारा– ओटीपी प्राप्त करने का तीसरा तरीका यह है कि जब हमें ओटीपी अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर वॉइस कॉल के द्वारा प्राप्त होता है उसे वॉइस ओवर ओटीपी कहते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here