(Pin Code Kya Hai) पिन कोड क्या होता है- Pin Code/Zip Code कैसे पता करे

0
183

Pin Code Kya Hota Hai | Pin Code/Zip Code Kaise Pata Kare | पिन कोड नंबर कैसे पता करें | पिन कोड क्यों जरूरी है |Pin Code/Zip Code Ki Full Form Kya Hai |

दोस्तों आज का हमारा विषय है कि पिन कोड क्या होता है। आपने देखा होगा जब भी हम कुछ समान ऐमेज़ॉन फ्लिपकार्ट से मंगाते हैं तो वहां हमसे नाम और पते के साथ-साथ Pin Code भी पूछा जाता है। यकीनन यह बात आपके दिमाग में जरूर आई होगी तो दोस्तों मैं आपको बता दूंगा ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बिना पिन कोड के एक जगह की सही रूप से और आसानी से पहचान करना बहुत मुश्किल होता है।और वो इसलिए क्योंकि बहुत सी जगहों के नाम समान होते हैं ऐसे में उनके सही पत्ते का ठिकाना लग नहीं पता। Pin Code के माध्यम से ही पोस्टल डिपार्टमेंट्स को मदद मिलती है

Pin Code/Zip Code

यदि आपको भी किसी जगह के पिन कोड के बारे में जानना है या Pin Code के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करनी है तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे हैं क्योंकि आज हम आपको अपना आर्टिकल के माध्यम से Pin Code/Zip Code के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं आपको हमारा आर्टिकल विस्तार पूर्वक पढ़ना होगा |

पिन कोड

Pin Code क्या होता है

पिन कोड एक प्रकार का 6 अंकों का यूनिक नंबर होता है जिसका उपयोग इंडियन पोस्ट ऑफिस को ढूंढने के लिए किया जाता है। पिन कोड को Postal Index Number ही कहा जाता है। दोस्तों आपको बता दें कि पिन कोड को पहली बार 1972 में भारत में लागू किया गया था और आपको बता दें कि पिन कोड में से 8 जाओग्राफिकल रीजन है और एक आर्मी पोस्टल सर्विस

पिन कोड का इतिहास?

दोस्तों आपको बता दें कि पिन कोड सिस्टम को 15 अगस्त 1972 को केंद्रीय संचार मंत्रालय में एक अतिरिक्त सचिव श्री राम भीकाजी वेलंकर द्वारा पेश किया गया था गलत पते सम्मानित स्थान के नाम और जनता द्वारा उपयोग की जाने वाली विभिन्न भाषाओं पर भ्रम को समाप्त करने के मेल की मैनुअल छटाई और वितरण को आसान बनाने के लिए प्रणाली शुरू की गई थी

पिन कोड

Pin code का फुल फॉर्म?

पिन कोड का फुल फॉर्म है Postal Index Number.

पिन संरचना क्या है?

PIN Code की सरंचना कुछ इस प्रकार है

  • Pin Code की पहली डिजिट इंडिकेट करती है zone या किसी region को।
  • और पिन कोड कि दूसरे डिजिट इंडिकेट करती है sub-zone को।
  • इसके तीसरे डिजिट इन दोनों डिलीट को कंबाइन करके पहले के 2 डिजिट के साथ तब यह इंडिकेट करती है Sorting District को जो उस दिन के भीतर आता है।
  • और आखिर के 3 डिजिट को असाइन किया गया है इंडिविजुअल पोस्ट ऑफिस को

किस नंबर का क्या अर्थ होता है ?

  • अब हम आपको आसान भाषा में पिन कोड के नंबर के बारे में बताएंगे यदि आप के पिनकोड का पहला नंबर 1 है तो आप दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश या जम्मू और कश्मीर में से किसी राज्य से हैं।
  • अगर आपका नंबर 2 है तो आप उत्तर प्रदेश या उत्तरांचल से हैं।
  • आपके पिनकोड का पहला नंबर 3 है तो आप वेस्टर्न जोन के राजस्थान या गुजरात से ताल्लुक रखते हैं।
  • नहीं अगर आपके पिन कोड की शुरुआत चार नंबर से होती है तो आप महाराष्ट्र मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ से हैं।
  • इसी तरह 5 से शुरू होने वाला कोड आंद्र प्रदेश और कर्नाटक का होता है।
  • अगर आपका पिन कोड 6 से शुरू हो रहा है तो आप केरला या तमिलनाडू के रहने वाले हैं।
  • यदि आपके पिन कोड का पहला नंबर साथ है तो आप बंगाल, ओरिसा, और नॉर्थ ईस्टर्न इलाकों में हैं।
  • अगर आपके पिन कोड का पहला नंबर 8 है तो आप बिहार या झरखंड में रहते हैं।
  • अब अगर आप 9 नंबर से शुरू होने वाले पिन कोड का प्रयोग करते हैं तो यह इस बात का सबूत है कि आप फंक्शनल जोन में रहते हैं। आर्मी पोस्टल सर्विसेज के लिए होता है।

जिन पिन कोड की शुरआत 2 डिजिट से होती है उनका क्या मतलब होता है

  • जिस पिन कोड की शुरुआत 11 से होते हैं वह दिल्ली का होता है।
  • 12-13 हरियाणा
  • 14-16 पंजाब
  • 17 हिमाचल प्रदेश
  • 18 और 19 जम्मू और काश्मीर,
  • 20-28 उत्तर प्रदेश और उत्तरांचल
  • 30-34 राजस्थान
  • 36-39 गुजरात
  • 40-44 महाराष्ट्रा
  • 45-49 मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़
  •  50-53 आन्द्र प्रदेश
  • 56-59 कर्नाटक
  • 60-64 तमिलनाडू
  • 67-69 केरला
  • 70-74 बंगाल
  • 75-77 ओडिशा
  • 78 असम
  • 79 नॉर्थ ईस्टर्न इलाके
  • 80-85 बिहार और झारखंड
  • 90-99 आर्मी पोस्टल सर्विसेज.

Pin Code कैसे ढूंढे

दोस्तों अगर आपको भी अपनी जगह का Pin Code ढूंढना है तो आपको नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा

पिन कोड
  • ऑफिशियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Find Pincode ऑप्शन दिखाई देगा उसके नीचे आपसे कुछ जानकारी ली जाएगी।
  • जैसे के अपना राज्य जिला एवं पोस्ट ऑफिस का नाम सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Evaluate the expression मैं पूछे गए प्रश्न का उत्तर देना है।
  • प्रश्न का उत्तर देने के बाद आपको Search के बटन पर क्लिक करना है।
  • आपके सामने पूरी लिस्ट खुलकर आ जाएगी आप अपने एरिया के हिसाब से अपना Pin Code जान सकते हैं।

Sorting District क्या होता है?

PIN Code की तीसरी डिजिट को जब पहले 2 डिजिट के साथ जोड़ा जाता है तब यह एक जोग्राफिकल रीजन को दर्शाता है जिसे Sorting District भी कहा जाता है। Sorting District एक तरह का हेड क्वार्टर होता है मैन पोस्ट ऑफिस में किसी बड़े शहर के उस रीज़न की। दोस्तों आपको बता दें कि एक राज्य में एक से ज्यादा भी सोर्टिंग डिस्ट्रिक्ट मौजूद हो सकते हैं यह निर्भर करता है कि वहां कितने मेल प्राप्त हो रहे हैं

पिन कोड की शुरुआत किसके द्वारा की गई?

पिन कोड की शुरुआत भारत में सबसे पहले श्रीराम भीकाजी वेलंकर जीत के द्वारा की गई

Pin Code क्यों जरूरी है?

तो चलिए दोस्तों बताते हैं कि पिन कोड की जरूरत क्यों पड़ती है

  • पोस्ट ऑफिस की जरूरत इसलिए होती है क्योंकि भेजी गई चीज उसी पोस्ट ऑफिस पर ही जाकर पहुंचती है जिसका पिन कोड दिया जाता है।
  • पिन कोड के मदद से चीज आसानी से उसी जगह पर पहुंच जाती है जिस जगह का कोड दिया होता है।
  • पिन कोड के माध्यम से पोस्टल डिलीवरी सिस्टम बहुत हद तक बढ़ चुका है क्योंकि आप चीजों को आसानी से बांटा जा रहा है।
  • PIN Code के इस्तेमाल से जगह के नाम में जो कंफ्यूजन होता है वह पूरी तरह से कम हो चुका है।
  • पिन कोड के माध्यम से भाषा में भी कोई परेशानी नहीं आती है
  • पिन कोड के माध्यम से डाकिया के कार्य को भी बहुत हल्का कर दिया गया है।

Conclusion

दोस्तों उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे आर्टिकल के माध्यम से समझ आ गया होगा के Pin Code क्या है। हम हमेशा अपने आर्टिकल के माध्यम से यही कोशिश करते हैं कि जो भी विषय है उसके बारे में आपको पूरी जानकारी प्रदान की जाए। अगर फिर भी कोई कठिनाई आए तो आप हम से नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं। आपका कमेंट हमारे लिए महत्वपूर्ण है आगे भी इसी तरह आपको अपना आर्टिकल के माध्यम से और चीजों के बारे में जानकारी प्रदान करती रहूंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here