आयुष्मान भारत योजना क्या है और ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें ?

0
61

दोस्तों आज हम बात करेंगे आयुष्मान भारत योजना की क्योंकि हमारे देश में गरीबी बहुत है इस बात को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी गरीबों के स्वास्थ्य को लेकर बहुत चिंतित थे।  इसलिए उन्होंने आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया आयुष्मान भारत योजना स्वास्थ्य और परिवार कल्याण योजना मंत्रालय के अंतर्गत आती है। आयुष्मान भारत योजना जिसे 1 अप्रैल सन 2018 को लागू किया गया था सन 2018 के बजट सत्र में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इसकी घोषणा की उसके बात भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 14 अप्रैल सन 2018 को भीमराव अंबेडकर की जयंती के दिन छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले से इसे शुरू किया। हमारे देश भारतवर्ष में जनसंख्या ज्यादा होने की वजह से गरीबी भी ज्यादा है इसलिए प्रधानमंत्री जीने लोगों के स्वास्थ्य को लेकर इस योजना को शुरू करने का निर्णय लिया जो बहुत अच्छा कदम है

आयुष्मान भारत योजना

आयुष्मान भारत योजना के तहत 10 करोड़ गरीब पर परिवारों को इसका लाभ पहुंचाने का निर्णय लिया गया है। इन 10 करोड़ परिवारों का मतलब है 50 करोड़ लोग इस योजना से लाभ उठा सकेंगे और हर परिवार को ₹500000  का स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा। यह बीमा भारत सरकार की तरफ से होगा और इसके लाभार्थियों को कोई भी प्रीमियम जमा करने की जरूरत नहीं है बीमा कंपनियों से सीधा संपर्क केंद्र सरकार ही करेगी। इसके अंतर्गत लाभार्थियों को सरकारी अस्पतालों और गैर सरकारी अस्पतालों में भी मुफ्त इलाज की व्यवस्था की गई है अगर किसी कारणवश सरकारी अस्पतालों में इलाज संभव नहीं है तो लाभार्थी गैर सरकारी अस्पताल में भी अपना इलाज करा सकता है सिर्फ उसको अपने बीमे के दस्तावेज दिखाने होंगे और आप का इलाज शुरू हो जाएगा।

यूपी विवाह अनुदान योजना क्या है

आयुष्मान भारत योजना मुख्य जानकारी

योजना का नाम आयुष्मान भारत योजना
विभाग स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय
आरंभ करने की तिथि 14 अप्रैल सन 2018
अंतिम तिथि जारी है
योजना का प्रकार स्वास्थ्य बीमा योजना
रकम ₹500000 का बीमा कवर
सरकारी वेबसाइट https://mera.pmjay.gov.in

आयुष्मान भारत योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर और पिछड़े वर्ग के लोगों की सहायता के लिए किया गया है। ताकि वह अपना इलाज स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत किसी भी सरकारी या गैर सरकारी अस्पताल में करा सकें। एक गरीब परिवार में चार पांच लोग तो लगभग होते है जिसमें कमाने वाला सिर्फ एक होता है गरीबी इतनी है कि आजकल लोग अपने खर्चे पूरे नहीं कर पाते इस बात को ध्यान में रखते हुए मेरा मंत्री जी ने इस योजना का शुभारंभ किया ताकि गरीब परिवार इसके अंतर्गत अपना इलाज मुफ्त करा सके। जो लोग गरीबी रेखा के नीचे जीवन व्यापन करते हैं उनके लिए यह योजना किसी वरदान से कम नहीं है। इस तरीके से अगर देखा जाए तो यह गरीब परिवारों की आर्थिक सहायता ही है तब वह कम से कम इलाज के पैसों के खर्चे से बच सकें। इसके अंतर्गत अनुसूचित जाति जनजाति सामान्य पिछड़ा वर्ग अल्पसंख्यक पिछड़ा वर्ग सभी को इसका लाभ मिल सकेगा।

आयुष्मान भारत योजना की विशेषताएं

  • आयुष्मान भारत योजना की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसमें 10 करोड़ गरीब परिवार इसका लाभ उठा सकेंगे जिन्हें अपना इलाज कराने के लिए कोई पैसा खर्च नहीं करना और अस्पताल से डिस्चार्ज होने के 15 दिन बाद तक का खर्चा बीमा कंपनियां कवर करेंगीं।
  •  दूसरी बड़ी विशेषता यह है कि इसमें आधार कार्ड की आवश्यकता नहीं है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट के अनुसार इस योजना का लाभ उठाने के लिए आधार कार्ड को दिखाना जरूरी नहीं है।
  • आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत हर राज्य में स्वास्थ्य एवं आरोग्य केंद्र स्थापित किए जाएंगे जिनमें छोटी बीमारियां जैसे नजला जुकाम खांसी बुखार लूज मोशन इसको प्राथमिक चिकित्सा केंद्र भी कह सकते हैं।
  • इसके अलावा गंभीर बीमारियों के लिए कल्याण केंद्र खोले जाएंगे जिसके अंतर्गत गंभीर बीमारियों का इलाज किया जाएगा।
  • बुजुर्गों के लिए आपातकालीन इलाज क्योंकि बहुत से घरों में बुजुर्गों के इलाज के लिए पर्याप्त पैसे नहीं होते इसलिए बुजुर्गों का इलाज करने की सुविधा केंद्र सरकार और जो सरकार ने मिलकर उठाई है।
  • गर्भावस्था का इलाज और उसकी देखभाल उसके बाद नवजात शिशु का इलाज और उसके देखभाल भी इन्हीं कल्याण केंद्र में होगी।
  • बाल स्वास्थ्य के अंतर्गत बच्चों का इलाज भी किया जाएगा और इसमें क्रॉनिक वायरल इनफेक्शन और एक्यूट वायरल इनफेक्शन का भी इलाज संभव हो सकेगा।
  • वायरल इनफेक्शन के अंतर्गत बहुत सी गंभीर बीमारियों का इलाज हो पाएगा क्योंकि आजकल वायरल इनफेक्शन बहुत आसानी से फैलता है
  • मानसिक मानसिक रोगियों का इलाज भी संभव हो सकेगा। दांतों के रोगों में दांतो की गंभीर समस्याओं का इलाज भी किया जाएगा इसके अंतर्गत गरीब लोग अपना इलाज मुफ्त करा सकेंगें।

आयुष्मान भारत योजना के लिए पात्रता

आयुष्मान भारत योजना की पात्रता के लिए 2011 की जनगणना को आधार बनाया गया है सन 2011 के आंकड़ों के आधार पर शहरी 2.30 करोड़ और ग्रामीण 8 करोड़ उपेक्षित परिवारों को इसमें शामिल किया गया है परिवार के आकार और उम्र की कोई सीमा नहीं रखी है

  • जिन गरीब परिवारों के पास अपने घर तो हैं लेकिन कच्चे हैं।
  • जिन गरीब परिवारों में 16 वर्ष से 59 वर्ष के बीच कोई वयस्क सदस्य नहीं है।
  • ऐसा परिवार जिसमें कोई विकलांग हो और सक्षम सदस्य न हो।
  • जिनके पास अपना घर ही ना हो।
  • अनुसूचित जाति जनजाति समूह।
  • कानून तौर पर मुक्त किए हुए बनवा मजदूर।
  • ऐसे परिवार जो एसईसीसी डेटाबेस जिसमें शहरी और ग्रामीण दोनों की डाटा भी शामिल है के मुताबिक तय होंगे।
  • इसमें भीख मांगने वाले कारीगर फेरी लगाने वाले प्लंबर राज मजदूर और छोटे किस्म के मजदूरी का काम करने वाले लोग शामिल है।

आयुष्मान भारत योजना से होने वाले लाभ

  • आयुष्मान भारत योजना का लाभ 10 करोड़ों गरीब परिवारों को मिलेगा इसका मतलब यह हुआ के लगभग 50 करोड़ लोगों को इसका लाभ मिलेगा इसके अंतर्गत सभी तरह की बीमारियों का इलाज बीमा योजनाओं के तहत मुफ्त किया जाएगा।
  • इसका सबसे बड़ा लाभ यह है यह गरीब परिवारों को बिना पैसा खर्च किए उनका इलाज हो सकता है यह एक स्वास्थ्य बीमा योजना है और इसके अंतर्गत आपको एक गोल्डन कार्ड दिया जाएगा इसी कार्ड को दिखाकर अपना इलाज करा सकते हैं
  • अगर गंभीर रोग है सरकारी अस्पताल में उसका इलाज नहीं हो पाता है तो आप प्राइवेट हॉस्पिटल में भी उसका इलाज करा सकते हैं वह भी उसी बीमा के तहत होगा यह प्रक्रिया पूरी कैशलेस होगी।
  • इसमें गर्भवती महिलाओं को भी काफी लाभ मिलेगा और नवजात शिशुओं का भी इलाज किया जाएगा। खासतौर पर बुजुर्गों को भी इससे बहुत फायदा पहुंचेगा और मानसिक रोगियों का भी इलाज संभव हो पाएगा।  इस योजना का सबसे बड़ा राज्य है की है इंश्योरेंस मॉडल पर कार्य करती है। और पूर्ण रूप से कैशलेस योजना है इस योजना को जन आरोग्य योजना और मोदी केयर योजना के नाम से भी जाना जाता है।

आयुष्मान भारत योजना आवेदन प्रक्रिया

इस योजना में शामिल होने के लिए आपको कहीं भी पंजीकरण कराने की आवश्यकता नहीं है जिन नागरिकों का नाम सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना की सूची में सन 2011 के मुताबिक है उन सभी नागरिकों का नाम आयुष्मान भारत योजना में शामिल किया गया है वेरीफिकेशन के लिए आपके घर पर कोई सरकारी कार्यकर्ता पूछताछ के लिए आ सकता है उसे अपनी पूरी जानकारी देनी होगी।इसके लिए भारत सरकार ने जगह-जगह जन सेवा केंद्र खोल रखे हैं या सरकारी अस्पताल या किसी रजिस्टर्ड अस्पताल में जाकर भी इसकी जानकारी हासिल कर सकते हैं इस योजना का कोई ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं है इस योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर अपना नाम मोबाइल नंबर के साथ सर्च कर सकते हैं

आयुष्मान भारत योजना

पहला चरण

  • सबसे पहले आपको इस की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा ऑफिशियल वेबसाइट पर क्लिक करें और अपना मोबाइल नंबर दिए गए बॉक्स में फिल करें और फिर साइड में दिए हुए बॉक्स में कैप्चा कोर्ट को उसके सामने दिए हुए बॉक्स में भरे उसके बाद जनरेट ओटीपी बटन पर क्लिक करें जैसे ही आप जेनरेट ओटीपी पर क्लिक करेंगे आपके मोबाइल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड प्राप्त होगा
  • इस पासवर्ड को यहां दिए गए बॉक्स में भरकर वेरीफाई बटन दबाना हुआ जैसे ही आप वेरीफाई बटन क्लिक करेंगे आपके सामने था जब आप खुलकर आएगा।
  • सर्च बॉक्स में आपको सबसे पहले अपने राज्य को सेलेक्ट करना होगा इसके बाद आप किस तरीके से अपना नाम सर्च करना चाहते हैं उसे सेलेक्ट करें फिर आपको नीचे उस डॉक्यूमेंट की संख्या भरनी होगी जिसके द्वारा आप अपना नाम सर्च करना चाहते हैं।
  • जैसे आप अपने मोबाइल नंबर के द्वारा अपना नाम सर्च करना चाहते हैं तो उस बॉक्स में अपना मोबाइल नंबर को भरेंगे फिर सर्च ऑप्शन पर क्लिक करें जैसे ही आप सच ऑप्शन पर क्लिक करेंगे आपको मोबाइल नंबर के द्वारा जितने भी नागरिकों का आयुष्मान भारत योजना में नाम होगा उन सब की जानकारी आपकी स्क्रीन पर दिखाई देगी ।

दूसरा चरण

  • अधिक जानकारी के लिए आप डिटेल्स बटन पर भी क्लिक कर सकते हैं तो इस प्रकार आप आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत गोल्डन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • आयुष्मान भारत योजना के लिए भारत सरकार ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है यदि किसी को कोई जानकारी प्राप्त करनी हो कोई शिकायत करनी हो तो इस हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर सकता है हेल्पलाइन नंबर यह है—14255
  • यही 24 घंटे खुला रहता है आप इस पर किसी वक्त भी कॉल कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here