Chartered Accountant कैसे बने- CA Course सीए कैसे करे जानकारी हिंदी में

0
170

Chartered Accountant Kya Hai | चार्टर्ड अकाउंटेंट कैसे बने |सीए कोर्स कैसे करे | Chartered Accountant ki Salary | सीए कोर्स की फीस कितनी है

चार्टर्ड अकाउंटेंट यह कॉमर्स सब्जेक्ट में सबसे प्रतिष्ठित कोर्स है। हर कॉमर्स के छात्र का सपना होता है कि वह चार्टर्ड अकाउंटेंट बने। और जैसे कि हम सब जानते ही हैं कि भारत में चार्टर्ड अकाउंटेंट बन्ना इतना आसान नहीं है। इस कोर्स को करने के लिए कड़ी मेहनत और लगन की जरूरत पड़ती है। CA का काम है कि अकाउंट के मेंटेनेंस से संबंधित कार्य करना जिसके लिए एक अकाउंटेंट को अप्वॉइंट किया जाता है। तो दोस्तों अगर आप भी ग्रेजुएशन के बाद  कुछ अच्छा बनना चाहते हैं तो आप  सीए बनने का ट्राई जरूर करें क्योंकि आज हम आपको अपना आर्टिकल के माध्यम से बताने जा रहे हैं CA कैसे बना जाता है  जानने के लिए आपको हमारा आर्टिकल विस्तार पूर्वक पढ़ना होगा।

CA (चार्टर्ड अकाउंटेंट) क्या होता है?

CA को चार्टर्ड अकाउंटेंट कहा जाता है जिसमें हिसाब किताब के बारे में सिखाया जाता है। CA का काम लोगों को वित्तीय सलाह देना वित्तीय क्षेत्र से जुड़े किसी भी तरह के काम जैसे कि कंपनी का टैक्स रिटर्न करना, बैलेंस शीट बनाना आदि। CA को वित्तीय सलाह, व्यापार, खाता और टैक्स आदि के बारे में सिखाया जाता है। यह एक बहुत ही अच्छी पोस्ट है। किसी भी अकाउंटेंट का स्टेटस डॉक्टर इंजीनियर से कम नहीं होता। CA बैंकिंग टैक्स और अकाउंटेंट की जॉब करके अच्छा पैसा भी कमा सकते हैं। पर CA बनने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ती है तब जाकर आप को CA की डिग्री हासिल होती है।

CA चार्टर्ड अकाउंटेंट

चार्टर्ड अकाउंटेंट कैसे बने?

 CA बनने के लिए आपको सीपीटी परीक्षा को पास करना होता है। सीपीटी परीक्षा को पास करने के बाद आप को सीए करने की अगली प्रोसेस करनी होती है और यह प्रोसेस है। आईपीसीसी आपको आईपीसीसी की परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना होता है और आप इसका रजिस्ट्रेशन तब ही करवा सकते हैं। जब आप आईपीसीसी की एग्जाम को पास कर लेते हैं और अगर आप इस परीक्षा में फेल हो जाते हैं तो आप इसके लिए रजिस्ट्रेशन नहीं करवा सकते। आईपीसीसी की परीक्षा साल में दो बार होती है। पहली परीक्षा मई महीने में और दूसरी परीक्षा नवंबर महीने में रखी जाती है।

बीकॉम करने के बाद CA कैसे बने?

दोस्तों कभी कभी ऐसा होता है कि हम सीपीटी की परीक्षा देने से चूक जाते हैं या फिर आप लेट हो जाते हैं तो आप अपना ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद भी इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। जिन लोगों को इस परीक्षा में शामिल होना है वह ग्रेजुएशन के बाद भी शामिल हो सकते हैं। यदि आप ग्रेजुएट छात्र है तो आप सीधा प्रवेश ही कर सकते हैं। आईपीसीसी में सीधा प्रवेश पाने के लिए आपको ग्रेजुएशन में  55% अंक होने चाहिए जब के अन्य ग्रेजुएशन के लिए 60%

CA का सिलेबस क्या है?

सीए का सिलेबस चार चरणों में विभाजित किया गया है।चलिए जानते हैं उन चार चरणों के बारे में

पहला चरण: CPT (Common Proficiency Test)

इसमें दो छेत्र होते हैं और उनमें एक पेपर होता है।

Session 1
  • Section A: Fundamentals of Accounting
  • Section B: Mercantile Laws
Session 2
  • Section C: General Economics
  • Section D: Quantitative Aptitude

दूसरा चरण: IPCC (Integrated Professional Competence Course)

आईपीसीसी में दो ग्रुप होते हैं। पहले ग्रुप में चार पेपर और दूसरे ग्रुप में तीन पेपर।

Group 1
  • Accounting
  • Business laws Ethics and Communication
  • Cost Accouting and Financial Management
  • Taxation
Group 2
  • Advance Accounting
  • Auditing and Assurance
  • Information Technology and Strategic Management

इन पेपर्स में आपको हर विषय में 40% पासिंग मार्क्स और कुल 50 परसेंट अंक होने चाहिए।

तीसरे चरण: Articleship

आईपीसीसी की परीक्षा पास होने के बाद आपको 3 साल के आर्टिकलशिप के प्रैक्टिस करनी पड़ती है, जैसे ही आप के 3 साल के प्रैक्टिस ट्रेनिंग पूरी होती है तो इसके 6 महीने के बाद आपको एक परीक्षा देनी होती है जो सीए बनने की अंतिम परीक्षा होती है।

चौथा चरण: CA Final Exam

यह परीक्षा बहुत ही उच्च स्तर की परीक्षा होती है। इस परीक्षा को भी दो ग्रुप में बांटा गया है। यह बहुत ही कठिन परीक्षा होती है। यह परीक्षा इस लिए होती है क्योंकि इस परीक्षा में पास होते ही आप सी ए की डिग्री प्राप्त कर लेंगे और चार्टर्ड अकाउंटेंट बन जाएंगे। इस परीक्षा में पहले ग्रुप  और दूसरे ग्रुप में चार-चार पेपर होते हैं।

Group 1
  • Financial Reporting
  • Strategic Financial Management
  • Advanced Auditing and Professional Ethics
  • Corporate and Allied Laws
Group 2
  • Advanced Management Accounting
  • Information and Systems Control
  • Audit, direct tax laws
  • Indirect tax laws

अगर आप इन सभी परीक्षाओं को पास कर लेते हैं तो आप चार्टर्ड अकाउंटेंट यानी सीए बन जाएंगे। सीए कोर्स की अंतिम परीक्षा को पास करने के बाद आपको आईसीएआई कंपनी में रजिस्टर्ड करवाना होगा। इसके बाद आप चार्टर्ड अकाउंट की तरह  CA कहलाएंगे।

CA कितने साल का कोर्स है?

चार्टर्ड अकाउंटेंट के लिए कोर्स की अवधि अब सिर्फ साढे 3 साल की है। इससे पहले अवधि 5 साल और 3 महीने की थी, लेकिन अब आईसीएआई ने कोर्स की अवधि को कम करने का फैसला किया है। यह उन लोगों के लिए बहुत अच्छा है जो अभी दसवीं और बारहवीं के बाद पाठ्यक्रम में शामिल होना चाहते हैं।

CA कोर्स करने की फीस कितनी होती है?

सीए बनने के लिए आपको 5 सालों में कम से कम 40000 से 57000  रुपए खर्च करने होते हैं और बाकी आपके प्रयासों पर निर्भर करता है। आप इन परीक्षाओं को पास करने के लिए कितने अटेंप्ट लेते हैं  और अगर आप सीए की कोचिंग लेना चाहते हैं तो इसमें आपको 50000 से  ले कर दो ₹300000 तक का खर्च करना पड़ता है।

CA की सैलरी कितनी होती है?

किसी भी बैंक कंपनियां वित्तीय संस्थान में अकाउंटिंग मैनेजमेंट बहुत ही आवश्यक होता है क्योंकि यह सभी चार्टर्ड अकाउंट के द्वारा किए जाते हैं। शुरुआत में सीए को वार्षिक इनकम चार लाख से ₹500000 होती है। और एक्सपीरियंस के साथ CA की सैलरी बढ़कर 700000 से 800000 रूपये प्रति वर्ष हो जाती है।

Conclusion

प्रिय दोस्तों हम उम्मीद करते है की आपको हमारा आर्टिकल के माध्यम से समझ आ गया होगा कि सीए बनने के लिए क्या करना पड़ता है और सीए की फीस कितनी होती है? आगे भी इसी तरह आपको अपना आर्टिकल के माध्यम से और चीजों के बारे में जानकारी प्रदान करते रहेंगे। अगर आपको कोई भी कठिनाई आए तो आप हम से नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं। आप का कमेंट हमारे लिए बहुत अहम है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here