DBMS क्या है और कैसे कार्य करता है ?

0
387

DBMS Kya Hota Hai | डीबीएमएस की फुल फॉर्म क्या होती है | डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (डीबीएमएस) कैसे कार्य करता है | Type Of (DBMS) DATABASE MANAGEMENT SYSTEM

 दोस्तों आज का हमारा विषय है डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम क्या होता है? क्या आप लोग जानते हैं? डीबीएमएस क्या होता है? मुझे लगता है आप लोगों को उसके बारे में अच्छी तरह से जानकारी होगी के डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम एक सिस्टम है जो डाटा को मैनेज करता है। यह तो इसके नाम से ही लोग आइडिया लगा सकते हैं कि यह डाटा को मैनेज करने के काम आता है। डाटा को बनाना संभालना और डिलीट करने तक का सारा काम डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम करता है। डीबीएमएस से यूजर का कोई परेशानी नहीं आती। वह बहुत आसानी से अपना अपना डाटा संभाल सकते हैं। मैंने जो अपलोड भी कर सकते हैं जो लोग DBMS के बारे में जानते हैं उन लोगों को पता होगा कि यह कितना फायदेमंद है |

 डीबीएमएस क्या होता है?

 डेटाबेस एक कलेक्शन है जो डाटा को जमा  करता है और एसएस होता है इलेक्ट्रॉनिकली ए कंप्यूटर सिस्टम में डाटा बेस मैनेजमेंट सिस्टम एक सॉफ्टवेयर है जो प्रबंधन करने के लिए डिजाइन किया गया है। संसद डाटा को एक बड़ा सेट और कई उपयोगकर्ताओं द्वारा अनुरोध डाटा संचलन चलाते हैं DBMS उपयोग के  विस्तृत उदाहरणों में लेखक ने मानव संसाधन और ग्राहक सहायता फलोदी शामिल है। डाटा वेसे कलेक्शन होता है। रिलेटेड डाटा का वही डाटा कलेक्शन होता है। फैक्ट ऑफ़ फिगर को जिन्हें की प्रोसेस किया जाता है। इंफॉर्मेशन पैदा करने के लिए डाटा बेस में जो डाटा इस प्रकार से स्टार्ट होता है जो डाटा कोरी ड्राइव मैनिपुलेटऔर इंफॉर्मेशन प्रोड्यूस करना आसान हो जाता है।

DBMS क्या है

 DBMS की फुल फॉर्म क्या है?

 डीबीएमएस के फुल फॉर्म होती है डाटा बेस मैनेजमेंट सिस्टम

DATABASE MANAGEMENT SYSTEM

 डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम की विशेषताएं

  1.  यह सुरक्षा प्रदान करता है और फालतू पन को हटाता है।
  2.  अपना आत्म वर्णन खुद करता है।
  3.  यह एक इंसुलेशन  है कार्यक्रम और डाटा अमूर्त के बीच।
  4.  डाटा को काफी अच्छी तरह से देखता है।
  5.  यह 1 से ज्यादा लोगों के साथ एक डांटा एक साथ भेज देता है।
  6.  यह सेट संकल्पना के रूप से काम करता है जो है ऑटोमेटिक सिटी कंसिस्टेंसी आइसोलेशन एंड ड्युरेबिलिटी।
डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम

 DBMS के लोकप्रिय सॉफ्टवेयर

  • MYSQI
  • MICROSOFT ACCESS
  • ORACLE
  • POSTGRE SQL
  • DBASE
  • FOX PRO
  • SQ LITE
  • LIBRE OFFICE BASE
  • MARIA DB
  • MICROSOFT SQL SERVER
DBMS

 डीबीएमएस के फायदे

  •  डाटा का फालतूपन हटाता है:  डीबीएमएस एक डाटा। की दूसरी कॉपी हटा देता है। इससे ज्यादा जगह नहीं करते और आपके एक बार ढूंढने पर वह कॉपी निकल आती है।
  •  डाटा की कंसिस्टेंसी रहती है:  डाटा को एक सही फॉर्म में रखता है। इससे आपके डेटा को खोने की क्षमता कम हो जाती है।
  •  डाटा शेयरिंग:  डीबीएमएस से आप अपने डाटा को आसानी से बांट सकते हैं। इसमें आपको कोई परेशानी का सामना करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
  •  डाटा का अखंडता प्रतिबंध करता है:  डाटा को अखंडता प्रतिबंध में रखता है कोई भी डाटा इधर-उधर बिखरने से रोकता है।
  •  डाटा को सुरक्षा प्रदान करता है:   डीबीएमएस द्वारा डाटा को सुरक्षा रखा जाता है। इससे आपके डेटा को कोई शेयर करने में या खोने में कोई खतरा नहीं होता।

 DBMS के नुकसान

  1.  खर्चा होता है:  डीबीएमएस का सॉफ्टवेयर महंगा होता है इसलिए इसको करवाने में खर्चा ज्यादा आता है।
  2.  अपडेट करते रहना पड़ता है:  डीबीएमएस सिस्टम को चलाने के लिए हमें अपने कंप्यूटर को हाथों-हाथ अपडेट करना चाहिए। अपडेट करने में देर होती है तो वह काम करना बंद कर देता है।
  3.  रिप्लेसमेंट साइकिल:  डीबीएमएस हर बार अपने सिस्टम को अपग्रेड करता है और जब और अपग्रेड होता है तो उसको सीखने के लिए नए यूजर की जरूरत पड़ती है।

 डीबीएमएस के प्रकार

 डीबीएमएस के 7 प्रकार होते हैं।

  1. HIERARCHY DATABASE
  2. NETWORK DATABASE
  3. RALATIONAL DATABASE
  4. OBJECT ORIENTED DATABASE
  5. GRAPH DATABASE
  6. ER MODEL DATABASE
  7. DOCUMENT DATABASE

CONCLUSION

 उम्मीद करता हूं कि मेरे आर्टिकल के माध्यम से आपको समझ आ गया होगा कि डीबीएमएस क्या होता है और उसे कितने प्रकार होते हैं आपको इसी तरह अपने आर्टिकल के माध्यम से और चीजों के बारे में समझाता रहूंगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here