ई-स्टाम्प पेपर क्या है- eStamp ऑनलाइन कैसे ख़रीदे, Order E-Stamp Paper Online

0
343

E-Stamp Paper Kya Hai | ई-स्टाम्प पेपर ऑनलाइन कैसे ख़रीदे | Order E-Stamp Paper Online | ई स्टांप पेपर की आवश्यकता किन कार्यों में पढ़ती हैं

वैसे तो किसी को यह बताने की आवश्यकता नहीं है कि ई-स्टाम्प पेपर क्या है फिर लेकिन फिर भी आपकी जानकारी के लिए हम आपको बताना चाहेंगे कि किसी चीज को एक जगह से दूसरी जगह भेजने के लिए उस पर स्टांप पेपर लगाया जाता है क्योंकि किसी भी दस्तावेज को कानूनी तौर पर मान्यता दिलवाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। राज्य सरकार द्वारा स्टांप पेपर की सुविधा अब ऑनलाइन कर दी गई है क्योंकि पहले लोगों को काफी सारे दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। तो चलिए फिर आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से ई-स्टाम्प पेपर से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां प्रदान करने जा रहे हैं। यदि अगर आप भी ई स्टांप पेपर की सुविधा ऑनलाइन प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

E-Stamp Paper Kya Hai ?

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि इंटरनेट के माध्यम से हर काम बहुत आसान कर दिया गया है लेकिन अभी भी कुछ लोग ऐसे हैं जिन्हें अपने कुछ कार्य को करने के लिए इंटरनेट का उपयोग सही से करना नहीं आता है। हम आपको बताएंगे ई-स्टाम्प पेपर की सुविधा ऑनलाइन क्यों की गई क्योंकि कुछ समय पहले लोग स्टांप पेपर आसानी से नहीं खरीद पाते थे उन्हें काफी सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था लोगों को एक पेपर को खरीदने के लिए सरकारी दफ्तरों एवं बैंकों के चक्कर काटने पड़ते थे लेकिन आप स्टांप पेपर खरीदने के लिए लोगों को इन सभी समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा बल्कि आसानी से इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन खरीद कर इस सुविधा का लाभ ले सकते हैं इसीलिए इस प्रक्रिया को ई स्टांप पेपर का नाम दिया गया है।

E-Stamp Paper Online

ई-स्टाम्प पेपर ऑनलाइन ट्रेज़री ऑफिस से या सरकार द्वारा अधिकृत लाइसेंस धारक वेंडर के जरिये प्रिंट आउट कर दिया जाता है। ई- स्टाम्प पेपर की बिक्री के लिए सरकार ने स्टॉक होल्डिंग कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड के साथ पार्टनरशिप कर ई स्टमप की सुविधा जारी की है। सुविधाओं के माध्यम से आप एग्जाम पेपर खरीदने के साथ साथ ऑनलाइन भुगतान के अलावा और भी सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।इस पेपर की आवश्यकता लोगों को बहुत सारे कार्यों में पढ़ती हैं। इसके लिए टैक्स के रूप में सरकार को एक रकम का भुगतान किया जाता है।

ई-स्टाम्प पेपर के प्रकार

स्टांप पेपर को इंडियन स्टैंप एक्ट के अनुसार दो भागों में बांटा गया है जो इस प्रकार हैं Adhesive स्टांप पेपर और दूसरा इंप्रेस्ड स्टांप पेपर। इन दोनों स्टांप पेपर के इस्तेमाल के आधार पर दो भागों में विभाजित किया गया है इससे पहला जुडिशल स्टांप पेपर और दूसरा नॉन जुडिशल स्टांप पेपर।

 जुडिशल स्टांप पेपर

जुडिशल स्टांप पेपर का इस्तेमाल न्यायालय में कई प्रकार की फीस को चुकाने एवं कानूनी कार्यों के लिए किया जाता है। कोर्ट फीस एक्ट 1870 के आधार पर जीडीसी एग्जाम पेपर के स्टांप ड्यूटी का भुगतान हुआ जाता है।

नॉन जुडिशल स्टांप

नॉन जुडिशल स्टांप पेपर का उपयोग प्रॉपर्टी को ट्रांसफर करने, कमर्शियल एग्रीमेंट, पावर ऑफ अटॉर्नी, दस्तावेजों के रजिस्ट्रेशन, लेनदेन, इंश्योरेंस पॉलिसी, प्रॉपर्टी को किराए पर लेन-देन आदि के लिए किया जाता है। भारत में स्टांप एक्ट 1899 के आधार पर non-judicial स्टांप पेपर की ड्यूटी का भुगतान किया जाता है।सामान्य तौर पर हम लोगों के उपयोग में ज्यादातर नॉन जुडिशल स्टांप पेपर ही आता है।

Order E-Stamp Paper

ई-स्टाम्प पेपर की आवश्यकता किन कार्यों में पढ़ती हैं?

  • लोन लेने के लिए
  • प्रशासन बंधन के लिए ,
  • गोद लेने के लिए,
  • शपथ के लिए,
  • समझौते या समझौते के ज्ञापन के लिए,
  • विलेख जमा करने के सम्बन्ध में, बंधक के लिए, गिरवी के लिए,
  • अधिकार के निष्पादन में नियुक्ति के लिए,
  • मूल्यांकन के लिए,
  • ऍप्रेन्टिसशिप डीड के लिए,
  • आर्टिकल ऑफ़ एसोसिएशन ऑफ़ कंपनी के लिए,
  • आर्टिकल ऑफ़ क्लर्कशिप के लिए,
  • अवार्ड के लिए,
  • बैंक गारंटी के लिए,
  • बिल ऑफ़ एक्सचेंज के लिए,
  • बांड के लिए,
  • बोटमरि बांड के लिए,
  • कैंसलेशन के लिए,
  • सर्टिफिकेट ऑफ़ एनरोलमेंट अंडर सेक्शन 22 ऑफ़ द एडवोकेट एक्ट 1961,
  • सर्टिफिकेट ऑफ़ प्रैक्टिस अस नोटरी के लिए,
  • चार्टर पार्टी के लिए,
  • सर्टिफिकेट ऑफ़ सेल के लिए ,
  • सर्टिफिकेट और अन्य दस्तावेजों के लिए,
  • चार्टर पार्टी के लिए,
  • कम्पोसिशन डीड के लिए,
  • कवेयन्स के लिए,
  • कॉपी और एक्सट्रेक्ट के लिए,
  • काउंटर पार्ट और डुप्लीकेट के लिए,
  • कस्टम बांड के लिए,
  • डिबेंचर के लिए,
  • डीड ऑफ़ ह्य्पोथेकेशन के लिए ,
  • डेलिवरी आर्डर इन रेस्पेक्ट  ऑफ़ गुड के लिए ,
  • डाइवोर्स के लिए ,
  • एक्सचेंज ऑफ़ प्रॉपर्टी के लिए,
  • फर्दर चार्ज के लिए,
  • जनरल लोन एग्रीमेंट के लिए,
  • गिफ्ट के लिए,
  • इंडेम्निटी के लिए,
  • इंस्ट्रूमेंट करेक्टिंग  प्योरली क्लेरिकल एरर के लिए,
  • लीज के लिए,
  • लेटर ऑफ़ लाइसेंस के लिए,
  • लेटर ऑफ़ अल्लोत्मेंट ऑफ़ शेयर के लिए,
  • लाइसेंस रेलेटिंग तो आर्म्स और अम्मुनिसन के लिए,
  • मेमोरेंडम ऑफ़ एसोसिएशन के लिए,
  • मॉर्गेज डीड के लिए,
  • मॉर्गेज ऑफ़ कॉर्प के लिए,
  • नोटरीअल एक्ट के लिए,
  • नोट ऑफ़ प्रोटेस्ट बाई मास्टर ऑफ़ शिप के लिए,
  • नोट और मेमोरेंडम के लिए,
  • पार्टीशन के लिए,
  • पार्टनरशिप के लिए,
  • पावर ऑफ़ अटॉर्नी के लिए,
  • प्रोटेस्ट बाय थे मास्टर ऑफ़ शिप के लिए,
  • प्रोटेस्ट ऑफ़ बिल और नोट के लिए,
  • री-कवेयन्स ऑफ़ मोर्टगेजेड प्रॉपर्टी के के लिए,
  • रिलीज़ के लिए,
  • रेस्पोंडेसिआ के लिए,
  • सिक्योरिटी बांड और मोर्टगेज डीड,
  • सेटलमेंट -इंस्ट्रूमेंट ऑफ़ इन्क्लूडिंग ा डीड ऑफ़ डोवर,
  • सेटलमेंट -रेवोकेशन के लिए,
  • शेयर वारंट के लिए,
  • शिपिंग आर्डर के लिए,
  • सरेंडर ऑफ़ लीज के लिए,
  • ट्रांसफर ऑफ़ लीज के लिए,
  • ट्रस्ट -डेक्लरेशन ऑफ़ के लिए,
  • ट्रस्ट- रेवोकेशन के लिए,
  • वारंट ऑफ़ गुड के लिए
Order E-Stamp Paper

ई-स्टाम्प पेपर कहा मिलते हैं ?

क्षेत्रीय कानून के अंतर्गत की गई व्यवस्था के आधार पर आप Non Judicial Stamp Paper को अपने जिले के ट्रेजरीऑफिस (Treasury Office), रजिस्टर्ड स्टांप वेंडर (Registered Stamp Vendors), डॉक्यूमेंट राइटर (Document -Writer) या फ्रैंकिंग सेंटर (Franking centre ) के अलावा आप इसे स्टेशनरी शॉप(Stationery Shop), वकीलों के ऑफिस, रजिस्टर ऑफिस और अन्य लाइसेंसधारी व्यक्ति से प्राप्त कर सकते हैं।

History Of Stamp Paper

स्टांप पेपर का आविष्कार वैसे तो इस पर में किया गया था लेकिन सबसे पहले इसका उपयोग वर्ष 1620 में नीदरलैंड में किया गया था और 16वीं शताब्दी में यह फ्रांस और ब्रिटेन में काफी लोकप्रिय हो गया जिसमें भारत भी शामिल था। 1765 में स्टांप एक्ट के अनुसार ब्रिटिश कैलिफोर्निया में लंदन में छपे हुए और सत्यापित एग्जाम पेपर के इस्तेमाल को अनिवार्य कर दिया गया था जिसके बाद अमेरिका के स्वतंत्र संग्राम के बाद इसकी एक अहम भूमिका रही।

ऑनलाइन ई-स्टाम्प खरीदने की प्रक्रिया

  • ई-स्टॉप पेपर खरीदने के लिए आपको इंटरनेट पर बहुत सारी सरकारी और प्राइवेट वेबसाइट मिल जाएगी। अपने अपने शहर में प्रोवाइड कराने वाली वेबसाइट पर जाकर ई-स्टॉप पेपर ऑर्डर कर सकते हैं।
  • सबसे पहले आपको ई-स्टॉप पेपर ऑर्डर करने के लिए एक फॉर्म भरना है।
  • इस फॉर्म में आपको अपना नाम, पता, जिस काम के लिए ई-स्टॉप पेपर खरीदना चाहते हैं, इन सभी जानकारियों को भरना है। उसके बाद आपको एक रकम चुननी है।
  • आप अपने ई-स्टॉप पेपर के लिए जितने रुपए की स्टॉप ड्यूटी सरकार को देना चाहते हैं, उस विकल्प क्लिक करे।
  • इसके बाद आपको कुछ प्रक्रियाएं करनी होगी। जिसके बाद आप अपना ई-स्टॉप पेपर ऑर्डर कर पाएंगे।
  • अगर आप प्राइवेट वेबसाइट के जरिए करेंगे तो आपको कुछ अतिरिक्त रुपए खर्च करने पड़ सकते हैं। इस तरह से आप कभी भी कहीं से भी अपने लिए ई-स्टॉप पेपर खरीद सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here