ई टेंडर (e-Tender) क्या होता है- गवर्नमेंट टेंडर, ई निविदा प्रक्रिया की जानकारी हिंदी में

0
240

e-Tender Kya Hota Hai | गवर्नमेंट टेंडर, ई निविदा प्रक्रिया क्या  है | ई टेंडर कितने प्रकार के होते है | e-Tender Online Registration Kaise Kare

राज्य सरकार द्वारा कैबिनेट बैठक के दौरान गवर्मेंट टेंडर प्रक्रिया को ऑनलाइन करने का फैसला लिया गया है। क्योंकि पहले टेंडर प्राप्त करने के लिए लोगों को लिखित प्रक्रिया से गुजरना पड़ता था जिसकी वजह से लोगों को बहुत ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ता था। ई टेंडर प्रक्रिया ऑनलाइन कर देने से सभी प्रतियोगियों को समान अवसर प्राप्त होगा और भ्रष्टाचार पर रोक लगेगी। ई टेंडरिंग प्रक्रिया के माध्यम से घर बैठे ही बहुत ही आसानी से आवेदन किया जा सकता है। तो चलिए आज हम आपको अपनी इस पोस्ट के माध्यम से ई टेंडर से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे यदि आप भी इसके बारे में जानना चाहते हैं हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

 e-Tender Kya Hota Hai

किसी सरकारी या प्राइवेट कार्य को किसी दूसरे व्यक्ति या फर्म के द्वारा एक फिक्स रेट पर कराया जाता है उसे टेंडर या ठेका कहते हैं। और जो इस कार्य की देखरेख करता है तो उसे ठेकेदार कहा जाता है। सरकारी विभागों में इसे निवीदा के नाम से भी जाना जाता है। किसी भी टेंडर के लिए कोई भी साधारण व्यक्ति इसमें हिस्सा ले सकता है बस उसके लिए आपको कुछ पेपर वर्क पूरा करना होता है और कुछ शर्तें निर्धारित होती है उन्हें मानना होता है। निर्धारित शर्तें टेंडर का जो मालिक होता है उसके द्वारा दी जाती हैं। किसी भी टेंडर को लेने के लिए यह बहुत जरूरी है कि टेंडर का मालिक और ठेकेदार दोनों एक दूसरे के कार्य को अच्छे से समझ ले उसके बाद ही उस कार्य को शुरू करें।

ई टेंडर क्या होता है

ई टेंडर के प्रकार

1- भौतिक निविदा

जिसमें आपको निर्धारित समय पर जाकर खुद रेडो की घोषणा करनी पड़ती है उसे भौतिक टेंडर कहा जाता है। इस प्रकार के टेंडर में कुछ आवश्यक कागजात पहले ही पूरे करा लिए जाते हैं और जमा कर लिए जाते हैं। इसे सील बंद लिफाफे में डाला जाता है।

2- इलेक्ट्रोनिक निविदा

 इस प्रकार की निविदा के लिए आपको डिजिटली भाग लेना पड़ता है जिसमे आपको विभिन्न साइट्स पर जा कर निविदा को डाउनलोड करके उसकी शर्ते पूरी करने के बाद दुबारा अपलोड करना होता है. इलेक्ट्रोनिक निविदा को ही इ टेंडर [E – Tender] कहते है. आजकल सरकारी विभागों में इसी प्रकार की निविदा मागी जाती है. निविदा में भाग लेने के लिए आप को उस विभाग की वेबसाइट पर जा कर रजिस्ट्रेशन करना होता है. जिससे आप को टेंडर में भाग लेने पर पहचाना जा सके. कुछ जगह इसके पैसे भी लिए जाते है जिससे आनावश्यक लोग भाग ना ले सके. रजिस्ट्रेशन के पूरा प्रोसेस हमारी वेबसाइट और youtube चैनल पर है आप वहां से देख या पढ़ सकते है.

ई टेंडर प्रक्रिया

सबसे पहले किसी भी प्रकार के टेंडर के लिए लोगों को एक निविदा पत्र भरने के बाद उसे सील बंद लिफाफे में डाल कर टेंडर बॉक्स में डालना होता था और निर्धारित समय के बाद टेंडर से संबंधित अधिकारी और कर्मचारी की प्रजेंट में उस लिफाफे को खोला जाता था। लिफाफे खुलने के बाद जिस लिफाफे में कम से कम राशि अंकित होती थी उसे यह टेंडर दिया जाता था। सबसे ज्यादा खास बात यह है कि ठेकेदारों का सिंडिकेट जो होता था वह नए लोगों को टेंडर डालने ही नहीं देता था इसी स्थिति को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा टेंडर डालने की प्रक्रिया को ऑनलाइन किया गया।

आप सभी लोग संबंधित विभाग की वेबसाइट पर जाकर टेंडर से रिलेटेड सभी प्रकार की जानकारी जैसे निविदा शुल्क का भुगतान और सीएमडी का भुगतान और वापसी की प्रक्रिया आदि ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं। जिसे आप सभी लोग ई टेंडर प्रक्रिया के नाम से जानते है।

e-Tender

e-Tender के लिए आवश्यक दस्तावेज एवं पात्रता

  • बीडर को भारत में कारपोरेट अकाउंट के लिए एडोब प्रोडक्ट सपोर्ट का अनुभव होना अनिवार्य है।
  • उत्पाद उद्धृत इकाई मूल्य की वैधता टेंडर खुलने की तारिक़ से 60 दिन होनी चाहिए। बैंक जरूरत पढ़ने पर टेंडर खुलने की तारिक़ से 60 दिन के अंदर अंदर उसी नियम और शर्तों पर दोबारा आदेश दे सकते हैं।
  • बैंक को एडोब उत्पाद लाइसेंस जारी करने के बाद 15 दिन के अंदर भुगतान किया जाएगा।
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन नंबर
  • ईमेल आईडी
  • इनकम टैक्स पिछले 3 साल के साथ शपथ पत्र होना चाहिये।
  • रजिस्ट्रेशन करते समय आपको अपनी जानकरी ठीक ठीक भरनी होती है वर्ना आपके खिलाफ क़ानूनी कार्यवाही की जा सकती है।
ई निविदा प्रक्रिया

ई टेंडर सर्च करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आप गूगल Search बॉक्स में टाइप करके अपने यहाँ की e-Tender की वेबसाइट को ओपन करे।
ई टेंडर सर्च
  • टेंडर की वेबसाइट ओपन करने के बाद आपको सर्च पर क्लिक करना है।
ई टेंडर सर्च
  • अब आपको दिखे Search BY Location पर क्लिक करना है।
Search by location
  • अब दिखे बॉक्स में अपनी Location टाइप करे और टेंडर सर्च करें। इसके बाद जिस टेंडर को आप डालना चाहते है उसको पर Right Click करके Open New Tab में खोलें।
  • नए Tab में Tender खुल जायेगा उसको ठीक से देखे और ठीक से पढ़े।
  • इस तरह आप टेंडर सर्च कर सकते है।

ई टेंडर के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको जिस डिपार्टमेंट के रजिस्ट्रेशन करना है उसकी वेबसाइट को ओपन कीजिये। इसके बाद आपको वेबसाइट पर Registration /Enrollment/New यूज़र पर क्लिक करना है।
  • इसमें आपको आपनी इ मेल आईडी भरनी है जिससे आप एनरोलमेंट करना चाहते है। ईमेल आईडी ठीक ठीक भरे क्युकी बाद में इसे आप बदल नहीं सकते है।
  • उसके बाद आपको पासवर्ड दर्ज करना और उसके बाद वही पासवर्ड दोबारा दर्ज करना है।
  • इसमें आपको आपनी कंपनी का पूरा नाम ठीक ठीक भरना है। ध्यान रहे की कंपनी का नाम ठीक से नहीं भरा गया तो आपका पेमेंट नहीं होगा अकाउंट में।
  • इसमें आपने जिस डिपार्टमेंट में रजिस्ट्रेशन कराया है वह से मिले हुए नंबर को भरना है।
  • इसके बाद आपकी कंपनी का रजिस्टर्ड पता भरना है जिससे आपको कांटेक्ट किया जा सके।
  • इसमें आपकी कंपनी के पार्टनर के नाम देने है अगर कोई पार्टनर नहीं है तो खाली छोर दे। इसके बाद आपको इंडियन पर सेलेक्ट करना है।
  • इसमें आपको आपनी सिटी का नाम भरना है उसके बाद आपको स्टेट या राज्य सेलेक्ट करना है।
  • उसके बाद आपको अपना पोस्टल कोड या पिन कोड देना है। फिर आपको अपना पैन या टिन नंबर देना है और अब GST नंबर देना है।
  • इसमें आपको अपनी कंपनी की स्थापना का साल भरना है।
  • उसके बाद आपको अपने कार्य के प्रकार को भरना है।
  • इसमें आपको आपना लीगल स्टेटस भरना है।
  • इसके बाद आपको अपनी कंपनी का प्रकार भरना है।
  • इसमें आपको अपनी कांटेक्ट डिटेल भरनी है आप जिस किसी की डिटेल भर रहे है उसकी कंपनी में पोस्ट क्या है वह सेलेक्ट करनी है।
  • उसके बाद अपना नाम, जन्मतिथि,ईमेल आईडी, फोन नंबर, और मोबाइल नंबर दर्ज करके लॉगिन करना है।
  • यहाँ आपको MSME रजिस्ट्रेशन नो है तो उसे Not Applicable भरना है। अगर आप Not Applicable सेलेक्ट करेगे तो नीचे के सारे option बंद हो जायेगे।
  • अगर आप MSME रजिस्ट्रेशन करते है तो नीचे स्टेप्स को फॉलो करे
  • अगर कंपनी में पार्टनर है तो partnership, लिमिटेड कंपनी है तो limited Laibility partnertship भरे। कुछ ना समझ से आये तो Others फिल कर दे।
  • उसके बाद आपको इसमें आपको जिला उधोग केंद्र का नंबर दर्ज करना है।
  • फिर आपको बिडर का टाइप सेलेक्ट करना है अगर अकेले की कंपनी है तो individual भरे।
  • इसमें आपको आपनी जाति भरनी है.
  • उसके बाद आपको इसमें भरना है की आप पुरुष है या महिला।
  • उसके  बाद एक बार सारी डिटेल चेक करने के बाद सबमिट के बटन  कर देना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here