ओजोन परत क्‍या है- |What is Ozone Layer| ओजोन परत कैसे बचाएं

0
17

What is Ozone Layer | ओजोन परत कैसे बचाएं | ओजोन परत बचाने का तरीका क्या है | ओजोन लेयर डे कब मनाया जाता है | How healthy is the ozone layer

हैलो दोस्तो! हम आपको Ozone Layer के बारे में बात करने वाले हैं। ज्यादातर हम सभी लोगों ने ओजॉन के बारे में सुना ही होगा लेकिन क्या आप लोग जानते हैं कि Ozone Layer के बिना पृथ्वी पर जीवन कितना मुश्किल है। बढ़ता वायु प्रदूषण और मौसम परिवर्तन दिन-ब-दिन ओजोन परत की स्थिति खराब करता जा रहा है जिसके कारण ओजोन परत की पराबैंगनी किरणों का स्तर बढ़ता जा रहा है जिससे पृथ्वी को बहुत ज्यादा नुकसान उठाना पड़ सकता है इसीलिए हमें ओजोन परत को बचाने के लिए जागरूक होना पड़ेगा। यदि पृथ्वी पर पेड़ पौधे और मानव जीवन को बचाना चाहते हैं तो हमें ओजोन परत की खराब स्थिति को सुधारने के लिए अवश्य ही सहयोग करना चाहिए। तो चलिए फिर आज हम आपको इस लेख के माध्यम से ओजोन परत से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां प्रदान करने वाले हैं |

Ozone Layer Kya Hai?

ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के प्रोफेसर गॉर्डन डॉब्सन ने वर्ष 1957 में ओजोन परत की खोज की थी। Ozone Layer पृथ्वी पर मानव, जीव जंतुओं के जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। सूर्य से आने वाले पराबैगनी किरणों से पृथ्वी की रक्षा ओजोन परत ही करती हैं। यह पृथ्वी की सतह से लगभग 15 से 35 किलोमीटर की ऊंचाई पर स्थित होती है जिसे ओजोन परत कहते हैं। यह परत ऑक्सीजन के 3 परमाणु से मिलकर बनती है। यह बहुत पतली परत होती है जो सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी किरणों को पृथ्वी तक आने से रोकती हैं क्योंकि जब यह किरणे पृथ्वी पर आती है तो वातावरण जीव जंतु और पेड़ पौधों को बहुत क्षति पहुंचाती हैं क्योंकि यह एक गंध युक्त गैस की तरह होती है जो हल्के नीले रंग की होती है।

यह पृथ्वी के ऊपरी वायुमंडल में स्ट्रैटोस्फियर और निचले वायुमंडल यानी ट्रोपोस्फीयर में होता है। Ozone Layer सूर्य से निकलने वाली खतरनाक पराबैंगनी किरणों को 95% तक रोक लेती हैं। Ozone Layer भारत का निर्माण जब अल्ट्रावायलेट किरणें ऑक्सीजन 02 पर गिरती है तो वह ऑक्सीजन के अणुओं को तोड़ देती हैं जिससे कि नवजात अरुण आपस में मिल जाते हैं और ओजोन 03 बनाते हैं इसी तरह से ओजोन का पृथ्वी के चारों तरफ परत का निर्माण हो जाता है। वायुमंडल में कई पढ़ते होती है जैसे शोभ मंडल समताप मंडल ओजोन एवं आयन मंडल।

Ozone Layer kya hai

ओजोन परत की स्थिति खराब होने के कारण होने वाले दुष्प्रभाव

  • दिन प्रति दिन Ozone Layer की स्थिति खराब होने के कारण मानव जीव जंतुओं पर खतरा बढ़ता ही जा रहा है।
  • इससे मनुष्य में स्किन कैंसर के होने की संभावना हो सकती हैं।
  • इन किरणों के कारण त्वचा में एलर्जी एवं जलन होने लगती है।
  • इन अल्ट्रावायलेट किरणों के संपर्क में आने से इम्यून सिस्टम पर बहुत गहरा असर पड़ता है और नुकसान होता है।
  • ज्यादा लंबे समय तक इसके संपर्क में आने से आंखों को बहुत नुकसान पहुंचता है जैसे मोतियाबिंद जलन आदि की शिकायत बढ़ जाती है।
  • यह अल्ट्रावायलेट किरणे स्किन की उम्र को तेजी से बढ़ाते हैं।
  • रंग, भोजन, कपड़े, प्लास्टिक, पेंट, स्याही, रंगों आदि के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले रंग जैसे कई पिगमेंट यूवी को अवशोषित करते हैं और रंग बदलते हैं।
  • वाहनों से निकलने वाला धुआँ बहुत हानिकारक होता है।
  • यदि कोई महिला गर्भवती है तो इन किरणों के संपर्क में आने से नवजात शिशु पर गहरा प्रभाव पड़ता है।
ओजोन परत क्‍या है

ओजोन परत के लाभ

  • सूर्य से आने वाली हानिकारक किरणों से हमारी रक्षा Ozone Layer करती है।
  • ओजोन परत हमें और जीव जंतु तथा पेड़ पौधों को इन किरणों की वजह से होने वाली क्षति एवं बीमारियों से बचाती है।
  • यह परत फसलों को होने वाले नुकसान से भी रक्षा करती है।
  • Ozone Layer धरती के वायुमंडल के तापमान को कंट्रोल करने में सहायता करती है।
  • ओजोन परत मनुष्य में होने वाली घातक बीमारी कैंसर से भी बचाती है।
  • Ozone Layer सूरज से आने वाली पराबैंगनी किरणों की मात्रा को अवशोषित करती है।
  • ओजोन परत हमारे जीवन को बचाने में बहुत ही महत्व रखती है।
ओजोन परत क्‍या है

ओजोन परत की रक्षा केसे की जाए

जैसे कि हमने आपको बताया कि लगातार ओजोन परत की खराब स्थिति के कारण मानव जीवन पर कितना बड़ा खतरा मंडरा रहा है उसके लिए जरूरी है कि Ozone Layer की सुरक्षा के हमें जागरूक होने पड़ेगा। तो चलिए फिर अब हम जानते हैं कि हम सभी लोग मिलकर ओजोन परत की रक्षा कैसे कर सकते हैं

1- वाहनों का उपयोग ज़्यादा ना करे

सबसे पहले हमें वाहनों का उपयोग को कम करना होगा क्योंकि वाहनों से निकलने वाला धुआं Ozone Layer के लिए बहुत हानिकारक होता है। गाने का उपयोग करने के लिए हमें ऐसी तकनीक का उपयोग करना चाहिए जिससे कि वायु में प्रदूषण कम किया जा सके।

2- कीटनाशकों के प्रयोग ना करे

कीटनाशक का प्रयोग Ozone Layer को के लिए बहुत ज्यादा हानिकारक होता है इसीलिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि कीटनाशक की जगह प्राकृतिक तरीकों का उपयोग करके प्राकृतिक नुकसान को बचाया जा सके।

3- वृक्षों के कटाव को रोकना

ओजोन परत की सुरक्षा के लिए हमें प्रकृति से छेड़छाड़ एवं पेड़ पौधों एवं वनों के कटा को कम करना होगा वृक्षों के कटाव के कारण भी पर गहरा असर पढ़ रहा है। जहां तक हो सके ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाने चाहिए और वृक्षों के बढ़ने में भी सहयोग करना चाहिए।

4- एयर कंडीशनर, रेफ्रिजरेटर का कम उपयोग करे

एयर कंडीशनर एवं रेफ्रिजरेटर में काम में आने वाली गैस इस Ozone Layer के लिए हानिकारक होती है इसलिए हमे इन चीजो का उपयोग लिमिट से ही करना चाहिए।

 5- रुई के गद्दों का इस्तेमाल करना चाहिए

स्टायरोफोम के बर्तनों की जगह मिट्टी के कुल्हड़ों, पत्तलों, धातु या शीशे के बर्तनों का इस्तेमाल करना चाहिए। उसके अलावा रुई के गद्दों एवं तकियों के प्रयोग से हम ओजोन लयर को सेव रख सकते हैं।

Ozone Layer kya hai

ओजोन लेयर डे कब मनाया जाता है ?

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि दिन प्रतिदिन मनुष्य द्वारा बनाए गए केमिकल्स के कारण Ozone Layer को नुक़सान होता जा रहा है जिसकी वजह से ओजोन परत को बचाने के लिए ओजोन दिवस मनाया जाता है। ओजोन दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य ओजोन परत को होने वाली क्षति है। सामान्य सभा ने 19 दिसंबर 2020 को पूरे विश्व में ओजोन दिवस मनाने का फैसला लिया जिसके बाद प्रतिवर्ष 16 सितंबर को ओजोन दिवस मनाया जाने लगा। विश्व ओजोन दिवस 2019 की थीम ’32 years and Healing’ थी। बीते वर्ष कारोना महामारी एवं लॉकडाउन के कारण वायु प्रदूषण के कम होने की वजह से ओजोन लेयर में काफी सुधार आया था। वायुमंडल में अंटार्टिका के ऊपर जो छेद ओज़ोन परत में हो गया था उसमें बहुत सुधार देखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here