Resume क्या होता है कंप्यूटर और मोबाइल पर रिज्यूम कैसे बनाएं?

0
631

Resume Kya Hota Hai |  कंप्यूटर और मोबाइल पर रिज्यूम कैसे बनाएं | रिज्यूम कैसे लिखते है | मोबाइल में  रिज्यूम कैसे बनाये |Resume Information In Hindi

आजकल के युवाओं के लिए शिक्षा पूरी होने के बाद अपनी मनपसंद जॉब ढूंढना एक बड़ी चुनौती होता है। आज के समय में अपना अच्छा भविष्य बनाने के लिए पढ़ाई बहुत जरूरी है शिक्षा के आधार पर ही हमें अपनी मर्जी मुताबिक नौकरी भी प्राप्त होती है। और जब हम जॉब इंटरव्यू के लिए जाते हैं तो सबसे इंपॉर्टेंट होता है हमारा रिज्यूम। उस Resume में हमारी शिक्षा संबंधित और भी बहुत सारी जानकारियां होती हैं जिससे कि हमें अच्छी जॉब मिलती है। और कभी-कभी खराब रिज्यूम होने के कारण हमारे हाथ से अच्छी नौकरी का अवसर भी निकल जाता है। तो आइए आज हम आपको अपनी इस पोस्ट के माध्यम से रिज्यूम क्या है? कंप्यूटर या मोबाइल पर कैसे बनाते हैं? इससे संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां आपको बताएंगे।

 रिज्यूम क्या है ?

Resume व करिकुलम विटाई एक तरह का इंट्रोडक्शन होता है। जिससे आप अपनी जॉब के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। रिज्यूम में आपका नाम, नंबर,ईमेल,क्वालिफिकेशन,स्ट्रैंथ,वीकनेस वर्क एक्सपीरियंस अथवा आपके अचीवमेंट होते हैं। जिससे इंटरव्यू को पता चलता है आपके बारे में। अगर आपका रिज्यूम अच्छा होता है तो इंटरव्यू पर अच्छा असर पड़ता है और आपका रिज्यूम खराब होता है तो इंटरव्यू के ऊपर खराब इंप्रेशन पड़ता है। और उससे आपके हाथ से अच्छा मौका निकल जाता है। Resume में सिर्फ एक या दो पेज का होता है जिसमें आप अपनी हर सूचना ब्रीफ में डालते हैं।

Resume

रिज्यूम के प्रकार

Chronological Resume

यह मूल रेज़्यूमे टाइप उन लोगों के लिए सबसे अच्छा है जिनके पास ठोस रोजगार पृष्ठभूमि है जिनके कार्य इतिहास में कोई कमी नहीं है।यह भी फायदेमंद है यदि आपका अधिकांश अनुभव उस नौकरी के साथ मेल खाता है जिसमें आप रुचि रखते हैं।पिछले 10-15 वर्षों को फिर से शुरू पर सूचीबद्ध किया जाना चाहिए। सबसे वर्तमान स्थिति से शुरू करें और पिछड़े काम करें।यह पत्थर में नहीं लगाया गया है कि केवल पूर्णकालिक नौकरियों अंशकालिक पदों, स्वयंसेवक काम, या कुछ और को शामिल करें जो आपके द्वारा पेश किए जाने वाले कौशल पर जोर देता है।

Chronological Resume

Functional Resume

Functional Resume एक फिर से शुरू आपके कौशल और अनुभव पर केंद्रित है।आपके पास रोजगार है तो यह मूल रिज्यूम प्रकार बेहतर है। अंतराल किसी भी कारण से हो सकता है जैसे परिवार, बीमारी या नौकरी छूटना।यह नए स्नातकों के लिए भी फायदेमंद है जिनके पास सीमित रोजगार का अनुभव है। या वे लोग हैं जो कैरियर में बदलाव के बीच में हैं. जिन लोगों के पास बिना ध्यान केंद्रित कैरियर पथ के साथ विविध व्यवसाय हैं।

Functional Resume

 Combination Resume

एक संयोजन फिर से शुरू में आप अपने कौशल और लक्षणों को उजागर करते हैं और अपने कार्य अनुभव की एक कालानुक्रमिक सूची प्रदान करते हैं।यह आपको अपने कार्यस्थल की संपत्ति को सूचीबद्ध करने और यह दिखाने के लिए एक लचीला मंच देता है कि आप किस तरह के कर्मचारी हैंआपके पास केवल इतना स्थान उपलब्ध है सबसे हाल ही में या उन्नत डिग्री की सूची बनाएं और रिवर्स ऑर्डर में काम करें।

Combination Resume

 Targeted Resume

अंतिम प्रारूप जिस पर आप विचार करना चाहते हैं, वह एक लक्षित पुनरारंभ है।यह मूल फिर से शुरू प्रकार अनुकूलित और इच्छित स्थान के लिए विशिष्ट है। आपका कार्य इतिहास, योग्यता, और शिक्षा नौकरी की आवश्यकताओं के प्रतिबिंब हैं।उदाहरण के लिए, यदि आप किसी प्रकाशन कंपनी मेंपुस्तक संपादक के रूप में किसी पद के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Targeted Resume

रिज़्यूम बनाने का उद्देश्य

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि नौकरी पाने के लिए केवल रिज्यूम नहीं बल्कि एक अच्छे रिज्यूम की आवश्यकता होती है। उसके बाद ही आपको एक अच्छी नौकरी आपकी योग्यता के अनुसार मिल पाती है। यदि अगर आपके रीज़्यूम में रिक्वायर्ड क्वालिफिकेशन मौजूद होती हैं तो कंपनी के एचआर द्वारा आपको उस पोस्ट के लिए इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है क्योंकि एचआर द्वारा ही साइड किया जाता है कि आपको इंटरव्यू के लिए बुलाना है या फिर नहीं। इसलिए आपको बहुत अच्छे तरीके से अपना रिज्यूम तैयार करना है। मात्र रिज्यूम ही वो रास्ता होता है जहां पर आपकी स्किल्स काम और अनुभव परखा जाता है यदि इंटरव्यू लेने वाला व्यक्ति आपसे इंप्रेस हो जाता है तो आपकी जॉब के चांसेज ज़्यादा बढ़ जाते हैं।

रिज्यूम के प्रकार

Resume मे क्या क्या होता है?

1- रिज्यूम को शुरू अपने नाम से करते हैं। पहले अपना नाम, नंबर,ईमेल, एड्रेस डालते हैं और रिज्यूम को और आकर्षक बनाने के लिए अपना फोटो भी डाल सकते हैं। जब हम रिज्यूम बनाते हैं तो हम टेंपलेट का प्रयोग करते हैं। हर टेंपलेट का अलग-अलग ढांचा होता है। जिसमें अलग-अलग ऑप्शन का प्रयोग होता है। इसके माध्यम से आप Resume में अपना फोटो भी डाल सकते हैं।

2-  रिज्यूम के दूसरे भाग में व्यक्ति अपना ऑब्जेक्टिव डालता है। मतलब आप किस फील्ड में जॉब करना चाहते है और आप किस क्षेत्र में माहिर हैं।

3-  हमारी विकनेस और सीमाएं लिखी जाती हैं। रिज्यूम ताकत का एक अहम महत्व होता है जिससे इंटरव्यू लेने वाले को आपके नेचर का पता चलता है।

4- रिज्यूम के चौथे भाग में इंसान अपनी खूबियां लिखते हैं। इंसान की खूबी उसकी खासियत बताते हैं कि व्यक्ति क्या-क्या कर सकते हैं और क्या नहीं।

5-  रिज्यूम के पांचवा भाग में आपकी अचीवमेंट बताते हैं कि आपने क्या हासिल किया है और कौन-कौन से पुरस्कार जीते हैं।

6- रिज्यूम के छठे भाग में डिक्लेरेशन होता है डिक्लेरेशन में आप अपना सिग्नेचर देते हैं कि आपके ऊपर दिए गए सारी सूचना सही है।

7- रिज्यूम के  साथ में व आखिरी भाग में अपना नाम तिथि व सिग्नेचर दर्ज करते हैं।

Resume kya hai

रिज्यूम मैकिंग टिप्स इन हिंदी

  • कंपनी और पद की जानकारी जुटाए
  • अपनी उपलब्धियों को सूचीबद्ध करें
  • उचित रिजूम प्रकार का चुनाव करें
  • रिजूम को एक पन्ने तक सीमित रखने का प्रयास करें
  • फॉरमेटिंग़ में समय लगाएं
  • भाषा और व्याकरण का ध्यान रखें
  • झूट और शेखी बघारने से बचे
  • सबमिट करने से पहले दुबारा पढ़े

रिज्यूम ,सीवी और बायोडाटा में अंतर

1- Resume– रिज्यूम का meaning बायोडाटा ही होता है और रिज्यूम में हमारी शैक्षिक योग्यताओं का संक्षिप्त विवरण है।इसको नए जॉब  के लिए बनाया जाता है, इसका खासकर इंडस्ट्री में डिमांड रहती है।यह लगभग 2 पत्रों पर बनाया जाता है।

2- CV- CV means Curriculum Vita यानि की जीवन क्रम से शैक्षिक योग्यताओं का संक्षिप्त विवरण है।यह भी जॉब  के लिए बनाया जाता है और यह शैक्षिक, मेडिकल, विज्ञान और कानून तक सिमित है। आमतौर पर CV की लम्बाई 4 पत्रों तक होती है जिससे घटा बढ़ा सकते है।

3-Biodata-  Biodata means जीवन-वृत इससे भी जॉब के लिए इस्तेमाल किया जाता है। खासकर सरकारी तथा संबंधित कार्यों के लिए।इसका लम्बाई भी 2 पत्रों तक होती है और इसमें पूरी जानकारी उस व्यक्ति की होती है।

रिज्यूम बनाते समय ध्यान देने योग्य बातें

  • सबसे ज्यादा ध्यान देने वाली बात यह है कि रिज्यूम बनाते समय आप उसे कॉपी पेस्ट ना करें क्योंकि जो व्यक्ति इंटरव्यू लेता है वह बहुत आसानी से उस चीज को पकड़ लेता है।
  • रिज्यूम बनाते समय आपने बुलेट फॉर्म का यूज करना है ताकि सामने वाले व्यक्ति को अच्छे से समझ आ सके।
  • जब आप रिज्यूम बनाते हैं तो उस रिज्यूम में किसी भी नेगेटिव बात को अपनी वीकनेस ना बताएं क्योंकि सामने वाला व्यक्ति उस चीज को कैसे लेता है उसे ही मालूम होता है। यदि अगर वह आपसे कुछ पूछते हैं तो आप उसको एक्सप्लेन कर सकते हो।
  • रिज़्युम बनाने के लिए आपको फोंट साइज और फोंट टाइपिंग का बहुत ज्यादा ख्याल रखना है क्योंकि अगर यह दोनों चीजें ठीक नहीं होंगे तो सामने वाले को देखने और समझने में प्रॉब्लम हो सकती है।
  • रीज़्युम बनाते वक्त शॉर्ट फॉर्म का उपयोग ना करें क्योंकि हर किसी को शॉर्ट फॉर्म समझ में नहीं आती।

 कंप्यूटर पर Resume बनाने की प्रक्रिया

  •  कंप्यूटर पर एमएस वर्ड खोलें।
  •  एमएस वर्ड खुलने के बाद आपको फाइल पर क्लिक करना पड़ेगा फाइल पर क्लिक करें और न्यू सिलेक्ट करें।
  • टेंपलेट सुनने के लिए राइट साइड में कुछ ऑप्शन देखेंगे उसके साथ एक टास्क खुलेगा टास्क पेन में ऐसे ऑन माय कंप्यूटर पर क्लिक करें।
  •   दो जो टेंपरेट आपके कंप्यूटर में होंगे वह आपको इसके माध्यम से देखेंगे
  • अदर डॉक्यूमेंट पर क्लिक करने के बाद आपको रिसीव मिर्जा दिखेगा उस पर क्लिक करें और ओके कर दें।
  • रिज्यूम विजार्ड खुलने के बाद आपको रिज्यूम का स्टाइल चुनना पड़ेगा और रिसीव मिस्टर सेलेक्ट करें और नेक्स्ट पर क्लिक करें।
  •  अब आपको अपनी सूचना डालनी है जैसे कि नाम पता फोन नंबर ईमेल और नेक्स्ट पर क्लिक करें।
  •  आप अपनी सोच ना डालने के बाद हेडिंग डालनी पड़ेगी हेडिंग डालने के बाद आपको कोई हेडिंग अपने पास से डालनी है तो आप उस हेडिंग को अपने रिज्यूम में जोड़ सकते हैं।
  • ऐसे आपका रिज्यूम तैयार हो जाएगा और आप उसका प्रिंट भी निकाल सकते हैं। इस तरह आप कंप्यूटर पर अपना रिज्यूम बना सकते हैं।
Resume

मोबाइल पर रिज्यूम बनाने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको मोबाइल में रिज्यूम बनाने के लिए आपको एक एंड्रॉयड एप रिज्यूम बिल्डर ऐप डाउनलोड करना है।
  • रिज्यूम बिल्डर ऐप में डिटेल्स खोलें क्रिएट रिज्यूम करें और अपनी सारी डिटेल्स उसमें ध्यानपूर्वक भरे।
  • अपनी डिटेल पढ़ने के बाद आपको रिज्यूम जेनरेट करना है और डिलीवरी ओम जनरेट करें ऑफिस डाउनलोड करें।
  • रिज्यूम टेंप्लेट वर्ड डाउनलोड करने के बाद आपको रिज्यूम प्रयोग करना पड़ेगा प्रेवियू में आपको अपना रिज्यूम दिखेगा क्या आपने उस रिज्यूम को कैसे तैयार किया है।
मोबाइल पर रिज्यूम

 रिज्यूम सेंड करने की प्रक्रिया

  • Job के लिए Resume भेजना बहुत ही आसान है। Resume भेजने के लिए आपके पास उस व्यक्ति की सही Email Id होना चाहिए जिसे आप Resume Send करना चाहते है।
  • सबसे पहले अपना Email Open करे।
  •  Email Open करने के बाद आपको लिफ्ट साइड में कंपोज का ऑप्शनदिखाई देगा उस पर क्लिक करना है। अब आपके सामने एक पेज खुलेगा जिसमे आपको कुछ ऑप्शन दिखेंगे।
  • जिसे आप Resume या ईमेल सेंड  चाहते है उसकी  ईमेल एड्रेस यहाँ पर डाले।
  • अगर आप अपने मेल की कॉपी किसी और को सेंड करना चाहते है तो उसका मेल यहां डाले।
  • यह ‘blind Copy’ होती है। इस ऑप्शन का उपयोग करके आप एक ईमेल लोगों को भेज सकते है और उन सभी को Mail की Copy प्राप्त होगी। लेकिन वह यह नही देख पाएंगे की और किन लोगों ने Mail की कॉपी रिसीव की है।
  • यहाँ पर आपको अपका विषय क्या है उसे लिखकर लिखकर सेंड करना है।
  • अब आपको नीचे अटैचमेंट का Option दिखाई देगा उस पर क्लिक करे और जहाँ आपने रिज्यूम सेव किया है।
  •  वहां से अपने रिज्यूम को सेलेक्ट करके अपलोड करे। उसके बाद उसे सेंड बटन पर क्लिक करके सेंड कर दे।
  •  इस तरह से आप भी अपने Resume को Email के द्वारा Send कर सकते हैं।

CONCLUSION

 उम्मीद करता हूं क्या आपको इस आर्टिकल के माध्यम से समझ जाओगे होगा कि रिज्यूम को कंप्यूटर व मोबाइल द्वारा कैसे बनाया जाता है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here