SIP क्या है? जानिए SIP में निवेश करने के बेहतरीन तरीके हिंदी में

0
193

दोस्तों आज हम आपको SIP के बारे में बता रहे हैं एस आई पी क्या होता है और इसमें कैसे निवेश करा जाता है आजकल हर कोई भविष्य लेकर चिंतित नजर आता है और भविष्य को उज्जवल बनाने की कोशिश करता है कुछ लोग सेविंग अकाउंट में पैसा सेव करते हैं तो कुछ लोग म्यूच्यल फंड लेते हैं, कुछ लोग शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करते हैं लेकिन आज हम आपको एसआईपी के बारे में बता रहे हैं जो इन सब से बेहतर और सुरक्षित है एस आई पी क्या है उसमें कैसे इन्वेस्ट करते हैं इन सभी बातों को जानने के लिए आपको इस पोस्ट को ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा।

एसआईपी क्या है ?

तो दोस्तों एसआईपी के बारे में जानने से पहले हम आपको इसकी फुल फॉर्म बता देते हैं फुल फॉर्म यह है सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (Systematic Investment Plan)।  Sip को सिप भी कह सकते हैं। इसमें एक निश्चित समय अन्तराल मैं एक निश्चित अमाउंट इन्वेस्ट किया जाता है। मिसाल के तौर पर आपके पास ₹100000 हैं और आप इसे एसआईपी में इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो आप इसे एक ही दिन में इकट्ठा इन्वेस्ट ना करके, 5 हजार रुपए महीना 20 महीने तक इन्वेस्ट कर सकते हैं। SIP में जोखिम कम होता है इसमें आप कम जोखिम के साथ अपनी एक छोटी रकम हर महीने इन्वेस्ट कर सकते हो और छोटे छोटे अमाउंट से एक बड़ा लक्ष्य बन जाता है और लंबे वक्त तक इन्वेस्ट करके आप एक मोटी रकम वापस पा सकते हो।

SIP

SIP से पैसा कमाने के तरीके

एसआईपी से पैसा कमाने के लिए आपको निम्नलिखित बातों को ध्यान से पढ़ना होगा

  • आपको एक लीगल एडवाइजर से कंसल्ट करना होगा जो एसआईपी के बारे में पूरी जानकारी रखता हो।
  • एसआईपी में आपको छोटी रकम से शुरुआत करनी चाहिए क्योंकि इसमें नुकसान की गुंजाइश कम होती है।
  • निवेश की प्रक्रिया को ऑटोमेटेड करना चाहिए जिसके द्वारा आप एक फिक्स्ड अमाउंट को हर महीने, 3 महीने, 6 महीने या साल भर में ऑटो डेबिट के जरिए भुगतान कर सकते हैं।
  • जल्दबाजी ना करें धैर्य रखें क्योंकि यह एक लोंग टर्म प्लान होता है आप इसमें जितना ज्यादा देर रखेंगे उतनी ज्यादा इनकम हो सकती है।

एसआईपी के फायदे

  • एसआईपी में आप छोटी रकम से भी निवेश कर सकते हैं।
  • यह बचत करने का एक सुरक्षित तरीका भी है।
  • जरूरत होने पर आप पैसे निकाल भी सकते हैं।
  • जब आप एसआईपी में से पैसा निकालते हैं तो आपको कम इनकम टैक्स देना पड़ता है।
  • इसमें जो राशि आप इन्वेस्ट करते हैं उससे जो रिटर्न मिलता है उसे दोबारा इन्वेस्ट कर दिया जाता है इससे आपको ज्यादा लाभ मिलता है।
  • किसी भी स्कीम में इन्वेस्ट करने से पहले यह देख ले कि इसका लॉक इन पीरियड कितना है लॉक इन पीरियड का मतलब होता है स्कीम पूरी होने के बाद है आपका पैसा वापस मिलेगा।
  • बिना लॉक इन पीरियड वाली स्कीम पर ही इन्वेस्ट करना चाहिए ताकि आपको जिस वक्त पैसे की जरूरत हो आप वापस निकाल सके।

SIP में  निवेश कैसे करें ?

एसआईपी में निवेश करने के लिए कुछ जरूरी कागजात

  • आधार कार्ड 
  • पैन कार्ड 
  • एड्रेस प्रूफ 
  • अकाउंट नंबर 
  • पासपोर्ट साइज फोटो

एसआईपी में इन्वेस्ट के लिए केवाईसी प्रक्रिया

अगर आप एसआईपी के द्वारा म्युचुअल फंड में इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो आपके लिए के वाई सी प्रोसेस आवश्यक है इसके लिए आपको सिर्फ एक बार अपना नाम जन्मतिथि रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर बैंक अकाउंट पैन कार्ड आधार कार्ड आदि सब की जानकारी देनी होगी।

ऑनलाइन केवाईसी प्रोसेस (E-kyc)

आप केवाईसी का प्रोसेस ऑनलाइन भी कर सकते हैं जिसे e-kyc कहते हैं इसके लिए आपको निम्नलिखित स्टेप्स फॉलो करने पड़ेंगे।

  • केवाईसी प्रोसेस पूरा होने का पश्चात आपको उस फंड हाउस की वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट को ओपन करने के बाद आपके सामने न्यू इन्वेस्टर का ऑप्शन दिखाई देगा जिस पर आप को क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक फोर्म खुल कर आएगा जिसमें आपको आपनी बेसिक इनफार्मेशन भरनी है । जैसे नाम पता बैंक अकाउंट नंबर पैन कार्ड नंबर और आधार कार्ड संख्या।
  • आप किस तरह और कितना निवेश करना चाहते हैं यानी आप मंथली क्वार्टरली हाफ इयरली या एनुअली इन्वेस्ट करना चाहते हैं यह आपको सेलेक्ट करना होगा। और आप यह तारीख भी सेलेक्ट कर सकते हैं जिस तारीख को आपको स्टॉलमेंट का भुगतान करना है।

तो दोस्तों इस तरह आप एसआईपी में निवेश कर सकते हैं और इसका पूरा फायदा उठा सकते हैं आप अपनी सैलरी में से भी छोटी छोटी रकम इन्वेस्ट करके एक लोंग टर्म स्कीम  में अच्छा प्रॉफिट कमा सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here