|eproc.up.gov.in| यूपी गेहू खरीद रजिस्ट्रेशन 2021: ऑनलाइन आवेदन करे हिंदी में

0
8

UP Gehu Kharid Portal | यूपी गेहू खरीद रजिस्ट्रेशन कैसे करे | यूपी गेहू खरीद ऑनलाइन आवेदन आवेदन करने का तरीका क्या है | eproc.up.gov.in Portal Online Registration

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा 29 जनवरी 2021 को गेहूं की खरीद के लिए दिशा निर्देश दे दिए गए हैं जिसके बाद 1 अप्रैल से गेहूं की खरीदी का कार्य शुरू किया जाएगा। किसानों की सहुलत के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गेहूं की खरीदी का कार्य ऑनलाइन मोड के माध्यम से कराया जाएगा। राज्य के जो भी इच्छुक लाभार्थी गेहूं की फसल का समर्थन मूल्य प्राप्त करना चाहते हैं तो सबसे पहले उन्हें इसकी ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं और राज्य सरकार को अपनी फसल समर्थन मूल्य पर बेच सकते हैं। तो चलिए दोस्तों आज हम आपको अपनी इस पोस्ट के माध्यम से यूपी गेहूं खरीद रजिस्ट्रेशन से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां आपको बताएंगे। राज्य के जो भी इच्छुक लाभार्थी किसान गेहूं का समर्थन मूल्य प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारी इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

UP Gehu Kharid Portal 2021

खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश ई-क्रय प्रणाली / ई-उपार्जन पोर्टल गेहूं की खरीदी के लिए लॉन्च किया गया है जिसके माध्यम से राज्य के इच्छुक किसान अपनी फसल उचित मूल्य पर सरकारी एजेंसियों को बेचने के लिए इस पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। इस पोर्टल के माध्यम से गेहूं की खरीदी 1 अप्रैल से 15 मई तक चलेगी। राज्य के जो भी इच्छुक किसान अपनी फसल सरकारी एजेंसियों को बेचना चाहती है तो उन किसानों को 15 अप्रैल तक इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा उसके बाद ही उन्हें उनकी फसल का उचित मूल्य प्राप्त होगा। इस पोर्टल  के माध्यम से किसानों को फसल बेचने के लिए किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा और इसी के साथ-साथ सरकार द्वारा गेहूं का स्टॉक रखने के लिए गोदाम एवं क्रय केंद्रों पर सुरक्षा के इंतजाम भी किए जा रहे हैं।

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं पिछले वर्ष गेहूं का समर्थन मूल्य 1925 रुपए प्रति क्विंटल था लेकिन अब इसमें 50 रुपए की वृद्धि करके 1975 रुपए क्विंटल कर दिया गया है। मुख्यमंत्री जी का कहना है कि जल्द ही किसानों को गेहूं की फसल के लिए गन्ना किसानों जैसे ही ऑनलाइन पर्ची की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इस ऑनलाइन प्रणाली के माध्यम से सभी गोदामों की जियो टैगिंग कराई जाएगी जिससे की किसानों को सीधा लाभ पहुंचेगा।

यूपी गेहू खरीद रजिस्ट्रेशन

यूपी गेहूं खरीद  2021 ऑनलाइन किसान पंजीकरण का उद्देश्य

दोस्तों जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि पिछले 2 वर्षों से लगातार करो ना महामारी के कारण देश की आर्थिक स्थिति खराब बनी हुई है जिसकी वजह से किसानों को भी बहुत अधिक नुकसान हो रहा है क्योंकि किसानों को सही समय पर अपनी फसल ना बेचने का नुकसान उठाना पड़ रहा है। फसल ना बिकने के कारण किसानों की फसलें बर्बाद हो रहे हैं और उन्हें उनकी मेहनत का आधा हिस्सा भी ठीक से नहीं मिल पा रहा। इसी उद्देश्य से सरकार द्वारा किसानों की फसलों का उचित मूल्य देने के लिए इस ऑनलाइन पोर्टल की शुरूआत की गई है। इसके अलावा किसानों में आत्मविश्वास और मजबूती की भावना उत्पन्न होगी।

किसानों की फसलें बर्बाद होने से बच जाएंगे। हमेशा से ही सरकार द्वारा किसानों के हित और विकास के लिए कई सारी योजनाओं का संचालन होता चला आ रहा है और अब यह ऑनलाइन पोर्टल की शुरूआत कर किसान घर बैठे ही अपनी फसल आसानी से बेच पाएंगे।

हाइलाइट्स ऑफ यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण

आर्टिकल का नामगेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण
किसके द्वारा आरंभ हुआउत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा
उद्देश्यकिसानों को सहूलियत प्रदान करना
लाभार्थीयूपी के किसान
विभागकृषि विभाग
आवेदन का प्रकारऑनलाइन आवेदन
आवेदन की तिथिजारी है
आवेदन की अंतिम तिथिअभी घोषित नहीं हुई
ऑफिशियल वेबसाइटhttps://eproc.up.gov.in/Uparjan/Home_Reg.aspx

क्रय केंद्रों पर की जाएंगी कई व्यवस्थाएं

प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद विना कुमारी जी के द्वारा मुख्यमंत्री जी को कई तरह के सुझाव प्रस्तुत किए गए हैं जिसमें से गेहूं के क्रय केंद्रों में कई प्रकार के उपकरण जैसे गेहूं की नमी मापक यंत्र, डबल जाली का छलना‍, इलेक्ट्रॉनिक कांटा आदि उपकरणों की सुविधा प्रदान की जाएगी। इन सभी उपकरणों को सरकार द्वारा 10 मार्च तक उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा इस वर्ष ई पॉपअप मशीनों के जरिए बायोमैट्रिक ऑथेंटिकेशन द्वारा गेहूं खरीदने की व्यवस्था की जाएगी। इन सभी के लिए केंद्रों पर पथ प्रदर्शक मार्क लगाए जाएंगे और क्रय केंद्रों की लिस्ट वालीबॉल पेंटिंग लगाने के भी निर्देश दिए गए हैं जिससे कि किसानों को सुविधा प्राप्त होगी।

इसके अलावा मुख्यमंत्री द्वारा अप्रैल और मई के महीने में क्रय केंद्रों में पीने के पानी एवं बैठने की व्यवस्था के भी निर्देश दिए गए हैं। इस पोर्टल के माध्यम से किसानों को सही समय पर गेहूं का भुगतान किया जाएगा जिससे किसानों में पारदर्शिता आएगी।

 ई-क्रय प्रणाली की विशेषताएं

  • इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद किसानों को एक टॉकिंग प्रदान किया जाएगा। टॉकिंग की प्राप्ति के बाद ही किसान अपनी फसल मंडी में बेचने के लिए ले जाएंगे।
  • इस वर्ष यूपी सरकार द्वारा गेहूं की खरीदारी के लिए लगभग 5513 केंद्र बनाए गए हैं जिसमें लगभग 55 लाख मैट्रिक टन गेहूं खरीदने का टारगेट रखा गया है।
  • टोकन मिलने के बाद किसान अपनी फसल मंडी में उस दिन ही ले जाए जिस दिन उन्हें टोकन मिला है।
  • इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के केवल उन किसानों को प्रदान किया जाएगा जो अपनी फसल सरकारी एजेंसियों को देखना चाहते हैं।

यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण के लाभ

  • इस वर्ष गेहूं के समर्थन मूल्य में 50 रुपए की वृद्धि की गई है जिसका सीधा लाभ किसानों को प्रदान किया जाएगा।
  • इस पोर्टल के माध्यम से किसानों की गेहूं कि फसल बर्बाद होने से बच जाएगी और समय रहते उसकी बिक्री होकर किसानों को उचित मूल्य मिल जाएगा।
  • सरकार द्वारा क्रय केंद्रों पर कई प्रकार के उपकरण की सुविधा जैसे गेहूं की नमी मापक यंत्र, डबल जाली का छलना‍, इलेक्ट्रॉनिक कांटा आदि 10 मई तक उपलब्ध कराई जाएगी।
  • गेहूं की खरीदी का कार्य 1 अप्रैल से 15 मई तक चलेगा।
  • यूपी के जो भी इच्छुक किसान अपनी फसल सरकारी एजेंसियों को बेचना चाहते हैं तो उन्हें सबसे पहले इस पोर्टल पर 15 अप्रैल तक अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा।
  • इस पोर्टल का लाभ केवल उत्तर प्रदेश के इच्छुक किसानों को ही प्रदान किया जाएगा।
  • सरकार द्वारा गेहूं किसानों के लिए भी गन्ना पर्ची जैसी सहुलत प्रदान की जाएगी।

यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण के महत्वपूर्ण जानकारियां

  • रजिस्ट्रेशन में गेहूं के खेत की पूरी जानकारी देना जरूरी है।
  • खेत के विवरण में खतौनी/खसरा संख्या, गेहूं का रकबा भरना आवश्यक  है।
  • आधार कार्ड, बैंक पास बुक व राजस्व अभिलेखों का सही विवरण दर्ज करना है।
  • रजिस्ट्रेशन होने के बाद रजिस्ट्रेशन नंबर और उसका प्रिंट जरूर ले लें।
  • मोबाइल नंबर देकर रजिस्ट्रेशन ड्राफ्ट फिर से प्रिंट किया जा सकता है।
  • मोबाइल नंबर देकर रजिस्ट्रेशन में संशोधन किया जा सकता है।
  • जब तक आवेदन लॉक नहीं किया जाता है, रजिस्ट्रेशन स्वीकार नहीं किया जायेगा।
  • मोबाइल नंबर पर रजिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी भेजी जाएगी।
  • 100 क्विंटल से अधिक गेहूं की बिक्री के लिए एसडीएम से सत्यापन कराया जायेगा।
  • गेहूं बेचने के बाद केन्द्र प्रभारी से पावती पत्र अवश्य प्राप्त कर ले। प्रोसीजर स्टेप में कंप्लीट किया जाएगा।
  • सबसे पहले स्टेप में आवेदन के प्रारूप को डाउनलोड करना है।

यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • अपने  खेत का राजस्व अभिलेख से संबंधित जानकारी देनी होगी ।
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

यूपी गेहूं खरीद किसान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आवेदक को खाद्य एवं रसद विभाग, उ० प्र० ई-क्रय प्रणाली को ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है।  वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
यूपी गेहू खरीद
यूपी गेहू खरीद
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर अगला पेज खुल जायेगा ।इसके बाद इस पेज पर 6 स्टेप खुल जाएंगे जिन्हे आपको एक के बाद एक भरना है।
  • सबसे पहले आपको पंजीकरण प्रपत्र पर क्लिक करना है। उसके बाद आपके सामने अगले पेज पर किसान रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा।
  • जहा पर आपको आपको अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड  भरना है।  इसके बाद आगे बढे के बटन पर क्लिक करना है।
यूपी गेहू खरीद रजिस्ट्रेशन
  • जिसके बाद रबी फसल (गेहूं खरीद) के लिए किसान ऑनलाइन पंजीकरण प्रपत्र / फॉर्म खुल जाएगा । इस पंजीकरण फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी जानकारी जैसे किसान का नाम, पता, मोबाइल नंबर, आधार कार्ड नंबर, पिता, पति का नाम, तहसील, जनपद आदि भरना है ।
  • सभी जानकारी भरने के बाद पंजीकरण करें” के बटन पर क्लिक करना है।

पंजीकरण प्रारूप

  • कोई भी किसान ई-उपार्जन पर ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भरने से पहले आवेदन पत्र का प्रारूप भी देख सकता है। जिससे उसको अपनी रबी फसल को बेचने के लिए एप्लीकेशन फॉर्म भरने में आसानी होगी ।
  • आपको इसके बाद आपको पंजीकरण प्रारूप में ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने पंजीकरण प्रारूप की पीडीएफ खुल जायेगा।
पंजीकरण प्रारूप

UP किसान पंजीकरण संसोधन / ड्राफ्ट

  • अगर किसी भी आवेदक द्वारा गेहूं खरीद के लिए पंजीकरण फॉर्म भरते समय किसी भी तरह की गलत जानकारी भर गई है तो वे  पंजीकरण संशोधन पर क्लिक करना है।
UP किसान पंजीकरण संसोधन
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक फॉर्म खुलकर आ जायेगा इसे सही प्रकार भरे ।
  • आगे के लिए अपना रजिस्ट्रेशन सुरक्षित करके रख सकते हैं।

किसान पंजीकरण फॉर्म प्रिंट

  • राज्य के जिन किसानो में ऑनलाइन आवेदन पत्र भर दिया है वह उस आवेद पत्र का प्रिंट आसानी से निकल सकते है प्रिंट निकलने के लिए आपको पंजीकरण प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
किसान पंजीकरण फॉर्म प्रिंट
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड डाल कर आगे बढ़े के बटन पर क्लिक करना है।
  • जिसके बाद पूर्ण रूप से भरा हुआ प्रपत्र खुल जाएगा जिसको आप प्रिंट या सेव कर सकते हैं।

लॉक के उपरांत टोकन बनाने कि प्रक्रिया

  • रबी फसल (गेहूँ खरीद) हेतु ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भरने के बाद किसान  को अपनी फसल को मंडी में किस दिन कितने बजे लेकर जाना है इसके लिए मंडी टोकन बनाना है ।
  • सबसे पहले आपको लॉक के उपरांत टोकन बनाये के स्टेप पर क्लिक करना होगा।
लॉक के उपरांत टोकन
  • क्लिक करने के बाद यहाँ पर “किसान पंजीयन आईo डीo अथवा मोबाइल न०:” और “कैप्चा अंकित करें” भर कर ‘आगे बढ़े’ के बटन पर क्लिक करना है।
  • जिसके बाद रबी फसल (गेहूं खरीद) हेतु ऑनलाइन टोकन पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा। यह क्रय हेतु टोकन किसान को उसके मोबाइल नंबर पर भी प्राप्त होंगा जिसमें उपज को लेकर जाने का दिन और समय दोनों अंकित होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here