Computer क्या है और computer का आविष्कार कब हुआ और कैसे हुआ?

0
314

Computer Kya Hai | कंप्यूटर का आविष्कार कब हुआ | कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है | कंप्यूटर का क्या उपयोग है | Feature Of Computer

कंप्यूटर एक मशीन है जिसमें अर्थमैटिक और लॉजिकल ऑपरेशंस खुद-ब-खुद होते हैं कंप्यूटर प्रोग्रामिंग से। कंप्यूटर एक ऐसी वस्तु है। जो आजकल सारे कामों में इस्तेमाल होता है कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है जिससे सारे काम ऑनलाइन होते हैं। इसमें आपको जगह-जगह डायरी बनाने की जरूरत नहीं आप सारे अपने काम का डाटा एक जगह रख सकते हैं Computer हर जगह हर सेक्टर में पाया जाता है। प्राइवेट हो या पब्लिक हो। कंप्यूटर एक जरूरी हिस्सा बन चुका है आजकल की जनरेशन का। बिना कंप्यूटर काम करना अब काफी ज्यादा मुश्किल हो गया है। कंप्यूटर के दो महत्वपूर्ण चीजें हैं जिसके माध्यम से कंप्यूटर चलता है वह क्या चीज क्या? है आइए जानते  है

 कंप्यूटर के दो महत्वपूर्ण चीजें हैं हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर

 Hardware क्या है?

हार्डवेयर कंप्यूटर की वह वस्तु है जिसे हम छू सकते हैं देख सकते हैं और जरूरत पड़ने पर बदल भी सकते हैं सारी चीजें जो इस्तेमाल में आती हैं। जैसे के keyboard, mouse, moniter, cpu, ups, printer etc  इन सब चीजों को खराब होने पर बदल भी सकते हैं।

 Software क्या है?

सॉफ्टवेयर एक इंस्ट्रक्शन है जो Computer को मिलता है काम करने  के लिए। सॉफ्टवेयर एक ऐसी चीज है जो कंप्यूटर के अंदर पाया जाता है जिससे हम न छू सकते हैं और ना ही देख सकते हैं।

Computer

 Computer का इतिहास

कंप्यूटर का आविष्कार 19वीं सदी में मैथमेटिक्स के प्रोफेसर। चार्ल्स बैबेज के द्वारा हुआ। कंप्यूटर का इतिहास 3 जनरेशन में  बटा हुआ है

पहले जनरेशन। 1937-1946

  • 1937 में पहली इलेक्ट्रॉनिक डिजिटल कंप्यूटर बना था जो Dr. John v.  Atanasof एंड Clifford berry ने बनाया था उसका  नाम Atanasof berry कंप्यूटर था।
  • 1943 में कंप्यूटर जिसका नाम Colossus था मिलिट्री के लिए बनाया गया था।
  • 1946 में पहला जनरल पर्पस के नियम बनाया गया था जिसका नाम Electronic numerical integrator and computer  था।। इसका वजन 30 टन था यह कंप्यूटर एक बार में सिर्फ एक काम कर सकता था।

दूसरी जनरेशन। 1947-1962

  • 1951 में पहला Computer कमर्शियल यूज़ के लिए था जो जनता के लिए बनाया गया था जिसका नाम था Universal automatic computer.
  • 1953 इंटरनेशनल बिजनेस मशीन बनाई गई थी जिसकी सीरीस 650 700 तक आई थी इस समय प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का अविष्कार हुआ था।

तीसरी जेनरेशन। 1963 से अब तक।

  • कंप्यूटर जेनरेशन से थोड़े छोटे छोटे होने लगे और काम बड़े और बहुत आसान होने लगे।
  • 1980। माइक्रोसॉफ्ट डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम का आविष्कार हुआ और 1981 में पर्सनल कंप्यूटर घर  व ऑफिस के लिए बनने लगे।
Computer क्या है

Feature Of Computer

Speed

कंप्यूटर किसी भी कार्य को बहुत तेजी से कर सकता है। उदाहरण के तौर पर यदि हम गुणा भाग जोड़ जैसी लाखों क्रियाएं करने बैठेंगे तो कम से कम 5 मिनट का समय तो लगता ही है लेकिन यह क्रियाएं कंप्यूटर पलक झपकते ही सेकेंड्स में कर सकता है। इसके अलावा और भी बहुत सारे कार्य हैं जो काम समय में कंप्यूटर द्वारा के जा सकते हैं।

Automation

जैसे कि हम सभी अपने बहुत सारे कार्य कई प्रकार की स्वचालित मशीनों द्वारा करते हैं। कंप्यूटर भी अपना कार्य ऑटोमेटिक तरीकों से करता है। कंप्यूटर अपना कार्य प्रोग्राम के एक बार लोड हो जाने पर खुद ही करता रहता है।

Accuracy

कंप्यूटर द्वारा किए गए किसी भी कार्य में कभी भी कोई गलती नहीं होती है। कंप्यूटर किसी भी प्रोसेस को बिना किसी गलती के पूरा कर सकता है। यदि अगर कंप्यूटर द्वारा गलती की जाती है तो उसका सबसे बड़ा कारण गलत डाटा इनपुट करना होता है। क्योंकि कंप्यूटर स्वयं कभी कोई गलती नहीं करता है।

Versatlity

वर्तमान समय में कंप्यूटर अपनी versatility के कारण बहुत तेजी से दुनिया भर में अपने पैर जमा रहा है। कंप्यूटर कंप्यूटर गणितीय कार्यों को करने के साथ-साथ व्यावसायिक कार्यों के लिए भी प्रयोग किया जा रहा है।

High Storage C

कंप्यूटर लाखों शब्दों को बहुत थोड़ी सी जगह में स्टोर करके रख सकता है। कंप्यूटर सिस्टम में डाटा स्टोर करने की क्षमता बहुत अधिक होती है। यह किसी भी प्रकार के डाटा, पिक्चर,फाइल, प्रोग्राम, गेम एंड साउंड आदि को कई वर्षों तक स्टोर करके रख सकता है।

Diligence

कंप्यूटर किसी कार्य को निरंतर कई घंटों, दिनों और महीनों तक करने की क्षमता रखता है। कंप्यूटर को निरंतर कार्य करने की क्षमता में ना तो कोई कमी आती है ना ही कार्य के परिणाम की क्षमता घटती है। देखा जाए तो किसी भी मनुष्य के लिए किसी कार्य को निरंतर करने में उसकी क्षमता घट जाती और वह थक ने लगता है लेकिन कंप्यूटर इसके विपरीत है।

Reliability

कंप्यूटर की मेमोरी बहुत ज्यादा पावरफुल होती है कंप्यूटर से जुड़ी कोई भी प्रक्रिया बहुत ज्यादा भरोसेमंद होती है। उसकी स्टोर मेमोरी वर्षों बाद भी एक्यूरेट रहती है।

 Power Of Remembrance

कंप्यूटर सभी बातें चाहे वह इंपॉर्टेंट हो या नहीं सभी को अपनी मेमोरी के अंदर स्टोर करके सुरक्षित रखता है तथा बाद में किसी भी सूचना की आवश्यकता पड़ने पर उपलब्ध भी करता है।

computer kya hai

कंप्यूटर की फुलफॉर्म

C – Commonly

O – Operating

M – Machine

P – Particularly

U – Used in

T – Technology

E – Education and

R – Research

Part Of Computer

1- Input Device

अपने PC के अंदर डाटा को enter करने के लिए हम जिस device का इस्तेमाल करते हैं उन्हें इनपुट डिवाइस बोलते हैं।

2- Motherboard

मदरबोर्ड सिस्टम का मेन सर्किट बोर्ड होता है। इसमें सभी हिस्सों को कनेक्ट किया जाता है। CPU, Mouse, keyboard, प्रिंटर, मॉनिटर और भी devices cables से डायरेक्टली मदरबोर्ड से कनेक्टेड होती है।

3- Central Processing Unit

CPU इंसान के दिमाग की तरह काम करता है।

इसको बहुत सारे नामो से भी जाना जाता है, जैसे e-brain processor, central processor, और micro processor. ये सिस्टम cabinet के अंदर Motherboard में होता है. वर्ल्ड का पहला processor Intel कंपनी ने 1970 में बनाया था।

CPU के मुख्यता 2 पार्ट्स होते हैं, Arithmetic and Logical Unit, Control Unit

4- Output Device

सिस्टम में डाटा प्रोसेस हो जाने के बाद रिजल्ट को output करने कर के दिखने के लिए जिन devices को सिस्टम प्रयोग करता है उसे आउटपुट डिवाइस बोला जाता है।

5- Hard Disk Drive

Hard disk एक सिस्टम के storage के रूप में कार्य करता है। ये permanent storage device होता है. जिसमे जब तक चाहे तब तक डाटा स्टोर कर के रख सकते हैं।

6- RAM

इसका फुल फॉर्म Random Access memory होता है। RAM सिस्टम की स्पीड को increase करता है। इसीलिए जितनी हाई कैपेसिटी RAM होगा सिस्टम उतना स्पीड काम करेगा।

7- Power Supply

एक इलेक्ट्रिकल डिवाइस है जो सिस्टम के सभी पार्ट्स को पावर supply करता है।

 Computer के फायदे

  • काम  आसानी से होते हैं।:जो काम पहले डायरी में लिखकर ज्यादा परेशानी से होते थे वह अब आसानी से हो जाते हैं
  • कंप्यूटर इंटरनेट से जोड़ता है:   कंप्यूटर आप को इंटरनेट से जोड़ने में मदद करता है इससे आप सारी दुनिया से कनेक्ट हो सकते हैं।
  • इंफॉर्मेशन जमा करता है:  कंप्यूटर में ज्यादा स्पेस होता है जिससे आप अपनी सारी इनफार्मेशन फोटोस वीडियोस एंड बहुत कुछ कंप्यूटर में डाल सकते हैं।
  • डाटा अल्फाबेटिकली रखता है:  कंप्यूटर आपका डाटा अल्फाबेटिकली रखता है। इससे आपको ढूंढने में ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता।
  • आपको नई चीजें सिखाता है:  कंप्यूटर आपको काफी सारी चीज हो जो आपको पता नहीं हो बताता है इससे आप काफी सीख सकते हैं।
  • आपका वक्त बचाता है:  कंप्यूटर आपका काम और काम करके आपका वक्त बचाता है।

Computer के उपयोग

  • वर्ड प्रोसेसिंग:  वर्ड प्रोसेसिंग में आप अपना सारा  काम। लिखकर सेव कर सकते हैं। या आजकल बहुत ही बड़ा उपयोग है कंप्यूटर का।
  • पावरप्वाइंट  प्रेजेंटेशन:  पावरप्वाइंट प्रेजेंटेशन आपको ऑफिस के काम को  प्रेजेंट करने में काफी मदद करता है इसका काफी उपयोग होता है आपके ऑफिस और कॉलेज  मैं।
  • फोटो एडिटिंग:  फोटो एडिटिंग अब एक बहुत अहम हिस्सा हो चुका है। आजकल की जनरेशन में बिना फोटो एडिटिंग  के कोई भी काम पूरा नहीं है।
  • ईमेल:  ईमेल कंप्यूटर का सबसे अहम उपयोग में से एक है। आप पूरी दुनिया में ईमेल से कनेक्ट हो सकते हैं। आजकल के काम में सबसे ज्यादा उपयोग ईमेल का होता है।

CONCLUSION

कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है जो अब हर जगह समान होती है। यह। एक अहम हिस्सा बन चुका है। लोगों की जिंदगी का इससे सारा काम आसानी से और कम समय में होता है। उम्मीद रखता हूं कि आपको मेरा आर्टिकल से कंप्यूटर के बारे में काफी जानकारी मिली होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here