Condolence Letter कैसे लिखे- शोक पत्र का फॉर्मेट, Condolence Message In Hindi

Condolence Letter Kya Hota Hai | शोक पत्र कैसे लिखे | शोक पत्र लिखने का तरीका क्या है | Condolence Message In Hindi

0
18

Condolence Letter Kya Hota Hai | शोक पत्र कैसे लिखे | शोक पत्र का फॉर्मेट क्या होता है | Condolence Message In Hindi | शोक पत्र लिखने का तरीका क्या है

जैसे के आप सभी जानते हैं कि मनुष्य के जीवन का कोई भरोसा नहीं है। और ऐसे में यदि किसी प्रियजन के करीबी मनुष्य की मृत्यु हो जाती है तो यह एक बहुत ही दुख भरी बात होती है। और उस व्यक्ति के परिवार के लिए यह एक बहुत ही दुख भरी बात होती है। ऐसे में जो करीबी प्रिय जन होते हैं वह अपना दुख जाहिर करने के लिए शोक पत्र भेज सकते हैं। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से Condolence Letter कैसे लिखे- से जुड़ी संपूर्ण जानकारी स्पष्ट करने जा रहे हैं। शोक पत्र से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने हेतु हमारे इस लेख को अंत तक विस्तार पूर्वक पढ़ें।

शोक पत्र क्या होता है?

यह एक प्रकार का पत्र होता है जो लोगों को शोक और गहरे श्रद्धांजलि के समय दिया जाता है। कभी-कभी ऐसा होता है कि अपने करीबी के मृत्यु की खबर मिलती है और आप वास्तविक तौर से वहां पर उपलब्ध नहीं हो पाते हैं। इस समस्या के तौर पर आप उन्हें दुखद समय में शोक संदेश और श्रद्धांजलि मैसेज लिख कर भेज सकते हैं। परंतु Condolence Letter लिखते समय हमें कुछ बातों का विशेष तरीके से ध्यान रखना होता है जिससे उन्हें एहसास हो कि आप कष्ट के लम्हों में उनके साथ हैं।

Condolence Letter

शोक संदेश के प्रकार क्या क्या है?

शोक संदेश के विभिन्न प्रकार होते हैं जो निम्नलिखित हैं:-

  • मित्र के माता पिता के निधन पर शोक संदेश।
  • श्रद्धांजलि मैसेज भारतीय सेना के लिए।
  • दोस्त के पति पत्नी की मृत्यु के शोक पर संदेश।
  • आकाश में के निधन पर शोक संदेश।
Condolence Letter

निधन पर शोक कैसे व्यतीत करना चाहिए?

किसी करीबी के निधन पर शोक व्यक्त करने के प्रकार निम्नलिखित हैं:-

  • शोक पत्र भेजने के समय आपको सामान्य रूप से व्यक्ति को संबोधित करना होगा।‌ आप जैसे पत्र लिख रहे हैं अगर वह बड़े हैं तो आपको श्रीमान जी लिखना होगा और यदि वह छोटे हैं तो आपको डियर या प्रिय लिखना होगा।
  • साथ ही साथ आपको उस पत्र में बताना होगा कि आपको निधन का कितना दुख हुआ है और कोशिश करनी है कि आप उन्हें बताएं कि आपको यह खबर कहां से मिली है।
  • यदि आपके किसी करीबी व्यक्ति का निधन हुआ है तो ऐसी स्थिति में आप को उनके साथ बिताए हुए पलों का जिक्र पत्रों में करना होगा।
  • जिस को पत्र लिख रहे हैं आपको उनका दुख बांटना है और उस स्थिति में आपको मदद का प्रस्ताव भी रखना है।
  • इस पत्र के अंत में आप को कुछ अहम शब्दों के साथ सहानुभूति देनी है।
शोक पत्र

Condolence Letter के विभिन्न नमूने क्या है?

शोक पत्र के कुछ विभिन्न नमूनों इस प्रकार हैं:-

मित्र के माता पिता के निधन पर शोक संदेश का फॉर्मेट

नमूना नंबर-1

प्रिय (मित्र का नाम)

मुझे तुम्हारे माता-पिता की मृत्यु की खबर प्राप्त हुई है। खबर सुनते ही मुझे उनके साथ बिताए हुए पल की काफी याद आई। तुम्हारे माता-पिता काफी हंसमुख है। उनके अच्छे स्वभाव के कारण मैं उन्हें काफी पसंद करता हूं। उनका हंसता हुआ चेहरा मुझे आज भी याद है।

मैं इस दुख की घड़ी में तुम्हारे साथ हूं। यदि तुम्हें किसी भी प्रकार की मदद की आवश्यकता पड़े तो तुम मुझे संदेश भेज सकते हो।

तुम्हारा मित्र

(मित्र का नाम)

(स्थान का नाम)

आकस्मिक निधन पर शोक संदेश का नमूना

नमुना नंबर-2

(व्यक्ति का नाम)

(व्यक्ति का पता)

श्री (व्यक्ति का नाम)

हमें आपके बड़े भाई की आकस्मिक मृत्यु के बारे में सुनकर काफी दुख हुआ है। अभी तो उनकी उम्र ही कितनी थी और वह दुनिया छोड़कर चले गए हैं। लेकिन मृत्यु पर किसी का वश नहीं चल सकता है।

इस विपत्ति के समय हमारी सहानुभूति आपके साथ हैं। ऐसे में भगवान आपको शक्ति दे।

तुम्हारा प्रिय

(पत्र लिखने वाले का नाम)

(पत्र लिखने वाले का पता)

भारतीय सेना पर शोक संदेश का नमूना

नमूने नंबर-3

जिक्र अगर हीरो का होगा

तो नाम भारत के वीरो का होगा

शत शत नमन

Note:- आप अपनी आवश्यकता अनुसार इन पत्रों का संशोधन आसानी से कर सकते हैं।

Conclusion

आज हमने आपको इस लेख के माध्यम से Condolence Letter कैसे लिखे से जुड़ी संपूर्ण जानकारी स्पष्ट कर दी है। यदि आपको इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी कठिनाइयां मन में कोई भी प्रश्न आता है तो आप हम से नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते। आपका कमेंट हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here