इंग्लिश बोलना कैसे सीखे?- English Bolna Kaise Sikhe, नई आसान टिप्स, Top 10 Tips & Tricks

0
25

English Bolna Kaise Sikhe | इंग्लिश बोलना कैसे सीखे | इंग्लिश बोलने के आसान तरीके क्या है | Top 10 Tips & Tricks English Speaking

आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इंग्लिश बोलने के कुछ आसान टिप्स बताइए क्योंकि जैसे की हम सभी लोग जानते हैं कि अंग्रेजी भाषा का हमारे जीवन में कितना महत्व है। आज के समय में अंग्रेजी भाषा हमारी जरूरत बन चुकी है। चाहे वह बच्चों के स्कूल का होमवर्क हो या फिर ऑफिस का वर्क अंग्रेजी भाषा के बिना यह सब अधूरा है। आज भी हमारे समाज में बहुत से लोग ऐसे हैं जो इंग्लिश बोलना सीखने के लिए कोचिंग सेंटर जाते हैं और खुद को समाज में चलने लायक बनाने की कोशिश करते हैं। लेकिन क्या आप यह बात जानते हैं कि थोड़ी सी समझ और सूझबूझ के साथ हम घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से अंग्रेजी भाषा बोलना सीख सकते हैं और आगे बढ़ सकते हैं।

इंग्लिश बोलना कैसे सीखे

जैसे की हम सभी लोग जानते हैं कि अंग्रेजी एक अंतरराष्ट्रीय भाषा है जैसे कि हम सभी लोग हिंदी बोलते हैं वैसे ही बाहर अंतरराष्ट्रीय देशों में अंग्रेजी भाषा का उपयोग किया जाता है।अगर आप हिंदी मीडियम स्कूल के विद्यार्थी हैं तो आप को डरने की आवश्यकता नहीं है आप भी बहुत अच्छी इंग्लिश सीख और बोल सकते हैं। इंग्लिश सीखना कोई कठिन काम नहीं है अगर आपने सीखने की चाहत है तो आप बहुत ही आसानी से सीख सकते हैं बस उसके लिए आपको हमारे द्वारा बताए गए कुछ स्टेप्स को फॉलो करना होगा जिससे आपको अंग्रेजी भाषा सीखने में काफी सहायता मिलेगी।

इंग्लिश बोलना कैसे सीखे

H-1B वीजा क्या है 

ग्रामर (Grammer)

भारत देश में सबसे ज्यादा बोलने वाली भाषा या तो हिंदी होती है या फिर इंग्लिश जिसे सभी लोग आसानी से समझ सकते हैं। हम सब में से जो लोग इंग्लिश बोलना चाहते हैं तो उन्हें सबसे पहले इंग्लिश ग्रामर का ज्ञान होना आवश्यक है। इंग्लिश ग्रामर के कुछ रूल्स होते हैं। यदि आप किसी प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आपको पूरी ग्रामर समझना पड़ेगी और अगर आप सिर्फ इंग्लिश बोलना सीखना चाहते हैं तो आपको पूरी ग्रामर सीखने की जरूरत नहीं है बस अंग्रेजी पढ़ने के कुछ बेसिक रूल्स पढ़ लीजिए और उन्हें फॉलो कीजिए। अंग्रेजी भाषा सीखने के लिए आपको ग्रामर का ज्ञान होना बहुत ज्यादा जरूरी है जिसके लिए आप मार्केट जाकर एक अच्छी ग्रामर बुक खरीद कर उससे ग्रामर के रूल्स समझ सकते हैं।

वोकैबुलारी (Vocabulary)

सामान्य तरीके से बातचीत करने के लिए लगभग एक व्यक्ति को 1000–1200 शब्दों की जरुरत होती है, बाकि शब्द धीरे-धीरे हमारी प्रैक्टिस करने की आदत से हम सिख जाते है। सबसे अहम बात यह है कि हमें कुछ पढ़ कर रटना नहीं है बल्कि उसको समझकर सीखना है। शब्दों को सिखने का सबसे अच्छा तरीका यह है की आप रोजाना 5 शब्द डिक्शनरी में से ले और उन्हें ऐसी जगह पर लिखे जहां आपका ध्यान दिन में कई बार जाता हो, आप ये काम अपने ऑफिस के टेबल या काम करने की जगह पर भी कर सकते है उन शब्दों को दिन में कई बार पढ़िए और याद करिए।

बुक्स पढ़ना

इंग्लिश बोलना सीखने के लिए हमारे पास सबसे अच्छा ऑप्शन है इंग्लिश बुक्स को पढ़ना। हम मार्केट जा कर किसी भी बुक शॉप से एक अच्छी सी इंग्लिश बुक लेकर उसको पढ़कर भी सीख सकते हैं लेकिन उसके लिए जरूरी है कि हमें दिन में कम से कम 1 से 2 घंटे तक बुक्स को पढ़ना है। तभी हमारी लैंग्वेज में सुधार आएगा। इंग्लिश बॉक्स पढ़ते समय यदि आपको किसी शब्द का मतलब समझ नहीं आ रहा है या फिर पता नहीं है तो आप उसे अपनी नोटबुक में लिख सकते हैं और उसका अर्थ डिक्शनरी में देख सकते हैं। इस तरह से जब आप रोज का रूटीन बनाएंगे तो आपको धीरे-धीरे कुछ नए शब्दों के मतलब भी पता चलेंगे और आपको इंग्लिश बोलने में भी काफी हेल्प होगी।

English News Paper

अंग्रेजी किताबें पढ़ने के साथ-साथ आपको रोजाना इंग्लिश न्यूज़पेपर या फिर मैगज़ीन भी पढ़ना चाहिए उसे भी आप बहुत कुछ सीख सकते हैं। इसके अलावा आप टीवी देखते हैं तो उससे भी आपको काफी मदद मिल सकती है इंग्लिश सीखने में इंग्लिश मूवी देख सकते हैं आप या फिर कोई प्रोग्राम। सभी डेली रूटीन को करने में आपकी इंग्लिश बोलने और सीखने की क्षमता ही बढ़ेगी।

मोबाइल ऐप

आजकल लगभग कोई भी ऐसा व्यक्ति या बच्चा नहीं है जिसके पास स्मार्टफोन ना हो। हमारे पास इंग्लिश सीखने के लिए सबसे अच्छा ऑप्शन मोबाइल फोन है जिसके माध्यम से इंग्लिश घर बैठे ही बिना कहीं बाहर जाए कर सकते हैं और अपना अंदर का डर बाहर निकाल सकते हैं। हम अपने स्मार्टफोन की सहायता से प्ले स्टोर पर जाकर इंग्लिश सीखने के लिए बहुत सारे एप्लीकेशन होते हैं जिन्हें हम इंस्टॉल करके अंग्रेजी भाषा सीख सकते हैं और सीखने के साथ-साथ टेस्ट भी दे सकते हैं।

अंग्रेजी मुहावरे

मुहावरों से आपकी दोस्ती होती है लेकिन आपकी मातृ भाषा वालो से ही। क्यों न इस बार कुछ अंग्रेजी मुहावरे सीख लिये जाए। अंग्रेजी मुहावरे आपकी शब्दावली को पक्का करते हैं और आपके इंग्लिश बोलने में मददगार भी होते हैं।

सेल्फ कॉन्फिडेंस

सबसे पहले आपको अपने अंदर सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाना होगा क्योंकि किसी भी चीज को सीखने या करने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है हमारे अंदर का आत्मविश्वास। अगर हम बेतुकी और फालतू चीजें जैसे कि मैं अच्छे से बोल पाऊंगा या नहीं या फिर आपके बोलने पर कोई आपका मजाक उड़ाई या फिर हाथ से इस तरह की बातों के बारे में बिल्कुल नहीं सोचना है। बस इन सब फिजूल बातों के बारे में आपने बिल्कुल नहीं सोचना है

प्रैक्टिस

हम सभी लोगों में बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं कि किसी के सामने प्रैक्टिस करने में कतराते हैं या फिर उनका कॉन्फिडेंस लो हो जाता है। अगर आपको भी किसी के सामने अभ्यास करते समय डर लगता है तो आप अपने रूम में अकेले में शीशे के सामने खड़े होकर अभ्यास कर सकते हैं। इससे आपकी इंग्लिश में सुधार आएगा और आपको रोज अभ्यास करना होगा क्योंकि अगर आप रोजाना प्रैक्टिस करेंगे तो आपकी इंग्लिश दिन-ब-दिन बेहतर होती जाएगी।

इंग्लिश सॉन्ग

आपको अपने दैनिक जीवन में इंग्लिश सीखने के लिए कुछ नियम बनाने होंगे जैसे हिंदी न्यूज़ पेपर की जगह इंग्लिश न्यूज़ पेपर पढ़िए, हिंदी मूवी की जगह इंग्लिश मूवी देखिए और हिंदी गानों की जगह इंग्लिश गानों पर ध्यान दीजिए। यह एक तरह से आपकी ट्रेनिंग का ही हिस्सा होगा जिससे आप के सोचने और समझने के विचारों में बदलाव आएगा और इंग्लिश सीखने के लिए भी जागरूक करेगा।

घबराने की आवश्यकता बिल्कुल नहीं है

हममें से ज्यादातर लोगों ने देखा होगा कि फॉरेनर्स जब हिंदी भाषा बोलने की कोशिश करते हैं तो कुछ शब्द ऐसे होते हैं जिन्हें वह गलत बोल देते हैं लेकिन उनमें कॉन्फिडेंस होता हैं क्योंकि इसके लिए नहीं मिलना है लेकिन जब हम इंग्लिश भाषा बोलने की कोशिश करते हैं तो हमें घबराहट होने लगती है कि कहीं कुछ गलत ना निकल जाए इसीलिए आपको अपने सोचने की विचारधारा को बदलना है तभी आप अच्छी अंग्रेजी बोल पाएंगे।

English Bolna Sikhe

अंग्रेजी के स्वर और व्यंजन

English में प्रयुक्त 26 वर्णों को स्वर (Vowels) और व्यंजन (Consonants) के रूप में दो भागों में बटा गया है | अब यहाँ स्वरों और व्यंजनों के भिन्न –  भिन्न उच्चारणों के बारे में बताया जा रहा है | साथ ही आप देव नागरी लिपि के माध्यम से भी रोमन वर्णमाला सीखेंगे |

अंग्रेजी में पांच स्वर (Vowels)  और 21 व्यंजन (Consonants) है | ये इस प्रकार से है :

Vowels : A,E,I,O,U  = 5

Consonants : B,C,D,F,G,H,J,K,L,M,N,P,Q,R,S,T,V,W,X,Y,Z = 21

अंग्रेजी में कई Vowels तथा Consonants का एकल रूप में भिन्न उच्चारण होता है , शब्दों के बीच में प्रयुक्त होने पर उनका भिन्न उच्चारण होता है , जैसे –  G,H,L,W,Y,Z आदि , वर्ण अलग से जी , एच , एल , डब्ल्यू ,वाई , जेड आदि बोले जाते है , परन्तु शब्दों में प्राय: इनका उच्चारण क्रमश: ग , ह , ल , व ,य ,ज, आदि होता है।

अक्षरों का क्रम बदल जाने उच्चारण में अंतर

हिंदी में ‘स’ आदि कोई भी वर्ण किसी भी क्रम में बदले उसका उच्चारण एक जैसा ही रहता है, किन्तु अंग्रेजी में ऐसा नहीं है, यहाँ Cent का उच्चारण ‘सेंट’ होगा और Cant का उच्चारण ‘कैन्ट’ होगा. ऐसे शब्दों के कुछ नियम तथा उच्चारण निम्नलिखित है:

‘C’ का उच्चारण

1- ‘C’ का उच्चारण ‘स’ और ‘क’ होगा

  • Cyclone (साइक्लोन) तूफ़ान
  • Receive (रिसीव) प्राप्त करना
  • Icy (आइसी) बर्फीला
  • Force (फोर्स) शक्ति
  • Certificate ( सर्टिफिकेट) प्रमाणपत्र
  • Niece (नीस) भतीजी
  • Rice (राइस) चावल
  • Circle (सर्कल) घेरा
  • Celebrate (सेलिब्रेट) उत्सव मनाना

2- C के बाद A,O,U, K,R,T आदि कोई वर्णहोता तो प्राय: C का उच्चारण ‘क’ होगा जैसे:

  • Back (बैक) पीठ
  • Cat ( कैट) बिल्ली
  • Custom ( कस्टम) रिवाज
  • Dock ( डॉक) बंदरगाह
  • Cap (कैप) टोपी
  • Cock (कॉक) मुर्गा
  • Cruel ( क्रुअल) क्रूर
  • Cattle (कैटल) पशु /जंतु
  • Cow (काउ) गाय
  • Curse (कर्स) कोसना

3- कभी – कभी C के बाद IA या EA हो, तो उच्चारण ‘श’ हो जाता है जैसे:

  • Social (सोशल)
  • Ocean ( ओशन) समुद्र
  • Musician ( म्यूजिशियन) संगीतकार

‘G’ का उच्चारण

G के दो उच्चारण है – ग और ज

1 ‘ग’ का उच्चारण जैसे:

  • Give (गिव) देना
  • Big (बिग) बड़ा
  • Go (गो) जाना

2- जब किसी शब्द के अंत में ‘GE’ हो तो इसका उच्चारण ‘ज’ होता है जैसे :

  • Cage (केज) पिंजरा
  • Age (एज) आयु
  • Sage ( सेज) महात्मा
  • Page (पेज) प्रष्ठ
  • Gauge (गेज) माप – यंत्र

इसी भी प्रकार इनमें भी ‘ज’ बोला जाता है जैसे:

  • Pigeon (पिजन) कबूतर
  • Ginger (जिंजर) अदरक
  • Gist (जिस्ट) सार
  • Gem (जेम) कीमती पत्थर

S  का उच्चारण

‘S’ के प्रमुख तीन उच्चारण है जैसे – ज, स, श

1- यदि शब्द के अंत में BE, G, GG, GE, IE, EF, EFY आदि आएं , तो इनके बाद लगे S उच्चारण ‘ज’ हो जाता है, जैसे :

  • Bags (बैग्ज) थैले
  • Rupees ( रुपीज) रुपये
  • Ages (एजिज) युग
  • Tribes (ट्राइब्ज) जातियां
  • Toys (टॉयज) खिलौने
  • Heroes (हीरोज) नायक
  • Eggs (एग्ज) अंडे
  • Stories (स्टोरीज) कहानियां

2- यदि शब्द के अंत में F, P, KE, GHT, PE, TE, आदि वर्ण हो, तो उनके बाद लगे S का उच्चारण ‘स’ होता है, जैसे :

  • Jokes (जोक्स) मजाक
  • Roofs (रूफ्स) छतें
  • Lips (लिप्स) होंठ
  • Nights (नाइट्स) रातें
  • Chips (चिप्स) टुकड़े
  • Kites (काइट्स) पतंगे
  • Ships (शिप्स) जहाज
  • Hopes (होप्स) आशाएं

3- यदि शब्द में S या SS के बाद IA, ION हो, तो प्राय: S ‘श’ की ध्वनि देता है, जैसे :

  • Aggression (अग्रेशन) हमला
  • Asia (एशिया) महाद्वीप का नाम
  • Mansion (मैंशन) महल
  • Pension (पेंशन) पेंशन
  • Russia (रशिया) रूस
  • Session (सेशन) कार्यकाल

T का उच्चारण

T’ की स्थिति के हिसाब से उच्चारण होतें है –  श, च, थ, द, ट

1- यदि शब्दों में T के बाद IA, IE, IO आदि हों तो ‘T’ को ‘श’ बोला जाता है, जैसे :

  • Portion (पोर्शन) भाग
  • Initial (इनिशियल) प्रारंभिक
  • Promotion ( प्रमोशन) वृद्धि
  • Ratio (रेशिओ) आनुपात
  • Patient (पेशंट) रोगी
  • Illustration (इलस्ट्रेशन) चित्

2-  यदि शब्द में S के बाद TION आये, या T के बाद URE आये तो T का उच्चारण ‘च’ जैसा होता है:

  • Question (क्वेश्चन) प्रश्न
  • Creature (क्रीचर) जंतु
  • Capture (कैप्चर) कैद करना
  • Culture (कल्चर) सभ्यता

3 यदि शब्द में T के बाद H आये, तो कभी – कभी ‘थ’ की ध्वनी होती है, कई बार ‘द’ की भी होती है जैसे:

  • th= थ
  • Three (थ्री) तीन
  • Thick (थिक) मोटा
  • Thread (थ्रेड) धागा
  • Thin (थिन) पतला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here