|FD Full Form| फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) क्या है- अवधि, इंट्रेस्ट कैलकुलेटर व एफडी ब्याज दरे जाने हिंदी में

0
104

FD Kya Hai | FD Full Form Kya Hota Hai | फिक्स्ड डिपॉजिट इंट्रेस्ट कैलकुलेटर | एफडी ब्याज दरे जाने | फिक्स्ड डिपॉजिट में कितना ब्याज मिलता है

आज के महंगाई के समय में हर कोई पैसे की बचत करना चाहता है लेकिन पैसों की बचत करने के लिए हमें याद तो बैंक में पैसों का निवेश करना पड़ता है या फिर कोई स्कीम वगैरा या शेयर बाजार में पैसे को जमा करना पड़ता है उसके बाद ही हमारे पैसों की बचत होती है। दोस्तों आप बैंक में एफडी स्कीम लेकर भी पैसों की बचत कर सकते हैं लेकिन बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जिन्हें बैंक में फिक्स डिपाजिट स्कीम लेने से पहले बहुत सारी बातें उनके मन में चलती हैं जैसे कि क्या यह सुरक्षित है या नहीं? कितना रिटर्न मिलेगा? कितना ब्याज है आदि। तो आज हम आपको अपने इस पोस्ट के माध्यम से फिक्स डिपाजिट से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं |

फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) क्या है

एफडी की फुलफॉर्म फिक्स्ड डिपॉजिट होता है। बहुत ही सरल और आसान भाषा में एफडी का मतलब अपने पैसों को एक निश्चित समय के लिए बैंक में जमा कराने होते हैं जिसके बाद बैंक आपको पूर्व-निर्धारित समय पूरा होने पर, आपका डिपॉजिट तय ब्याज़ दर पर, चुनी गई अवधि के दौरान ब्याज़ देना शुरू कर देता है। एक बार जब आपकी इन्वेस्टमेंट प्लान को किसी विशिष्ट ब्याज़ दर पर लॉक-इन कर दिया जाता है, तो वह ब्याज़ दर या मार्केट के उतार-चढ़ाव में कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

अगर आपको अपने भविष्य में कभी पैसों की आवश्यकता आन पड़ती है तो आप एफडी प्लान ले सकते हैं जिससे आपकी भविष्य में आने वाली परेशानियां जरूरत के समय वह रकम काम आ सकती हैं। इस स्कीम में सेविंग अकाउंट से ज़्यादा लाभ होता है। यह स्कीम बैंक और एनबीएफसी (नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियां) द्वारा प्रदान किए जाने वाला इन्वेस्टमेंट है जो पैसों की बचत करने का सबसे ज्यादा सिक्योर और बेहतर तरीका है। इस तरह से आप अपनी एफडी पर गारंटीड रिटर्न आसानी से प्राप्त कर सकते हैं और इसके अलावा आप समय-समय पर अपने ब्याज प्राप्त करने का ऑप्शन भी सिलेक्ट कर सकते हैं। अगर आप समय से पहले अपने एफबी से पैसे लेना चाहते हैं तो उसके लिए आपको जुर्माने का भुगतान करना होता है जिसके बाद आपको वह रकम दे दी जाती हैं।

फिक्स्ड डिपॉजिट

Benefits Of Fixed Deposit

  • बैंक में निर्धारित समय के लिए अपनी रकम जमा करने से आपके पैसों की बचत होती है।
  • यदि आपको किसी प्रकार की परेशानी या कोई विपदा आने पर आप अपनी एफडी तोड़कर समय से पहले भी पैसे निकाल सकते हैं।
  • एफडी पर आपको सेविंग अकाउंट से ज्यादा अधिक ब्याज दिया जाता है।
  • पैसों की बचत और निवेश करने का सबसे सुरक्षित और बेहतरीन तरीका है।
  • एफडी कराने के बाद लोगों को काफी अच्छा ब्याज पूरी गारंटी के साथ दिया जाता है।
  • आप एफडी अपनी सहुलत के हिसाब से कर सकते हैं। काम से काम 7 दिन और ज़्यादा से ज़्यादा आप 10 साल के लिए निवेश कर सकते है।
  • समय पूरा होने के बाद आप इसको renew करा कर ज्यादा लाभ ले सकते है।
  • एफडी कराने के बाद आपको अपने महीने के खर्चों को चलाने के लिए समय-समय पर भुगतान का ऑप्शन दिया जाता है।
  • इसके अलावा फिक्स्ड डिपॉजिट पर मार्केट के उतार-चढ़ाव का कोई भी प्रभाव नहीं पड़ता।
  • आवश्यकता पढ़ने पर आप अपनी एफडी पर लोन भी ले सकते हैं।
  • एफडी कराने से सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको आपके द्वारा किए गए निवेश की रकम डूबने का कोई खतरा नहीं रहता।
  • आयकर अधिनियम, 1961 के अनुसार, फिक्स्ड डिपॉजिट पर अर्जित ब्याज़ पर टैक्स मूल राशि के आधार काटा जाता है।
फिक्स्ड डिपॉजिट

एफडी में कितना ब्याज मिलता है ?

दोस्तों आपके लिए जाना बेहद जरूरी है कि आपको एफडी पर कितना ब्याज दिया जाता है क्योंकि सभी बैंकों की ब्याज दर अलग-अलग निर्धारित की जाती हैं अलग-अलग फैन का रेट ऑफ इंटरेस्ट अलग होता है लेकिन मिनिमम अगर माने तो 6% से 9% तक एनुअल होता है। आप जब भी एफबी कराएं तो उस बैंक से ब्याज दर के बारे में जरूर जानकारी प्राप्त करें। बैंक सीनियर सिटीजन को एफडी पर ज्यादा ब्याज दर भी देते हैं। इसलिए अगर आप या आपके परिवार में कोई सीनियर सिटीजन है, तो उसे एफडी में निवेश करने पर अतिरिक्त फायदा मिलेगा।  आरबीआई ने इसे लेकर गाइडलाइंस जारी करता है।

एफडी टैक्स में कितनी छूट मिलती हैं ?

दोस्तो अगर 5 साल के लिए एफडी स्कीम लेते हैं तो आपको टैक्स में छूट की सुविधा मिल जाती है जिसमें आपके द्वारा जमा की गई रकम के साथ ही ब्याज पर भी कोई टैक्स नहीं देना होता। लेकिन अगर आपके द्वारा एफडी पर किसी 1 वर्ष में 10000 रुपए से ज्यादा ब्याज कमाया है तो उसपर 10% के हिसाब से टैक्स जमा करना होगा और अगर आपने उस पर अपने पैन प्रोवाइडर नहीं किया है तो आपको 20% के हिसाब से टैक्स देना होगा। अगर आपकी प्रति महीने की इनकम टैक्सेबल रेंज से कम है तो आप अपनी एफबी पर टीडीएस डिडक्शन नहीं होने देने के लिए बैंक को फॉर्म 15G और फॉर्म 15H सब्मिट कर सकते हैं।

Fixed Deposit Kya Hai

फिक्स्ड डिपॉजिट कराने के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • पता प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • कैश amount या चेक जितने की FD करानी है
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • एफडी फॉर्म ( बैक से मिलेगा )
  • मोबाइल नंबर

फिक्स्ड डिपॉजिट (FD)कराने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको अपने जरुरी दस्तावेज़ लेकर बैक में जाना है।
  • अब आपको बैक से एफडी से सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर‌नी हैं।
  • इसके बाद आपको बैक से एफडी का फॉर्म  मिलेगा आपको उसको भरना है।
  • अब आपको फॉर्म और दस्तावेज़ व पैसे बैक में जमा कराने है।
  • इसके द्वारा बैक आपका एफडी अकाउंट ओपन करेगी जिसकी आपको पूरी जानकारी व FD के कागज भी दिये जाते हैं अगर आप चाहो तो saving account या current account के पैसे से भी direct FD करा सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here