IPS Officer Kaise Bane- आईपीएस ऑफिसर की तैयारी कैसे करें, योग्यता व सैलरी

IPS Officer Kya Hota Hai और आईपीएस ऑफिसर कैसे बने एवं ऑफिसर बनने की तैयारी कैसे करें व यूपीएससी एग्जाम के लिए अप्लाई करें

हमारे देश में पुलिस विभाग में जाने के लिए हर एक युवा तैयारी करता है ऐसे में किसी भी जिले का जो बड़ा पद होता है वह आईपीएस का होता है जो की यूपीएससी के माध्यम से व्यवस्थित किया जाता है और उसमें कठिन परिश्रम करके एक बेहतर आईपीएस ऑफिसर बना जाता है आज के समय में बहुत से ऐसे विद्यार्थी हैं जो घर से दूर जाकर आईपीएस बनने के लिए परिश्रम करते हैं और दिन रात पढ़ में लगे रहते हैं जिसके बाद प्रत्येक वर्ष कराए जाने वाले यूपीएससी एग्जाम को क्वालीफाई करके बन जाते हैं इसलिए आज हम आपको IPS Officer कैसे बनते हैं तथा उससे जुड़ी हुई सभी चीजों को व्यवस्थित तौर पर बताने का प्रयास करेंगे।

IPS Officer का Full Form

अंग्रेजी में IPS का Full Form  Indian Police Service होता है और हिंदी में इसे ‘भारतीय पुलिस सेवा’ के नाम से जाना जाता है जो कि UPSC का एग्जाम क्लियर करने के बाद इस पद पर तैनाती मिलती है।

IPS Officer

डीजीपी क्या होता है, DGP कैसे बने

आईपीएस ऑफिसर क्या होता है?

भारतीय पुलिस सेवा देश की सर्वोच्च पुलिस सेवा होती है जो की संपूर्ण भारत के हर राज्य के प्रत्येक जिले में इस पद की तैनाती की जाती है और यह जिस जिले में तैनात होता है वहां का क्षेत्राधिकार या उच्च अधिकारी के तौर पर कार्यरत रहता है एसीपी डीएसपी एसपी एसएसपी आईजी डीआईजी आदि पद आईपीएस के अंतर्गत ही आते हैं जिनके द्वारा जिले की पुलिस सेवा को व्यवस्थित करना और वहां पर शांति व्यवस्था को बनाए रखने का कार्य किया जाता है यदि जिले में किसी भी प्रकार का अपराध हुआ है तो उसकी छानबीन और उसके खिलाफ करवाई करना यह सब भारतीय पुलिस सेवा यानी आईपीएस के अंतर्गत ही आता है।

IPS Officer कैसे बने?

आईपीएस अधिकारी बनने के लिए सबसे पहले परीक्षार्थी को यूपीएससी की परीक्षा को उत्तीर्ण करना होगा जिसके बाद ही उसे एएसपी अथवा डीएसपी के पद पर तैनाती मिलेगी और फिर आगे चलकर पदोन्नति पाकर व जिले का सर्वोच्च पद SP या SSP के पद पर तैनाती पा सकता है और यह सभी प्रक्रिया काफी कठिन होती है जिसमें सभी चीजों को ध्यान में रखकर भर्ती की जाती है IPS बनने के लिए UPSC की प्रारंभिक, मेंस और साक्षात्कार की परीक्षा को पास करना होता है तो आइए निम्नलिखित हम आपको IPS Officer कैसे बनते हैं उसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

IPS (Indian Police Service)बनने के लिए योग्यता

यदि आप भारतीय पुलिस सेवा में जाना चाहते है तो उसके लिए यूपीएससी की तरफ से कुछ योग्यता भी निर्धारित की गई है जिसके बारे में हम आपको निम्नलिखित बताने जा रहे हैं।

  • सबसे पहले आपको किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज अथवा विश्वविद्यालय से न्यूनतम Graduation पास करना होगा।
  • Graduation पास करने का कोई मानक तय नहीं है आप किसी भी विषय से Graduate हो सकते हैं।
IPS Officer
IPS Officer बनने के लिए शारीरिक योग्यता

यदि आप आईपीएस बनना चाहते हैं तो ऐसे में आपको अपनी शारीरिक योग्यता का भी विशेष ध्यान देना होगा जो कि हम आपको निम्नलिखित बता रहे हैं।

  • पुरुष वर्ग के अभ्यर्थी के लिए यदि शारीरिक योग्यता की बात करें तो उसकी लंबाई न्यूनतम 165 सेंटीमीटर वह छाती न्यूनतम 50 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • वहीं महिला वर्ग के अभ्यर्थी के लिए शारीरिक योग्यता में केवल लंबाई की मांग होती है जिसमें न्यूनतम उनकी लंबाई 150 सेंटीमीटर तक होनी चाहिए।
आईपीएस बनने हेतु आयुसीमा

IPS बनने के लिए आयु सीमा का भी काफी महत्व होता है जिसका जिक्र हम निम्नलिखित करने जा रहे हैं।

  • ऐसे तो सामान्य तौर पर आईपीएस बनने के लिए न्यूनतम 21 वर्ष से लेकर अधिकतम 32 वर्ष तक की आयु निर्धारित की गई है।
  • यदि कोई अभ्यार्थी OBC Category से आता है तो उसे आयु सीमा में 3 वर्ष की छूट प्रदान की जाती है।
  • वही ST/SC Category के अभ्यर्थी को आयु सीमा में 5 वर्ष की छूट प्रदान की जाती है।

IPS बनने की चयन प्रक्रिया क्या है

भारतीय पुलिस सेवा (IPS) में जाने के लिए अभ्यर्थी को तीन प्रकार की चयन प्रक्रिया से होकर गुजरना होता है जोकि काफी कठिन मानी जाती है जिसके बारे में हम आपको निम्नलिखित UPSC के माध्यम से आईपीएस कैसे बनते है उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

  • Prelims (प्रारंभिक परीक्षा)
  • Mains(मुख्य परीक्षा)
  • Interview(साक्षात्कार)

Prelims (प्रारंभिक परीक्षा)

यदि कोई अभ्यार्थी आईपीएस बनना चाहता है तो उसको सबसे पहले UPSC की कराई जाने वाली प्रारंभिक परीक्षा में शामिल होना होगा जिसमें सामान्य अध्ययन और CSAT के दो प्रश्न पत्र को हल करना होता है जिसके लिए 300-300 नंबर के अंक निर्धारित किए जाते हैं  और उसको हल करने के लिए 2 घंटे का समय प्रदान किया जाता है।

Mains (मुख्य परीक्षा)

यदि आप प्रारंभिक परीक्षा में अच्छा नंबर लाकर पास हो जाते हैं ऐसे में आपको मुख्य परीक्षा में बैठने का अवसर प्राप्त होता है और यह परीक्षा काफी कठिन भी मानी जाती है क्योंकि इसमें 7 परीक्षाओं को पास करना होता है जिनका जिक्र हम निम्नलिखित करने जा रहे हैं।

मुख्य परीक्षा का ब्योरा:
प्रश्न पत्र विषय पूर्णांक
प्रथमEssay250
द्वितीयGeneral Studies-1 Paper250
तृतीयGeneral Studies-2 Paper250
चतुर्थGeneral Studies-3 Paper250
पंचमGeneral Studies-4 Paper250
षष्ठमOptional-1st Paper250
सातOptional-2nd Paper250

Interview (साक्षात्कार)

जब कोई अभ्यार्थी प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा को उत्तीर्ण कर लेता है तो उसे अंत में साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है जिसमें उसका तकरीबन 45 मिनट का एक साक्षात्कार लिया जाता है जो कि 275 नंबर का होता है जिसमें यदि अभ्यार्थी अपना अच्छा Performance दे देता है तो उसे Merit List में जगह मिल जाती है और ऐसे में वह IPS बनने के योग्य माना जाता है।

आईपीएस के Selection के बाद Training

जब कोई अभ्यार्थी यूपीएससी के माध्यम से सिलेक्शन पा लेता है तो ऐसे में उसे Training के लिए भेजा जाता है जोकि मसूरी में स्थित Lal Bahadur Shastri National Academy of Administration(LBSNAA) में ट्रेनिंग प्रदान की जाती है वहां पर 6 महीने की ट्रेनिंग लेने के बाद फिर अभ्यार्थी को हैदराबाद में Sardar Vallabhbhai Patel Police Academy में पुलिस की ट्रेनिंग लेने के लिए भेजा जाता है वहां पर भी अभ्यर्थी को 6 महीने की पुलिस ट्रेनिंग प्रदान की जाती है तथा उसके बाद उसे Circle Training के लिए किसी थाने पर Posting दी जाती है जिससे वह क्षेत्र में अपनी ट्रेनिंग को पूर्ण कर सके।

IPS का वेतनमान कितना होता है

यदि देखा जाए तो आईपीएस रैंक काफी उच्च स्तर की होती है ऐसे में वह अन्य पुलिस अधिकारियों से अधिक वेतनमान प्राप्त करता है यदि देखा जाए तो ट्रेनिंग के समय एक IPS Officer को ₹52000 सैलरी प्रदान की जाती है जिसमें उसका रहन-सहन खानपान की कटौती भी की जाती है लेकिन वही यदि IPS अपने क्षेत्र में तैनाती पा लेता है तो ऐसे में उसे ₹50000 से ₹70000 तक की सैलरी सरकार की तरफ से प्रदान की जाती है उसके साथ ही साथ उसे कई अन्य सुविधाएं भी प्रदान की जाती है जिसमें मेडिकल खान-पान रहन-सहन आदि व्यवस्था मुफ्त रहती है और धीरे-धीरे इस वेतनमान में बढ़ोतरी भी देखने को मिलती है।

Leave a comment