डीजीपी क्या होता है, DGP कैसे बने – जानिए योग्यता वेतन व चयन प्रक्रिया

डीजीपी क्या होता है | DGP कैसे बने | डीजीपी बनने के लिए योग्यता वेतन व चयन प्रक्रिया क्या है डीजीपी की सैलरी कितनी होती है?

0
231

DGP Kya Hota Hai | डीजीपी कैसे बने | DGP Ki Full Form Kya hai | DGP Salary | डीजीपी की योग्यता । डीजीपी की चयन प्रक्रिया

दोस्तों जैसे कि आप जानते हैं कि जिंदगी में मुकाम हासिल करने के लिए बहुत से कठिनाइयों से गुजरना पड़ता है। और सरकारी पद में जाने के लिए डीजीपी का पद सबसे ऊंचा होता है केवल आईपीएस किया हुआ व्यक्ति ही DGP बनने के योग्य होता है। आज मैं आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से बताऊंगी डीजीपी क्या होता है और DGP ऑफिसर कैसे बनते हैं? हर किसी की इच्छा होती है कि वह आईपीएस डीजीपी पद हासिल करें। डीजीपी पद पुलिस विभाग का सबसे ऊंचा पद माना जाता है क्या आप जानते हैं कि डीजीपी पद के लिए क्या करना चाहिए।  आप लोग जानते होंगे कि क्या  चयन प्रक्रिया होती है DGP बनने की और काफी लोगों को नहीं पता होगा वह लोग सोचते होंगे कि क्या करना पड़ता है आइए आज आपकी इस कठिनाई का हल निकालते हैं  और बताते हैं कि डीजीपी कैसे बनते है।

DGP  क्या होता है?

भारत में डीजीपी एक थ्री स्टार रैंक व हाईएस्ट रैंकिंग पुलिस ऑफिसर होता है। इंडियन स्टेट व यूनियन टेरिटरीज में DGP  की फुल फॉर्म होती है DIRECTOR GENERAL OF POLICE DGP पुलिस फोर्स का हेड होता है हर इंडियन स्टेट में इनको स्टेट पुलिस  चीफ भी बोला जाता है। जो एक कैबिनेट सिलेक्शन पोस्ट होती है। डीजीपी को हिंदी में पुलिस महानिदेशक कहते हैं। डीजीपी वह व्यक्ति होता है जो अपने पास मिले अधिकारी का उपयोग करके अपने क्षेत्र में कानून व्यवस्था को पूरी तरह से बनाए रखने की जिम्मेदारी लेता है।

3  स्टार का मतलब क्या होता है पुलिस में?

 भारत में डीजीपी 3 स्टार रैंक और हाईएस्ट रैंक पुलिस ऑफिसर है भारतीय राज्यों की और यूनियन टेरिटरीज के।  हर डीजीपी एक आईपीएस ऑफिसर होता है।  DGP पुलिस के हेड होते हैं  भारतीय राज्यों में।

डीजीपी  बनने की प्रक्रिया

 लगभग 15 से 12 वर्ष के लिए दायर स्थान के कार्यालय में काम करने के बाद आईपीएस अधिकारी महा निरीक्षक पदों के लिए पात्र है और सेवा और उपलब्धियों में वर्षों की संख्या के आधार पर एक आईपीएस अधिकारी पुलिस महानिदेशक और पुलिस महानिदेशक पद के लिए पात्र हो जाता है।

DGP  बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

 DGP बनने के लिए व्यक्ति को ग्रेजुएट होना आवश्यक है। उसके बाद आपको  यूपीएससी की परीक्षा से गुजरना पड़ता है यूपीएससी की परीक्षा के तहत आप आईएएस आईपीएस डीजीपी तथा अन्य पदों के लिए योग बनते हैं। एग्जाम को क्लियर करने के बाद ही डीजीपी ऑफिसर आप बन सकते हैं।

डीजीपी  की  सैलरी कितनी होती है?

DGP की सैलरी  उसके पद के हिसाब से होती है।  आप नाम से ही अंदाजा लगा सकते हैं कि पुलिस महानिदेशक की सैलरी कितनी होती है। जितनी ज्यादा डीजीपी की सैलरी होती है उतनी सदा ही जिम्मेदारियां होती हैं वह अपनी जिम्मेदारियां बखूबी निभाते हैं।पुलिस महानिदेशक को ₹56000  से लेकर ₹225000 तक  ग्रेड  पे पर प्रतिमह  सैलरी मिलती है।

डीजीपी  की आयु सीमा  क्या होती है?

  • DGP पद की परीक्षा के लिए
  • जनरल केटेगरी की आयु सीमा कम से कम 21 वर्ष और  ज्यादा से ज्यादा 30 वर्ष की होनी चाहिए। ओबीसी केटेगरी के लिए आयु सीमा में 3 वर्ष की छूट दी गई है।
  • एससी और एसटी के लिए आयु सीमा के रूप में 5 साल की छूट दी गई है।

DGP का कार्य क्या होता है?

  • जीडीपी का कार्य होता है कि जिस राज्य में है उस राज्य में शांति व्यवस्था बनाए रखें।
  • जीडीपी का कार्य होता है कि राज्य सरकार से मिलकर उनके कार्य आगे बढ़ाएं।
  • राज्य में पूरे पुलिस डिपार्टमेंट को अपने नियंत्रण में रखना होता है।
  • प्रदेश के सारे जिलों में कानून व्यवस्था को  नियंत्रण में रखना।

DGP  बनने में कितना समय लगता है?

एक ऑफिसर डीजीपी जब बन सकता है जब उसने आईपीएस ऑफिसर  बनकर 30 साल गुजारे दिए हो।

Conclusion

 उम्मीद करती हूं क्या आपको मेरे आर्टिकल के माध्यम से समझ आ गया होगा कि DGP कैसे बनते हैं? उसकी चयन प्रक्रिया क्या होती है? आगे भी इसी तरह अपने आर्टिकल के माध्यम से आपको  और विषयों के बारे में  बताती रहूंगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here