बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना क्या है- ऑनलाइन आवेदन कैसे करे जाने हिंदी में

0
43

Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana Apply | बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना क्या है | बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे | Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana Application Form

सीएम नीतीश कुमार जी द्वारा बिहार राज्य के अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों के लिए बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना का शुभारंभ किया गया। जिसके तहत अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों को अपना खुद का रोजगार स्थापित करने के लिए सरकार की ओर से 10 लाख रुपए की धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी। जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि केंद्र तथा राज्य सरकार द्वारा बेरोजगार नागरिकों के लिए एवं रोजगार क्षेत्र में सुधार लाने के लिए कई सारी योजनाएं विकसित की जाती है। तो चलिए फिर आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, आवश्यक दस्तावेज एवं ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया बताने वाले हैं। हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

Table of Contents

Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana

बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना का आरंभ वर्ष 2018 में कमजोर वर्ग के लोग जैसे अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लिए ही शुरू की गई थी। जिसके बाद वर्ष 2020 में अत्यंत पिछड़ा वर्ग के लोगों को शामिल किया गया। वर्ष 2021 में राज्य सरकार ने महिलाओं और सामान्य व पिछड़े वर्ग के लोगों को भी इस योजना का हिस्सा बना दिया है। बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा इन सभी लोगों को आर्थिक स्थिति के रूप में 10 लाख रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी जिसमें से 5 लाख की रकम सरकार की ओर से अनुदान के रूप में नागरिकों को प्रदान की जाएगी और बाकी की 5 लाख की रकम 1% ब्याज के साथ नागरिकों को 84 किस्तों में पूरी करनी होगी।

इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को बिना ब्याज के लोन की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी और महिलाओं को लोन लेने के लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट जमा करनी होगी। प्रदान कि गई 10 लाख की रकम से कोई भी बेरोजगार नागरिक अपना खुद का उद्योग स्थापित कर सुख सुविधाओं के साथ अपना जीवन यापन कर सकता है। इस योजना के लिए बिहार सरकार द्वारा लगभग 102 करोड रुपए का बजट बनाया गया है।

Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana

जल्द ही की जाएगी ऑनलाइन पोर्टल की शुरुआत

उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन का कहना है कि बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना को जारी करने की तैयारी पूरी हो चुकी हैं। जिसके बाद इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाले लाभार्थियों की चयन प्रक्रिया भी पारदर्शिता से की जाएगी और इसी के साथ-साथ लाभार्थियों को जल्द से जल्द आर्थिक सहायता के रूप में 10 लाख रुपए की धनराशि प्रदान की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए 1 जून 2021 को एक ऑनलाइन पोर्टल का आरंभ किया जाएगा जिसके माध्यम से लाभार्थी घर बैठे केवल एक ही क्लिक से आवेदन कर सकते हैं।

Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana के के माध्यम से 8000 उद्यमियों को वित्तीय सहायता एवं अन्य सहायता प्रदान की जाएगी। योजना के माध्यम से लोगों की सहायता करने के लिए उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक के कंधों पर की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

Highlights Of Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana

योजना का नामबिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना
वर्ष2021
किसके द्वारा आरंभ हुईबिहार सरकार द्वारा
योजना का उद्देश्यकमजोर वर्ग के लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान करना एवं रोजगार को बढ़ावा देना
योजना का लाभअपना खुद का उद्योग स्थापित करने के लिए सरकार की ओर से वित्तीय सहायता प्राप्त करना
लाभार्थीअनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के कमजोर नागरिक
प्रोत्साहन राशि10 लाख रुपए
आवेदन का प्रकारऑनलाइन आवेदन
आवेदन की तिथिजारी है
ऑफिशियल वेबसाइटhttp://www.startup.bihar.gov.in/CMSCSTUDYAMI/Default.aspx

11 सदस्य कमेटी के माध्यम से की जाएगी चयनित प्रक्रिया

बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के अन्तर्गत चयनित प्रक्रिया 11 सदस्य कमेटी के माध्यम से की जाएगी जिसे उद्योग विभाग के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बनाया गया है। इस योजना के अंतर्गत आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन मोड पर की जाएगी जिसके लिए बिहार सरकार द्वारा एक ऑनलाइन पोर्टल की भी शुरुआत की गई है। इस योजना अंतर्गत लाभ प्राप्त करने वाले नागरिकों के लिए गाइडलाइन भी जारी की गई है जिसके अंतर्गत आवेदन के साथ सभी उद्यमियों को अपनी प्रोजेक्ट रिपोर्ट और राशि से संबंधित जानकारी देनी होगी। जिसके बाद प्रोजेक्ट एवं राशि का मूल्यांकन कमेटी द्वारा किया जाएगा।

Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana

बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के अंतर्गत महिलाओं को भी किया जाएगा शामिल

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि वर्ष 2018 में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों के लिए इस योजना का आरंभ किया गया था। लेकिन हाल ही में मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी द्वारा एक कैबिनेट की बैठक के दौरान बिहार राज्य में महिलाओं एवं युवाओं के लिए महिला एवं उद्यमी योजना के लिए मंजूरी दे दी गई हैं। बिहार सरकार द्वारा इस योजना के लिए लगभग 400 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है ताकि युवाओं और महिलाओं को इस योजना के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा लाभ प्रदान किया जा सके अपना खुद का उद्योग स्थापित करने के लिए।

इस योजना के माध्यम से युवाओं एवं महिलाओं को 10 लाख रुपए तक का लोन प्रदान किया जाएगा जिसमें से केवल 5 लाख ही वापस करने होंगे और बाकी के 5 लाख सरकार की ओर से अनुदान के रूप में लाभार्थी को प्रदान किए जाएंगे। बाकी की 5 लाख की रकम बिना किसी ब्याज के 84 किस्तों में पूरी की जाएगी। इन योजनाओ के अंतर्गत आवेदन करने के लिए उद्योग विभाग द्वारा अलग अलग पोर्टल तैयार किये गए है।

बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना का उद्देश्य

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं बिहार में लघु ओर सुष्म उद्योगों का बढ़ावा देने के लिए ही कमजोर वर्ग के अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जाति के नागरिकों को अपना खुद का रोजगार स्थापित करने के उद्देश्य से ही बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना का संचालन किया गया है ताकि जो आर्थिक स्थिति से कमजोर नागरिक है वो इस योजना के तहत आवेदन कर एक बड़ी रकम से खुद का कोई भी काम शुरू कर सकते हैं। इस योजना के माध्यम से बेरोज़गारी संख्या घटेगी ओर ज़्यादा से ज़्यादा रोजगार के अवसर बनेंगे ओर देश की आर्थिक स्थिति में भी सुधार आएगा।

Benefits Of Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana

  • वर्ष 2018 मैं यह योजना केवल अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों के लिए ही आरंभ की गई थी।
  • हाल ही में इस योजना को युवाओं एवं महिलाओं के लिए भी आरंभ कर दिया गया है।
  • बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के माध्यम से सरकार द्वारा अपना खुद का रोजगार स्थापित करने के लिए 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • प्रदान की गई रकम से 5 लाख की रकम एक परसेंट ब्याज के साथ लाभार्थी को 84 किस्तों में वापस करनी है और बाकी की 5 लाख की रकम सरकार की ओर से अनुदान के रूप में लाभार्थी को प्राप्त होगी।
  • आर्थिक स्थिति से कमजोर वर्ग के लोग अपना खुद का रोजगार स्थापित कर पाएंगे।
  • इस योजना के माध्यम से काफी हद तक बेरोजगारी संख्या में कमी आएगी और ज्यादा से ज्यादा रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
  • प्रशिक्षण तथा परियोजना निगरानी के लिए सरकार द्वारा ₹25000 प्रदान किए जाएंगे।
  • लोन लेने के लिए किसी भी राष्ट्रीय कृत बैंक से लाभार्थी द्वारा स्वयं घोषणा करना अनिवार्य है।

बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना की पात्रता

  • आवेदक को बिहार का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आवेदक अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति का होना चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत शैक्षिक योग्यता इंटरमीडिएट, आईटीआई, पॉलिटेक्निक या फिर समक्ष उत्तीर्ण होनी चाहिए।
  • आवेदक की आयु 18 वर्ष से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • आवेदक संस्थान प्रोपराइटरशिप, पार्टनरशिप, लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप या फिर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के अंतर्गत निबंधित होना चाहिए।

Important Documents Of Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana

  • आधार कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • शैक्षिक योग्यता प्रमाण पत्र

बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको रजिस्टर के लिंक पर क्लिक करना है।
बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना
  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आएगा।
  • आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, एप्लीकेशन टाइप आदि दर्ज करना है।
  • अब आपको गेट ओटीपी के लिंक पर क्लिक करना है।
  • अब आपको ओटीपी, ओटीपी बॉक्स में दर्ज करना है।
  • इसके बाद आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करना है।
  • अब आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आप इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर पाएंगे।

पोर्टल पर लॉगइन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको लॉगिन के लिंक पर क्लिक करना है।
  • अब आपको लॉगिन कैटेगरी का चयन करना है।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें पूछी गई जानकारी आपको दर्ज करनी है।
  • अब आपको लॉगइन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आप लॉगिन कर पाएंगे।

अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के आवेदन पत्र में भरी जाने वाली जानकारियों की लिस्ट

  • पंजीकरण सामान्य जानकारी– आवेदन कर्ता का नाम, रजिस्ट्रेशन नंबर, पिता/माता/अभिभावक का नाम, आवेदन कर्ता का पता, राज्य, जिला, पिन कोड, आवेदक का आधार नंबर, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, जन्मतिथि, लिंग, जाति, उच्चतम शैक्षिक योग्यता।
  • शैक्षणिक विवरण– वर्ग, बोर्ड, संस्था का नाम, बोर्ड/संस्था रोल नंबर, पास करने का साल, विषय।
  • प्रशिक्षण का विवरण
  • परिवार का विवरण– आवेदक का व्यवसाय, आवेदक का व्यवसाय से आय, आवेदक का व्यवसाय का विवरण, मुख्य पारिवारिक व्यवसाय, परिवार की कुल वार्षिक आय, क्या परिवार का कोई सदस्य सरकारी नौकरी में है या नहीं?
  • संस्था का विवरण– क्या आपने प्रोपराइटरशिप फर्म/पार्टनरशिप फर्म/एलएलपी अथवा प्राइवेट लिमिटेड का गठन किया है?, संस्था का नाम, संस्था का प्रकार, संस्था का पंजीकृत पता, राज्य, जिला, पिन कोड।
  • प्रमोटर/डायरेक्टर/पार्टनर का विवरण– नाम, पदनाम, लिंग, सामाजिक श्रेणी, शेयर, आवेदन कर्ता का संस्था से संबंधित पदनाम।
  • प्रोजेक्ट का विवरण– प्रोजेक्ट का प्रकार, प्रोजेक्ट का नाम, क्या आप इस प्रोजेक्ट से संबंधित कोई कौशल प्रशिक्षण लिया है?
  • जमीन/शेड का विवरण
  • पूंजी निवेश का विवरण– आंचल पूंजी, जमीन, भवन, संयंत्र और मशीनरी/उपकरण, स्वदेशी, आयाती, अन्य अचल संपत्ति, कार्यशील पूंजी।
  • वित्तीय संसाधन– प्रमोटर का योगदान, बैंक से ऋण, सरकारी अनुदान, असुरक्षित ऋण।
  • संस्था के बैंक का विवरण– खाता संख्या, खाता का प्रकार, बैंक का नाम, शाखा का नाम, आईएफएससी कोड।
  • प्रस्तावित समयावधि– प्रोजेक्ट शुरुआत की तिथि, सैंपल अथवा टेस्ट के लिए उत्पादन की तिथि, प्रोजेक्ट के उद्घाटन की तिथि, आवेदन कर्ता का नाम, स्थान, तिथि।

अति पिछड़ा वर्ग के आवेदन पत्र में भरी जाने वाली जानकारियों की सूची

  • पंजीकरण- आवेदन कर्ता का नाम, माता/पिता/अभिभावक का नाम, वैवाहिक स्थिति, पति/पत्नी का नाम, आवेदन कर्ता का पता, थाना, राज्य, जिला, पिन कोड, आवेदक का आधार नंबर, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, जन्मतिथि, लिंग, जाति, उच्चतम शैक्षिक योग्यता।
  • शैक्षणिक विवरण– वर्ग, बोर्ड/संस्था का नाम,बोर्ड/संस्था रोल नंबर, पास करने का साल, विषय।
  • प्रशिक्षण कोर्स– प्रशिक्षण संस्थान का नाम, वर्ग, ट्रेड, अवधि।
  • परिवार का विवरण– आवेदक का व्यवसाय, आवेदक का व्यवसाय से मासिक आय, आवेदक का व्यवसाय का विवरण, मुख्य पारिवारिक व्यवसाय, परिवार की कुल वार्षिक आय।
  • संस्था/इकाई का विवरण– आवेदक का संस्था/इकाई का प्रकार, संस्था/इकाई का नाम, संस्था इकाई का पंजीकृत पता, राज्य, जिला, पिन कोड।
  • प्रमोटर/डायरेक्टर/पार्टनर का विवरण– नाम, पदनाम, लिंग, श्रेणी, शेयर, आवेदन कर्ता का संस्था इकाई से संबंधित पदनाम।
  • प्रोजेक्ट का विवरण– प्रोजेक्ट की सूची, प्रोजेक्ट का नाम, प्रोजेक्ट के लिए प्राप्त हुआ कौशल प्रशिक्षण।
  • जमीन/शेड का विवरण– क्या जमीन/शेड का पहचान हो गया है?, जमीन/शेड का क्षेत्रफल, जमीन/शेड का प्रस्तावित स्थान का पता, जमीन/शेड का प्रकार, राज्य, जिला, पिन कोड।
  • परियोजना में निवेश की विवरणी– परियोजना की लागत, आंचल पूंजी, जमीन, भवन/शेड/दुकान, प्लांट और मशीनरी/उपकरण, अन्य अचल संपत्ति, कार्यशील पूंजी।
  • उद्योग लगाने के लिए राशि की व्यवस्था– स्वयं का खर्च, मित्रों एवं अन्य लोगों से लोन, स्कीम के तहत वित्तीय सहायता।
  • संस्था इकाई के बैंक का विवरण– बैंक का नाम, शाखा का नाम, खाता का प्रकार, आईएफएससी कोड, खाता संख्या।
  • बैंक/वित्तीय संस्थान ऋण की विवरण– क्या आपने किसी बैंक/वित्तीय संस्थान से ऋण लिया है?, बैंक/वित्तीय संस्थान का नाम, बैंक/वित्तीय संस्थान का पता, प्राप्त ऋण की राशि, वर्ष, बकाए रकम की राशि, किसी योजना के अंतर्गत राशि।
  • परियोजना प्रारंभ करने की प्रस्तावित समयवधि– प्रोजेक्ट की शुरुआत से संबंधित तिथि, सैंपल अथवा टेस्ट के लिए उत्पादन की संभावित तिथि, व्यवसायिक उत्पादन की संभावित तिथि।

नोडल अधिकारियों की सूची एवं उनका संपर्क विवरण देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अति पिछड़े वर्ग उद्यमी योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको नोडल पदाधिकारी के विकल्प पर क्लिक करना है।
बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना
Mukhyamantri Udyami Yojana

सैंपल आवेदन पत्र/ फॉर्म डाउनलोड कैसे करें ?

  • सबसे पहले आपको उद्योग विभाग बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • उसके बाद आपके सामने एक होम पेज खुलकर आएगा।
  • इस पेज पर आपको दाई तरफ सबसे ऊपर सैंपल आवेदन पत्र के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करते ही आपके सामने दो विकल्प आएंगे जो इस प्रकार है-
  • अनुसूचित जाति व जनजाति के लिए सैंपल आवेदन पत्र डाउनलोड करें।
  • अति पिछड़ा वर्ग के लिए सैंपल आवेदन पत्र डाउनलोड करें।
  • इस प्रक्रिया से आप वेबसाइट के माध्यम से आवेदन पत्र को पीडीएफ के रूप में डाउनलोड करके रख सकते हैं और इसका प्रिंट ले सकते हैं।

प्रोजेक्ट लिस्ट देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको उद्योग विभाग बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • उसके बाद आपके सामने एक होम पेज खुलकर आएगा।
  • यहां अब आपको आपको वेबसाइट में प्रोजेक्ट की सूची का विकल्प मिलेगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इस विकल्प पर क्लिक करते ही आपके सामने इस योजना के अंतर्गत आने वाले सभी प्रोजेक्ट की सूची खुलकर सामने आ जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here