|वाहन बीमा एजेंट बने| Vehicle Insurance Agent कैसे बने: इंश्योरेंस एजेंट बनने की जानकारी

0
72

Vehicle Insurance Agent Kya Hai | वाहन बीमा एजेंट कैसे बने | इंश्योरेंस एजेंट बनाने का तरीका क्या है  | वाहन बीमा एजेंट की सेलरी कितनी होती है

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि हमारे भारत देश में किसी भी प्रकार के वाहन को खरीदने के लिए सबसे पहले हमें हमें उस वाहन का बीमा कराना पड़ता है क्योंकि मोटर व्हीकल एक्ट 1988 के तहत बिना इंश्योरेंस के वाहन चलाना कानूनन अपराध है। यही बीमा हमें किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने पर हमारे आर्थिक नुकसान की भरपाई पूरी करता है। आप में से बहुत से लोग ऐसे होंगे जो वाहन बीमा एजेंट बनकर अपना करियर बनाना चाहते हैं लेकिन इस फील्ड में अपना करियर बनाने के लिए आपको पहले Vehicle Insurance Agent के कार्य, योग्यता आदि को विस्तार पूर्वक समझना होगा उसके बाद ही निश्चय करें कि आप कौन Vehicle Insurance Agent बनना चाहते हैं। आज हम आपको अपने इस पोस्ट के माध्यम से वाहन बीमा एजेंट से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं हमारी इस पोस्ट को अंत तक पढ़े |

वाहन बीमा एजेंट के कार्य

किसी भी जनरल बीमा कंपनी द्वारा मान्यता प्राप्त व्यक्ति वाहन बीमा एजेंट होता है जिसका कार्य लोगों को वाहन बीमा पॉलिसी बेचने का होता है। कहने का तात्पर्य यह है कि जो व्यक्ति जिस कंपनी में काम करता है जो उसके इंश्योरेंस लोगों तक पहुंचाने का मुख्य कार्य वाहन बीमा एजेंट का ही होता है साथ ही साथ वे यह भी बताता है कि उसकी कंपनी से आपको इंश्योरेंस क्यों करवाना चाहिए उसकी क्या बेनिफिट्स होंगे आपके लिए आदि। हर कंपनी का एजेंट अपनी कंपनी का इंश्योरेंस बेचने के लिए अपनी कंपनी की तारीफ करता है और अपनी पॉलिसी भेजता है यही एक एजेंट का कार्य होता है।

वाहन बीमा एजेंट

Vehicle Insurance Agent की सेलरी

दोस्तों आपकी जानकारी के लिए हम आपको बताना चाहेंगे कि वाहन बीमा एजेंट को प्रति महीने कोई सैलरी नहीं दी जाती बल्कि उनको पॉलिसी के आधार पर कमीशन दिया जाता है। मान लीजिए के कोई एजेंट एक पॉलिसी बेचता है तो उसमें से उसे 10% से लेकर 15% तक की कमीशन दी जाती है। एजेंट पर निर्भर करता है के वह दिन भर में कितनी पॉलिसी बेचता है। जितनी ज्यादा पॉलिसी बिकेगी इतना ज्यादा फायदा मिलेगा। इससे एजेंट को एक ओर बड़ा फायदा होता है और वह यह है कि आपके द्वारा भेजे गए ग्राहक यदि ईश्वर से पॉलिसी को रिन्यू करवाता है तो आपको दोबारा 15% कमीशन मिलती है। हम यहां पर भी कह सकते हैं कि एजेंट की कमाई उसके हाथों पर निर्भर करती है इतनी ज्यादा पालिसी बिकेंगे इतनी ज्यादा उसकी कमाई का जरिया बनेगा।

वाहन बीमा एजेंट

Benefits Of Vehicle Insurance

  • बीमा एजेंट बनने पर आपको कार्य करने के लिए कोई निश्चित समय नहीं दिया जाता बल्कि आप अपना कार्य अपने समय के अनुसार कर सकते हैं।
  • Insurance Agent का कार्य एक तरह से पार्ट टाइम जॉब की तरह होता है। यदि आप बीमा एजेंट के अलावा कोई दूसरा कार्य भी कर सकते हैं तो बिना किसी परेशानी के वह भी कर सकते हैं और बीमा एजेंट भी बन सकते हैं।
  • बीमा एजेंट बनने के लिए आपको कोई पैसे खर्च नहीं करने पड़ते हैं।
  • वाहन बीमा एजेंट बनने के बाद आपको समय-समय पर प्रोफेशनल लोग आकर ट्रेनिंग देते हैं जिससे कि आपका आत्मविश्वास बढ़ता है।

आईआरडीए ट्रेनिंग

भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (आईआरडीएआई) संस्था एक सरकारी संस्था है, जो भारत में बीमा बाजार को कंट्रोल करती है। इसके नियमों के मुताबिक किसी कंपनी का बीमा एजेंट बनने के लिए इसके द्वारा ली जाने वाली IC 33 या IC 38 exams पास करना अनिवार्य है। इसके बिना कोई बीमा एजेंट नहीं बन सकता और बीमा कंपनी एजेंट लाइसेंस जारी नहीं कर सकती। संस्था में एजेंट बनने वाले व्यक्ति को लगभग 50 घंटे का प्रशिक्षण लेना अनिवार्य होता है जो 1 सप्ताह में पूरा कर लिया जाता है। अपने लाइसेंस के नवीकरण के लिए, एजेंट को केवल 25 घंटे के लिए प्रशिक्षण लेना होगा।

आईआरडीए एग्जाम्स

आईआरडीए ट्रेनिंग सफलतापूर्वक पूरी करने के बाद आवेदक को एजेंसी कि एग्जाम्स को पास करना होगा। जिसके लिए एजेंट को 350 रुपए का भुगतान करना होगा। डीडी परीक्षा प्राधिकरण अर्थात एनएसई.आईटी. के नाम पर होगा। परीक्षा केंद्र परीक्षा के बाद अभ्यर्थी को मार्क शीट देगा।

इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए योग्यता

  • यदि कोई व्यक्ति वाहन बीमा एजेंट बनना चाहता है तो उसे कम से कम 10 वीं परीक्षा पास करना अनिवार्य है।
  • वाहन बीमा एजेंट बनने के लिए कम से कम 18 वर्ष की आयु होना अनिवार्य है।
  • भारत का नागरिक होना अनिवार्य है।

वाहन बीमा एजेंट बनने के लिए आवश्यक दस्तावेज़

  • एजेंट का आवेदन पत्र
  • प्रायोजन फार्म
  • जन्मतिथि की तिथि का प्रमाण
  • योग्यता प्रमाण
  • पैन कार्ड
  • तीन स्टाम्प के आकार की तस्वीरें
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नम्बर
  • ईमेल पता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
Vehicle Insurance Agent

वाहन बीमा एजेंट केसे बने?

सबसे पहले हम आपको बताना चाहेंगे कि Vehicle Insurance Agent बनने के लिए बहुत सारी इंश्योरेंस कंपनी मौजूद है जहां पर बीमा एजेंट बनने की प्रक्रिया लगभग एक जैसी ही होती है। यदि आप वाहन बीमा एजेंट बनकर अपना करियर बनाना चाहते हैं तो हमारे द्वारा बताए गए स्टेप्स को फॉलो करें और वाहन बीमा एजेंट की और अपना कदम बढ़ाये।

  • जैसे कि हमने आपको बताया कि वाहन बीमा एजेंट का प्रोसीजर सभी एजेंट कंपनीज में बिलकुल एक जैसा होता है इसलिए सबसे पहले आपको आईआरडीएआई द्वारा मान्यता प्राप्त इंश्योरेंस कंपनी का चुनाव करना है जहा पर आप अपनी एजेंट पॉलिसी बेचना चाहते हैं।
  • कंपनी का चुनाव करते समय आपको एक बात ध्यान रखनी है कि आपको ऐसे एरिया का चुनाव करना है जहां पर आप की पॉलिसी ज्यादा बिकती हो। कंपनी का सिलेक्शन करने के बाद आपको कंपनी के दफ्तर में जाकर मैनेजर से बात करके उनको बताना है कि आप उनके बीमा में एजेंट बनना चाहते हैं।
  • जिसके बाद कंपनी के सेल्स मैनेजर आपका बायोडाटा मांग कर आप से कुछ सवाल करेंगे जिससे कि आपकी योग्यता का अंदाजा लगाया जा सके कि आप किस प्रकार के एजेंट बनने लायक हैं।
  • इंटरव्यू में जाने से पहले आपको अच्छे से तैयारी करके जाना है ताकि आप सभी सवालों के जवाब एकदम कॉन्फिडेंस से दे सके क्योंकि आपका कॉन्फिडेंस ही आपका सिलेक्शन निर्भर करता है।
  • यदि आप इंटरव्यू पास कर लेते हैं तो आपको उस कंपनी के ट्रेनिंग के लिए बुलाया जाएगा उस ट्रेनिंग में आपको सरा का काम करना है और कैसे इंश्योरेंस को बेचना है आदि की ट्रेनिंग दी जाएगी ताकि आप अच्छे से काम कर सके और एक अच्छे वाहन बीमा एजेंट बन सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here