VPN क्या है और लैपटॉप, कंप्यूटर, मोबाइल में वीपीएन कैसे यूज़ करें

0
340

VPN Kya Hai | वीपीएन की फुल फॉर्म क्या है | लैपटॉप, कंप्यूटर, मोबाइल में वीपीएन कैसे यूज़ करें | VPN Free Download Kaise Kare | वीपीएन कैसे कार्य करता है | VPN Protocol Kya Hai

आज के आधुनिक युग में ज्यादातर लोग इंटरनेट का यूज कर रहे हैं। बहुत सी वेबसाइट सरकार द्वारा ब्लॉक कर दी जाती है। ब्लॉक वेबसाइट को वीपीएन के माध्यम से खोल सकते हैं। VPN का इस्तेमाल  किसी भी देश की सरकार द्वारा भी किया जाता है। जिससे वह अपने इंटेलिजेंस सिस्टम, पुलिस डिपार्टमेंट और खुफिया डिपार्टमेंट को गुप्त रखते हैं। और बहुत सी बड़ी कंपनियां भी VPN का इस्तेमाल करती हैं। इसके अलावा कोई व्यक्ति द्वारा इंडिविजुअली भी यूज किया जा सकता है। दोस्तों आज हम आपको अपनी इस पोस्ट के माध्यम से आपको वीपीएन से जुड़ी सभी जानकारियों के बारे में बताएंगे कि वीपीएन क्या होता है? इसे कंप्यूटर, लैपटॉप और मोबाइल में कैसे इस्तेमाल करते हैं ?

वीपीएन क्या है

सबसे पहले हम आपको वीपीएन की फुल फॉर्म बता रहे हैं “वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क”। जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है यह प्राइवेट नेटवर्क है जो इंटरनेट यूजर्स को अपना नेटवर्क इस्तेमाल करने की इजाजत देता है। आमतौर पर वीपीएन नेटवर्क कंपनी आपको एक आईडी एड्रेस मुहैया कराती है जिसमें यूजर नेम और पासवर्ड होता है। मल्टीनेशनल कंपनियां या बड़ी कंपनियां अपना डाटा सुरक्षित रखने के लिए VPN का इस्तेमाल करती हैं। वीपीएन का उपयोग कोई आम व्यक्ति भी कर सकता है। वीपीएन आपकी रियल आईडी को चेंज करके फेक आईडी में बदल देता है। डाटा सुरक्षित रखने के लिए आप भी वीपीएन का इस्तेमाल कर सकते हो।

VPN

वीपीएन कैसे कार्य करता है

VPN का सबसे खास कार्य है कि वह हमारे नेटवर्क को एक सिक्योरिटी देता है आप जो काम इंटरनेट पर करते हैं उन्हें वीपीएन सुरक्षित रखने का कार्य करता है आप वीपीएन की सहायता से ब्लॉक हुई वी वेबसाइट्स को दोबारा ओपन कर सकते हैं हमारे देश भारत में भी कुछ वेबसाइट्स पर प्रतिबंध है आप VPN के द्वारा वह वेबसाइट भी एक्सेस कर सकते हो। अगर आप इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हो और आपका आईपी ऐड्रेस भारत का ही है तो आप अपनी लोकेशन और आईपी ऐड्रेस किसी और देश का भी सेलेक्ट कर सकते हो तो इस प्रकार वीपीएन एप आपकी पहचान को बदल देता है तो दोस्तों इस प्रकार आप लैपटॉप कंप्यूटर और मोबाइल पर में VPN का इस्तेमाल कर सकते हो। अपने डेटा और अपनी पहचान को सुरक्षित रख सकते हो।

VPN Kya Hai

VPN Protocol क्या है ?

वीपीएन प्रोटोकॉल का मुख्य कार्य वीपीएन क्लाइंट और वीपीएन सर्वर के बीच कनेक्शन को जोड़ने का कार्य करता है। ताकि आसानी से वीपीएन क्लाइंट और वीपीएन सर्वर के बीच पूरी सुरक्षा के साथ डाटा का आदान प्रदान किया जा सके।आज के समय में वीपीएन सेवा प्रदाताओं द्वारा बीपीएल प्रोटोकॉल्स का उपयोग किया जा रहा है जैसे PPTP, SSTP, L2TP/IPSec, IKEv2/IPSec, IPSec, Open VPN, SoftEther और wireguard.

VPN के लाभ

  • आप इससे किसी भी ब्लॉक वेबसाइट को बहुत ही आसानी से खोल सकते हैं।
  • आप अपनी कंट्री की लोकेशन चेंज कर सकते हैं जैसे चाइना में फेसबुक ब्लॉक है तो चाइना वाले लोग वीपीएन में अपनी कंट्री लोकेशन चेंज करके फेसबुक यूज कर सकते हैं।
  • इंटरनेट में आपको भी वीपीएन सर्विस फ्री और पे दोनों मिलती है। आप चाहे तो वीपीएन सर्विस को फ्री में भी इस्तेमाल कर सकते हैं गूगल प्ले स्टोर में ऐसे कई एप है जो फ्री में भी वीपीएन की  सर्विस देते हैं।
  • जब आप वीपीएन सर्विस यूज करते हैं तो सारा कनेक्शन इंक्रिप्ट हो जाता है इसलिए इस सर्विस का इस्तेमाल करके आप है कोर्स से बच सकते हैं।

वीपीएन के नुक़सान

  • वीपीएन को यूज करने से बहुत से लोगों को ऐसा लगता है कि उन्हें कोई पकड़ नहीं सकता लेकिन यह गलत है आप पूरी तरह से अपने आप को नहीं छुपा सकते क्योंकि वीपीएन सर्वर में आपका डाटा मौजूद रहता है।
  • कई फ्री वीपीएन सर्विस आपके डेटा को मिसयूज भी कर सकती हैं क्योंकि उनके पास आपने जो एक्सेस किया उसकी पूरी डिटेल होती है।
  •  वीपीएन का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि इसे यूज करके हेल्प कर अपनी कई हद तक पहचान छुपाने में कामयाब हो जाते हैं।
  •  अगर आप वीपीएन का इस्तेमाल करके इंटरनेट चला रहे हैं तो आपको स्लो स्पीड मिलेगी क्योंकि आपके और गूगल के बीच एक और सरवर जुड़ जाता है जिसे हम वीपीएन सर्वर कहते हैं।
VPN क्या है

VPN Service का उपयोग

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि पिछले कुछ सालों से वीपीएन सर्विस की डिमांड बहुत तेजी से इंटरनेट पर बढ़ने की वजह से कई प्रकार के फेक वीपीएन और वर्क वीपीएन सिस्टम आ गए हैं जिसकी वजह से लोगों को काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। दोस्तों अगर आप भी अपनी डिवाइस और अपने कनेक्शन को सुरक्षित करना चाहते हैं तो तो आपको एक बहुत ही अच्छा वीपीएन सिस्टम का उपयोग करना चाहिए। अब हम आपको वीपीएन सिस्टम का इस्तेमाल करने से पहले आपको कुछ सॉफ्टवेयर के बारे में बताने जा रहे हैं जो इस प्रकार है।

  • Reputation
  • Performance
  • Type Of Encryption Used
  • Transparency
  • Ease Of Use
  • Support
  • Extra Features

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बताना चाहेंगे कि ज्यादातर वीपीएन सर्विस के लिए आपको चार्ज नहीं देना पड़ता क्योंकि कुछ सॉफ्टवेयर आपको बिना चार्ज के इस्तेमाल करने के लिए मिलते हैं लेकिन बिना चार्ज के इस्तेमाल करने से आपको अनलिमिटेड फीचर की सुविधा नहीं मिल पाएगी।अगर आप बेसिक सिस्टम का यूज़ करना चाहते हैं,तो आप Tunnel VPN का यूज़ कर सकते हैं। यह एक फ्री और लिमिटेड VPN को सर्विस सॉफ्टवेयर है।

फ्री VPN का प्रयोग न करें

यह तो आपको पता चल ही गया है कि वीपीएन क्या है ? लेकिन क्या आपको पता है कि इसका उपयोग कैसे करना चाहिए? अगर नहीं तो हम आपको बता दे की  वीपीएन दो तरीकों से उपयोग में लाया जाता है एक तो पे करके और दूसरा फ्री। दोनों ही वीपीएन सर्विस के पास आपका डेटा होता है। जो भी आप एक्सेस करते हैं जैसे जीमेल आईडी लॉगइन करना या बैंक से रिलेटेड यूजर नेम और पासवर्ड डालना इन सभी की डिटेल आपके वीपीएन सर्वर में होती हैं। इंटरनेट में आधी से ज्यादा फ्री वीपीएन सर्विस खुद ही आप को हैक करने का काम करती हैं इसलिए अगर आप कोई निजी चीज़ या बैंक से संबंधित जानकारी एक्सेस कर रहे हैं तो आपको फ्री वाले वीपीएन का उपयोग नहीं करना चाहिए। आपको हमेशा बड़ी कंपनी द्वारा प्रोवाइड किए जाने वाली वीपीएन का ही प्रयोग करना चाहिए।

कंप्यूटर में वीपीएन यूज़ करने का तरीका

  • इसके लिए सबसे पहले आपको  कंप्यूटर या लैपटॉप में Opera Developer Software को डाउनलोड करके इंस्टॉल करना है।
  • जब सॉफ्टवेयर इंस्टॉल हो जाए तो इसे ओपन करना है।
कंप्यूटर में वीपीएन यूज़
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा इस पेज पर ऊपर की तरफ आपको मीनू का ऑप्शन दिखाई देगा। उस पर क्लिक कर दें।
कंप्यूटर में वीपीएन यूज़
  •  उस पर क्लिक करने के बाद  सेटिंग पर क्लिक करना है।
  • फिर आपको प्राइवेसी एंड सिक्योरिटी का ऑप्शन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें उसके अब आपको वीपीएन का ऑप्शन दिखाई देगा आपको उस पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद वीपीएन  के ऑप्शन में अनेबल वीपीएन पर टिक करना है।
VPN
  • अनेबल वीपीएन पर टिक करने के बाद ही आपके ओपेरा ब्राउज़र  वीपीएन से कनेक्ट  हो जाता है इसके बाद आप किसी भी ब्लॉक वेबसाइट को ओपन कर सकते हैं।
VPN
  • इसके बाद ब्राउज़र के यूआरएल के पास वीपीएन लिखा होता है उस पर क्लिक करके आप वीपीएन को शुरू या बंद कर सकते हो यहाँ से इसकी लोकेशन भी बदल सकते हो।

कम्प्यूटर के लिए बेस्ट विंडोज वीपीएन सॉफ्टवेर

  • Cyber ghost
  • Hotspot shield
  • Finch VPN
  • ZPN connect
  • Windscribe
  • Total VPN
  • Open VPN
  • Tunnel Bear
  • Zenmate
  • Surfeasy

 मोबाइल में वीपीएन शुरू करने का तरीका

  • इसके लिए सबसे पहले आपको अपने एंड्रॉयड फोन के गूगल प्ले स्टोर में जाकर Touch VPN App को डाउनलोड करके इंस्टॉल करना है।
मोबाइल में वीपीएन
  • उसके बाद आपको ऐप ओपन करना होगा और सबसे पहले इसकी लोकेशन को सेट करना है।
  • इसके बाद कनेक्ट के ऑप्शन पर क्लिक करना है जैसे ही आप ‘कनेक्ट’ पर क्लिक करेंगे आपके मोबाइल में  वीपीएन चालू हो जाता है।

स्मार्टफोन के लिए बेस्ट एंड्रॉयड VPN एप

  • Express VPN
  • Windscribe
  • Nord VPN
  • Tigervpn
  • Safari VPN
  • Buffered VPN

गूगल क्रोम में वीपीएन यूज करने का तरीका

  • इसके लिए सबसे पहले आपको गूगल क्रोम को ओपन करने के बाद गूगल क्रोम वीपीएन एक्सटेंशन को सर्च करना है फिर गूगल एक्सटेंशन पर जाने के बाद ऐड टू क्रोम पर क्लिक करना है।
  • फिर आपको एक पॉपअप दिखाई देता है जिसमें एड एक्सटेंशन के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर ऊपर राइट साइड में वीपीएन एक्सटेंशन दिखाई देता है उस पर क्लिक करना होगा इसके बाद लैंग्वेज को सेलेक्ट करना है।
  • अगर यह प्रक्रिया पहली बार कर रहे हैं तो आपको क्रिएट न्यू अकाउंट पर क्लिक करना होगा और अपनी ईमेल आईडी पासवर्ड को सबमिट करना है। इसके बाद आप वीपीएन का बड़ी सरलता से इस्तेमाल कर सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here