|CV Full Form| सीवी (CV) क्या होता है और Curriculum Vitae, सीवी कैसे बनाते है

सीवी (CV) क्या होता है | CV Ki Full Form Kya Hoti Hai | सीवी कैसे बनाते है | Curriculum Vitae से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

0
54

सीवी (CV) क्या होता है | CV Ki Full Form Kya Hoti Hai | सीवी कैसे बनाते है | Curriculum Vitae Template Word | सीवी फॉर्मेट कितने प्रकार होते है

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद जब हम कहीं पर जॉब के लिए अप्लाई करते हैं तो हमें वहां पर सबसे पहले अपना रिज्यूम, बायोडाटा और सीवी देनी होती है जिसमें से बहुत सारे लोग रिज्यूम और बायोडाटा के बारे में तो जानते हैं लेकिन सीवी के बारे में बहुत कम लोग ऐसे होते हैं जिन्हें पूरी जानकारी होती हैं। आज हम आपको आपने इस पोस्ट के माध्यम से सीवी की फुल फॉर्म से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां एवं सीवी बनाने तक की जानकारी प्रदान करने वाले हैं। आप में से बहुत सारे लोग ऐसे होंगे जिन्हें जॉब अप्लाई करने के लिए सीवी की आवश्यकता पढ़ती होगी लेकिन कभी कभी ज़्यादा जानकारी ना होने के कारण थोड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। तो उसके लिए हमारी इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें क्योंकि आपको सीवी बनाने में काफी सहायता प्राप्त होगी।

CV Kya Hota Hai?

सीवी की फुलफॉर्म Curriculum vitae होता है जो एक लैटिन भाषा का शब्द है। जिसका अर्थ कोर्स ऑफ लाइफ होता है। सीवी में रिज्यूम से ज्यादा डिटेल्स दर्ज की जाती हैं जैसे आप की अब तक की सारी स्किल्स की लिस्ट, सभी जॉब्स और पोजीशन, डिग्री, प्रोफेशनल डिग्री का जिक्र। इसके अलावा आप इसमें अपनी पास की गई चुनौतियां भी लिख सकते हैं जिनमें आपने सफलता हासिल की हो। सीबी लगभग 3 से 4 पेज की होती है जिससे कि इंटरव्यू लेने वाले व्यक्ति को आप की स्किल्स के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त हो जाती हैं। सीवी बनाने के लिए आपको केवल उन्हीं चीजों को दर्ज करना होता है जो आपके प्रोफेशन और डिग्री से रिलेटेड होती हैं। और इसका सबसे बड़ा लाभ यह होता है कि बहुत ही कम समय में इंटरव्यू लेने वाले व्यक्ति को आप की स्किल के बारे में काफी अच्छे से जानकारी प्राप्त हो जाती है।

उसी के साथ साथ सीवी देखकर कंपनी के मालिक को यह भी पता चल जाता है कि कौन सा व्यक्ति किस पोस्ट के लिए योग्य है। जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि बायोडाटा में केवल हमारा नाम डेट ऑफ बर्थ हमारा एड्रेस कांटेक्ट नंबर शिक्षा से संबंधित जानकारी एवं हमारी पसंद के बारे में जानकारी होती हैं लेकिन सीवी में केवल हमारे प्रोफेशन के बारे में ही जानकारी दी जाती है।

सीवी फॉर्मेट के प्रकार

आपके सीवी का फ़ॉर्मेट क्या है उस बात का बहुत प्रभाव पड़ता है। सीवी तैयार करने के लिए मुख्य रुप से तीन फ़ॉर्मेट होते हैं जो इस प्रकार है-

1- Chronological CV

कोंटेक्ट इंफोरमेशन, रेज़्यूमे समरी, प्रोफेशनल टाइटल, वर्क एक्सपीरियंस, स्किल्स समरी, एजुकेशन, एडिशनल सेकशन

2- Combined CV

कोंटेक्ट इंफोरमेशन, स्किल्स समरी, एडिशनल सेकशन, वर्क एक्सपीरियंस, एजुकेशन

3- Functional CV

कोंटेक्ट इंफोरमेशन, रेज़्यूमे समरी, प्रोफेशनल टाइटल, स्किल्स समरी, एडिशनल स्किल्स, वर्क एक्सपीरियंस, एजुकेशन

सीवी केसे बनाए ?

अगर आपने अभी तक अपनी सीवी नहीं बनवाई है तो आप किसी भी साइबर कैफे की सहायता ले सकते हैं और अपनी सीवी बनवा सकते हैं। आपकी सीवी 20 रुपए से लेकर लगभग 10000 रुपए तक का भी हो सकती है। क्योंकि इसकी कीमत आपके सीवी फॉरमैट पर ही निर्भर करती है। जितना अच्छा आपको सीवी फॉर्मेट रखना है उसके लिए आपको उतने ही अधिक आपको कीमत देनी होती है। अगर आपके पास कोई  कम्प्यूटर आदि हैं तो आप इंटरनेट से भी cv format download कर सकते है और उसकी मदद से अपना बायोडाटा बना सकते हैं।

सीवी फॉर्मेट केसा होना चाहिए ?

हम आपको बताने वाले हैं कि आपको सीवी कैसे बनाया उसके लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा और हमारे द्वारा बताई गई जानकारी से आपको सीवी बनाने में काफी  सहायता मिलेगी।

1- सिंपल

सबसे पहले तो आपको बताना जाएंगे कि आपको सीबी बहुत सिंपल बनानी है और ज्यादा से ज्यादा कोशिश करें कि 2A4 साइज के पेपर में पूरा हो जाए क्योंकि पहले पेज में आपको अपनी मिनी प्रोफाइल देनी है।

2- पर्सनल डिटेल

अब आपको अपनी पर्सनल डिटेल का जिक्र करना है जिसमें आप अपना फोन नंबर नाम ईमेल एड्रेस और सोशल मीडिया में आप की एक्टिविटी की शॉर्ट में जानकारी दे सकते हैं। इसके अलावा आप यहां उन चीजों को ऐड कर सकते हैं जिनमें आपने सफलता प्राप्त की है।

3- कैरियर आब्जेक्टिव

तीसरे पॉइंट में आपको अपने करियर से रिलेटेड जानकारी देनी है जिसे आपको शार्ट में बताना है लेकिन कुछ भी नहीं छोड़ना है। और आपको यह भी बताना है कि आने वाले कैरियर में आप क्या करना चाहते हैं यह सब आप अपनी जॉब के हिसाब से सोच समझ कर लिख सकते है।

4- क्वालिफिकेशन

चौथे पॉइंट में आपको अपनी क्वालिफिकेशन के बारे में जानकारी देनी है इस पॉइंट में आपको अब तक आपने अपनी क्वालिफिकेशन किस जरिए जो भी अचीव किया है उसके बारे में आपको बताना है।

5- एक्सपीरियंस

अब बात करते है आपके वर्क एक्सपीरियंस कि अगर आप फ्रेशर है तो आप इस पॉइंट को छोड़ सकते हैं लेकिन अगर आपने कहीं जॉब की है और आपको एक्सपीरियंस है किसी भी क्षेत्र में तो आप उसके बारे में अपने एक्सपीरियंस को शेयर कर सकते हैं।

सीवी बनाते समय ध्यान देने योग्य बातें

  • सीवी बनाते समय आपको इस बात का खास ख्याल रखना होगा कि आप जो चीजें अपने सीवी फॉर्मेट में जोड़ रहे हैं वह आपकी स्केल्स या डॉक्यूमेंट वर्तमान समय में आपके पास अवश्य होने चाहिए।
  • आपको हमेशा ऑफिशियल भाषा का ही उपयोग करना है और हमेशा एक ही भाषा का यूज़ करें। ज्यादा भाषाओं का मेल मिलाप ना करें।
  • आपकी सीवी दो या तीन पेज से ज्यादा नहीं होनी चाहिए और उसे बहुत अच्छे और साफ-सुथरे तरीके से प्रस्तुत किया हुआ होना चाहिए।
  • सीवी बनाते समय आपकी आपको अपनी स्किल और निजी जानकारियां बहुत ही कम शब्दों में व्यक्त करनी हैं।
  • CV का फॉर्मेट केबल ब्लैक या वाइट ही रखें।
  • सीवी बनाते समय केवल उन्हीं चीजों का जिक्र करें जिन्हें आपने अपने जीवन में अचीव किया है। ज्यादा बढ़ा चढ़ाकर ना लिखें क्योंकि आगे आपको ही परेशानी हो सकती हैं।
  • स्पेलिंग मिस्टेक का खास खयाल रखें।
  • सही Contact Detail दें जैसेः मोबाइल नंबर चालू होना चाहिए, ईमेल आईडी सही होना चाहिए और पता देते समय Landmark Address जैसे: Near By xxxx, Oppisit By xxxx, Beside Of xxxx, जैसे Landmark Identity का Use करना चाहिए।

फ्रेशर्स के लिए सीवी बनाते समय ध्यान देने योग्य बातें

  • फ्रेशर्स को अपनी सीडी बनवाने के लिए स्किल्स को इस प्रकार लिखवाना चाहिए ताकि सामने वाली कंपनी को लगे कि आपको जॉब पर रखना उनके लिए फायदेमंद हो सकता है।
  • फ्रेशर्स को अपना एक्सपीरियंस काम और अपनी अचीवमेंट को अवश्य ही लिखना चाहिए।
  • आपको एक ऐसे सीवी फॉरमैट का चुनाव करना है जो देखने वाले व्यक्ति को अट्रैक्टिव लगे।
  • अपने अपनी शिक्षा के अलावा जो भी प्रोजेक्ट किए हैं उनको अपनी सीवी में जरूर शामिल करें।
  • अपनी शिक्षा और उसमें प्राप्त प्रतिशत भी जरूर लिखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here