सरकारी टीचर कैसे बने- Govt Teacher Kaise Bane योग्यता, सैलरी का सभी जानकारी

Government Teacher Kya Hota Hai और सरकारी टीचर कैसे बने एवं Sarkari Teacher बनने की तैयारी कैसे करे व इसकी योग्यता, सैलरी जाने हिंदी में

वर्तमान समय में यदि कोई सम्मानित एवं प्रशिक्षित पद माना जाता है तो वह एक अध्यापक का होता है जिस तरह से समाज को शिक्षित करने का कार्य एक अध्यापक के कंधों पर होता है उसी प्रकार वह उस कार्य को पूरी लगन और ईमानदारी से करता है आज के समय में आपने देखा होगा कि लाखों छात्र अध्यापक बनने के लिए कई प्रतियोगिताओं में भाग लेते हैं जिससे वह चाहते हैं कि सरकारी नौकरी की तौर पर एक अध्यापक का पद उन्हें प्राप्त हो जाए माता-पिता के बाद यदि कोई आपको एक बेहतर सलाह दे सकता है तो वह आपका अध्यापक हैं

अध्यापक भी कई प्रकार के होते हैं कोई निजी संस्था में पढ़ाता है तो कोई सरकारी संस्था में आज हम आपको Sarkari Teacher के बारे में पूर्ण रूप से बताएंगे तथा एक Govt Teacher किस प्रकार बन सकते हैं उनकी योग्यता वह वेतनमान के बारे में भी संपूर्ण जानकारी मुहैया कराएंगे।

Govt Teacher Kya Hota Hai?

यदि आपके क्षेत्र में कोई सरकारी स्कूल होगा तो आप वहां पर आया अध्यापकों का होना जरूर देखते होंगे एवं वहां पढ़ाने वाले जो भी अध्यापक होते हैं वह सभी Govt Teacher होते हैं जो कि एक प्रकार से क्वालिफाइड टीचर की उपाधि के साथ वहां पढ़ा रहे होते हैं। एक सरकारी टीचर बनने के लिए काफी परीक्षण करना पड़ता है उसके बाद ही उससे सरकारी टीचर की नौकरी मिलती है जिसमें आज के समय में BTC और B.Ed अनिवार्य रूप से किया जाता है तथा उसके बाद राज्य स्तर का एग्जाम TET(Teacher Eligibility Test) व CTET(Central Teacher Eligibility Test) जैसे क्वालिफाइड एंट्रेंस एग्जाम को पास करना भी अनिवार्य होता है Sarkari Teacherतीन प्रकार के होते हैं जिन्हें हम बारी-बारी से निम्नलिखित आपको बताएंगे।

Govt Teacher बने

1.प्राइमरी टीचर(PRT)

Govt Teacher बनने के लिए जो पहला चरण होता है वह प्राइमरी टीचर का होता है इस टीचर की मुख्य बात यह होती है कि यह किसी भी सरकारी स्कूल में कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों को पढ़ाता है उसके साथ साथ उन्हें दैनिक दिनचर्या में बहुत से ऐसे कार्यों को सिखाता है जो प्राइमरी के बच्चों को शुरुआती दौर में सीखना बहुत जरूरी होता है।

प्राइमरी टीचर बनने के लिए किसी भी अभ्यर्थी का ग्रेजुएशन कंप्लीट होना चाहिए तथा उसके साथ साथ उसे बीटीसी(Basic Training Certificate) Course करना होता है जोकि 2 साल का होता है या किसी भी सरकारी एवं गैर सरकारी संस्था से किया जा सकता है एक प्रकार से बच्चों को पढ़ाने की ट्रेनिंग आदि से संबंधित होता है जिसमें प्राथमिक प्रशिक्षण के तौर पर उन्हें सभी प्रकार की जानकारी दी जाती है।

कॉलेज लेक्चरर (Lecturer) कैसे बने

2.ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर(TGT)

किसी भी सरकारी स्कूल में स्टैंडर्ड कक्षा के बच्चों जैसे जो कक्षा 6 से दसवीं तक के होते हैं उन बच्चों को पढ़ाने के लिए एक Trained Graduate Teacher लेवल का अध्यापक नियुक्त किया जाता है जोकि सरकारी तौर पर होता है टीजीटी अध्यापक बनने के लिए किसी भी अभ्यर्थी को न्यूनतम शैक्षिक अर्हता ग्रेजुएशन कंप्लीट करना होगा तथा उसके बाद B.Ed का कोर्स जो कि सरकारी तौर पर कराया जाता है वह 2 साल का होता है उसे करना अनिवार्य रखा गया है इसके बाद ही आपको किसी भी सरकारी स्कूल में अध्यापक की नौकरी करने के लिए प्राथमिकता दी जाएगी।

3.पोस्ट ग्रेजुएट टीचर(PGT)

किसी भी 12वीं तक के सरकारी विद्यालय में एक अध्यापक के तौर पर जो बड़ा पद माना जाता है वह Post Graduate Teacher का ही होता है क्योंकि एक पीजीटी अध्यापक अपने विद्यालय के 11वीं एवं 12वीं के छात्र को ही पड़ता है वह भी एक मुख्य विषय के तौर पर छात्रों को पढ़ाने का कार्य करता है।

यदि पोस्ट ग्रैजुएट टीचर्स बनने की बात की जाए तो न्यूनतम शैक्षिक अर्हता ग्रेजुएशन के साथ साथ B.Ed का कोर्स जो कि 2 वर्ष का होता है उसे करना अनिवार्य माना जाता है तथा आपके इंटरमीडिएट और ग्रेजुएशन में अच्छे नंबर होने चाहिए जिससे आपको कुछ लेवल के बच्चों को पढ़ाने का प्राथमिकता दी जाती है।

नोट: उपरोक्त बताए गए तीनों ही श्रेणी के अध्यापक बनने के लिए आपको राज्य स्तर के टेट व सीटेट जैसे एग्जाम में क्वालिफाइड करना अनिवार्य है क्योंकि उसके बाद ही आपको इन सभी पद पर रहकर पढ़ाने का कार्य सौंपा जाएगा।

Govt Teacher कैसे बने

Government Teacher बनने की योग्यताएं

एक सरकारी अध्यापक बनना आज के समय में सभी विद्यार्थियों का सपना होता है उसके लिए वह दिन रात तैयारी करते हैं परंतु एक Sarkari Teacher बनने के लिए कुछ योग्यताएं भी रखी गई है यदि आप उन योग्यताओं में फिट बैठते हैं तो आप इसकी तैयारी बेहतर तरीके से कर सकते हैं निम्नलिखित हम आपको उन योग्यताओं के बारे में बता रहे हैं।

  • सर्वप्रथम आपको न्यूनतम शैक्षिक अर्हता Graduation अच्छे नंबर से पास करना होगा।
  • BTC और B.Ed जैसे डिग्री कोर्स करना अनिवार्य रखा गया है जोकि अपनी अलग-अलग श्रेणियों में 2 वर्ष का होता है।
  • यदि आप राज्य स्तर की सरकारी टीचर की नौकरी करना चाहते हैं तो आपको शिक्षक पात्रता परीक्षा स्टेट क्वालिफाइड करना अनिवार्य होगा उसके बाद ही आपको किसी सरकारी विद्यालय में नौकरी मिल सकती है।
  • यदि आप केंद्रीय स्तर पर सरकारी टीचर की नौकरी करना चाह रहे हैं तो उसके लिए आपको केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा(सीटेट) क्वालिफाइड करना अनिवार्य तौर पर रखा गया है तथा उसके पास करना बहुत जरूरी है तभी आप केंद्रीय विद्यालय जैसे आर्मी स्कूल केंद्रीय विद्यालय आदि में आप को नियुक्ति मिलती हैं।

Sarkari Teacher बनने का Process

जैसा कि आपको पता होगा कि एक सरकारी टीचर(Govt.Teacher) बनने के बाद बहुत सी सुविधाएं उन्हें प्रदान होती हैं तथा उसके साथ-साथ ओने एक काफी सम्मान के तौर पर व्यवहार प्रदान होता है निम्नलिखित हम सरकारी टीचर बनने के तरीके बताने जा रहे हैं।

पहला चरण:Graduation

Government Teacher बनने के लिए सबसे पहले आपको अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई को कंप्लीट करना चाहिए क्योंकि इंटरमीडिएट और ग्रेजुएशन की पढ़ाई के बाद जो नंबर प्राप्त होते हैं उसी के आधार पर आपको सरकारी नौकरी के लिए आवेदन मांगा जाता है इसीलिए यदि आप अपने शुरुआती दौर से अपनी तैयारियों में जुट जाएंगे तो यह आपके लिए एक बेहतर विकल्प होगा।

दूसरा चरण:BTC & B.Ed

ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद आपको सबसे पहले BTC या B.Ed में एडमिशन लेना चाहिए जो कि एक प्रकार के प्राथमिक प्रशिक्षण के तौर पर 2 वर्ष का कोर्स होता है तथा इन दोनों को ही किसी Sarkari Teacher बनने के लिए अनिवार्य रखा गया है। इसको करने के लिए ग्रेजुएशन में न्यूनतम 50% अंक होना अनिवार्य है यदि उस अर्हता में आप आते हैं तो फिर यह कोर्स जरूर करें।

तीसरा चरण:Subject Preparation

सबसे मुख्य एवं अहम चरण किसी विषय विशेष की तैयारी करना होता है यह इसलिए ज्यादा जरूरी है क्योंकि यदि आप सरकारी टीचर बनना चाहते हैं तो उसके लिए आपको किसी एक विषय विकल्प का चयन करना होगा तथा उसकी तैयारी आपको युद्ध स्तर पर करनी होगी क्योंकि आज के समय में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी लाखों में अभ्यार्थी कर रहे हैं तथा जो कंपटीशन है वह काफी ज्यादा कठिन माना जा रहा है तो ऐसे में आपको किसी एक विषय को लेकर जिसमें आप हमेशा से ही भेज रहे हैं उसकी तैयारी जोर शोर से करें।

चौथा चरण:CTET & TET Qualified

सबसे अंतिम और सबसे ज्यादा मुख्य चरण CTET और TET क्वालिफाइड करना होता है यह केंद्र एवं राज्य स्तर की शिक्षक पात्रता परीक्षा होती है जिसमें यदि आप क्वालिफाइड कर जाते हैं तो आपको एक Sarkari Teacher के तौर पर नौकरी प्रदान कर दी जाती है यह परीक्षा भर्तियां आने के बाद कराई जाती है जो कि केंद्रीय लेवल पर यदि हो तो उसके लिए सीटेट की परीक्षा देनी होती है यदि किसी राज्य स्तर पर हो तो उसके लिए टेट की परीक्षा देना अनिवार्य होता है परीक्षा देने के बाद अंतिम में एक मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है जिसमें अधिक नंबर वाले को उच्च स्तर में पढ़ाने के लिए कक्षा प्रदान की जाती है।

Sarkari Teacher का वेतनमान:

यदि वर्तमान समय में एक सरकारी अध्यापक की औसतन सैलरी की बात की जाए तो वह लगभग ₹40000 से ₹45000 मानी जाती है परंतु इसमें भी कई तरह के प्रकार होते हैं यदि प्राइमरी का अध्यापक है तो उसके लिए ₹35000 से ₹40000 का वेतनमान होता है यदि टीजीटी लेवल का अध्यापक कोई होता है तो उनके लिए ₹50000 तक का वेतनमान माना जाता है एवं अंतिम में जो सरकारी टीचर होते हैं जिन्हें पीजीटी लेवल का माना जाता है तथा उसके साथ-साथ व प्रवक्ता भी होते हैं उनके लिए ₹60000 से ₹70000 का वेतनमान आज के समय में माना जाता है जो कि एक बेहतर वेतनमान का उदाहरण है यही अगर केंद्रीय विद्यालयों में सरकारी टीचर नियुक्त होते हैं तो उनका औसतन वेतनमान ₹50000 से ₹70000 के बीच में होता है।

Leave a comment