SDM Officer कैसे बने- एसडीएम ऑफिसर, Sub Divisional Magistrate योग्यता व चयन प्रक्रिया

SDM Officer कैसे बने | एसडीएम बनने के लिए परीक्षा | एसडीएम ऑफिसर, Sub Divisional Magistrate योग्यता व चयन प्रक्रिया

0
289

SDM Officer Kya Hai | एसडीएम ऑफिसर कैसे बने | SDM Full Form | एसडीएम ऑफिसर की सैलरी | एसडीएम ऑफिसर योग्यता व चयन प्रक्रिया

भारत एक ऐसा देश है जिसमें प्रतिस्पर्धा बढ़ती जा रही है। इस देश के प्रत्येक छात्र के रुचि अलग-अलग क्षेत्रों में है जिसके कारण हर कोई अपने लक्ष्य पर प्रति परिश्रम करता है। ऐसे कई क्षेत्र हैं जिसमें छात्र अपना करियर बनाना चाहते हैं जैसे के डॉक्टर इंजीनियर आईएएस पीडीएफ तथा एसडीएम आदि। और इन सभी क्षेत्रों में सफलता हासिल करने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को कड़ी मेहनत और सही रास्ते की आवश्यकता पड़ती है। क्योंकि सही जानकारी के माध्यम से ही एक व्यक्ति अपनी मंजिल आसानी से प्राप्त करता है।तो चलिए दोस्तों आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से SDM Officer कैसे बने, एसडीएम बनने की योग्यता क्या है तथा इसमें आवेदन के लिए चयन प्रक्रिया क्या है पूर्ण रूप से जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं कृपया इस लेख को विस्तार से पढ़ें।

SDM Officer क्या है?

एसडीएम ऑफिसर को उप प्रभागीय न्यायधीश के नाम से जाना जाता है जिसका कार्य सभी जमीन व्यापार पर देखरेख करना है। जमीन से जुड़ी सभी कार्यों के देखरेख SDM Officer के द्वारा की जाती है इसके साथ-साथ विवाह रजिस्ट्रेशन करवाना विभिन्न प्रकार के पंजीकरण करवाना विभिन्न प्रकार के लाइसेंस जारी करवाना नवीकरण करवाना राज्यों में लोकसभा और विधानसभा के सदस्य का चुनाव करवाना यही सब कार्य एसडीएम के अंतर्गत आते हैं। इसके अलावा एसडीएम आपराधिक प्रक्रिया संहिता 1973 और नाबालिक पतियों के तहत मजिस्ट्रेट कार्य करता है। और उप प्रभागीय न्यायधीश बनने के लिए लोगों को कड़ी मेहनत और लगन के साथ पढ़ाई करनी पड़ती है।

SDM Officer

एसडीएम कैसे बने?

जैसे कि आपको ऊपर बताया SDM Officer बनने के लिए हर विद्यार्थी को कड़ी मेहनत और लगन की जरूरत पड़ती है और उसे तीन प्रकार की परीक्षाओं को पास करना पड़ता है जो कि कुछ इस प्रकार है

SDM Officer बनने के लिए परीक्षा

डीएम बनने के लिए उम्मीदवार को मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्क्रीम में 55 परसेंट अंकों के साथ ग्रेजुएट पास होना अनिवार्य है तथा अगर आरक्षित छात्रों की बात की जाए तो उन्हें पचास परसेंट अंक के साथ ग्रेजुएट पास होना अनिवार्य है इसके बाद उम्मीदवार को राज्य स्तर सिविल परीक्षा के लिए आवेदन करवाना होगा। आवेदन करवाने के बाद SDM Officer को कुछ परीक्षाएं पास करनी होती हैं तो चलिए दोस्तों जानते हैं उन परीक्षाओं के बारे में।

एसडीएम की परीक्षा कितनी बार दे सकते हैं?

सामान्य वर्ग के विद्यार्थी इस परीक्षा को 4 बार ही दे सकते हैं। आरक्षित वर्ग जैसे कि एससी एसटी कैटेगरी के लोग इस परीक्षा में इनके लिए परीक्षा में बैठने की कोई लिमिट नहीं है। विकलांग विद्यार्थियों के लिए भी इस परीक्षा में बैठने की कोई लिमिट नहीं है।

एसडीएम परीक्षा विवरण

राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षा तीन भागों में विभाजित की जाती हैं जिसको पास करने के बाद एक व्यक्ति एसडीएम कहलाता है

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination):

एक एसडीएम पढ़ने के लिए व्यक्ति को सबसे पहले लिखित परीक्षा देनी पड़ती है जिसे प्रारंभिक परीक्षा के नाम से जाना जाता है इसमें आपको सामान्य अध्ययन से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं और सारे ही प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप के होते हैं। उम्मीदवार से उनके राज्य से संबंधित अध्ययन के प्रश्न पूछे जाते हैं

प्रारंभिक परीक्षा में निर्धारित अंक

प्रश्न पत्रकुल अंक
सामान्य ज्ञान-1200
सामान्य ज्ञान-2200

मुख्य परीक्षा (Main Examination):

उप प्रभागीय न्यायाधीश बनने के लिए दूसरी परीक्षा लिखित परीक्षा होती है जिससे मेन एग्जाम के नाम से जाना जाता है। इस परीक्षा में वही लोग आवेदन कर सकते हैं जिन्होंने पहली परीक्षा पास की हो। ‌इस परीक्षा में उम्मीदवार से हिंदी और अंग्रेजी के प्रश्न पूछे जाते हैं यह प्रश्न सब्जेक्टिव टाइप के होते हैं।

मुख्य परीक्षा के निर्धारित अंक

प्रश्न पत्रकुल अंक
हिंदी150 अंक
निबंध150 अंक
सामान्य अध्यान 1200 अंक
सामान्य अध्यान 2200 अंक
सामान्य अध्ययन 3200 अंक
सामान्य अध्यान 4200 अंक
वैकल्पिक विषय पेपर 1200 अंक
वैकल्पिक विषय पेपर 2200 अंक

इंटरव्यू (Interview):

दोनों परीक्षा सफलतापूर्वक पास करने के बाद विद्यार्थियों का इंटरव्यू लिया जाता है। इंटरव्यू मैं विद्यार्थी की सारी जानकारी के बारे में पूछा जाता है इस परीक्षा में आपका आत्मविश्वास की जानकारी ली जाती है और कभी-कभी इंटरव्यू में पूछा जाता है कि आप सिविल सर्विस क्यों ज्वाइन करना चाहते हैं तथा इसके लिए आपको प्रेरणा कहां से प्राप्त हुई।

SDM Officer कैसे बने

एसडीएम ऑफिसर की सैलरी?

जैसे कि हम सब जानते हैं एसडीएम एक प्रतिस्पर्धी परीक्षा है जिसे पास करना बहुत ही कठिन है। और यदि कोई व्यक्ति इस परीक्षा को पास कर लेता है तो उसे अधिक से अधिक सैलरी प्राप्त होती है। SDM Officer की सैलरी की बात की जाए तो उन्हें प्रतिमाह 9300 रुपये से लेकर 34800 रुपये के बीच प्राप्त होती है। प्रतिमा सैलरी के अलावा उनको ग्रेट पे भी प्राप्त होता है जो 5400 रुपये प्रतिमाह मिलता है।

एसडीएम ऑफिसर को मिलने वाली अन्य सुविधाएं?

  • एक सफलतापूर्वक एसडीएम ऑफिसर को रहने के लिए सरकारी निवास प्रदान किया जाता है।
  • निवास में सिक्योरिटी गार्ड के साथ-साथ रिहायशी और अन्य प्रकार की सुविधा भी प्रदान की जाती है।
  • बिजली और टेलीफोन की सुविधाएं भी मुफ्त में प्रदान की जाती है।
  • सरकार द्वारा एलसीएम ऑफिसर को सरकारी वाहन दिया जाता है।
  • एसडीएम ऑफिसर बनने के सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि उन्हें जॉब सिक्योरिटी प्रदान की जाती है जो अन्य किसी निधि नौकरी में नहीं प्राप्त होती।
  • रिटायरमेंट के बाद पेंशन की सुविधा भी प्रदान की जाती है।
  • काम के सिलसिले में अगर आपको कहीं बाहर जाना है तो वहां रहने की अच्छी सुविधाएं भी प्रदान की जाती है

SDM Officer बनने की आयु सीमा?

जो भी इच्छुक लाभार्थी एसडीएम बनना चाहता है उसकी न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 40 वर्ष होनी चाहिए। यदि बात एससी एसटी और ओबीसी की की जाए तो उसकी अधिकतम उम्र 45 वर्ष की होनी चाहिए और अगर बात पीडब्ल्यूडी की की जाए तो उसकी अधिकतम उम्र 55 वर्ष होनी चाहिए।

एसडीएम के कार्य

  • अपनें जिले की भूमि का लेखा-जोखा एसडीएम के देखरेख में होता है।
  • एसडीएम के उपखंड के सभी तहसीलदारों पर प्रत्यक्ष नियंत्रण होता है।
  • इसके अतिरिक्त विवाह रजिस्ट्रेशन, विभिन्न प्रकार के पंजीकरण, अनेक प्रकार के लाइसेंस जारी करवाना, नवीकरण करवाना।
  • प्राकृतिक/दैवीय आपदा (बाढ़, अग्निकांड, भूकंप, भूस्खलन, शीतलहरों, बादल फटने, ओलावृष्टि, अतिवृष्टि, विद्युत प्रभाव, लू-प्रकोप, हिम स्खलन, कीट आकृमण) आदि से प्रभावित व्यक्तियों को सहायता उपलब्ध करवाना आदि प्रमुख कार्य है।
  •  एक एसडीएम आपराधिक प्रक्रिया संहिता 1973 और कई अन्य नाबालिग कृत्यों के अंतर्गत विभिन्न मजिस्ट्रेट का कार्य करते है।

Conclusion

प्रिय दोस्तों उम्मीद करते हैं कि हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से आपको समझ आ गया होगा कि एसडीएम ऑफिसर कैसे बना जाता है तथा उसके लिए किन परीक्षाओं की तैयारी करनी पड़ती है। यदि आपको इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी कठिनाई आती है तो आप हम से नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं आपका कमेंट हमारे लिए महत्वपूर्ण है। आगे भी इसी तरह आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से और विषयों के बारे में जानकारी प्रदान करते रहेंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here