बैंक चेक (Bank Cheque) कैसे भरते हैं

0
335

Bank Cheque Kya Hota Hai | बैंक चेक कैसे भरते हैं | बैंक चेक को भरने का तरीका क्या है | चेक के प्रकार कौन से है | बैंक में चेक लगाने का तरीका क्या है

जैसा कि आप लोग जानते हैं आज के जमाने में ज्यादा ट्रांजैक्शन ऑनलाइन होता है लेकिन आज भी बहुत से लोग चेक का इस्तेमाल करते हैं और यह सबसे पुराना तरीका है और सबसे सुरक्षित भी है इसमें फंड लेन-देन में जालसाजी और धोखाधड़ी होने के चांस बहुत कम होते हैं। चेक के माध्यम से हम जो पेमेंट किसी को दे रहे होते हैं उसमें उस व्यक्ति का नाम लिखना पड़ता है। बियरर चेक हम 10 हजार तक दे सकते हैं जो हाथों हाथ केश जाता है लेकिन ज्यादा रकम के लिए हमें अकाउंट पेई चेक देना पड़ता है जो सबसे ज्यादा सुरक्षित माना जाता है बैंक चेक भरने में अगर कोई गलती हो जाए तो चेक बाउंस हो जाता है और कैंसिल भी हो जाता है इसलिए हम आपको चेक भरने की सारी विधि समझा रहे हैं।

बैंक चेक क्या होता है ?

चेक किसी बैंक द्वारा दिया गया एक खास प्रिंटेड पेपर होता है जो 10-20 या 50 की संख्या में एक बुक की तरह होती हैं इसमें हमारे अकाउंट से संबंधित सभी जानकारी होती है जिसकी मदद से हम किसी को भी पेमेंट कर सकते हैं और बैंक को इस बात की अनुमति देते हैं कि जिस व्यक्ति को हमने अपना चेक दिया है और जितनी राशि चेक पर अंकित है उसे उसका भुगतान कर दिया जाए बैंक कर्मचारी उसकी सत्यता को जांचते हैं उसके बाद हमारे सिग्नेचर को वेरीफाई करते हैं और उसके बाद भुगतान कर दिया जाता है लेकिन हाथों-हाथ भुगतान केवल ₹10000 तक ही सीमित है। इससे ऊपर का भुगतान हुआ तो पेमेंट पेयी देना पड़ता है  उसे फिर अपने खाते में हमारा चेक डालना पड़ेगा।

बैंक चेक

Bank Cheque पर क्या-क्या जानकारी प्रिंट होती है ?

  • चेक पर बहुत सी जानकारी प्रिंट होती है लेकिन अक्सर लोग चेक को गौर से नहीं देखते इन सबसे पहले ऊपर की साइड में बैंक का आईएफएससी कोड लिखा होता है जिससे पता चलता है कि आपकी बैंक ब्रांच कौन सी है और आपका अकाउंट नंबर लिखा होता है।चेक के सीधी तरफ कोने में जहां सिग्नेचर करने होते हैं उसको ऊपर अगर आपका खाता इंडिविजुअली है तो आपका नाम नहीं तो आपकी कंपनी का नाम लिखा होता है बैंक चेक कर नीचे की तरफ 6 अंक में चेक नंबर लिखा होता है इससे आगे के 9 नंबरों में एमआईसीआर कोड लिखा होता है जिस की फुल फॉर्म मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर रिकॉग्निशन होती है
  • एमआईसीआर कोड को तीन भागों में बांटा गया है। पहले के तीन नंबर बैंक की लोकेशन बताती है उसके आगे के तीन नंबर से बैंक का नाम पता चलता है और बाकी के तीन नंबर हमारे बैंक अकाउंट की आईडी को बताते हैं जिससे हमें पेमेंट देने में सहायता प्राप्त होती है।

Type Of Chequé

1- खाता पेयी चेक/ Account Payee

जब कोई व्यक्ति किसी को चेक के कोने पर समानांतर लाइनें खींच कर इन लाइनों के बीच में “A/C Payee Only” लिख कर किसी को चेक देता है। तब यह Account Payee चेक के नाम से जाता है। इस तरह का चेक भुगतान करने के लिए बहुत ही सुरक्षित होता है।

2- बेयरर चेक / Bearer Cheque

यह चेक किसी विशिष्ट नाम से जारी किया जाता है। इस प्रकार के चेक को सीधे कैश काउंटर पर जाकर पेमेंट लिया जा सकता है। जिसका तात्पर्य सामान्य रूप से नकद लेनदेन होता है।

3- क्रॉस्ड चेक / Crossed Cheque

इसका भुगतान सिर्फ अकाउंट में ही प्राप्त किया जा सकता है। इस प्रकार की चेक पर चेक के ऊपरी भाग पर बने दो समानांतर रेखाएं होती हैं। इस चेक के जरिए आप नकद लेनदेन नहीं कर सकते हैं।

4- आदेश चेक / Order Cheque

जब कोई व्यक्ति किसी विशेष व्यक्ति या उसके आदेश के लिए चेक देता है तो उसे ऑर्डर चेक कहा जाता है। आर्डर चेक का भुगतान आईडी नंबर और नामांकित भुगतानकर्ता के हस्ताक्षर पर ही संभव है।

बैंक चेक कैसे भरते हैं

चेक भरते समय ध्यान रखने योग्य बातें

  • चेक भरते समय हमेशा ‘धारक को या Or Bearer’ को काट दे। अगर आप ऐसा नहीं करते तो कोई भी व्यक्ति आपका चेक बैंक में ले जाकर कैश करवा सकता है।
  • लेकिन अगर आप इन शब्दों को काट देते हो तो फिर वही व्यक्ति इस चेक को कैश करवा पाएगा जिसका नाम उसके ऊपर लिखा होगा।जिसको आपने पैसे देने हैं उसका नाम सीधा ‘Pay’ के बाद लिखें उसमें खाली जगह ना छोड़े।
  • इससे कोई नाम के साथ छेड़खानी नहीं कर पाएगा। इसी तरह चेक पर नाम लिखने के बाद एक लाइन डाल दे।
  • इससे कोई और अपना नाम चेक पर नहीं लिख पाएगा।कोशिश करें कि जिसको भी आप चेक दे रहे हो उसके बैंक खाते में चेक का भुगतान हो। यह एक सुरक्षित तरीका माना जाता है किसी चेक को देने का। ऐसा करने के लिए आपको सिर्फ चेक पर दो लाइन डालनी होती है और उसके बीच ‘खाता धारक को या A/C Payee’ लिखना होता है।
  • अगर आप ज्यादा पैसे का भुगतान चेक के माध्यम से करने जा रहे हो तो चेक पर नाम लिखने के बाद प्राप्त कर्ता (Payee) का बैंक अकाउंट नंबर भी लिख दे।
  • ऐसा करने पर बैंक सिर्फ ऊपर लिखे हुए बैंक खाते में ही चेक का भुगतान करेगा।

बैंक चेक को भरने का तरीका

चेक को भरते समय ध्यान रखना पड़ता है चेक में कहीं भी ओवरराइटिंग नहीं होनी चाहिए या आपसे कुछ गलत हो जाए तो उसे काट के दोबारा लिखते हैं और सिग्नेचर कर दें ऐसा पहला होता था अब यह मान्य नहीं है। हमें स्टेप बाय स्टेप आपको बता रहे हैं कि चेक कैसे भरना चाहिए।

चेक पर नाम लिखना

सबसे पहले हमें चेक पर बाई तरफ ऊपर जहां पर पेय टू लिखा होता है उस के आगे हम उस व्यक्ति का नाम लिखते हैं जिसको हम पैसे देते हैं इस बात का ध्यान रखें कि नाम साफ-साफ लिखा होना चाहिए अन्यथा चेक कैंसिल हो जाएगा।

भुगतान राशि लिखना

चेक में जहां हमने नाम लिखा है उसके नीचे वाली लाइन में भुगतान रकम को शब्दों में लिखना है लिखने के बाद अंत में ओन्ली जरूर लिखते हैं इसके बाद उसके सामने एक बॉक्स बना हुआ होता है जिसमें रकम राशि हमें अंकों में लिखनी पड़ती है। अगर रकम 10 हजार से ज्यादा है तो आपको अकाउंट पर ही चेक देना पड़ेगा इसके लिए आपको ऊपर बाईं तरफ कोने पर 2 लाइनें खींचनी होंगी जिससे पता चलता है कि चेक अकाउंट का ही है और वह सीधा उसके खाते में जाता है जिसे आप ने रकम दी है।

Bank Cheque पर तारीख लिखना और हस्ताक्षर करना

  • चेक में नाम और भुगतान राशि लिखने के बाद आपको सीधी तरफ कोने पर डेट डालनी होती है डेट को ध्यान पूर्वक भरे पहले दिनांक फिर महीना उसके बाद साल।
  • और सबसे अंत में आपको हस्ताक्षर करने होते हैं हस्ताक्षर सीधी तरफ कौन पर जहां सिग्नेचर लिखा होता है वहीं पर आपको सिग्नेचर करने पड़ते हैं लेकिन याद रहे जो सिग्नेचर आपने खाता खुलवा के समय किए थे ठीक वैसे ही होने चाहिए अन्यथा आपका बैंक चेक कैंसिल हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here